ग्रेटा थनबर्ग जैसे बाल कार्यकर्ता बारे में आपका क्या कहना है क्या हम आने वाली पीढ़ियों को विफल कर रहे हैं?...


user

Raghuveer Singh

👤Teacher & Advisor🙏

1:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

निसंदेह हम बाल जो कार्यकर्ता हैं ग्रेटर थन बक्से से अगर उनकी दृष्टि से देखें तो दिस इज बड़े नेता हैं उनकी उम्र ढल चुकी है वह अब अपने आखिरी कार्यकाल की तरफ बढ़ रहे हैं अर्थात मृत्यु के समीप हो सकते हैं कुछ नेता तो उनको इतनी चिंता ही नहीं हो सकता है वह निचली पीढ़ी की चिंता नहीं कर रहे हैं क्योंकि उन्हें पता है कि आपको ऐसा ख्याल नहीं आता क्यों नहीं ज्यादा समय तक रहना नहीं आ रही तो नहीं संकट आने वाला नहीं है संकट आना शुरू हो गया है धरती पर कई प्रॉब्लम्स आनी शुरू हुई नदियों का जलस्तर बढ़ रहा है कहीं पर कहीं भी घट रहा है नदियां सूख गई है कि वे पानी की समस्या हो गया क्या पानी ज्यादा बरस रहा है कि सारी की सारी जितनी प्रॉब्लम्स है यह सब कुछ इसकी वजह से यह सच है कि वाकई में डाटा थनबर्ग जैसे बाहर कार्यकर्ताओं की जिंदगी है वह धीरे-धीरे ऐसे बहुत सारे जितने भी पीढ़ियां पीछे वाली पीढ़ियां हैं उनके लिए फल टाइम बहुत ज्यादा है आगे चुनौतियां ज्यादा होगी उनकी जिंदगी डिस्ट्रॉय भी हो सकती है

nisandeh hum baal jo karyakarta hain greater than bakse se agar unki drishti se dekhen toh this is bade neta hain unki umr dhal chuki hai vaah ab apne aakhiri karyakal ki taraf badh rahe hain arthat mrityu ke sameep ho sakte hain kuch neta toh unko itni chinta hi nahi ho sakta hai vaah nichli peedhi ki chinta nahi kar rahe hain kyonki unhe pata hai ki aapko aisa khayal nahi aata kyon nahi zyada samay tak rehna nahi aa rahi toh nahi sankat aane vala nahi hai sankat aana shuru ho gaya hai dharti par kai problems aani shuru hui nadiyon ka jalstar badh raha hai kahin par kahin bhi ghat raha hai nadiyan sukh gayi hai ki ve paani ki samasya ho gaya kya paani zyada baras raha hai ki saree ki saree jitni problems hai yah sab kuch iski wajah se yah sach hai ki vaakai mein data thanbarg jaise bahar karyakartaon ki zindagi hai vaah dhire dhire aise bahut saare jitne bhi peedhiyaan peeche wali peedhiyaan hain unke liye fal time bahut zyada hai aage chunautiyaan zyada hogi unki zindagi destroy bhi ho sakti hai

निसंदेह हम बाल जो कार्यकर्ता हैं ग्रेटर थन बक्से से अगर उनकी दृष्टि से देखें तो दिस इज बड़

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  148
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!