मेडिटेशन कैसे करें?...


user

Girijakant Singh

Founder/ President Yog Bharati Foundation Trust

0:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है कि मेडिटेशन कैसे करें देखिए ध्यान करने की बहुत ही सरल विधि है लेकिन ध्यान कभी सीधे ना करें पहले सूर्य नमस्कार का अभ्यास करें योगासनों का अभ्यास करें किरणों का अभ्यास करें तत्पश्चात ॐ मैडिटेशन करने बैठें इससे मेडिटेशन शीघ्र ही सफल होता है मिशन करने के लिए आप और किसी भी फायदे का ध्यान कर सकते हैं आप पैर के नाखून नाभि चक्र आज्ञा चक्र नाचता का अग्रवाल या वस्तु पर अशुद्धि प्रतिमा पर साकार निराकार वस्तु पर आप कहीं पर भी अपना ध्यान कर

aapka prashna hai ki meditation kaise kare dekhiye dhyan karne ki bahut hi saral vidhi hai lekin dhyan kabhi sidhe na kare pehle surya namaskar ka abhyas kare yogasanon ka abhyas kare kirano ka abhyas kare tatpashchat om meditation karne baithen isse meditation shighra hi safal hota hai mission karne ke liye aap aur kisi bhi fayde ka dhyan kar sakte hain aap pair ke nakhun nabhi chakra aagya chakra nachta ka agrawal ya vastu par ashuddhi pratima par saakar nirakaar vastu par aap kahin par bhi apna dhyan kar

आपका प्रश्न है कि मेडिटेशन कैसे करें देखिए ध्यान करने की बहुत ही सरल विधि है लेकिन ध्यान क

Romanized Version
Likes  143  Dislikes    views  2045
WhatsApp_icon
9 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Dr Asha B Jain

Dip in Naturopathy, Yoga therapist Pranic healer, Counselor

1:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपको अगर मेडिटेशन करना है तो उसकी फर्स्ट स्टेज जो होती हैं इस फिल्म का अभ्यास मतलब काया को स्थिर रखना शरीर को बिल्कुल सीधा रखें और स्थिर कर ले मूर्ति की तरह से कोई अच्छी रखें काफी दिनों तक आपको का या कोई स्त्री शरीर को स्थिर रखने का अभ्यास करना होगा जिसमें किसी प्रकार की कोई हलचल ना करें सीधे बैठे हैं रीड की हड्डी को गर्दन सीधी रखकर बिल्कुल शांत बैठ जाए बिना कोई हलचल के धीरे-धीरे आप उसका टाइम ड्यूरेशन बनाई है 5 मिनट से स्टार्ट करके 20 मिनट तक लेकर जाइए कि चाहे कुछ भी हो खुजली चले मच्छर काटे कुछ भी हो आपको हिलना नहीं है स्टेचू बन जाना है जब पाया को शरीर को स्थिर रखने की आदत बनेगी तभी मेडिटेशन का आगे का अभ्यास हो पाएगा फिर आप उस पगली दिन पर वे निकला सकते हैं अपने ख्यालों पर अवेयरनेस ला सकते हैं डीप इंटरनेट मेडिटेशन कर पाएंगे और काफी दिनों तक आप को आइसक्रीम का अभ्यास करना होगा फिर मेडिटेशन कर धन्यवाद

aapko agar meditation karna hai toh uski first stage jo hoti hain is film ka abhyas matlab kaaya ko sthir rakhna sharir ko bilkul seedha rakhen aur sthir kar le murti ki tarah se koi achi rakhen kaafi dino tak aapko ka ya koi stree sharir ko sthir rakhne ka abhyas karna hoga jisme kisi prakar ki koi hulchul na kare sidhe baithe hain read ki haddi ko gardan seedhi rakhakar bilkul shaant baith jaaye bina koi hulchul ke dhire dhire aap uska time duration banai hai 5 minute se start karke 20 minute tak lekar jaiye ki chahen kuch bhi ho khujli chale macchar kaate kuch bhi ho aapko hilana nahi hai statue ban jana hai jab paya ko sharir ko sthir rakhne ki aadat banegi tabhi meditation ka aage ka abhyas ho payega phir aap us pagli din par ve nikala sakte hain apne khyalon par awareness la sakte hain deep internet meditation kar payenge aur kaafi dino tak aap ko icecream ka abhyas karna hoga phir meditation kar dhanyavad

आपको अगर मेडिटेशन करना है तो उसकी फर्स्ट स्टेज जो होती हैं इस फिल्म का अभ्यास मतलब काया को

Romanized Version
Likes  82  Dislikes    views  1935
WhatsApp_icon
user

Sandeep Tiwari

Yoga Instructor And Teacher

4:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ओम मेडिटेशन अर्थात ध्यान ध्यान हमारे अष्टांग योग में ध्यान का सातवां स्थान आता है ईश्वर की उपासना करते करते थक धारणा की स्थिति कम होती है तब वंशिका आत्माएं जीवात्मा परमात्मा मेल बंद हो जाता है ईश्वर से साक्षात्कार होता है तथा जीवात्मा संसार के विषयों को भूलकर परमात्मा के साधक ब्रह्म में लीन हो जाता है भारतीय दर्शनशास्त्र की जांच शाखा के अनुसार हम यही पढ़ते हैं ध्यानं निश्चयम अर्थात मन में उत्पन्न करने वाले संदेशों विचारों और इच्छाओं से मन को मुक्त करना ही ध्यान है जहां एक ऐसी किया है जिसके द्वारा प्रारंभ से ही शांति प्राप्त करने में सहायता मिलती है ध्यान से बनने वाले नाना प्रकार के विचारों तथा संदेशों प्रतिक्रियाओं से मुक्त हो जाता है उसका मानसिक और संवेगात्मक वातावरण शुद्ध होता है आंतरिक आनंद का उपयोग करता है हम खान के द्वारा बुद्धि संधि तथा संकल्प एकाग्रता खो जाते हैं कुंडलिनी शक्ति जागृत होती है ध्यान से अचेतन मन उधर आते हैं ध्यान वह प्रक्रिया है जिसके द्वारा मन पहले एकाग्र किया जाता है फिर आप प्रकार की अवस्था में प्रसार किया जाता है कि निश्चित चेतन का प्रभाव होता है ध्यान अवश्य करना चाहिए यहां पर कैसे करें ध्यान करने से पूर्व कई प्रकार की क्रियाओं को करने से ध्यान में चाहता लेते हैं जैसे वातावरण क्लियर करना चाहिए अहिंसा का मन वचन कथाकार के पालन करना मन वचन कर्म से किसी भी प्रकार की चोरी न करना ब्रह्मचर्य का पालन करना अनावश्यक रूप से वस्तुओं का अर्जन ना करना आंतरिक तथा संतोष को अपने अंदर पैदा करना संतोष का आवरण पढ़ना कुकर सुख-दुख योग वियोग लाभ हानि को सहने की क्षमता रखते हुए समभाव जैतारण ना वेदों तथा अन्य आध्यात्मिक ग्रंथों का अध्ययन करना ईश्वर के प्रति पूर्ण समर्पित हमें ध्यान में बहुत ही सहकारिता है किस काम की भी होते हैं ध्यान के लिए बैठने से पूर्व पूर्ण विश्राम की आवश्यकता होती है इस्लाम के भीतर आंतरिक अंगों का विश्राम विश्राम के लिए हमारे लिए भाषण अत्यंत सुख आसन पद्मासन भी उपयुक्त होता है जो गिगनार होते हैं अभ्यास करता होते हैं उनके लिए सही रहता है बिहार के पूर्व प्राणायाम करना आवश्यक समझा जाता है कि शोषण किया अनुलोम विलोम करते हैं स्वसन क्रिया तब प्राणी ऊर्जा का प्राणायाम से इंद्रियों का नियंत्रण श्रोता से होता है पता है कुल मिलाकर के लिए जो मैंने विधियां बताइए वीडियो को आत्मसात करना ही ध्यान की ओर अग्रसर होना होता है धन्यवाद

om meditation arthat dhyan dhyan hamare ashtanga yog mein dhyan ka satvaan sthan aata hai ishwar ki upasana karte karte thak dharana ki sthiti kam hoti hai tab vanshika aatmaen jivaatma paramatma male band ho jata hai ishwar se sakshatkar hota hai tatha jivaatma sansar ke vishyon ko bhulkar paramatma ke sadhak Brahma mein Lean ho jata hai bharatiya darshanashastra ki jaanch shakha ke anusaar hum yahi padhte hain dhyanan nishchayam arthat man mein utpann karne waale sandeshon vicharon aur ikchao se man ko mukt karna hi dhyan hai jaha ek aisi kiya hai jiske dwara prarambh se hi shanti prapt karne mein sahayta milti hai dhyan se banne waale nana prakar ke vicharon tatha sandeshon pratikriyaon se mukt ho jata hai uska mansik aur samvegatmak vatavaran shudh hota hai aantarik anand ka upyog karta hai hum khan ke dwara buddhi sandhi tatha sankalp ekagrata kho jaate hain kundalini shakti jagrit hoti hai dhyan se achetan man udhar aate hain dhyan vaah prakriya hai jiske dwara man pehle ekagra kiya jata hai phir aap prakar ki avastha mein prasaar kiya jata hai ki nishchit chetan ka prabhav hota hai dhyan avashya karna chahiye yahan par kaise kare dhyan karne se purv kai prakar ki kriyaon ko karne se dhyan mein chahta lete hain jaise vatavaran clear karna chahiye ahinsa ka man vachan kathakar ke palan karna man vachan karm se kisi bhi prakar ki chori na karna brahmacharya ka palan karna anavashyak roop se vastuon ka arjan na karna aantarik tatha santosh ko apne andar paida karna santosh ka aavaran padhna cooker sukh dukh yog viyog labh hani ko sahane ki kshamta rakhte hue sambhav jaitaran na vedo tatha anya aadhyatmik granthon ka adhyayan karna ishwar ke prati purn samarpit hamein dhyan mein bahut hi sahkarita hai kis kaam ki bhi hote hain dhyan ke liye baithne se purv purn vishram ki avashyakta hoti hai islam ke bheetar aantarik angon ka vishram vishram ke liye hamare liye bhashan atyant sukh aasan padmasana bhi upyukt hota hai jo gignar hote hain abhyas karta hote hain unke liye sahi rehta hai bihar ke purv pranayaam karna aavashyak samjha jata hai ki shoshan kiya anulom vilom karte hain svasan kriya tab prani urja ka pranayaam se indriyon ka niyantran shrota se hota hai pata hai kul milakar ke liye jo maine vidhiyan bataye video ko aatmsat karna hi dhyan ki aur agrasar hona hota hai dhanyavad

ओम मेडिटेशन अर्थात ध्यान ध्यान हमारे अष्टांग योग में ध्यान का सातवां स्थान आता है ईश्वर की

Romanized Version
Likes  77  Dislikes    views  905
WhatsApp_icon
user

Yog Guru Amit Agrawal Rishiyog

Yoga Acupressure Expert

0:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न मेडिटेशन कैसे करें लेकिन मेडिटेशन करने के काफी तरीके हैं आप किसी मंत्र के साथ मेडिटेशन कर सकते हैं आप अपनी सांसो पर मेडिटेशन कर सकते हैं आप शवासन कर सकते हैं आप कोई भी गायत्री मंत्र महामृत्युंजय मंत्र के जाप के साथ में ही टेशन कर सकते हैं तो आप जिसमें आपको मन लगे जिसमें आप कुछ देर बैठ पाए अगर बैठकर नहीं कर पाते हैं लेट कर करें लेकिन पेस्ट रहता है मेडिटेशन आप बैठकर करें स्टेशन के तरीके आप सीख सकते हैं यूट्यूब चैनल पर जाकर कुछ वीडियोस हैं आप बहुत देख कर मेरे चैनल पर जाकर और वहां से आप हरिया

aapka prashna meditation kaise kare lekin meditation karne ke kaafi tarike hain aap kisi mantra ke saath meditation kar sakte hain aap apni saanso par meditation kar sakte hain aap shavasan kar sakte hain aap koi bhi gayatri mantra mahamrityunjay mantra ke jaap ke saath mein hi teshan kar sakte hain toh aap jisme aapko man lage jisme aap kuch der baith paye agar baithkar nahi kar paate hain late kar kare lekin paste rehta hai meditation aap baithkar kare station ke tarike aap seekh sakte hain youtube channel par jaakar kuch videos hain aap bahut dekh kar mere channel par jaakar aur wahan se aap hariya

आपका प्रश्न मेडिटेशन कैसे करें लेकिन मेडिटेशन करने के काफी तरीके हैं आप किसी मंत्र के साथ

Romanized Version
Likes  150  Dislikes    views  1613
WhatsApp_icon
user

Reena Arya

Yoga Instructor

0:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अलवर की बात करना बंद कर दीजिए और आपसे पहले बिना है आपने कभी देखे नहीं क्या आप अपनी आने वाली छाती पर आने आगे बढ़ते जाइए बच्चे बंद करने लगेंगे उसके बाद आगे की प्रक्रिया में बताओ

alwar ki baat karna band kar dijiye aur aapse pehle bina hai aapne kabhi dekhe nahi kya aap apni aane wali chhati par aane aage badhte jaiye bacche band karne lagenge uske baad aage ki prakriya mein batao

अलवर की बात करना बंद कर दीजिए और आपसे पहले बिना है आपने कभी देखे नहीं क्या आप अपनी आने वाल

Romanized Version
Likes  76  Dislikes    views  1444
WhatsApp_icon
play
user

Liyakat Ali Gazi

Motivational Speaker, Life Coach & Soft Skills Trainer 📲 9956269300

0:40

Likes  90  Dislikes    views  1794
WhatsApp_icon
user

Karishma

Psychologist

5:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी अक्षर वाले की मेडिटेशन कैसे करें मेडिटेशन करने के लिए सही वक्त सही जगह और सही आपका जो टाइम टेबल होता है उसके अकॉर्डिंग होना चाहिए कि उसका पेस्ट में है आप जब कंपलीटली फ्री हो जाते हो आपके पास थोड़ा सा टाइम रहता है अपने आप के लिए निकालो उसके लिए आपको अर्ली मॉर्निंग या फिर लेट नाइट या फिर दिन में भी आप यह कर सकते हो उसके लिए सिर्फ आपको पहले भेजे जो जरूरत होती है वह यह है कि आपका हर एक काम था आपका नेचर है उसके अकॉर्डिंग अगर आप सब काम खत्म करने के बाद बैठोगे दिमाग एकदम से शांतो रिलैक्स्ड होगा उस टाइम पर जितना मेडिटेशन करोगे उतना ज्यादा आपको फायदा रहेगा क्योंकि जो है वह रिलेशन के निलेश और अपने दिमाग को शांति और ध्यान से एक जगह पर कंसंट्रेशन फोकस करने के लिए होती है अगर आपका दिमाग बेचैन रहेगा तो आपके दिमाग में हजारों टाइप के थॉट्स आएंगे तो आप यदि से आराम से नहीं कर पाओगे मेडिटेशन ऐसे ही टाइम पर किया जाता है जब मॉर्निंग की फ्रेशनेस होती उर्जा का स्रोत माहौल में बहुत ही ज्यादा अच्छा रहता है और आपके आसपास स्पीच ओं एनवायरमेंट है वह बिल्कुल ही शांत होना चाहिए ऐसी जगह सेलेक्ट करो जहां पर अगर मॉर्निंग में बैठ रहे हो तो सुन ले आराम से अच्छी तरीके से आ जाए जिसके वजह से आपको थोड़ा सा भी डिसएबल धनाऊ उसके अलावा आपके आसपास की जो लोग काली थी है लोकेशन है जो एरिया है जहां पर आप रह रहे हो उसमें कोई ऐसी चीज है आपको अवरोध रुकना बने और आपको ज्यादा उसमें प्रॉब्लम ना हो कंसंट्रेशन करने के लिए ऊपर से मेडिटेशन करने के लिए आज अवस्था में बैठे हो हो अवस्था को कंफर्टेबल बनाइए और आप जब पूरी तरीके से अपने माइंड को रिलैक्स करके आप थोड़ा ज्यादा टाइम आधा घंटा एक घंटा या फिर पौना घंटा भी अगर आप कर पा रहे हो तब उस तरीके से टाइम एडजस्ट करके अपने आप को उस कंडीशन को बिल्कुल होने के बाद ही आप उस कंडीशन में उसका प्रयोग करेंगे क्योंकि क्या होगा कि जब तक आप अपना काम पूरा नहीं कर पाओगे या फिर आप को बच्चों की टेंशन होगी या घर में कोई और काम की टेंशन होगी या फिर कुछ और किसी का टाइम के लिए आपको व्हाट्सएप करना पड़ेगा तो क्या होगा क्या खुद ही इतना डिस्टर्ब हो जाओगे तो फिर आप उस चीज को करने के लिए इतना ज्यादा कंफर्टेबल नहीं होंगे मेडिटेशन करने के बाद जो आपको स्फूर्ति और एनर्जी का फील होता है इसके बाद अगर वह जो काम बाकी है वह करने जाओगे तो उसमें भी करने के बाद आपको अंदर से एक अच्छा अच्छा पर महसूस होगा अपने आप को बिल्कुल शांत और कंफर्टेबल और बिल्कुल सुरती मान पाओगे अगर आप चाहो बेस्ट वेरी अर्ली मॉर्निंग कर सकते हो और उसके बाद दिन में जब आप फ्री हो तब भी कर सकते हो शाम के टाइम पर रात के टाइम पर सोने से पहले अच्छे से आपका टाइम टेबल है जब आप भी कंप्लीट ही फ्री हो जाते हो या फिर अर्ली मॉर्निंग इन सभी को पूरा दिन क्लास कुर्ती में जाएगा कि आपको खुद को इतना एनर्जी होगा हर आप अपने काम को करने में आपको बिल्कुल भी आलस या फिर चिड़चिड़ापन ऐसा कुछ भी नहीं होगा अगर यह कि से कंटिन्यू रहती है तो आपकी अंदर में भी उषा का एक बहुत अच्छा स्त्रोत बना और आपकी पॉजिटिव थिंकिंग और बहुत सारे बेनिफिट्स है जिसकी वजह से आप की डेली रूटीन लाइफ में भी आप बहुत अच्छा इंप्रूव कर पाओगे और अपनी जिंदगी को बहुत ही बैलेंस बनाकर काम को अच्छी तरीके से और अचीव कर पाओगे जो चीज आपके लिए मेहनत कर रहे हो या फिर कुछ भी करो फ्रेश होने के लिए याद जब फ्रेश होते हो नींद से उठ कर और आपको जब किसी चीज का टेंशन नहीं रहता है उस टाइम पर करें और ऐसी कंडीशन में करो लाइट आने के बाद भी आपको बहुत अच्छा फील हो ज्यादा दौड़ता का टाइम ना हो उसके बाद और आप अपने आपको बैलेंस बनाकर और बे को लेकर पद्मासन की मुद्रा बनाकर अपने आंखों को बंद करके उन सारी चीजों के बारे में एनर्जी लेवल को मैसेज करो जो आपकी थिंकिंग को कंट्रोल करती है अपने आप को शांत बनाती है और आपको बिना वैसे जो आपके अंदर नेगेटिव इमोशंस है नेगेटिव फीलिंग से उन सारी चीजों को डिस्ट्रॉय करके आपको सिर्फ अपने आप को ध्यान से एक ही जगह पर फोकस करके उन चीजों के बारे में तो बिल्कुल भी नहीं सूचना है कि जिसके बारे में आपको ज्यादा परेशानी होती है आपको सिर्फ कोई एक आप जिस ईश्वर या अल्लाह या फिर किसी गॉड क्या किसी को भी मानते हो किसी एक को देखो और आप फील करो जबकि आपके अंदर एक ऐसी एनर्जी और ऐसी शांति की फीलिंग आप में समा रही है इसके लिए आप मेडिटेशन कर रहे हो आप रिलैक्स होना चाहते हो तो रिलेशन के लिए सोचो अगर आपको अपने आप में फिरती चाहिए आप बहुत सी चीजें फील करो आप जिस चीज को भी अपने आप से जुड़कर खुश रह सकते हो अच्छा फील कर सकते हो उसी के बारे में सोचना है

ji akshar waale ki meditation kaise kare meditation karne ke liye sahi waqt sahi jagah aur sahi aapka jo time table hota hai uske according hona chahiye ki uska paste mein hai aap jab kampalitli free ho jaate ho aapke paas thoda sa time rehta hai apne aap ke liye nikalo uske liye aapko early morning ya phir late night ya phir din mein bhi aap yah kar sakte ho uske liye sirf aapko pehle bheje jo zarurat hoti hai vaah yah hai ki aapka har ek kaam tha aapka nature hai uske according agar aap sab kaam khatam karne ke baad baithoge dimag ekdam se shanto relaxed hoga us time par jitna meditation karoge utana zyada aapko fayda rahega kyonki jo hai vaah relation ke nilesh aur apne dimag ko shanti aur dhyan se ek jagah par kansantreshan focus karne ke liye hoti hai agar aapka dimag bechain rahega toh aapke dimag mein hazaro type ke thoughts aayenge toh aap yadi se aaram se nahi kar paoge meditation aise hi time par kiya jata hai jab morning ki freshness hoti urja ka srot maahaul mein bahut hi zyada accha rehta hai aur aapke aaspass speech on environment hai vaah bilkul hi shaant hona chahiye aisi jagah select karo jaha par agar morning mein baith rahe ho toh sun le aaram se achi tarike se aa jaaye jiske wajah se aapko thoda sa bhi decibel dhanaoo uske alava aapke aaspass ki jo log kali thi hai location hai jo area hai jaha par aap reh rahe ho usme koi aisi cheez hai aapko avarodh rukna bane aur aapko zyada usme problem na ho kansantreshan karne ke liye upar se meditation karne ke liye aaj avastha mein baithe ho ho avastha ko Comfortable banaiye aur aap jab puri tarike se apne mind ko relax karke aap thoda zyada time aadha ghanta ek ghanta ya phir pauna ghanta bhi agar aap kar paa rahe ho tab us tarike se time adjust karke apne aap ko us condition ko bilkul hone ke baad hi aap us condition mein uska prayog karenge kyonki kya hoga ki jab tak aap apna kaam pura nahi kar paoge ya phir aap ko baccho ki tension hogi ya ghar mein koi aur kaam ki tension hogi ya phir kuch aur kisi ka time ke liye aapko whatsapp karna padega toh kya hoga kya khud hi itna disturb ho jaoge toh phir aap us cheez ko karne ke liye itna zyada Comfortable nahi honge meditation karne ke baad jo aapko sfurti aur energy ka feel hota hai iske baad agar vaah jo kaam baki hai vaah karne jaoge toh usme bhi karne ke baad aapko andar se ek accha accha par mehsus hoga apne aap ko bilkul shaant aur Comfortable aur bilkul shurti maan paoge agar aap chaho best very early morning kar sakte ho aur uske baad din mein jab aap free ho tab bhi kar sakte ho shaam ke time par raat ke time par sone se pehle acche se aapka time table hai jab aap bhi complete hi free ho jaate ho ya phir early morning in sabhi ko pura din class kurtee mein jaega ki aapko khud ko itna energy hoga har aap apne kaam ko karne mein aapko bilkul bhi aalas ya phir chidchidapan aisa kuch bhi nahi hoga agar yah ki se continue rehti hai toh aapki andar mein bhi usha ka ek bahut accha satrot bana aur aapki positive thinking aur bahut saare benefits hai jiski wajah se aap ki daily routine life mein bhi aap bahut accha improve kar paoge aur apni zindagi ko bahut hi balance banakar kaam ko achi tarike se aur achieve kar paoge jo cheez aapke liye mehnat kar rahe ho ya phir kuch bhi karo fresh hone ke liye yaad jab fresh hote ho neend se uth kar aur aapko jab kisi cheez ka tension nahi rehta hai us time par kare aur aisi condition mein karo light aane ke baad bhi aapko bahut accha feel ho zyada daudata ka time na ho uske baad aur aap apne aapko balance banakar aur be ko lekar padmasana ki mudra banakar apne aankho ko band karke un saree chijon ke bare mein energy level ko massage karo jo aapki thinking ko control karti hai apne aap ko shaant banati hai aur aapko bina waise jo aapke andar Negative emotional hai Negative feeling se un saree chijon ko destroy karke aapko sirf apne aap ko dhyan se ek hi jagah par focus karke un chijon ke bare mein toh bilkul bhi nahi soochna hai ki jiske bare mein aapko zyada pareshani hoti hai aapko sirf koi ek aap jis ishwar ya allah ya phir kisi god kya kisi ko bhi maante ho kisi ek ko dekho aur aap feel karo jabki aapke andar ek aisi energy aur aisi shanti ki feeling aap mein sama rahi hai iske liye aap meditation kar rahe ho aap relax hona chahte ho toh relation ke liye socho agar aapko apne aap mein firti chahiye aap bahut si cheezen feel karo aap jis cheez ko bhi apne aap se judakar khush reh sakte ho accha feel kar sakte ho usi ke bare mein sochna hai

जी अक्षर वाले की मेडिटेशन कैसे करें मेडिटेशन करने के लिए सही वक्त सही जगह और सही आपका जो ट

Romanized Version
Likes  192  Dislikes    views  2689
WhatsApp_icon
user

Aditi Garg

Meditation Expert

0:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है मेडिटेशन कैसे करें सिंपल तरीका है एक जुने बना लीजिए अपने घर में जहां बहुत शांति हो और हो सके तो जमीन पर बैठे मेडिटेशन करने के लिए जमीन पर बैठे आपने जो गद्दा तकिया लगा सकते हैं आरती पालथी मारकर बैठी आंख बंद करके बैठे आपकी कमर बिल्कुल सीधी होनी चाहिए और अब क्योंकि आप अगर नए मेडिटेटर है आपने कभी लाइफ मेडिटेशन नहीं किया म्यूजिक बजा सकते हैं और कोई भी हो सकती है ऐसा कोई मेडिटेशन म्यूजिक प्ले कर ले और 40 मिनट पर एक्टिव आंख बंद करके बैठ जा 14 मिनट बाद आप देखेंगे कि आपको बहुत शांति और सुकून का एहसास हो रहा है उसी स्टेट को मेडिटेशन थैंक यू

aapka prashna hai meditation kaise kare simple tarika hai ek june bana lijiye apne ghar mein jaha bahut shanti ho aur ho sake toh jameen par baithe meditation karne ke liye jameen par baithe aapne jo gadda takiya laga sakte hain aarti palthi marakar baithi aankh band karke baithe aapki kamar bilkul seedhi honi chahiye aur ab kyonki aap agar naye meditetar hai aapne kabhi life meditation nahi kiya music baja sakte hain aur koi bhi ho sakti hai aisa koi meditation music play kar le aur 40 minute par active aankh band karke baith ja 14 minute baad aap dekhenge ki aapko bahut shanti aur sukoon ka ehsaas ho raha hai usi state ko meditation thank you

आपका प्रश्न है मेडिटेशन कैसे करें सिंपल तरीका है एक जुने बना लीजिए अपने घर में जहां बहुत श

Romanized Version
Likes  77  Dislikes    views  990
WhatsApp_icon
user
0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेडिटेशन कैसे करें मैं रिटर्न करने के लिए आपको कुछ चीजों का ध्यान रखना पड़ता है जैसे कितने की कोशिश करें और जातक की संभावना

meditation kaise kare main return karne ke liye aapko kuch chijon ka dhyan rakhna padta hai jaise kitne ki koshish kare aur jatak ki sambhavna

मेडिटेशन कैसे करें मैं रिटर्न करने के लिए आपको कुछ चीजों का ध्यान रखना पड़ता है जैसे कितने

Romanized Version
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!