मैं अपनी पत्नी के सिवा किसी भी और औरत से बात करने में बहुत शर्माता हूँ। कभी कभी इस कारण लोग मुझे नकचड़ा भी समझते हैं। मैं क्या करूँ?...


play
user

Rashmi Marathe- Lokapure

Keynote Speaker | Trainer

1:52

Likes  78  Dislikes    views  1769
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Vikas Singh

Political Analyst

0:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप अपनी बीवी के अलावा किसी दूसरी औरत से बात करने में बहुत शर्माते हैं इसीलिए आपको लोग नक्कड़ा समझते हैं भयानक चढ़ा तो आप हो ही आपकी बीवी तो दूसरे आदमी से बात करने में शर्म आती नहीं होंगी और आप शर्माते हो देश कैसे चलेगा बताओ आप जैसे लोग रहेंगे तो देश नहीं चल पाएगा आपकी बीवी आप देखे होंगे दूसरों से कितना बढ़िया से बात करती होंगी मिलजुल के एकदम फैमिली रिलेशन बना कर जवाब जॉब करने जाते होगे तो कुछ और विचारधारा प्रस्तुत करती होंगी तो बात करना स्टार्ट करिए देखे दूसरों की बीवियों से बात करने में क्या होता है कि एजीटेशन दूर होता है और हमारा कॉन्फिडेंस बढ़ता है जब आपका कॉन्फिडेंस लेवल बढ़ेगा तो आप बहुत ज्यादा लोगों की बीवियों से बात करने में सक्षम हो जाओगे और आपको सफलता मिलेगी और देश की तरक्की होगी ठीक है धन्यवाद

aap apni biwi ke alava kisi dusri aurat se baat karne mein bahut sharmate hain isliye aapko log nakkada samajhte hain bhayanak chadha toh aap ho hi aapki biwi toh dusre aadmi se baat karne mein sharm aati nahi hongi aur aap sharmate ho desh kaise chalega batao aap jaise log rahenge toh desh nahi chal payega aapki biwi aap dekhe honge dusro se kitna badhiya se baat karti hongi miljul ke ekdam family relation bana kar jawab job karne jaate hoge toh kuch aur vichardhara prastut karti hongi toh baat karna start kariye dekhe dusro ki beeviyon se baat karne mein kya hota hai ki ejiteshan dur hota hai aur hamara confidence badhta hai jab aapka confidence level badhega toh aap bahut zyada logo ki beeviyon se baat karne mein saksham ho jaoge aur aapko safalta milegi aur desh ki tarakki hogi theek hai dhanyavad

आप अपनी बीवी के अलावा किसी दूसरी औरत से बात करने में बहुत शर्माते हैं इसीलिए आपको लोग नक्क

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  348
WhatsApp_icon
user

Vimla Bidawatka

Spiritual Thinker

1:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप का कहना है कि अपनी बीवी के सिवा किसी और औरों से बात करने में शर्म आती है तो कोई बात नहीं यह कोई खराब बात नहीं है यह सब की अंदर अलग अलग तरह की खूबियां हैं अगर आपको लगता है कि थोड़ी सी घबराहट होती है या मतलब कम पसंद है किसी से बात करना यार जिसको शर्माना बोलो कुछ भी तो कोई बात नहीं कोई ऐसे ही बहुत बड़ी कमी नहीं है अगर और लोग अगर नचड़ा समझे या कोई भी समझे तो लोगों का क्या है हम लोगों के लिए जीते हम अपने लिए जीते हैं अगर ईमानदारी से अपने आपको पता है कि हां मुझे इस चीज में जरा ठीक नहीं लगता कोई बात नहीं है कोशिश करेगी धीरे-धीरे इस तरह की यह कमी को दूर करने के लिए लेकिन अगर दूर नहीं हो रही है तो कोई बड़ी बात नहीं है इसमें कोई कंपलेक्स पालने की जरूरत नहीं है लोग क्या कहेंगे क्या नहीं कहेंगे से तो कोई मतलब ही नहीं होना चाहिए लोगों का काम है कहना अगर बात ज्यादा कर लो तो वह फ्लड बोलेंगे अगर कम बात कर लो तो नचड़ा बोलेंगे तो उनका तो काम है कि किसी ने किसी तरह से हर किसी के बीच में नुक्स निकालना तो हम लोगों के लिए नहीं जी रहे हम अपने लिए जी रहे हैं तो सबसे पहले ईमानदारी हमारे अंदर होनी चाहिए कि क्या मैं जान के नहीं कर रहा हूं या मुझे शर्म आ रही है या मैं कोशिश करके इस कमी को दूर कर सकता हूं कि कई चीजें हैं जो अंदर सच्चाई से हम ठीक कर सकते लोगों की तरफ तो ध्यान ही नहीं होना चाहिए हमारी खुशियों की चाबी लोगों के पास में नहीं है या हमारे दुखी होने की चाबी उनके पास नहीं है तो वह कुछ भी करें हमको उसकी परवाह नहीं होनी चाहिए जो हमें ठीक लगे वह करना चाहिए

aap ka kehna hai ki apni biwi ke siva kisi aur auron se baat karne mein sharm aati hai toh koi baat nahi yah koi kharab baat nahi hai yah sab ki andar alag alag tarah ki khubiya hain agar aapko lagta hai ki thodi si ghabarahat hoti hai ya matlab kam pasand hai kisi se baat karna yaar jisko sharmaana bolo kuch bhi toh koi baat nahi koi aise hi bahut badi kami nahi hai agar aur log agar nachada samjhe ya koi bhi samjhe toh logo ka kya hai hum logo ke liye jeete hum apne liye jeete hain agar imaandaari se apne aapko pata hai ki haan mujhe is cheez mein zara theek nahi lagta koi baat nahi hai koshish karegi dhire dhire is tarah ki yah kami ko dur karne ke liye lekin agar dur nahi ho rahi hai toh koi badi baat nahi hai isme koi complex palne ki zarurat nahi hai log kya kahenge kya nahi kahenge se toh koi matlab hi nahi hona chahiye logo ka kaam hai kehna agar baat zyada kar lo toh vaah flood bolenge agar kam baat kar lo toh nachada bolenge toh unka toh kaam hai ki kisi ne kisi tarah se har kisi ke beech mein nukes nikalna toh hum logo ke liye nahi ji rahe hum apne liye ji rahe hain toh sabse pehle imaandaari hamare andar honi chahiye ki kya main jaan ke nahi kar raha hoon ya mujhe sharm aa rahi hai ya main koshish karke is kami ko dur kar sakta hoon ki kai cheezen hain jo andar sacchai se hum theek kar sakte logo ki taraf toh dhyan hi nahi hona chahiye hamari khushiyon ki chabi logo ke paas mein nahi hai ya hamare dukhi hone ki chabi unke paas nahi hai toh vaah kuch bhi kare hamko uski parvaah nahi honi chahiye jo hamein theek lage vaah karna chahiye

आप का कहना है कि अपनी बीवी के सिवा किसी और औरों से बात करने में शर्म आती है तो कोई बात नही

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  428
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!