1000 लोगों की भीड़ ने दो पुरुषों को बलात्कार करने पर मार दिया। क्या यह करना सही है?...


user

Ishita Seth

Obstinate Programmer

1:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लिखे जो हंसा लोगों की भीड़ ने दो पुरुषों को बलात्कार करने में मार दिया है यह मेरे हिसाब से कहीं गलत है क्योंकि देखी चाहिए उन बलात्कारों ने गलत काम किया है किसी का बलात्कार करना लेकिन बहुत ही बड़ा क्राइम है ऐसा बिल्कुल होना ही नहीं चाहिए जो बालात्कार है यह कैसी चीज है ये कैसा डिजीज है यह कैसी ग़लत प्राइम है जो बिल्कुल देश से खत्म हो जाना चाहिए पर अगर ऐसा कुछ हुआ है कि दोस्तों ने दोस्ती का बलात्कार किया है तो उसे जो नया आया है हमारा जो डिसीजन मेकिंग सिस्टम है जो कोर्ट है उसका हमें उसके निर्णय का हम वेट करना चाहिए था ऑल दो वह बहुत ही ज्यादा स्लो हो चुके हैं आजकल हमें जू जस्टिस हैं वह हमारे टाइम पर नहीं मिलती है अगर हम आज किस करते हैं तो पता नहीं वह कैफ कितने साल तक चलता रहता है पर और जो ऐसे क्या होता है कि लोग इज्जत नहीं मिलती है जिस पर केस दूदू अधिकतम होता है जिस पर मुझे सारी बुरी चीजे हो रही होती है उनको जैसे उस टाइम पर नहीं मिलती है तो अगर ऐसा इतना स्लो है हमारा डिसीजन तू उस लड़की के साथ बलात्कार हुआ है उस लड़की को जोश दिलाने के लिए मैं हजार लोगों की भीड़ ने दोनों शवों को मार दिया है जान से यह पूरी तरह गलत भी नहीं है पर लेकिन पूरी तरह देखें सही भी नहीं है हमें और वेट करना चाहिए था डिसिशन मेकिंग सिस्टम का जो भी डिसीजन जो भी निर्णय लेते हैं उसका और हमारे भारत का उसको भी बहुत से काम करना चाहिए ताकि लोगों को टाइम पर मैसेज मिलता है

likhe jo hansa logo ki bheed ne do purushon ko balatkar karne mein maar diya hai yah mere hisab se kahin galat hai kyonki dekhi chahiye un balatkaron ne galat kaam kiya hai kisi ka balatkar karna lekin bahut hi bada crime hai aisa bilkul hona hi nahi chahiye jo balatkar hai yah kaisi cheez hai ye kaisa disease hai yah kaisi galat prime hai jo bilkul desh se khatam ho jana chahiye par agar aisa kuch hua hai ki doston ne dosti ka balatkar kiya hai toh use jo naya aaya hai hamara jo decision making system hai jo court hai uska hamein uske nirnay ka hum wait karna chahiye tha all do vaah bahut hi zyada slow ho chuke hain aajkal hamein zoo justice hain vaah hamare time par nahi milti hai agar hum aaj kis karte hain toh pata nahi vaah kaif kitne saal tak chalta rehta hai par aur jo aise kya hota hai ki log izzat nahi milti hai jis par case dudu adhiktam hota hai jis par mujhe saree buri chije ho rahi hoti hai unko jaise us time par nahi milti hai toh agar aisa itna slow hai hamara decision tu us ladki ke saath balatkar hua hai us ladki ko josh dilaane ke liye main hazaar logo ki bheed ne dono shavon ko maar diya hai jaan se yah puri tarah galat bhi nahi hai par lekin puri tarah dekhen sahi bhi nahi hai hamein aur wait karna chahiye tha decision making system ka jo bhi decision jo bhi nirnay lete hain uska aur hamare bharat ka usko bhi bahut se kaam karna chahiye taki logo ko time par massage milta hai

लिखे जो हंसा लोगों की भीड़ ने दो पुरुषों को बलात्कार करने में मार दिया है यह मेरे हिसाब से

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  25
KooApp_icon
WhatsApp_icon
9 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!