मैसूर होटल ने मोदी को इंकार कर दिया था। क्या यह भारत के प्रधानमंत्री का इलाज करने का सही तरीका है?...


user

Bhaskar Saurabh

Politics Follower | Engineer

1:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके साथ रहने वाले कर्मचारियों को मैसूर के सबसे प्रसिद्ध होटल ललित महल पैलेस में रहने की जगह नहीं मिली अफसरों ने बताया कि कमरे ना मिलने की मुख्य वजह यह थी कि होटल के अधिकतर कमरे पहले से ही एक शादी के रिसेप्शन के लिए बुक किए जा चुके थे ललित होटल के जनरल मैनेजर ने बताया की डिप्टी कमिश्नर के ऑफिस से एक अफसर होटल में प्रधानमंत्री और उनके स्टाफ और सुरक्षाकर्मियों के लिए रूम बुक करवाने के लिए आए थे लेकिन वेडिंग रिसेप्शन होने की वजह से ज्यादातर कमरे पहले से ही बुक थे और होटल वाले उन्हें कमरे देने की स्थिति में नहीं थे तो इसी वजह से मोदी जी को और उनके जो अधिकारी थे उन्हें दूसरे होटल में ठहरना पड़ा तो मोदी जी इसके बाद होटल रेडिसन ब्लू में ठहरे और मुझे लगता है कि यही रीजन होगा जिसके वजह से होटल वालों ने मोदी जी को रूम देने से मना कर दिया या फिर अन्य कुछ भी रीजन हो सकते हैं लेकिन वह तो शायद ही पता चल पाए ऐसा भी हो सकता है कि मोदी जी से लोग काफी परेशान हो गए हैं और उन्हें पसंद नहीं किया जा रहा जितना कि पहले उनकी छवि अच्छी थी क्योंकि हाल के दिनों में ही हमने देखा है कि बहुत सारे घोटाले शाम

pradhanmantri narendra modi aur unke saath rehne waale karmachariyon ko mysore ke sabse prasiddh hotel lalit mahal Palace mein rehne ki jagah nahi mili afsaron ne bataya ki kamre na milne ki mukhya wajah yah thi ki hotel ke adhiktar kamre pehle se hi ek shadi ke reception ke liye book kiye ja chuke the lalit hotel ke general manager ne bataya ki deputy commissioner ke office se ek officer hotel mein pradhanmantri aur unke staff aur surakshakarmiyon ke liye room book karwane ke liye aaye the lekin wedding reception hone ki wajah se jyadatar kamre pehle se hi book the aur hotel waale unhe kamre dene ki sthiti mein nahi the toh isi wajah se modi ji ko aur unke jo adhikari the unhe dusre hotel mein thahrana pada toh modi ji iske baad hotel redisan blue mein thahare aur mujhe lagta hai ki yahi reason hoga jiske wajah se hotel walon ne modi ji ko room dene se mana kar diya ya phir anya kuch bhi reason ho sakte hain lekin vaah toh shayad hi pata chal paye aisa bhi ho sakta hai ki modi ji se log kaafi pareshan ho gaye hain aur unhe pasand nahi kiya ja raha jitna ki pehle unki chhavi achi thi kyonki haal ke dino mein hi humne dekha hai ki bahut saare ghotale shaam

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके साथ रहने वाले कर्मचारियों को मैसूर के सबसे प्रसिद्ध होटल

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  107
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Jyoti Mehta

Ex-History Teacher

1:54

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैसूर होटल में मोदी जी और उनके स्टाफ को सुरक्षा कारणों की वजह से होटल में रहने के लिए मना किया क्योंकि उनका होटल पहले से ही एक शादी के लिए थोड़ा वक्त दो तीन कमरे की उनके पास से जो मोदी जी और उनके स्टाफ के लिए पूरे नहीं थे उन्होंने उन का इंतजाम किसी और होटल में किया क्योंकि वह इतने कम कमरों में मोदी जी के स्टाफ को सुरक्षा व्यवस्था के हिसाब से नहीं रख पा रहे थे तो यह होटल के नियम से जिनको उन्होंने माना और यह हमारे देश का एक अच्छा पक्ष है कि जो नियम है वह माने जा रहे हैं चाहे वह प्रधानमंत्री मोदी के आने के बाद भी नहीं टूटे अच्छी बात है कि किसी और को प्रधानमंत्री जी के आने से परेशान नहीं किया गया किसी और को नहीं कहा गया कि प्रधानमंत्री आ रहे हैं इसलिए आप अपनी शादी का इंतजाम कहीं और कीजिए कि ऑफिस सेक्शन कहीं और कीजिए उन्हें तकलीफ नहीं दी गई आम जनता को परेशान नहीं मोदी जी की वजह से अच्छा कदम है और इसे एक सकारात्मक सोच के साथ देखना चाहिए कि प्रधानमंत्री की वजह से किसी और को तकलीफ नहीं हुई और होटल मैनेजमेंट ने अपने नियम और अपने कायदे कानून को बनाए रखा और जनता को तकलीफ नहीं होने दी अच्छी बात है यह तो अच्छा उदाहरण देश के सामने आया है कि एक बहुत बड़े पद के व्यक्ति के लिए भी होटल मैनेजमेंट ने ऐसा किया तो आप इसे सकारात्मक रूप से लीजिए और सकारात्मक रूप से सोचें तो आपको समझ में आएगा कि यह अच्छा कदम है एक अच्छी चीज है जो भारत में शुरू हुई है और नेताओं के सामने लोगों ने आम जनता को डिफेंस दी है प्रधानमंत्री के सामने भी उन्होंने आम जनता को परेशान नहीं होने दिया है तो यह बहुत अच्छा कदम है बहुत अच्छी बात है

mysore hotel mein modi ji aur unke staff ko suraksha karanon ki wajah se hotel mein rehne ke liye mana kiya kyonki unka hotel pehle se hi ek shadi ke liye thoda waqt do teen kamre ki unke paas se jo modi ji aur unke staff ke liye poore nahi the unhone un ka intajam kisi aur hotel mein kiya kyonki vaah itne kam kamron mein modi ji ke staff ko suraksha vyavastha ke hisab se nahi rakh paa rahe the toh yah hotel ke niyam se jinako unhone mana aur yah hamare desh ka ek accha paksh hai ki jo niyam hai vaah maane ja rahe hain chahen vaah pradhanmantri modi ke aane ke baad bhi nahi tute achi baat hai ki kisi aur ko pradhanmantri ji ke aane se pareshan nahi kiya gaya kisi aur ko nahi kaha gaya ki pradhanmantri aa rahe hain isliye aap apni shadi ka intajam kahin aur kijiye ki office section kahin aur kijiye unhe takleef nahi di gayi aam janta ko pareshan nahi modi ji ki wajah se accha kadam hai aur ise ek sakaratmak soch ke saath dekhna chahiye ki pradhanmantri ki wajah se kisi aur ko takleef nahi hui aur hotel management ne apne niyam aur apne kayade kanoon ko banaye rakha aur janta ko takleef nahi hone di achi baat hai yah toh accha udaharan desh ke saamne aaya hai ki ek bahut bade pad ke vyakti ke liye bhi hotel management ne aisa kiya toh aap ise sakaratmak roop se lijiye aur sakaratmak roop se sochen toh aapko samajh mein aayega ki yah accha kadam hai ek achi cheez hai jo bharat mein shuru hui hai aur netaon ke saamne logo ne aam janta ko defence di hai pradhanmantri ke saamne bhi unhone aam janta ko pareshan nahi hone diya hai toh yah bahut accha kadam hai bahut achi baat hai

मैसूर होटल में मोदी जी और उनके स्टाफ को सुरक्षा कारणों की वजह से होटल में रहने के लिए मना

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  109
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!