माल्या को वापस लाने के लिए CBI ने खर्च का खुलासा करने से इनकार कर दिया।ऐसा क्यों कर र है हैं?...


play
user

Bhaskar Saurabh

Politics Follower | Engineer

1:41

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ललित मोदी और विजय माल्या को भारत लाने की कोशिशों में कितना पैसा खर्च हुआ सीबीआई ने यह जानकारी देने से इंकार कर दिया है एक ITI में इस पर जवाब मांगा गया था सीबीआई ने यह भी कहा कि मोदी और माल्या को इम्यूनिटी मिली हुई है 2 मार्च 2016 को माल्या लंदन चला गया था इसके बाद उसे भगोड़ा घोषित किया गया और मोदी पर भी मनी लॉन्ड्रिंग का केस चल रहा है पुणे के रहने वाले बिहार धुर्वे ने सीबीआई से पूछा था कि मोदी और माल्या को लाने की कोशिशों में कितना पैसा खर्च हुआ लेकिन सीबीआई ने कहा कि 2011 के सरकारी नोटिफिकेशन के तहत आरटीआई के जरिए ऐसे किसी मामले की जानकारी नहीं दी जा सकती है यानी कि सीबीआई को यह छूट मिली हुई है कि वह इस तरह की जानकारी किसी को ना दें वहीं ITI में यह कहा गया कि भ्रष्टाचार से जुड़े मामले में जानकारी देने को लेकर किसी तरह की छूट नहीं दी गई है तो मुझे लगता है कि सीबीआई को यह जो जानकारी है वह जरूर देनी चाहिए थी जिसे लोगों को भी पता चले कि विजय माल्या और ललित मोदी को भारत लाने की जो कोशिशें की जा रही है उसमें अभी तक कितने पैसे खर्च किए जा चुके हैं और इसकी जानकारी देने से कोई ऐसा नुकसान नहीं होने वाला था क्योंकि यह कोई ऐसी कॉन्फिडेंटियल चीजें नहीं है तो मुझे लगता है कि सीबीआई ने भी यहां पर कुछ छुपाने की कोशिश की है क्योंकि सिर्फ यह पैसे से रिलेटेड चीजें थी और फाइनेंस मिनिस्टर ने इस आईटीआई को सीबीआई के पास भेजा था तो सीबीआई को इसका जवाब जरूर देना चाहिए था

lalit modi aur vijay malya ko bharat lane ki koshishon mein kitna paisa kharch hua cbi ne yah jaankari dene se inkar kar diya hai ek ITI mein is par jawab manga gaya tha cbi ne yah bhi kaha ki modi aur malya ko immunity mili hui hai 2 march 2016 ko malya london chala gaya tha iske baad use bhagoda ghoshit kiya gaya aur modi par bhi money Laundering ka case chal raha hai pune ke rehne waale bihar dhurve ne cbi se poocha tha ki modi aur malya ko lane ki koshishon mein kitna paisa kharch hua lekin cbi ne kaha ki 2011 ke sarkari notification ke tahat rti ke jariye aise kisi mamle ki jaankari nahi di ja sakti hai yani ki cbi ko yah chhut mili hui hai ki vaah is tarah ki jaankari kisi ko na dein wahin ITI mein yah kaha gaya ki bhrashtachar se jude mamle mein jaankari dene ko lekar kisi tarah ki chhut nahi di gayi hai toh mujhe lagta hai ki cbi ko yah jo jaankari hai vaah zaroor deni chahiye thi jise logon ko bhi pata chale ki vijay malya aur lalit modi ko bharat lane ki jo koshishein ki ja rahi hai usmein abhi tak kitne paise kharch kiye ja chuke hain aur iski jaankari dene se koi aisa nuksan nahi hone vala tha kyonki yah koi aisi kanfidentiyal cheezen nahi hai toh mujhe lagta hai ki cbi ne bhi yahan par kuch chhupaane ki koshish ki hai kyonki sirf yah paise se related cheezen thi aur finance minister ne is iti ko cbi ke paas bheja tha toh cbi ko iska jawab zaroor dena chahiye tha

ललित मोदी और विजय माल्या को भारत लाने की कोशिशों में कितना पैसा खर्च हुआ सीबीआई ने यह जानक

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  138
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!