यूरोप में सामंतवाद से पूंजीवाद की ओर संकृमण का वर्णन कीजिए?...


play
user

shekhar11

Volunteer

1:19

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यूरोप में सामंतवाद से पूंजीवाद की ओर संक्रमण का वर्णन देखा जाए तो यह एक एक किताब पुस्तक रही है सामंतवाद एक ऐसी व्यवस्था थी जिसमें समाज के सभी तबके कुछ निश्चित संबंधों में आपस में बंधे हुए थे उनके बीच खास प्रकार के आर्थिक राजनीतिक और सामाजिक संबंध कायम थे अन्य व्यवस्थाओं की तरह की अव्यवस्था भी कुछ खास सामाजिक संस्थाओं के माध्यम से संचालित की जाती थी कालांतर में इनके परिवर्तन होता गया और पूंजीवाद की बात की जाए तो कुछ वक्त बाद नई सामाजिक शक्तियों का उदय हुआ पुरानी शक्तियों के साथ उनका टकराव हुआ पुराने शक्ति अपराजित और नई व्यवस्थाओं ने जन्म दिया जिनका नाम पूंजीवाद रखा गया था इस बहस के केंद्र में कुछ समस्याएं रही इसका समाधान तलाशने का प्रयास बस में भाग लेने वाले विद्यालयों ने किया जाता बहस को समझने के लिए समस्याओं से परिचित होना लाजमी था और संक्षेप में यह समस्या कृषि दास्तां के कैसे प्रभावित किया जाए कस्बों को अभी भारत का स्वरूप क्या था उसे इस प्रकार समझा जाए सामंती व्यवस्था से पूंजीवाद व्यवस्था में संक्रमण में हस्तशिल्प की क्या भूमिका थी इन सब चीजों को दर्शाती है

europe mein saamantvaad se punjivad ki aur sankraman ka varnan dekha jaaye toh yah ek ek kitab pustak rahi hai saamantvaad ek aisi vyavastha thi jisme samaj ke sabhi tabke kuch nishchit sambandhon mein aapas mein bandhe hue the unke beech khaas prakar ke aarthik raajnitik aur samajik sambandh kayam the anya vyavasthaon ki tarah ki avyayvastha bhi kuch khaas samajik sasthaon ke madhyam se sanchalit ki jaati thi kalantar mein inke parivartan hota gaya aur punjivad ki baat ki jaaye toh kuch waqt baad nayi samajik shaktiyon ka uday hua purani shaktiyon ke saath unka takraav hua purane shakti aparajit aur nayi vyavasthaon ne janam diya jinka naam punjivad rakha gaya tha is bahas ke kendra mein kuch samasyaen rahi iska samadhan talashane ka prayas bus mein bhag lene waale vidhayalayo ne kiya jata bahas ko samjhne ke liye samasyaon se parichit hona lajmi tha aur sankshep mein yah samasya krishi dastan ke kaise prabhavit kiya jaaye kasbon ko abhi bharat ka swaroop kya tha use is prakar samjha jaaye samanti vyavastha se punjivad vyavastha mein sankraman mein hastashilp ki kya bhumika thi in sab chijon ko darshatee hai

यूरोप में सामंतवाद से पूंजीवाद की ओर संक्रमण का वर्णन देखा जाए तो यह एक एक किताब पुस्तक रह

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  16
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
सामंतवाद से यूरोप में पूंजीवाद के लिए संक्रमण ; सामंतवाद से पूंजीवाद में संक्रमण pdf ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!