हम कैसे विश्वास करें की भगवान कृपा करते हैं?...


user

DR. MANISH

MULTI TASKER & DR.M.D (A.M.), B-PHARMA, PGDM-M

2:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखी तुमने यह सवाल पूछा क्या विश्वास कैसे रही परमात्मा कैसे सुनता है भगवान कैसे करता है कैसे कृपा करता है तो तुम्हारा सवाल मेरे तक पहुंच गया मैं तुम्हें जानता भी नहीं हूं ईश्वर की कृपा तक सबूत मैं कहानी सुनाता हूं एक बार एक आदमी तुम्हारी तरह था भाई उसको क्या हुआ किसी ने कहा कि भगवान से पूछ ले कि तुम्हारा सबसे प्रिय भगत कैसा है उसने कहा भगवान जी आपका सबसे प्रिय भगत का समुद्र देखना है क्योंकि उसके मन में भाव सागर प्रिया भगत बहुत बढ़िया को तो तू भी भगवान का भगत बन जाना चेला बन जा नहीं तो क्या जरूरत है अब उसने क्या किया भैया जी यह दिमाग में चार बंगड़ी हो तो महलों में रहता हूं और पति होगा कौन खुश होगा गाड़ी घोड़े होंगे हीरे जवाहरात होंगे दासी आऊंगी खाने-पीने की मौत होगी खजाना भरा होगा तो भगवान तो अंतर्यामी भगवान मेरी प्रिय भगत के बारे में पूछता है इसका डर गया था उसने कई काम कर प्राणी जगह जा मेरा प्रिय भक्त तुझे मिलेगा सबसे प्रिय कोई है वहां पहुंचा तो उसने देखा एक आदमी वहां पर मरने के कगार चला रहा है पानी पानी पानी आ गया तो उसे श्रद्धा हिल गई कि भगवान के सबसे प्रिय भगत की हालत है कि मरने को है पानी से प्यास है जंगल में कोई आदमी भी नहीं आदमी की जांच हुई थी अब उसने सोचा क्या करूं ही लेकिन भगवान ने भेजा जो चेक तो कर देता हूं अब उसने क्या किया कि कहीं से ढूंढ आंड के पानी लेने के लिए चल पड़ा जैसे पानी ले जाए तो आदमी मर चुका था तो वह आदमी चिल्ला उठा हे भगवान कम-से-कम इसको अपने प्रिय भगत को सबसे प्रिय प्रकाश को पानी के पटाखे प्यासा मर गया उसने सोचा चलो एक काम करता हूं लकड़ी लेकर आता हूं उसको दाद देता हूं जला देता हूं कम से कम से 2 पति तो नहीं होगी अब लकड़ी घना जंगल में चला गया वापस आए तो सारे जानवर उसका शरीर खा गए कुछ भी नहीं बचा बुध और शीला उठाकर भगवान तेरे सबसे प्रिय भगत की हालत की है तो मैं तेरा चिल्ला कैसे बना लूंगा लेकिन उसकी समझ में नहीं आया कि जो उसकी प्यास से उसके अंतरात्मा की प्यासी का भगवान ने अपने पास बुला कर खत्म कर दी फिर उसे दिमाग में आया कि इसके शरीर को जानवर खा गई उसने सब बकवास रखवाले लकड़ी की जो भगवान ने ही अपने दूत भेजकर उसके शरीर का भी प्रयोजन पूरा कर दिया तो इसीलिए भगवान की कृपया कैसे होती है यह विश्वास आपको अपने आप आ जाएगा मेरे जवाब को सुनकर प्यारी हो आप पूछ लेना मुझे ईमेल कर देना धन्यवाद जय हिंद

dekhi tumne yah sawaal poocha kya vishwas kaise rahi paramatma kaise sunta hai bhagwan kaise karta hai kaise kripa karta hai toh tumhara sawaal mere tak pohch gaya main tumhe jaanta bhi nahi hoon ishwar ki kripa tak sabut main kahani sunata hoon ek baar ek aadmi tumhari tarah tha bhai usko kya hua kisi ne kaha ki bhagwan se puch le ki tumhara sabse priya bhagat kaisa hai usne kaha bhagwan ji aapka sabse priya bhagat ka samudra dekhna hai kyonki uske man me bhav sagar priya bhagat bahut badhiya ko toh tu bhi bhagwan ka bhagat ban jana chela ban ja nahi toh kya zarurat hai ab usne kya kiya bhaiya ji yah dimag me char bangadi ho toh mahalon me rehta hoon aur pati hoga kaun khush hoga gaadi ghode honge heere javahrat honge dasi aaungi khane peene ki maut hogi khajana bhara hoga toh bhagwan toh antaryami bhagwan meri priya bhagat ke bare me poochta hai iska dar gaya tha usne kai kaam kar prani jagah ja mera priya bhakt tujhe milega sabse priya koi hai wahan pohcha toh usne dekha ek aadmi wahan par marne ke kagar chala raha hai paani paani paani aa gaya toh use shraddha hil gayi ki bhagwan ke sabse priya bhagat ki halat hai ki marne ko hai paani se pyaas hai jungle me koi aadmi bhi nahi aadmi ki jaanch hui thi ab usne socha kya karu hi lekin bhagwan ne bheja jo check toh kar deta hoon ab usne kya kiya ki kahin se dhundh and ke paani lene ke liye chal pada jaise paani le jaaye toh aadmi mar chuka tha toh vaah aadmi chilla utha hai bhagwan kam se kam isko apne priya bhagat ko sabse priya prakash ko paani ke patakhe pyaasa mar gaya usne socha chalo ek kaam karta hoon lakdi lekar aata hoon usko dad deta hoon jala deta hoon kam se kam se 2 pati toh nahi hogi ab lakdi ghana jungle me chala gaya wapas aaye toh saare janwar uska sharir kha gaye kuch bhi nahi bacha buddha aur shila uthaakar bhagwan tere sabse priya bhagat ki halat ki hai toh main tera chilla kaise bana lunga lekin uski samajh me nahi aaya ki jo uski pyaas se uske antaraatma ki pyasi ka bhagwan ne apne paas bula kar khatam kar di phir use dimag me aaya ki iske sharir ko janwar kha gayi usne sab bakwas rakhwale lakdi ki jo bhagwan ne hi apne dut bhejkar uske sharir ka bhi prayojan pura kar diya toh isliye bhagwan ki kripya kaise hoti hai yah vishwas aapko apne aap aa jaega mere jawab ko sunkar pyaari ho aap puch lena mujhe email kar dena dhanyavad jai hind

देखी तुमने यह सवाल पूछा क्या विश्वास कैसे रही परमात्मा कैसे सुनता है भगवान कैसे करता है कै

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  119
KooApp_icon
WhatsApp_icon
30 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
भगवान पर विश्वास करने वाला ; हम कैसे हैं ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!