ग्लोबल वार्मिंग किसे कहते हैं?...


user

Harender Kumar Yadav

Career Counsellor.

1:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ग्लोबल वार्मिंग के शिक्षक दिवस स्लोगन का मतलब है कि इस पृथ्वी का अर्थ प्लेनेट है इसका टेंपरेचर टेंपरेचर कैसे बढ़ता है जब हम ज्यादा से ज्यादा कार्बन डाइऑक्साइड रिलीज करते हैं कार्बन डाइऑक्साइड इन कंपेयर टू द सीजन है दूसरे जैसे कि ज्यादा हो जाती है तो पृथ्वी का जो टेंपरेचर बढ़ जाता है इसे हम लोग नहीं कर सकते हैं दोनों का जुलूस परमानंद दुष्परिणाम है कार्बन डाइऑक्साइड का बढ़ना और कार्बन डाइऑक्साइड जिस तरह से अनेक सूचित के द्वारा रिलीज की जा रही है और ज्यादा से ज्यादा कार्बन डाइऑक्साइड डिस्कवरी ए प्लेनेट इज अ से ज्ञानी तक जो है वह ग्लोबल बातें करती है सर पर हमारे जो ग्लेशियर सेवक बनना शुरू होंगे और जिस से क्या होगा कि हमारा जो जलस्तर खासकर वे समुद्र का जलस्तर बढ़ना शुरू हो जाएगा एक बहुत बड़ा बड़ा होगा

global warming ke shikshak divas slogan ka matlab hai ki is prithvi ka arth planet hai iska temperature temperature kaise BA dhta hai jab hum zyada se zyada carbon dioxide release karte hai carbon dioxide in compare to the season hai dusre jaise ki zyada ho jaati hai toh prithvi ka jo temperature BA dh jata hai ise hum log nahi kar sakte hai dono ka jhullus parmanand dushparinaam hai carbon dioxide ka BA dhana aur carbon dioxide jis tarah se anek suchit ke dwara release ki ja rahi hai aur zyada se zyada carbon dioxide discovery a planet is a se gyani tak jo hai vaah global BA tein karti hai sir par hamare jo glacier sevak BA nna shuru honge aur jis se kya hoga ki hamara jo jalstar khaskar ve samudra ka jalstar BA dhana shuru ho jaega ek BA hut BA da BA da hoga

ग्लोबल वार्मिंग के शिक्षक दिवस स्लोगन का मतलब है कि इस पृथ्वी का अर्थ प्लेनेट है इसका टेंप

Romanized Version
Likes  225  Dislikes    views  2304
WhatsApp_icon
17 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Raghuveer Singh

👤Teacher & Advisor🙏

0:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपको प्रश्न ग्लोबल वार्मिंग क्या है कैसे ग्लोबल वार्मिंग का मतलब है कि धरती पर बढ़ते प्रदूषण की वजह से अपन बढ़ता जा रहा है और दस्त है वह बहुत ज्यादा मात्रा में पैदा हो रही है जो आसमान में जा रही है उसके गाने बैंजो प्लेयर है बड़े-बड़े जैसे हैं ग्रीनलैंड और अंटार्कटिका के आसपास उनके शेरों को है वह पगला रही है क्या है कि वह बर्फ का पानी है वह समुद्र में मिलता है जो समुद्री टापू है बहुत सारे डूबते जा रहे हैं जलस्तर के बढ़ने से और ऐसा अंदाजा लगाया जाते हैं तो यह ग्लोबल वार्मिंग के दुष्परिणाम

namaskar aapko prashna global warming kya hai kaise global warming ka matlab hai ki dharti par BA dhte pradushan ki wajah se apan BA dhta ja raha hai aur dast hai vaah BA hut zyada matra mein paida ho rahi hai jo aasman mein ja rahi hai uske gaane BA njo player hai BA de BA de jaise hai greenland aur antarctica ke aaspass unke sheron ko hai vaah pagla rahi hai kya hai ki vaah BA rf ka paani hai vaah samudra mein milta hai jo samudri tapu hai BA hut saare dubte ja rahe hai jalstar ke BA dhne se aur aisa andaja lagaya jaate hai toh yah global warming ke dushparinaam

नमस्कार आपको प्रश्न ग्लोबल वार्मिंग क्या है कैसे ग्लोबल वार्मिंग का मतलब है कि धरती पर बढ़

Romanized Version
Likes  96  Dislikes    views  1332
WhatsApp_icon
user

Dr. Mahesh Mohan Jha

Asst. Professor,Astrologer,Author

0:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका प्रश्न है ग्लोबल वार्मिंग किसे कहते हैं पृथ्वी के वातावरण के संबंध में तापमान में क्रमिक वृद्धि को ग्लोबल वार्मिंग करते हैं धन्यवाद

namaskar aapka prashna hai global warming kise kehte hain prithvi ke vatavaran ke sambandh me taapman me kramik vriddhi ko global warming karte hain dhanyavad

नमस्कार आपका प्रश्न है ग्लोबल वार्मिंग किसे कहते हैं पृथ्वी के वातावरण के संबंध में तापमान

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  138
WhatsApp_icon
user
0:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जल प्रदूषण अत्यधिक मात्रा में तैरने लगता है जो प्रथम वायु प्रदूषण की बात करते हैं तो वायु प्रदूषण में क्या-क्या होता है विभिन्न प्रकार की गैस से इसके अलावा ज्वलनशील पदार्थ होते हैं उन से निकलने वाला धुआं फिर प्लास्टिक वाला जलने का दुआ यह शब्द निकलते हैं तो क्या करते हैं कि वातावरण में जाकर एक सदा बना देते हैं जिससे कि सूर्य की रोशनी जो कि धरती के पास तक आती है वह से लौट के वापस नहीं जा पाती है यानी कि जो रेडिएशन है वही वातावरण के अंदर कैद होकर रह जाता है इसी से लोकल वार्मिंग होता है पूरी धरती धीरे-धीरे गर्म हो रही है जो ईश्वर दिखा रहे हैं अगर हमने ध्यान नहीं दिया कि ग्लोबल वार्मिंग हमारा अंत भी हो सकता है

jal pradushan atyadhik matra mein tairne lagta hai jo pratham vayu pradushan ki BA at karte hai toh vayu pradushan mein kya kya hota hai vibhinn prakar ki gas se iske alava jwalanshil padarth hote hai un se nikalne vala dhuan phir plastic vala jalne ka dua yah shabd nikalte hai toh kya karte hai ki vatavaran mein jaakar ek sada BA na dete hai jisse ki surya ki roshni jo ki dharti ke paas tak aati hai vaah se lot ke wapas nahi ja pati hai yani ki jo radiation hai wahi vatavaran ke andar kaid hokar reh jata hai isi se local warming hota hai puri dharti dhire dhire garam ho rahi hai jo ishwar dikha rahe hai agar humne dhyan nahi diya ki global warming hamara ant bhi ho sakta hai

जल प्रदूषण अत्यधिक मात्रा में तैरने लगता है जो प्रथम वायु प्रदूषण की बात करते हैं तो वायु

Romanized Version
Likes  43  Dislikes    views  609
WhatsApp_icon
user
2:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो दोस्तों हाउ आर यू देखे आपने जो प्रश्न उठाया है कि ग्लोबल वार्मिंग क्या है तो ग्लोबल वार्मिंग का अर्थ होता है कि सूर्य के द्वारा जो हमें सीट प्राप्त होती है या ऊर्जा प्राप्त होती है उसमें प्राप्त होती है उसके बाद कारण जो है हमारे पृथ्वी का तापमान में निरंतर वृद्धि होने होते जाना मुझसे जो है संपूर्ण प्रथ्वी का तापमान जो है लगातार बढ़ रहा है और इसी तापमान बढ़ने की प्रक्रिया को हम ग्लोबल वार्मिंग हैं वैश्विक तापन कहते हैं लेकिन अगर हमारे सामने पूछा ग्लोबल वार्मिंग का मुख्य कारण क्या है तो मुख्य मुख्य कारण यह है कि जैसे-जैसे हमारे जो हमारे जो अर्थ है उसका एवं आवश्यक है उसके स्वरूप में या संगठन में परिवर्तन आ रहा है वैसे-वैसे ग्लोबल वार्मिंग की समस्या बढ़ रही परिवर्तन क्यों आता है ऐसे जैसे हमारे युवा मंडल की गैस कार्बन डाइऑक्साइड मशीन अमोनिया गैस है जिसमें एचएफसी हाइड्रोफ्लोरोकार्बंस नाइट्रोजन डाइऑक्साइड कुछ है ट्रैक कर दिया जाता है इन के शो के माध्यम से और जल्दी कैसे उठ रेडिएशन को ट्रैक कर लेते हैं तो पृथ्वी का दर्द है जो हिट बजट है वह घर बनाने लगता है जितनी मात्रा में हम हिट लेते हैं सूर्य मंडल उतनी मात्रा में उसको बाहर नहीं रह पाता है या अपने अवशोषित कर लेता है जिसे तारामंडल का तापमान बढ़ने लगता है अभी आप हाल फिलाल में देखेंगे ओके स्तर पर कई जो है ग्लेशियर पिघल रहे हैं क्योंकि उनका तापमान बढ़ने के कारण जो बर्फ है उसका कितना हो रहा है और उसके कारण क्या हो रहा है कि समुद्र का और बर्फ है वहीं पर समुद्र में पानी के रूप में आ रही है इससे समुद्र के जलस्तर में वृद्धि हो रही है और समुद्र के जलस्तर में वृद्धि होने से कई प्रकार के भौतिक और जलवायु के कारक बदलाव आ रहा है लगातार चक्रवात ऐसी कौन सी बढ़ रही है हमारे देश में सूखा और बाढ़ की समस्याएं बढ़ रही है वैश्विक स्तर पर देखा जाए तो गर्मी और सर्दी का प्रभाव उन्हें चीन की संख्या बढ़ रही है स्क्रबर बॉन्डेजेस बढ़ रही है कि यह सारी चीजें जुड़ी हुई एक एक्टर है जो त्रासदी की ओर धकेल हमारा जो हमारे जवाब का जीवन है उस पर एक नकारात्मक प्रभाव डाला है

hello doston how R you dekhe aapne jo prashna uthaya hai ki global warming kya hai toh global warming ka arth hota hai ki surya ke dwara jo hamein seat prapt hoti hai ya urja prapt hoti hai usme prapt hoti hai uske BA ad karan jo hai hamare prithvi ka taapman mein nirantar vriddhi hone hote jana mujhse jo hai sampurna prithvi ka taapman jo hai lagatar BA dh raha hai aur isi taapman BA dhne ki prakriya ko hum global warming hai vaishvik tapan kehte hai lekin agar hamare saamne poocha global warming ka mukhya karan kya hai toh mukhya mukhya karan yah hai ki jaise jaise hamare jo hamare jo arth hai uska evam aavashyak hai uske swaroop mein ya sangathan mein parivartan aa raha hai waise waise global warming ki samasya BA dh rahi parivartan kyon aata hai aise jaise hamare yuva mandal ki gas carbon dioxide machine ammonia gas hai jisme HFC haidroflorokarbans nitrogen dioxide kuch hai track kar diya jata hai in ke show ke madhyam se aur jaldi kaise uth radiation ko track kar lete hai toh prithvi ka dard hai jo hit budget hai vaah ghar BA naane lagta hai jitni matra mein hum hit lete hai surya mandal utani matra mein usko BA har nahi reh pata hai ya apne avshoshit kar leta hai jise taramandal ka taapman BA dhne lagta hai abhi aap haal filal mein dekhenge ok sthar par kai jo hai glacier pighal rahe hai kyonki unka taapman BA dhne ke karan jo BA rf hai uska kitna ho raha hai aur uske karan kya ho raha hai ki samudra ka aur BA rf hai wahi par samudra mein paani ke roop mein aa rahi hai isse samudra ke jalstar mein vriddhi ho rahi hai aur samudra ke jalstar mein vriddhi hone se kai prakar ke bhautik aur jalvayu ke kaarak BA dlav aa raha hai lagatar chakrawat aisi kaun si BA dh rahi hai hamare desh mein sukha aur BA adh ki samasyaen BA dh rahi hai vaishvik sthar par dekha jaaye toh garmi aur sardi ka prabhav unhe china ki sankhya BA dh rahi hai scrubber BA ndejes BA dh rahi hai ki yah saree cheezen judi hui ek actor hai jo trasadi ki aur dhakel hamara jo hamare jawab ka jeevan hai us par ek nakaratmak prabhav dala hai

हेलो दोस्तों हाउ आर यू देखे आपने जो प्रश्न उठाया है कि ग्लोबल वार्मिंग क्या है तो ग्लोबल व

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  169
WhatsApp_icon
user
0:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आकाश वाले ग्लोबल वार्मिंग किसे कहते हैं तो दोस्तों ग्लोबल वार्मिंग पृथ्वी की सतह के तापमान के साथ-साथ वायुमंडल में वर्तमान भी दी है वर्षों में दुनिया भर में औसत तापमान 2.75 डिग्री सेल्सियस बढ़ गया इस विधि को दो-तिहाई 975 के बाद हुआ है

akash waale global warming kise kehte hain toh doston global warming prithvi ki satah ke taapman ke saath saath vayumandal me vartaman bhi di hai varshon me duniya bhar me ausat taapman 2 75 degree celsius badh gaya is vidhi ko do tihai 975 ke baad hua hai

आकाश वाले ग्लोबल वार्मिंग किसे कहते हैं तो दोस्तों ग्लोबल वार्मिंग पृथ्वी की सतह के तापमान

Romanized Version
Likes  54  Dislikes    views  833
WhatsApp_icon
user

Tilak Singh

Sch.Topper,Parnassian & Author

0:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ग्लोबल वार्मिंग मींस इनक्रीस इन द टेंपरेचर ऑफ अर्थ दिस इज गोइंग टू द ग्रीन हाउस इफेक्ट नाउ आई एम गोइंग टू टेल यू व्हाट इस ग्रीन हाउस इफेक्ट ग्रीनहाउस इफ़ेक्ट ऑफ इनक्रीस इन द टेंपरेचर ऑफ सराउंड इन YouTube जॉब सन ऑफ द हिस्ट्री सिस्टम्स लिमिटेड नोएडा एडिटेड 12.920114 प्रेजेंट इन नेटवर्क स्पीड ऑफ द अर्थ अत्मोस्फेरे इनक्रीस इन द कंसंट्रेशन ऑफ द डिसकस ड्यू टू द पोलूशन ऑफ हैवी व्हीकल ऑन द ट्राफिक लेट टू इनक्रीस इन ट्रेडिशन अब जो पंडित लेट टू इनक्रीस इन टेंपरेचर ऑफ बर्थ डेट इनक्रीस मेंट इज़ नोन एज़ व्हाट इज कॉल्ड एप्स हीटिंग इफ़ेक्ट ऑफ़ आइटम्स ग्लोबल वार्मिंग ग्लोबल वार्मिंग

global warming means increase in the temperature of arth this is going to the green house effect now I M going to tell you what is green house effect greenhouse effect of increase in the temperature of suround in YouTube job san of the history sistams limited noida edited 12 920114 present in network speed of the arth atmosfere increase in the kansantreshan of the discuss due to the pollution of heavy vehicle on the traffic late to increase in tradition ab jo pandit late to increase in temperature of birth date increase ment is known as what is called apps heating effect of iteams global warming global warming

ग्लोबल वार्मिंग मींस इनक्रीस इन द टेंपरेचर ऑफ अर्थ दिस इज गोइंग टू द ग्रीन हाउस इफेक्ट नाउ

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  156
WhatsApp_icon
play
user
0:20

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए ग्लोबल वार्निंग को भूमंडलीय वशीकरण कहते हैं जिसका अर्थ है पृथ्वी की निकटतम सत्य वायु और महासागरों में हो रही लगातार तापमान में वृद्धि और उसकी अनुमानित निरंतरता को ही ग्लोबल वार्मिंग कहते हैं

dekhie global warning ko bhumandaliy vashikaran kehte hai jiska arth hai prithvi ki nikatam satya vayu aur mahasagaron mein ho rahi lagatar taapman mein vriddhi aur uski anumanit nirantarata ko hi global warming kehte hain

देखिए ग्लोबल वार्निंग को भूमंडलीय वशीकरण कहते हैं जिसका अर्थ है पृथ्वी की निकटतम सत्य वायु

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  27
WhatsApp_icon
user

Rahul Kumar

Misson Upsc

0:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए आज विश्व के सभी देश किसी ना किसी तरीके से प्रदूषण फैला रही हैं और इस प्रदूषण से जो नुकसान हो रहे हैं जो घटनाएं और चक्कर घटित हो रही हैं ग्लोबल वार्मिंग की है तुम लोग भी वार्मिंग जो है इसमें हमें योगदान देना चाहिए कि किस प्रकार से हमारे बचाया जा सके हमारे जीवन को ग्लोबल वार्मिंग क्यों है हमारी टीम को बहुत ज्यादा प्रभावित करती है प्रदूषण द्वारा तो इसको रोकथाम का आजकल हर एक देश कोशिश कर रही हैं और वहां के नागरिक जो है इसमें बहुत बड़ा योगदान दिया जैसे पेड़ लगाना

dekhie aaj vishwa ke sabhi desh kisi na kisi tarike se pradushan faila rahi hai aur is pradushan se jo nuksan ho rahe hai jo ghatnaye aur chakkar ghatit ho rahi hai global warming ki hai tum log bhi warming jo hai ismein humein yogdan dena chahiye ki kis prakar se hamare BA chaya ja sake hamare jeevan ko global warming kyon hai hamari team ko BA hut zyada prabhavit karti hai pradushan dwara toh isko roktham ka aajkal har ek desh koshish kar rahi hai aur wahan ke nagarik jo hai ismein BA hut BA da yogdan diya jaise pedh lagana

देखिए आज विश्व के सभी देश किसी ना किसी तरीके से प्रदूषण फैला रही हैं और इस प्रदूषण से जो न

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  31
WhatsApp_icon
user
1:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बड़ा ही अच्छा प्रश्न है ग्लोबल वार्मिंग ग्लोबल वार्मिंग ग्लोबल वार्मिंग क्या है कि पृथ्वी का जो तापक्रम बढ़ रहा है इसकी वजह से कार्बन डाइऑक्साइड की जो मात्रा है हमारे मुंह फेर में पड़ रही है जिसके कारण हमारा पृथ्वी गरम हो रहा है एक कारण यह भी है कि प्रदूषण प्रदूषण जितना अधिक होगा जीवाश्म ईंधन जितने अधिक जलाए जाएंगे उतना प्रदूषण अधिक पड़ेगा और प्रदूषण अधिक बढ़ने के कारण cu2 की जो मात्रा है हमारे वायुमंडल वह बढ़ जाएगी और बढ़ने के कारण जो है तापमान गर्म हो जाएगा पृथ्वी इसीलिए गर्म हो जाती है और इसी प्रक्रिया को ही ग्लोबल वार्मिंग का खाता है

bada hi accha prashna hai global warming global warming global warming kya hai ki prithvi ka jo tapkaram BA dh raha hai iski wajah se carbon dioxide ki jo matra hai hamare mooh pher mein pad rahi hai jiske karan hamara prithvi garam ho raha hai ek karan yah bhi hai ki pradushan pradushan jitna adhik hoga jivashm indhan jitne adhik jalae jaenge utana pradushan adhik padega aur pradushan adhik BA dhne ke karan cu2 ki jo matra hai hamare vayumandal vaah BA dh jayegi aur BA dhne ke karan jo hai taapman garam ho jaega prithvi isliye garam ho jaati hai aur isi prakriya ko hi global warming ka khaata hai

बड़ा ही अच्छा प्रश्न है ग्लोबल वार्मिंग ग्लोबल वार्मिंग ग्लोबल वार्मिंग क्या है कि पृथ्वी

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  79
WhatsApp_icon
user
0:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ग्लोबल वार्मिंग क्या आपने पूछा है तुम्हें बताना चाहूंगा कि ग्लोबल वार्मिंग एंड कंडीशन है जिसके कारण धरती का टेंपरेचर जो है हर साल नहीं करता जा रहा है यह ऑफ पोलूशन के कारण जो चारों तरफ हमारे एक पर इंवॉल्वमेंट में पोलूशन है उसके कारण नियत दिन प्रतिदिन टेंपरेचर आज का बढ़ता जा रहा है

global warming kya aapne poocha hai tumhe BA taana chahunga ki global warming and condition hai jiske karan dharti ka temperature jo hai har saal nahi karta ja raha hai yah of pollution ke karan jo charo taraf hamare ek par invalwament mein pollution hai uske karan niyat din pratidin temperature aaj ka BA dhta ja raha hai

ग्लोबल वार्मिंग क्या आपने पूछा है तुम्हें बताना चाहूंगा कि ग्लोबल वार्मिंग एंड कंडीशन है ज

Romanized Version
Likes  24  Dislikes    views  580
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपको कुछ नहीं ग्लोबल वार्मिंग क्या है ग्लोबल वार्मिंग एक्सप्ले ग्रीन हाउस इफेक्ट के कारण जोग ऐसे वायुमंडल में ताप के स्तर को बढ़ाती है जिससे ग्लेशियर का पिघलना स्टार्ट होता है इसे ग्लोबल वार्मिंग कहते हैं धन्यवाद

aapko kuch nahi global warming kya hai global warming eksaple green house effect ke karan jog aise vayumandal mein taap ke sthar ko BA dhati hai jisse glacier ka pighalana start hota hai ise global warming kehte hai dhanyavad

आपको कुछ नहीं ग्लोबल वार्मिंग क्या है ग्लोबल वार्मिंग एक्सप्ले ग्रीन हाउस इफेक्ट के कारण ज

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  240
WhatsApp_icon
user

Prem

Teacher

0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने पूछा है क्या ग्लोबल वार्मिंग क्या है ग्लोबल वार्मिंग मतलब भूमंडलीय उसमें करण का अर्थ पृथ्वी के वायुमंडल और महासागर के औसत तापमान में बीसवीं शताब्दी से हो रही लगातार वृद्धि और उसकी अनुमानित निरंतरता है धन्यवाद

aapne poocha hai kya global warming kya hai global warming matlab bhumandaliy usme karan ka arth prithvi ke vayumandal aur mahasagar ke ausat taapman mein biswin shatabdi se ho rahi lagatar vriddhi aur uski anumanit nirantarata hai dhanyavad

आपने पूछा है क्या ग्लोबल वार्मिंग क्या है ग्लोबल वार्मिंग मतलब भूमंडलीय उसमें करण का अर्थ

Romanized Version
Likes  42  Dislikes    views  710
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मानवीय योगिक गतिविधियों के कारण ग्रीन हाउस के गैस की मात्रा वायुमंडल में बढ़ती जा रही है जिसके कारण श्री का ताप धीरे-धीरे बढ़ता जाता है यही घटना को ग्लोबल वॉर्मिंग कहलाती है इसके प्रभाव वायुमंडल ताप में वृद्धि हेमनाथ का पिघलना समुद्री जलस्तर में बढ़ोतरी बड़े एवं सुंदर शहरों का समुद्र में डूबने की संभावना अन्वेषी अतिवृष्टि नियंत्रण करने के उपाय वृक्षों की कटाई को रोक लगाई लगाकर वृक्षारोपण कार्यक्रम को अपनाकर

manviya yogic gatividhiyon ke karan green house ke gas ki matra vayumandal mein BA dhti ja rahi hai jiske karan shri ka taap dhire dhire BA dhta jata hai yahi ghatna ko global warming kahalati hai iske prabhav vayumandal taap mein vriddhi hemnath ka pighalana samudri jalstar mein BA dhotari BA de evam sundar shaharon ka samudra mein dubne ki sambhavna anweshi ativrishti niyantran karne ke upay vriksho ki katai ko rok lagayi lagakar vriksharopan karyakram ko apnakar

मानवीय योगिक गतिविधियों के कारण ग्रीन हाउस के गैस की मात्रा वायुमंडल में बढ़ती जा रही है ज

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  125
WhatsApp_icon
user

विकास सिंह

दिल से भारतीय

0:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ग्लोबल वॉर्मिंग आम इंसान जो है ना मिली जो भी प्रदूषण जैसे ग्रीन हाउस गैस से क्या होता है कि हमारी पृथ्वी का औसत तापमान उड़ जाते हैं तुम लोगों ने इसे ही कहते हैं इसकी वजह से अंटार्कटिका में बर्फ पिघल रहा है भारत के हिमालय पर बर्फ पिघल जाए और साथ ही साथ समुंदर के जलस्तर भी बढ़ा जलस्तर काफी बातें वह दिखा जा रहा है आज हम लोग जब भी बाहर जाते हैं तो भर्ती गर्मी तेज हवाओं के बारे में शिकायत करते हैं पर यह सब जो है यह सब ग्लोबल वार्मिंग ग्लोबल वार्मिंग जो हमारे और हमारे जीवन शैली का आज के दौर का सबसे बड़ा सवाल बना हुआ है इसके बारे में जो हमारे गवर्नमेंट है बहुत सारे स्टेप की ले रहे हैं तो हम चाहते हैं कि हम लोग भी अपने घरों में को सपोर्ट करें वजन को कम करें

global warming aam insaan jo hai na mili jo bhi pradushan jaise green house gas se kya hota hai ki hamari prithvi ka ausat taapman ud jaate hai tum logo ne ise hi kehte hai iski wajah se antarctica mein BA rf pighal raha hai bharat ke himalaya par BA rf pighal jaaye aur saath hi saath samundar ke jalstar bhi BA dha jalstar kaafi BA tein vaah dikha ja raha hai aaj hum log jab bhi BA har jaate hai toh bharti garmi tez hawaon ke BA re mein shikayat karte hai par yah sab jo hai yah sab global warming global warming jo hamare aur hamare jeevan shaili ka aaj ke daur ka sabse BA da sawaal BA na hua hai iske BA re mein jo hamare government hai BA hut saare step ki le rahe hai toh hum chahte hai ki hum log bhi apne gharon mein ko support kare wajan ko kam karen

ग्लोबल वॉर्मिंग आम इंसान जो है ना मिली जो भी प्रदूषण जैसे ग्रीन हाउस गैस से क्या होता है क

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  212
WhatsApp_icon
user

Geet Awadhiya

Aspiring Software Developer

0:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ग्लोबल वॉर्मिंग एक प्रक्रिया है जिसके द्वारा ऐसा कहा जाता है कि हमारे जो पृथ्वी है उसका जो तापमान है वह 3:00 बजे धीरे बहुत ही मध्यम गति से बढ़ते जा रहा है जिससे जो बर्फ की चट्टान है अंटार्टिका में 8 गांवों में यह सारे समुद्र में खुल रही है जिससे समुद्र का स्तर पर है और इसके कारण पूरी दुनिया में जो कार्बन डाइऑक्साइड है उसकी मात्रा बढ़ रही है जिससे काफी दादा दुष्परिणाम देखने को मिल सकते हैं जो कि हमारे वातावरण में हो रहा है हमारा जो मौसम है वह हर साल अलग-अलग रूप दिखा रहा है ना कि पुराने जमाने की तरह जो ऋतु ऋतु होती है उसके हिसाब से चल रहा हूं

global warming ek prakriya hai jiske dwara aisa kaha jata hai ki hamare jo prithvi hai uska jo taapman hai vaah 3 00 BA je dhire BA hut hi madhyam gati se BA dhte ja raha hai jisse jo BA rf ki chattan hai antarctica mein 8 gaon mein yah saare samudra mein khul rahi hai jisse samudra ka sthar par hai aur iske karan puri duniya mein jo carbon dioxide hai uski matra BA dh rahi hai jisse kaafi dada dushparinaam dekhne ko mil sakte hai jo ki hamare vatavaran mein ho raha hai hamara jo mausam hai vaah har saal alag alag roop dikha raha hai na ki purane jamane ki tarah jo ritu ritu hoti hai uske hisab se chal raha hoon

ग्लोबल वॉर्मिंग एक प्रक्रिया है जिसके द्वारा ऐसा कहा जाता है कि हमारे जो पृथ्वी है उसका जो

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  457
WhatsApp_icon
user
0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ग्लोबल वॉर्मिंग जो है वह सीएचसी सैनी की हवा में क्लोरोफ्लोरोकार्बन की वजह से होता है तो सीएससी ग्लोबल वार्मिंग की मेन जो है गैस है यही वातावरण बहुत ज्यादा खराब करती है और इसने यह ओजोन लेयर को सबसे ज्यादा खराब करती है तो 8080 जो है वह हमें यह किस से निकलती है यह हमारे रेफ्रिजरेटर ऐसी है उनमें से निकलती है तो इनका उपयोग में तुम करना चाहिए और विकल्प का भी उपयोग हमें कम करना चाहिए ताकि हमारा जवाब तवरण है वह सुधरे और उसमें हम हरियाली ज्यादा ला पाए

global warming jo hai vaah CHC saini ki hawa mein kloroflorokarban ki wajah se hota hai toh CSC global warming ki main jo hai gas hai yahi vatavaran BA hut zyada kharab karti hai aur isne yah ozone layer ko sabse zyada kharab karti hai toh 8080 jo hai vaah hamein yah kis se nikalti hai yah hamare refrigerator aisi hai unmen se nikalti hai toh inka upyog mein tum karna chahiye aur vikalp ka bhi upyog hamein kam karna chahiye taki hamara jawab tavran hai vaah sudhre aur usme hum hariyali zyada la paye

ग्लोबल वॉर्मिंग जो है वह सीएचसी सैनी की हवा में क्लोरोफ्लोरोकार्बन की वजह से होता है तो सी

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  446
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
global warming kya hai ; प्रेजेंट टेंपरेचर ; global warming kise kehte hain ; global warming kaise hota hai ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!