फ़िल्म इंडस्ट्री में काम करने वाले ऐसे कौन से लोग होते हैं जिनकी सबसे कम प्रशंसा की जाती है?...


user

Ramgopal Mali

Film And Tv Director

1:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दृष्टि में काम करने वाले जो लोग हैं उसमें प्रशंसा तो फिल्म के कलाकारों को मिलती है हीरो हीरोइन अगर इनको मिलती है और डायरेक्टर को भी लोग आजकल जानने लग गए बहुत अच्छा काम करते इसलिए लेकिन इंडस्ट्री में जो पर्दे पर दिखता है कैमरे के पीछे भी एक बहुत बड़ी टीम होती है छोटी से छोटी फिल्म हो तो 50 से 100 लोगों की टीम होती है उनके बिना तो आ मेकिंग संभव ही नहीं है फिल्म जब ऑन फ्लोर होती है तब सेट पर स्पॉट बॉय से लेकर डायरेक्टर प्रोडूसर तक उपलब्ध रहते हैं और एक फिल्म बनाने के लिए 54 डिपार्टमेंट काम करते हैं अलग अलग डिपार्टमेंट बनाया जाते हैं सबका अलग-अलग काम होता है और जो हेयरड्रेसर है मेकअप मैन है इलेक्ट्रीशियन है क्रेन ऑपरेटर है इनको पहचान नहीं मिलती है इनको काम करना है उनका पैसा लेना है हां उनको प्रशंसा मिलती है अपनी टीम द्वारा लेकिन आम पब्लिक को नहीं पता होता है कि यह लोग इस फिल्म में काम कर चुके हैं थैंक यू

drishti me kaam karne waale jo log hain usme prashansa toh film ke kalakaron ko milti hai hero heroine agar inko milti hai aur director ko bhi log aajkal jaanne lag gaye bahut accha kaam karte isliye lekin industry me jo parde par dikhta hai camera ke peeche bhi ek bahut badi team hoti hai choti se choti film ho toh 50 se 100 logo ki team hoti hai unke bina toh aa making sambhav hi nahi hai film jab on floor hoti hai tab set par spot boy se lekar director producer tak uplabdh rehte hain aur ek film banane ke liye 54 department kaam karte hain alag alag department banaya jaate hain sabka alag alag kaam hota hai aur jo Hairdresser hai makeup man hai electrician hai Crane operator hai inko pehchaan nahi milti hai inko kaam karna hai unka paisa lena hai haan unko prashansa milti hai apni team dwara lekin aam public ko nahi pata hota hai ki yah log is film me kaam kar chuke hain thank you

दृष्टि में काम करने वाले जो लोग हैं उसमें प्रशंसा तो फिल्म के कलाकारों को मिलती है हीरो ही

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  281
WhatsApp_icon
8 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Harender Kumar Yadav

Career Counsellor.

0:37
Play

Likes  616  Dislikes    views  7124
WhatsApp_icon
user
1:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसे बहुत से लोग हैं दोस्त जिनकी बहुत कम प्रशंसा होती है खास करके टेक्निकल साइड में होता है ऐसा जो हमारे स्कूल दादा होते हैं जो मारे फाइट मैन होते हैं टॉर्च असिस्टेंट होते हैं सभी डिपार्टमेंट में होते हैं पूरी शिद्दत से और उसी शिद्दत से मेहनत करते हैं जिससे फिल्म का डायरेक्टर फिल्म के बाकी एक्टर मां की टेक्निकल ग्रुप काम करते हैं ठीक उसी शिद्दत से गुणों की खान करते हैं तो यह कुछ ऐसे पक्षी हैं जिनकी तारीफ होती है उन्हें कम होते हैं लेकिन तारीफ कम होती है का मतलब यह भी नहीं है कि जो टीम है जो क्रु है फिल्म का वह उनकी मेहनत को नजरअंदाज करता है या ध्यान नहीं देता है वह बराबर सेकंड के जाते हैं उनकी मेहनत को भी देखा जाता है समझा जाता है और पूरी टीम के लोग उनकी मेहनत को मानते हैं सभी जो स्टार एक्टर अच्छे लोग हैं वह अरे सपोर्ट दादा का सारे से स्टैंड का सब का सम्मान करते हैं प्रशंसा जो है वह कम होती है पर उनके काम को मार किया जाता है नोटिस किया जाता है सम्मान दिया जाता है हमको टेक्निकल साइड में जो होते हैं और उनके द्वारा उनके काम को जरूर किया जाता है

aise bahut se log hain dost jinki bahut kam prashansa hoti hai khas karke technical side me hota hai aisa jo hamare school dada hote hain jo maare fight man hote hain torch assistant hote hain sabhi department me hote hain puri shiddat se aur usi shiddat se mehnat karte hain jisse film ka director film ke baki actor maa ki technical group kaam karte hain theek usi shiddat se gunon ki khan karte hain toh yah kuch aise pakshi hain jinki tareef hoti hai unhe kam hote hain lekin tareef kam hoti hai ka matlab yah bhi nahi hai ki jo team hai jo crew hai film ka vaah unki mehnat ko najarandaj karta hai ya dhyan nahi deta hai vaah barabar second ke jaate hain unki mehnat ko bhi dekha jata hai samjha jata hai aur puri team ke log unki mehnat ko maante hain sabhi jo star actor acche log hain vaah are support dada ka saare se stand ka sab ka sammaan karte hain prashansa jo hai vaah kam hoti hai par unke kaam ko maar kiya jata hai notice kiya jata hai sammaan diya jata hai hamko technical side me jo hote hain aur unke dwara unke kaam ko zaroor kiya jata hai

ऐसे बहुत से लोग हैं दोस्त जिनकी बहुत कम प्रशंसा होती है खास करके टेक्निकल साइड में होता है

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  128
WhatsApp_icon
play
user

Jeet Dholakia

Anchor and Media Professional

3:09

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

फिल्म इंडस्ट्री कैसी जगह है कि जहां पर आप एक्टर एक्ट्रेस काफी ऐसे लोग हैं उनके साथ जुड़े हुए भी कि जिनको प्रशंसा मिलती है जिनको अवार्ड मिलते हैं और लोगों में भी वह काफी पॉपुलर हो जाते हैं सिंगर सोते हैं और साथ में कलाकार तो एक्ट्रेसेस तो होते ही फिर डायरेक्टर सोते हैं कि काम के काम की सराहना करते हैं यहां जो पूछा जाए कि फिल्म में काम करने वाले ऐसे कौन से लोग होते हैं जिनकी सबसे कम प्रशंसा की जाती है मैं जितना समझ पाया हूं और जितना समझता हूं और मैं बताना चाहता हूं कि हम हम जो फिल्म देखते हैं काफी ऐसे लोग हैं जो प्रमोशन के लिए देखने जाते हैं या फिर उनको टाइम पास करना होता है तो इसलिए देखने जाते या तो फिर उसके जैक ट्रैक्टर से सोते हैं वह उनके पैर होते हैं तो उस लिए फिल्म देखने जाते हैं तो मेरे ख्याल से वह जो लोग होते हैं उनको एक बेसिक जो चीज होती की फिल्मी अगर कहा जाए स्टोरी और स्क्रीनप्ले बनाते हो या फिर डॉक्यूमेंट बनाते हो या फिर कुछ भी अपन बनाते हो तो उसमें दूरी और ट्रेन का जो इस्तेमाल होता है वह बहुत ही बुरी तरह से होता है और स्टोरीराइटर तो खैर फिर भी लोगों को पता चलता है कि इस फिल्म की स्टोरी अच्छी है इसलिए पे मचल गई पर मैं यह बताना चाहता हूं कि आओ सेटिंग जो स्क्रीनप्ले लिखा जाता है वह किसको पता है कि स्क्रीनप्ले क्या होता है आप है तो सब को यह जानना पड़ेगा की स्टोरी और स्क्रीनप्ले के बीच में क्या अंतर है और वह अगर आप अंतर समझ पाओगे तो कहीं ना कहीं जाकर आपको ऐसा लगेगा कि नहीं स्क्रीनप्ले राइटर का काम भी बहुत ही अच्छा है क्योंकि उसने जो मेहनत की है वह हमें स्क्रीन पर देखने को मिल रही है हमें ऐसा लगता है कि उसके डायलॉग अच्छे लोग अच्छे होते हैं पर कहीं ना कहीं स्क्रीन स्क्रीन पर तुमको अच्छी ट्रीटमेंट देने के लिए आ स्क्रीनप्ले भी उतना ही जरूरी होता है जितनी स्टोरी होती है कहीं ना कहीं हम देखते हैं कि यह फिल्म देखने गए थे तो उनका कुछ पसंद नहीं आया तो हम चले आए या तो फिर किसका किसका था उसकी उसने बहुत ही अच्छे उसको मिलना चाहिए क्योंकि हम लोग 333 प्ले राइटर की प्रशंसा करते ही नहीं है और जो उसका काम होता है स्टोरी राइटर के बाद स्टोरी टॉय स्टोरी राइटर जो होता है वही स्केलेटन बना कर दे देता है कि वे इस तरह के चोरी कुछ होगी उसके बाद उसमें क्या वैलिडेशन करनी है क्या एलिमेंट ऐड करने हैं कौन सी जगह ऐड करनी है किस तरह से ऐड करनी है उसको सारा काम स्टंट राइटर करता है पर कहीं ना कहीं वह पूरी तरह नजरअंदाज हो जाता है और ऑडियंस तो उसने भी को नजरअंदाज हो जाता है वह लड़का और लड़कियों कोई भी उनका कोई प्रेम नहीं होता है या फिर वह तंत्र राइटर एक पल में कौन है इसका नाम तक लोगों को नहीं पता है तो मेरे ख्याल से जो इंडस्ट्री में काम करते हैं उसमें तीन से राइटर जो है वह सबसे ज्यादा नजरअंदाज होने वाले एक व्यक्ति माने जाते हैं

film industry kaisi jagah hai ki jaha par aap actor actress kaafi aise log hain unke saath jude hue bhi ki jinako prashansa milti hai jinako award milte hain aur logo mein bhi vaah kaafi popular ho jaate hain singer sote hain aur saath mein kalakar toh ektreses toh hote hi phir director sote hain ki kaam ke kaam ki sarahana karte hain yahan jo poocha jaaye ki film mein kaam karne waale aise kaunsi log hote hain jinki sabse kam prashansa ki jaati hai jitna samajh paya hoon aur jitna samajhata hoon aur main bataana chahta hoon ki hum hum jo film dekhte hain kaafi aise log hain jo promotion ke liye dekhne jaate hain ya phir unko time paas karna hota hai toh isliye dekhne jaate ya toh phir uske jack tractor se sote hain vaah unke pair hote hain toh us liye film dekhne jaate hain toh mere khayal se vaah jo log hote hain unko ek basic jo cheez hoti ki filmy agar kaha jaaye story aur screenplay banate ho ya phir document banate ho ya phir kuch bhi apan banate ho toh usme doori aur train ka jo istemal hota hai vaah bahut hi buri tarah se hota hai aur storiraitar toh khair phir bhi logo ko pata chalta hai ki is film ki story achi hai isliye pe machal gayi par main yah bataana chahta hoon ki aao setting jo screenplay likha jata hai vaah kisko pata hai ki screenplay kya hota hai aap hai toh sab ko yah janana padega ki story aur screenplay ke beech mein kya antar hai aur vaah agar aap antar samajh paoge toh kahin na kahin jaakar aapko aisa lagega ki nahi screenplay writer ka kaam bhi bahut hi accha hai kyonki usne jo mehnat ki hai vaah hamein screen par dekhne ko mil rahi hai hamein aisa lagta hai ki uske dialogue acche log acche hote hain par kahin na kahin screen screen par tumko achi treatment dene ke liye aa screenplay bhi utana hi zaroori hota hai jitni story hoti hai kahin na kahin hum dekhte hain ki yah film dekhne gaye the toh unka kuch pasand nahi aaya toh hum chale aaye ya toh phir kiska kiska tha uski usne bahut hi acche usko milna chahiye kyonki hum log 333 play writer ki prashansa karte hi nahi hai aur jo uska hota hai story writer ke baad story toy story writer jo hota hai wahi skeleton bana kar de deta hai ki ve is tarah ke chori kuch hogi uske baad usme kya validation karni hai kya element aid karne hain kaun si jagah aid karni hai kis tarah se aid karni hai usko saara kaam stunt writer karta hai par kahin na kahin vaah puri tarah najarandaj ho jata hai aur adiyans toh usne bhi ko najarandaj ho jata hai vaah ladka aur ladkiyon koi bhi unka koi prem nahi hota hai ya phir vaah tantra writer ek pal mein kaun hai iska naam tak logo ko nahi pata hai toh mere khayal se jo industry mein kaam karte hain usme teen se writer jo hai vaah sabse zyada najarandaj hone waale ek vyakti maane jaate hain

फिल्म इंडस्ट्री कैसी जगह है कि जहां पर आप एक्टर एक्ट्रेस काफी ऐसे लोग हैं उनके साथ जुड़े ह

Romanized Version
Likes  179  Dislikes    views  2170
WhatsApp_icon
user

Gopal Srivastava

Acupressure Acupuncture Sujok Therapist

1:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

फिल्म इंडस्ट्री में सबसे ज्यादा कम मार्च 14 तारीख होती है उनकी होती जो बैकग्राउंड काम करते हैं इस चीज बनाते हैं अच्छे से जाते हैं लाइटिंग व करते हैं ठीक है स्टंट करते हैं हीरो की जगह तेरा हीरो का लगा देते हैं इन सब चीजों की कोई वैल्यू नहीं होती कोई वैल्यू नहीं समझता कोई इनको कुछ नहीं करता हीरो के रोक ले रहा है पैसा भी ज्यादा नहीं मिलता 100 से ₹500 1 दिन के मिलते हैं यह चीज है जो बैकग्राउंड में काम करते हैं उनका कोई वैल्यू नहीं है वो कोई जनता को कोई नहीं पहचानता मोटरसाइकिल पर अब देखते स्टंट करते हैं वह स्टडी करो की फोटो कॉपी चाहिए उसका जवाब दिया

film industry me sabse zyada kam march 14 tarikh hoti hai unki hoti jo background kaam karte hain is cheez banate hain acche se jaate hain lighting va karte hain theek hai stunt karte hain hero ki jagah tera hero ka laga dete hain in sab chijon ki koi value nahi hoti koi value nahi samajhata koi inko kuch nahi karta hero ke rok le raha hai paisa bhi zyada nahi milta 100 se Rs 1 din ke milte hain yah cheez hai jo background me kaam karte hain unka koi value nahi hai vo koi janta ko koi nahi pahachanta motorcycle par ab dekhte stunt karte hain vaah study karo ki photo copy chahiye uska jawab diya

फिल्म इंडस्ट्री में सबसे ज्यादा कम मार्च 14 तारीख होती है उनकी होती जो बैकग्राउंड काम करते

Romanized Version
Likes  87  Dislikes    views  2550
WhatsApp_icon
user

Sameer Sharma

Actor / A.Directer / ContenTWriter

1:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

फिल्म इंडस्ट्री में काम करने वाले ऐसे कई तबके के लोग हैं जिन्हें इतनी मेहनत करने के बावजूद मेहनत करने के बावजूद उन्हें उसके फल के एवज में कोई किसी तरह की प्रशंसा नहीं मिलती है उन्हीं लोगों में एक तब काहे जूनियर आर्टिस्ट का जो जूनियर्स आपने देखे होंगे आप कोशिश की अगर कोशिश करेंगे देखने की तो आप को देखेंगे एक फिल्म में होती है ऐसा गाने रहते हैं वह फिल्मों में गांधी रहते हैं सीरियल देते हैं और मैं आपको पीछे बैकग्राउंड में भीड़ में इस तरह के जुड़ी नट्स नजर आ जाएंगे गानों में लीड हीरो हीरोइन के जो पीछे डांस करते हुए नजर आते हैं उन्हें जितने रखा जाता है तो जोगनिया टेस्ट मेहनत तो बहुत करते हैं बेचारे लेकिन उनको वह मेहनत के फल प्रशंसा के रूप में मिलना चाहिए लेकिन मिलता नहीं है ठीक है और यही नहीं होता है उनको उनका काम का जो एवज है भुगतान भी ठीक ढंग से नहीं किया जाता है कभी-कभी तो किसी किसी का भुगतान काफी लंबे समय तक लटका दिया जाता है उसके बाद उसे भुगतान किया जाता है तो बॉलीवुड मस्ती को यहां सुधार करने की जरूरत है जोगनिया डिस्ट्रिक्ट कोई उनसे इंडस्ट्रीज से अलग नहीं है मूवीस इंडस्ट्रीज में काम करते हैं वह भी एसिडिटी से काम करके मेहनत करके अपना और अपने परिवार का पेट पालते तो इस तबके की ओर ध्यान देने की खास जरूरत है थैंक यू वेरी मच यदि आप मेरे सवा से सहमत हैं तो आगे भी मुझे फॉलो करते रहें और अपना कोई सवाल है सैलरी तो पूछ सकते हैं थैंक यू

film industry me kaam karne waale aise kai tabke ke log hain jinhen itni mehnat karne ke bawajud mehnat karne ke bawajud unhe uske fal ke evaj me koi kisi tarah ki prashansa nahi milti hai unhi logo me ek tab kaahe junior artist ka jo juniyars aapne dekhe honge aap koshish ki agar koshish karenge dekhne ki toh aap ko dekhenge ek film me hoti hai aisa gaane rehte hain vaah filmo me gandhi rehte hain serial dete hain aur main aapko peeche background me bheed me is tarah ke judi nuts nazar aa jaenge gaano me lead hero heroine ke jo peeche dance karte hue nazar aate hain unhe jitne rakha jata hai toh jogniya test mehnat toh bahut karte hain bechare lekin unko vaah mehnat ke fal prashansa ke roop me milna chahiye lekin milta nahi hai theek hai aur yahi nahi hota hai unko unka kaam ka jo evaj hai bhugtan bhi theek dhang se nahi kiya jata hai kabhi kabhi toh kisi kisi ka bhugtan kaafi lambe samay tak Latka diya jata hai uske baad use bhugtan kiya jata hai toh bollywood masti ko yahan sudhaar karne ki zarurat hai jogniya district koi unse industries se alag nahi hai Movies industries me kaam karte hain vaah bhi acidity se kaam karke mehnat karke apna aur apne parivar ka pet palate toh is tabke ki aur dhyan dene ki khas zarurat hai thank you very match yadi aap mere sava se sahmat hain toh aage bhi mujhe follow karte rahein aur apna koi sawaal hai salary toh puch sakte hain thank you

फिल्म इंडस्ट्री में काम करने वाले ऐसे कई तबके के लोग हैं जिन्हें इतनी मेहनत करने के बावजूद

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  107
WhatsApp_icon
user

Rihan Shah

I want to become An IAS Officer (Love Realationship Full Experience)

0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखी फिल्म एचडी में किराए की आप ऐसे कौन से लोग हैं जिनके परिजन चली जाती है कि सारे लोग हैं मगर मैंने एक वीडियो को इस फिल्म को एडिट करता है इस फिल्म में के अंदर कुछ काम करते हैं कोई और कर के रूप में उनकी प्रशंसा जल्दी से जल्दी कहीं नाम नहीं होता नहीं की जाती

dekhi film hd mein kiraye ki aap aise kaun se log hain jinke parijan chali jaati hai ki saare log hain magar maine ek video ko is film ko edit karta hai is film mein ke andar kuch kaam karte hain koi aur kar ke roop mein unki prashansa jaldi se jaldi kahin naam nahi hota nahi ki jaati

देखी फिल्म एचडी में किराए की आप ऐसे कौन से लोग हैं जिनके परिजन चली जाती है कि सारे लोग हैं

Romanized Version
Likes  24  Dislikes    views  593
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसे लोग होते हैं इक्वेशन जो सामने नहीं होते जो पर्दे के पीछे होते हैं उनकी भी उतनी ही तारीफ करनी चाहिए जो डुप्लीकेट होते हैं जो फाइटिंग करते हैं बहुत से लोग हैं जो पर्दे पर नहीं आते हम सब लोगों की शादी को

aise log hote hain equation jo saamne nahi hote jo parde ke peeche hote hain unki bhi utani hi tareef karni chahiye jo duplicate hote hain jo fighting karte hain bahut se log hain jo parde par nahi aate hum sab logo ki shaadi ko

ऐसे लोग होते हैं इक्वेशन जो सामने नहीं होते जो पर्दे के पीछे होते हैं उनकी भी उतनी ही तारी

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  72
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!