भारत की पहली शिक्षा प्रणाली कैसी थी और अब की शिक्षा प्रणाली में क्या अंतर है?...


user

munmun

Volunteer

1:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत की पहली शिक्षा प्रणाली कैसी थी और अब की शिक्षा प्रणाली में क्या अंतर है तो देखिए इन दोनों में जो है जमीन आसमान का फर्क है कितनी देर पहले जो था हमारा भारत कितना डिवेलप नहीं था जिस वजह से जो है हमारी शिक्षा प्रणाली काफी डाउन थी ठीक है तो यह शिक्षा प्रणाली भी जो है हमारे अंग्रेजों के वक्त से जो है चली आ रही है तो उस और जो है उनका शासन था तो उसे इतना डिवेलप नहीं कर पा रहे थे तो अपना भारत जो है अब इतना डिवेलप हो चुका है कि उसमें जो शिक्षा प्रणाली है वह टॉप लेवल के हो चुके थे कि अब हमारे हमारे देश में शिक्षा प्रणाली में जो इतना सुधार हो चुका है कि हर क्लासेज में जो है प्रोजेक्टर के थ्रू जो है बच्चों को स्टडी की जाती जाती है एक चीज दिए जाते हैं उनको प्रॉपर नोट दिए जाते हैं प्रॉपर्टी जो है इतनी एलिजिबिलिटीज होती है ठीक है और पहले जो था यह सब पहले जो थे क्या थे कि अरे क्लासरूम्स भी नहीं हुआ करते थे बच्चे मिट्टी में बैठकर पढ़ते थे पेड़ के नीचे बैठकर पढ़ते थे एक तो पहले जो है इतने चेयर टेबल नहीं हुआ करते थे अब क्या हो गया अब उसका जो बिल्कुल अपोजिट हो चुका जो है भारत हमारी इतनी डेवलप कर चुकी है कि उसकी शिक्षा प्रणाली में सुधार हो चुका है अब बच्चों के पास जो हर एक चीज की हर एक चीज है ठीक है क्लासेज है कि पहले क्या होता था कि अगर क्लासेज होते नहीं होते थे अब क्या होता है कि अब क्या चीज में ऐसी भी होते हैं तो काफी जो है स्टडी को भी लेकर जो है काफी डिफरेंस आ चुका है और इसमें भी काफी डिफरेंस आ चुका है तो बहुत सारी चीज है जो है उन दोनों में काफी अंतर जो है आ चुका है

bharat ki pehli shiksha pranali kaisi thi aur ab ki shiksha pranali mein kya antar hai toh dekhiye in dono mein jo hai jameen aasman ka fark hai kitni der pehle jo tha hamara bharat kitna develop nahi tha jis wajah se jo hai hamari shiksha pranali kaafi down thi theek hai toh yah shiksha pranali bhi jo hai hamare angrejo ke waqt se jo hai chali aa rahi hai toh us aur jo hai unka shasan tha toh use itna develop nahi kar paa rahe the toh apna bharat jo hai ab itna develop ho chuka hai ki usme jo shiksha pranali hai vaah top level ke ho chuke the ki ab hamare hamare desh mein shiksha pranali mein jo itna sudhaar ho chuka hai ki har classes mein jo hai projector ke through jo hai baccho ko study ki jaati jaati hai ek cheez diye jaate hain unko proper note diye jaate hain property jo hai itni elijibilitij hoti hai theek hai aur pehle jo tha yah sab pehle jo the kya the ki are classrooms bhi nahi hua karte the bacche mitti mein baithkar padhte the ped ke niche baithkar padhte the ek toh pehle jo hai itne chair table nahi hua karte the ab kya ho gaya ab uska jo bilkul opposite ho chuka jo hai bharat hamari itni develop kar chuki hai ki uski shiksha pranali mein sudhaar ho chuka hai ab baccho ke paas jo har ek cheez ki har ek cheez hai theek hai classes hai ki pehle kya hota tha ki agar classes hote nahi hote the ab kya hota hai ki ab kya cheez mein aisi bhi hote hain toh kaafi jo hai study ko bhi lekar jo hai kaafi difference aa chuka hai aur isme bhi kaafi difference aa chuka hai toh bahut saree cheez hai jo hai un dono mein kaafi antar jo hai aa chuka hai

भारत की पहली शिक्षा प्रणाली कैसी थी और अब की शिक्षा प्रणाली में क्या अंतर है तो देखिए इन द

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  7
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!