यदि आपको एक सुपर पावर मिलती तो वो क्या होती और क्यों?...


user

Ajay Kumar

Astrologer With Advocate

6:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सुपर पावर मनुष्य खुद खुद का है और मनुष्य खुद सुपर पावर हो सकता है क्योंकि सुपर पावर अगल-बगल नहीं होता मनुष्य के मन के अंदर होता है और सुपर पावर ढूंढने के लिए मन को अस्थिरता रखना बहुत जरूरी होता है जैसे कि अगर पानी को उछाला जाए तो अपना फिल्म नहीं देख सकते हैं मुझे पानी अगर हस्ती रहो तो उसमें अपना पिक्चर दिखता है तो उसी तरह से हर एक मनुष्य के अंदर कुछ ऐसी पावर होती है रमेश जान नहीं पाता और अगर वह पहचान ले जान जाए तो फिर उसे सब कर्मों में लगाना उचित समझा जाता है क्योंकि आज की डेट में सुपर पावर बहुत इजी तरीके से प्राप्त भी होता है मिलता भी है पहले पुरानी काल में हजारों वर्षों तक सारे देव दानव जितनी भी थे सब तपस्या कर देते सुपर पावर अर्जेंट करने के लिए आज के डेट में ऐसा कुछ नहीं है आज की डेट में बहुत कम समय में भी सुपर पावर अर्जुन कर लिया जाता है आ सकता है क्योंकि पहले मैं इतना ज्यादा भक्ति शक्ति कर्मकांड पद्धति पूजा इतनी ज्यादा मात्रा में थी कि जिस सुपर पावर को बनाने वाली देवी देवता है जो सुपर पावर हैं उन्हें को प्राप्त होता रहता था मगर आज की डेट में देखा जाता है कि भगवान भी भक्ति के लिए तरसते हैं भगवान भी चाहते हैं कि मेरी भक्ति हो ताकि हमको शक्ति प्राप्त हो और अपने भक्तों को हम संतुष्ट कर पाए जैसे कि हम लोग कोई पूजन करते पंचोपचार षोडशोपचार कर्मकांड विधि द्वारा उसमें जो हम लोग फल चलाते हैं वह फल को हम लोग चाहते हैं और फिर उसी फल को उठा कर खा लेते हैं और फिर उसको हम पूजा का नियम ही बनाते हैं बताते हैं मगर वह है पूजा पूजा एक नियम है तू मतलब पूंजा मिल जाना मुझे पुण्य की ओर जाता है वही पूजा है उसे उसमें जब हम पूजा करते हैं लड्डू चढ़ाते हैं यह फूल चढ़ाते हैं तो हम उसे उठाकर फिर खुद ही ग्रहण करते हैं तो हम अगर भगवान को चाहते हैं तो वह तो संत भगवान को ही मिलना चाहिए हम क्यों खाते यहां पर भावना को चढ़ाया जाता है फल को नहीं उस भाव से किया जाता है जिस भाव को भगवान देते हैं कम कांड में एक नियम भी बताया गया है जिसका मुद्रा नियम चला जाता है उस मुद्रा नियम से भी अगर पूजा किया जाए तो फलो चलाने की आवश्यकता नहीं होती जिस तरह से क्रियाएं होती है जिस तरह से सारी चीज क्रिया शुक्रिया होती है बहुत सारी क्रियाएं हैं जैसी संस्था में होती है उसी प्रकार से एक पूजन की भी एक मुद्रा क्रिया है उस मुद्रा क्रिया से भी अगर पूजन किया जाए तो भगवान भी पूर्व करके उस पूजन को लेते हैं और भक्तों को भी भरपूर मात्रा में आशीर्वाद देते हैं वह क्रिया बहुत ऊपर की क्रिया है वह क्रिया साधारण लोग नहीं कर सकते क्योंकि उस मुद्रा से अगर हम चाहते हैं तो फूल चढ़ता है अगर फूल ना रहे तो फिर मुद्रा के द्वारा पूर्व को चाहा जा सकता है पूजा करने की बहुत सारी पद्धतियां है जिसे भगवान को खुश किया जा सकता है तो मनुष्य आज की डेट में खुद भी खुश नहीं है तो भगवान भी क्या कुछ करेगा अगर भगवान को खुश कर ले तो खुद ब खुद शांत और स्थिर हो सकता क्योंकि बोला जाता है मोको कहां ढूंढे बंदे मैं तो तेरे पास में ना मंदिर ना मस्जिद ना काबे कैलाश में खोजी होती मिलो पल भर की तलाश में कहत कबीर सुनो भाई साधो सरस्वती सासरिया एडवायूज सर्च इरोनसाइट व्हाई यू सर्च द गॉड पावर कंटीन्यूअसली डिफरेंट डिफरेंट साइज गॉड इज ऑलवेज बिलीव इन योर हार्ट यू सर्च इनसाइड इनसाइड आल्सो इन पावर सिटी लाइट सूरत प्रेक्टिस मॉर्निंग आफ्टरनून एंड इवनिंग टाइम न्यूज़ नोट टाइम इन बेस्ट व्हाट्सएप टाइम यूज इन बेस्ट फॉर सर्च सुपर पावर सुपर पावर नो यू आर अंडर ए सुपरपावर बर्ड सुपर पावर इस गोइंग टू यू एंड कंटिन्यू स्लीप अंडर द सुपर पावर बट यू आर रेडी प्रैक्टिस वीडियो प्राय फॉर द ट्रायल टू अरेंज द मर्सी बाय गुड नाइट सी यू बी फेयर वेल विद फैमिली एंड नेवर फील एनी नेगेटिव वायरस एंड नेगेटिव थॉट कंट्री एंड वॉटर टो स्लीप इन द वेरी इंसाफ अली अली कुछ भी करते हैं तो मूल दिवस था को छोड़ करके उसको जो बचा हुआ चीज है उसको लेते हैं हिंदू धर्म में पूजा एक विधि माना गया है पूजा क्या है पूजा भी एक विधि है पूजा विधि इसलिए की कि जो कर्म हम करती कर्म को सुचारू रूप से चलाने का विधि को ही पूजा का

super power manushya khud khud ka hai aur manushya khud super power ho sakta hai kyonki super power agal bagal nahi hota manushya ke man ke andar hota hai aur super power dhundhne ke liye man ko asthirata rakhna bahut zaroori hota hai jaise ki agar paani ko uchala jaaye toh apna film nahi dekh sakte hain mujhe paani agar hasti raho toh usme apna picture dikhta hai toh usi tarah se har ek manushya ke andar kuch aisi power hoti hai ramesh jaan nahi pata aur agar vaah pehchaan le jaan jaaye toh phir use sab karmon me lagana uchit samjha jata hai kyonki aaj ki date me super power bahut easy tarike se prapt bhi hota hai milta bhi hai pehle purani kaal me hazaro varshon tak saare dev danav jitni bhi the sab tapasya kar dete super power urgent karne ke liye aaj ke date me aisa kuch nahi hai aaj ki date me bahut kam samay me bhi super power arjun kar liya jata hai aa sakta hai kyonki pehle main itna zyada bhakti shakti karmakand paddhatee puja itni zyada matra me thi ki jis super power ko banane wali devi devta hai jo super power hain unhe ko prapt hota rehta tha magar aaj ki date me dekha jata hai ki bhagwan bhi bhakti ke liye taraste hain bhagwan bhi chahte hain ki meri bhakti ho taki hamko shakti prapt ho aur apne bhakton ko hum santusht kar paye jaise ki hum log koi pujan karte panchopachar shodshopchar karmakand vidhi dwara usme jo hum log fal chalte hain vaah fal ko hum log chahte hain aur phir usi fal ko utha kar kha lete hain aur phir usko hum puja ka niyam hi banate hain batatey hain magar vaah hai puja puja ek niyam hai tu matlab punja mil jana mujhe punya ki aur jata hai wahi puja hai use usme jab hum puja karte hain laddu chadhate hain yah fool chadhate hain toh hum use uthaakar phir khud hi grahan karte hain toh hum agar bhagwan ko chahte hain toh vaah toh sant bhagwan ko hi milna chahiye hum kyon khate yahan par bhavna ko chadaya jata hai fal ko nahi us bhav se kiya jata hai jis bhav ko bhagwan dete hain kam kaand me ek niyam bhi bataya gaya hai jiska mudra niyam chala jata hai us mudra niyam se bhi agar puja kiya jaaye toh phalon chalane ki avashyakta nahi hoti jis tarah se kriyaen hoti hai jis tarah se saari cheez kriya shukriya hoti hai bahut saari kriyaen hain jaisi sanstha me hoti hai usi prakar se ek pujan ki bhi ek mudra kriya hai us mudra kriya se bhi agar pujan kiya jaaye toh bhagwan bhi purv karke us pujan ko lete hain aur bhakton ko bhi bharpur matra me ashirvaad dete hain vaah kriya bahut upar ki kriya hai vaah kriya sadhaaran log nahi kar sakte kyonki us mudra se agar hum chahte hain toh fool chadhta hai agar fool na rahe toh phir mudra ke dwara purv ko chaha ja sakta hai puja karne ki bahut saari paddhatiyan hai jise bhagwan ko khush kiya ja sakta hai toh manushya aaj ki date me khud bhi khush nahi hai toh bhagwan bhi kya kuch karega agar bhagwan ko khush kar le toh khud bsp khud shaant aur sthir ho sakta kyonki bola jata hai moko kaha dhundhe bande main toh tere paas me na mandir na masjid na kabe kailash me khoji hoti milo pal bhar ki talash me kaha kabir suno bhai sadho saraswati sasriya edavayuj search ironsait why you search the god power kantinyuasali different different size god is always believe in your heart you search inside inside aalso in power city light surat practice morning afternoon and evening time news note time in best whatsapp time use in best for search super power super power no you R under a superpower bird super power is going to you and continue Sleep under the super power but you R ready practice video paraya for the trial to arrange the mercy bye good night si you be fair well with family and never feel any Negative virus and Negative thought country and water toe Sleep in the very insaaf ali ali kuch bhi karte hain toh mul divas tha ko chhod karke usko jo bacha hua cheez hai usko lete hain hindu dharm me puja ek vidhi mana gaya hai puja kya hai puja bhi ek vidhi hai puja vidhi isliye ki ki jo karm hum karti karm ko sucharu roop se chalane ka vidhi ko hi puja ka

सुपर पावर मनुष्य खुद खुद का है और मनुष्य खुद सुपर पावर हो सकता है क्योंकि सुपर पावर अगल-ब

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  94
KooApp_icon
WhatsApp_icon
30 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
एक सुपर ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!