कौन सी ऐसी एक चीज़ है जो आप अपने बारे में बदलना चाहेंगे और क्यों?...


user

Shubham Mishra

Journalist

1:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत ही अच्छा प्रश्न है कि ऐसी कौन सी ऐसी चीज है जिसे मैं अपने बारे में बदलना चाहूंगा और क्यों यह लोग प्रश्न है इसका उसकी शुरुआत अगर आपको यह सोचना है कि मैं अपने बारे में क्या बदलना चाहूंगा तो सबसे पहले आपको यह पता होना चाहिए कि मेरे अंदर क्या कमियां है मेरे अंदर मैं खुद की बात बताऊं तो मैं एक पेशे से एक पत्रकार हूं और पत्रकारिता करता हूं मेरे अंदर खोज जल्दी आ जाता है लोगों के साथ जो है घुलना मिलना मुझे ज्यादा पसंद है पर कभी-कभी वैचारिक तौर पर और जो है उससे मतभेद हो जाते हैं इसको समझना इसलिए जरूरी है क्योंकि इस दौर में जब हम कहीं काम करते हैं तो लोग अलग-अलग लोगों से अलग-अलग आचरण के लोगों से मिलना जरूरी होता है उतना बैठ तो हो सकता है आपके आचार व्यवहार आपका अच्छा लगे पर आपके विचार अलग हो सकते हैं तो उसी से मत वही तो जाता है जिस पर कभी-कभी प्रमोद आ जाता है तो मुझे अपने आपको घर बदलना है तो मैं अपने क्रोध को सबसे पहले खत्म करना चाहूंगा तू सोचती है कि लोगों की एक दूसरे से बातचीत करना क्योंकि जिस विषय में मैं हूं उसमें सूचना का आदान-प्रदान होता है और यही हमारे जो स्थिति हमारे मन की भी ऐसी ही बन जाती है जिसे आचरण कहते हैं तो सूचना का आदान प्रदान करने के साथ ही हम लोग एक दूसरे की बातों को भी इधर से उधर बताते रहते हैं मेरी कमियां है तो मुझे ऐसे भी बदलना चाहिए

bahut hi accha prashna hai ki aisi kaun si aisi cheez hai jise main apne bare me badalna chahunga aur kyon yah log prashna hai iska uski shuruat agar aapko yah sochna hai ki main apne bare me kya badalna chahunga toh sabse pehle aapko yah pata hona chahiye ki mere andar kya kamiyan hai mere andar main khud ki baat bataun toh main ek peshe se ek patrakar hoon aur patrakarita karta hoon mere andar khoj jaldi aa jata hai logo ke saath jo hai ghulna milna mujhe zyada pasand hai par kabhi kabhi vaicharik taur par aur jo hai usse matbhed ho jaate hain isko samajhna isliye zaroori hai kyonki is daur me jab hum kahin kaam karte hain toh log alag alag logo se alag alag aacharan ke logo se milna zaroori hota hai utana baith toh ho sakta hai aapke aachar vyavhar aapka accha lage par aapke vichar alag ho sakte hain toh usi se mat wahi toh jata hai jis par kabhi kabhi pramod aa jata hai toh mujhe apne aapko ghar badalna hai toh main apne krodh ko sabse pehle khatam karna chahunga tu sochti hai ki logo ki ek dusre se batchit karna kyonki jis vishay me main hoon usme soochna ka aadaan pradan hota hai aur yahi hamare jo sthiti hamare man ki bhi aisi hi ban jaati hai jise aacharan kehte hain toh soochna ka aadaan pradan karne ke saath hi hum log ek dusre ki baaton ko bhi idhar se udhar batatey rehte hain meri kamiyan hai toh mujhe aise bhi badalna chahiye

बहुत ही अच्छा प्रश्न है कि ऐसी कौन सी ऐसी चीज है जिसे मैं अपने बारे में बदलना चाहूंगा और क

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  99
KooApp_icon
WhatsApp_icon
30 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!