दुनिया में कौन सी जगह आपको सबसे ज़्यादा पसंद है और क्यों?...


user

DR. I.P.SINGH

Doctorate in Literature

2:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इसका जवाब देना मामा जी ने दे दिया है दुनिया में सबसे बड़ी जगह सबसे अच्छी जगह हुई है जहां हमारे मां-बाप अर्जुन रहते हैं क्योंकि इस देश की मानसिकता है कि मरने के बाद अपनी मिट्टी मिल जाए तो समझो स्वर्ग मिल गया और करोड़ों की संख्या लाख नहीं कहूंगा करोड़ों की संख्या में मजदूर जो बड़े-बड़े शहरों में रहते थे जिनके पास कुछ नहीं था फुल लोड लोड करके अपने घरों को आगे कोई साइकिल दे कोई मोटरसाइकिल से कोई अपने पैरों से जिसे 11 नंबर की बस कहते हैं कोई मोदी जी द्वारा सरकार द्वारा उपलब्ध कराए गए संसाधनों से अपने घर में आकर के सब शांत बैठने इसका मतलब है कि अपनी मातृभूमि जन्मभूमि जा मारे माता-पिता बंद रहते हैं उस सबसे अच्छी जगह है बाकी थोड़ी देर के लिए है मन वहां जाकर के पूरा आनंद ले सकता है इसे घर की रूप से रोटी खाते हुए किसी शादी ब्याह में मिल जाए तो थोड़ी चिकनी चुपड़ी खा लेता है आदमी लेकिन उसका भोजन हुई रुखा सुखा होता है तो जहां बस ऐसे ही सुंदर देश है जो प्रतिपाल एएसआई नरेश अपनी जन्मभूमि से सुंदर जगह कोई नहीं है यहां अपने होते हैं अन्यथा सोने की हथकड़ियां जो हैं वह भी आदमी को ऐसी मार देती जैसे लोहे के धन-धान्य शहरों में रह रहे लोग जिस तरीके से छटपटा रहे हैं बना लिया है अगल-बगल घूमने की जगह नहीं है गांव में है घर में खाते से बाहर रखकर आते तो मोदी जी ने रोक जरूर लगा दिया और शहर में बाहर खाते हैं घर में आकर के रहते हैं मुझे आप ने आज कहा जाता है कि वही गांव की जो लोग करते हुए आज बच्चे शहर में जिनमें कर रहे हैं ईद पर घर में मेहनत करना पसंद नहीं आता था शहरों में कर रहे हैं कुछ बुनियादी चीजें हैं उद्योग हैं उनकी हमें जरूरत है लेकिन यह औद्योगिकीकरण भी जितना हमारी भावनाओं को खत्म कर दे तो फिर विचारों की सीमा तक हमें डिलीट कर दें इससे अच्छा हमारा नेचुरल जीवन है और ईश्वर करे कि हम किस तरफ लौटने अशोक विहार से हिमालय दिखाई पड़ने लगा है पता नहीं क्या है कितनी गंदगी हमने कर डाली थी इसलिए दूसरे स्थानों पर जाकर भ्रमित होने की तुलना में अगर रोटी कपड़ा मकान की व्यवस्था अपने इलाके में जगह नहीं है क्योंकि वहां हमारे अपने रहते हैं और दुनिया में चौथी सबसे बड़ी बुक होती मनोरंजन तो अपनों से जाकर कहीं नहीं मिल सकती

iska jawab dena mama ji ne de diya hai duniya me sabse badi jagah sabse achi jagah hui hai jaha hamare maa baap arjun rehte hain kyonki is desh ki mansikta hai ki marne ke baad apni mitti mil jaaye toh samjho swarg mil gaya aur karodo ki sankhya lakh nahi kahunga karodo ki sankhya me majdur jo bade bade shaharon me rehte the jinke paas kuch nahi tha full load load karke apne gharon ko aage koi cycle de koi motorcycle se koi apne pairon se jise 11 number ki bus kehte hain koi modi ji dwara sarkar dwara uplabdh karae gaye sansadhano se apne ghar me aakar ke sab shaant baithne iska matlab hai ki apni matribhoomi janmbhoomi ja maare mata pita band rehte hain us sabse achi jagah hai baki thodi der ke liye hai man wahan jaakar ke pura anand le sakta hai ise ghar ki roop se roti khate hue kisi shaadi byaah me mil jaaye toh thodi chikani chupadi kha leta hai aadmi lekin uska bhojan hui rukha sukha hota hai toh jaha bus aise hi sundar desh hai jo pratipaal ASI naresh apni janmbhoomi se sundar jagah koi nahi hai yahan apne hote hain anyatha sone ki hathakadiyan jo hain vaah bhi aadmi ko aisi maar deti jaise lohe ke dhan dhanya shaharon me reh rahe log jis tarike se chatpata rahe hain bana liya hai agal bagal ghoomne ki jagah nahi hai gaon me hai ghar me khate se bahar rakhakar aate toh modi ji ne rok zaroor laga diya aur shehar me bahar khate hain ghar me aakar ke rehte hain mujhe aap ne aaj kaha jata hai ki wahi gaon ki jo log karte hue aaj bacche shehar me jinmein kar rahe hain eid par ghar me mehnat karna pasand nahi aata tha shaharon me kar rahe hain kuch buniyadi cheezen hain udyog hain unki hamein zarurat hai lekin yah audyogikeekaran bhi jitna hamari bhavnao ko khatam kar de toh phir vicharon ki seema tak hamein delete kar de isse accha hamara natural jeevan hai aur ishwar kare ki hum kis taraf lautne ashok vihar se himalaya dikhai padane laga hai pata nahi kya hai kitni gandagi humne kar dali thi isliye dusre sthano par jaakar bharmit hone ki tulna me agar roti kapda makan ki vyavastha apne ilaake me jagah nahi hai kyonki wahan hamare apne rehte hain aur duniya me chauthi sabse badi book hoti manoranjan toh apnon se jaakar kahin nahi mil sakti

इसका जवाब देना मामा जी ने दे दिया है दुनिया में सबसे बड़ी जगह सबसे अच्छी जगह हुई है जहां ह

Romanized Version
Likes  207  Dislikes    views  1733
KooApp_icon
WhatsApp_icon
30 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!