हाई स्कूल में आप किस तरह के छात्र थे और उसके सबसे यादगार पल क्या थे?...


user

professor Govind Tripathi

Professor(P.hd in mathematics)/Social worker

0:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार मैं पर अफसर गोविंद त्रिपाठी आपका प्रश्न है हाईस्कूल में आप किस तरह के छात्र थे उनकी हाई स्कूल में मैं केवल छात्र था और ज्यादा मुझे कुछ नहीं आता था लेकिन जब मेरा रिजल्ट निकला जो यूपी में मेरे मुझे दसवें स्थान प्राप्त हुआ पूरे यूपी के अंदर और अपने कॉलेज में मेरे को अंत में अपने इंटर कॉलेज में मेरे को दक्षिण में पूरा पहला स्थान था जिले के अंदर भी मेरा पहला स्थान था उस समय राज्यपाल से मोहम्मद उस्मान आरिफ कुछ मुझे स्टार भी प्राप्त हुआ उस समय का अनुभव मुझे बहुत अच्छा लगा धन्यवाद

namaskar main par officer govind tripathi aapka prashna hai highschool me aap kis tarah ke chatra the unki high school me main keval chatra tha aur zyada mujhe kuch nahi aata tha lekin jab mera result nikala jo up me mere mujhe dasven sthan prapt hua poore up ke andar aur apne college me mere ko ant me apne inter college me mere ko dakshin me pura pehla sthan tha jile ke andar bhi mera pehla sthan tha us samay rajyapal se muhammad usman arif kuch mujhe star bhi prapt hua us samay ka anubhav mujhe bahut accha laga dhanyavad

नमस्कार मैं पर अफसर गोविंद त्रिपाठी आपका प्रश्न है हाईस्कूल में आप किस तरह के छात्र थे उनक

Romanized Version
Likes  55  Dislikes    views  1456
WhatsApp_icon
30 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Ansh jalandra

Motivational speaker & criminal lawyer

0:28
Play

Likes  130  Dislikes    views  2273
WhatsApp_icon
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

4:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्रिय बेटे अपने बड़ा अच्छा प्रश्न किया क्या भाई स्कूल में किस तरह के छात्र छो इसमें कोई संदेह नहीं क्या इस जिंदगी की प्रथम सीढ़ी होती है और मैंने लिया था कि मैं आज वह दिन आए मेरी जिंदगी में क्यों आए स्कूल की परीक्षा में शामिल हो रहा हूं अध्यक्ष का नाम प्लान यह सोचकर मैंने रात दिन प्रयास किया घर में सब कुछ होते हुए भी कुछ अच्छी की सूचियां कुछ भी समझो अभिनेत्रियां जिन परिस्थितियों के दौरान मैं अपने कार्य को अपनी पत्नी को चिल्लाता लेकिन निर्णय कर लिया मुझे 10 को चलना है तुमने नाइंथ क्लास के बच्चों को ट्यूशन पढ़ाना शुरू किया 8 क्लास के बच्चे को कितना छूट गया उनको मनाने से मेरे को सहायता मिली तुम्हें जो बेडशीट है वो मुझे फिर से डिवाइड हुआ ह मुझे आगे बढ़ने में सफलता मिली प्रणाम यह था कि मैंने सट्टा किंग दिल्ली चिपकने पोषण किया और दसवीं की परीक्षा अच्छे अंकों से प्राप्त की प्रोग्राम और सोच भी नहीं सकता था कि जिंदगी में ऐसा होता रहेगा संघर्ष करते हुए विषम परिस्थितियों में हुई संसाधनों की कमी होते हुए भी यह कैसे संभव हुआ कि मैं तो कर लो लेकिन मैंने क्या देखा मेरे जीवन का लक्ष्य बन गई और उसके बाद मैंने पीछे मुड़ कर नहीं देखा और आगे कंटिन्यू पढ़ाई कर तारा डॉक्टेट की सीपिया वकालत की और आज भी मुझे आनंद आता है उन पलों को याद करके कि दिन में दसवीं क्लास में नाचुली एहसास ना मेरा इंग्लिश सेकंड पेपर था हॉस्पिटल में मेरी आंख हुए प्रातकाल 3:00 बजे लग गई मेरी माता जी ने मुझे यह सोचकर नहीं जगाया यह सारी रात जगाए घंटे दोनों के सोने दो और साइंस प्रोजेक्ट वीडियो मदरसे में पेपर देने नहीं जानकारी आपको मैंने देखा नहीं था मेरी माता जी को बेटा रात भर की मेहनत बेकार नहीं जाती है देखने तेरा सबसे अच्छा पिक रिलीज होगा और मुझे समझाते हुए मुझे बुलाते हुए सुनाते हुए प्यार से प्यार से जो आशीर्वाद दिया पिताजी मेरे को परीक्षा केंद्र पर छोड़ते हैं अर्थ मेरी दुख की हालात को देखते हुए उन्होंने भी राष्ट्र मिथुन के फिल्म डायरेक्शन बेशक बी चंद्रकला सबसे अच्छे नंबर इंग्लिश सेकंड पेपर न्यूज़ मैं सोच भी नहीं सकता था माता-पिता का आशीर्वाद भगवान का वरदान होता है जीवन पर

priya bete apne bada accha prashna kiya kya bhai school mein kis tarah ke chatra cho isme koi sandeh nahi kya is zindagi ki pratham sidhi hoti hai aur maine liya tha ki main aaj vaah din aaye meri zindagi mein kyon aaye school ki pariksha mein shaamil ho raha hoon adhyaksh ka naam plan yah sochkar maine raat din prayas kiya ghar mein sab kuch hote hue bhi kuch achi ki suchiyan kuch bhi samjho abhinetriyan jin paristhitiyon ke dauran main apne karya ko apni patni ko chillaata lekin nirnay kar liya mujhe 10 ko chalna hai tumne ninth kashi ke baccho ko tuition padhana shuru kiya 8 kashi ke bacche ko kitna chhut gaya unko manane se mere ko sahayta mili tumhe jo bedshit hai vo mujhe phir se divide hua h mujhe aage badhne mein safalta mili pranam yah tha ki maine satta king delhi chipakane poshan kiya aur dasavi ki pariksha acche ankon se prapt ki program aur soch bhi nahi sakta tha ki zindagi mein aisa hota rahega sangharsh karte hue visham paristhitiyon mein hui sansadhano ki kami hote hue bhi yah kaise sambhav hua ki main toh kar lo lekin maine kya dekha mere jeevan ka lakshya ban gayi aur uske baad maine peeche mud kar nahi dekha aur aage continue padhai kar tara doctor ki sipiya vakalat ki aur aaj bhi mujhe anand aata hai un palon ko yaad karke ki din mein dasavi kashi mein nachuli ehsaas na mera english second paper tha hospital mein meri aankh hue pratakal 3 00 baje lag gayi meri mata ji ne mujhe yah sochkar nahi jagaaya yah saree raat jagae ghante dono ke sone do aur science project video madarse mein paper dene nahi jaankari aapko maine dekha nahi tha meri mata ji ko beta raat bhar ki mehnat bekar nahi jaati hai dekhne tera sabse accha pic release hoga aur mujhe smajhate hue mujhe bulate hue sunaate hue pyar se pyar se jo ashirvaad diya pitaji mere ko pariksha kendra par chodte hain arth meri dukh ki haalaat ko dekhte hue unhone bhi rashtra mithun ke film direction beshak be chandrakala sabse acche number english second paper news main soch bhi nahi sakta tha mata pita ka ashirvaad bhagwan ka vardaan hota hai jeevan par

प्रिय बेटे अपने बड़ा अच्छा प्रश्न किया क्या भाई स्कूल में किस तरह के छात्र छो इसमें कोई

Romanized Version
Likes  33  Dislikes    views  1200
WhatsApp_icon
play
user

Dr. KRISHNA CHANDRA

Rehabilitation Psychologist

1:45

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हाई स्कूल में आप किस तरह के छात्र थे और उसके सबसे यादगार पल क्या थे हाई स्कूल में में 1967 में बनारस में आदर्श सेवा विद्यालय में 60 रन था और कुछ समय बीएचएमएस है अंग्रेजी विरोधी आंदोलन शुरू हुआ था जिसमें क्षमा छात्र नेताओं ने हम लोगों को शामिल होने के लिए बुलाया था हम उसमें शामिल हुए थे और उसमें हम गदगद लाल चौक तक हम गए थे लौट के आए थे और उस आंदोलन में जो अंग्रेज अंग्रेज विरोधी आंदोलन था वह उसका जो रास्ते में जो हम गए थे वह हमारा सबसे यादगार क्षण है लेकिन मैं बताऊंगा कि उस आंदोलन में हम हिंदी भाषी लोगों का जीवन बर्बाद करके रख दिया इसका मैं आज तक भूल नहीं पा रहा हूं वही आगे पेंटिंग हमें अंग्रेजी का सासु छोड़ दिया जबकि हिंदी का कोई किसी रात में वास्तविक स्थिति नहीं है और जो जॉब से इंटरनेशनल रोलबॉल से अध्यक्ष जो आपके रोजी-रोटी नींद सकते जवाब ना दे सके

high school mein aap kis tarah ke chatra the aur uske sabse yaadgaar pal kya the high school mein mein 1967 mein banaras mein adarsh seva vidyalaya mein 60 run tha aur kuch samay BHMS hai angrezi virodhi andolan shuru hua tha jisme kshama chatra netaon ne hum logo ko shaamil hone ke liye bulaya tha hum usme shaamil hue the aur usme hum gadgad laal chauk tak hum gaye the lot ke aaye the aur us andolan mein jo angrej angrej virodhi andolan tha vaah uska jo raste mein jo hum gaye the vaah hamara sabse yaadgaar kshan hai lekin main bataunga ki us andolan mein hum hindi bhashi logo ka jeevan barbad karke rakh diya iska main aaj tak bhool nahi paa raha hoon wahi aage painting hamein angrezi ka sasu chod diya jabki hindi ka koi kisi raat mein vastavik sthiti nahi hai aur jo job se international rolbal se adhyaksh jo aapke rozi roti neend sakte jawab na de sake

हाई स्कूल में आप किस तरह के छात्र थे और उसके सबसे यादगार पल क्या थे हाई स्कूल में में 196

Romanized Version
Likes  495  Dislikes    views  6383
WhatsApp_icon
user
0:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बीपी हाई स्कूल में उसने अपने टेन किया था कोई पीछे से बताने वाला नहीं था कि आपको क्या लेना है क्या ले लेना है बस जो आपको चले गया और बच्चे अक्सर ऐसी नादानी में गलत जगह चेंज कर लेते हैं अगर आज मुझे साइंस बाय उसमें टेंशन किया होते रहने और को देखकर जो निर्णय और यज्ञ पर सबसे पहले दिन में कभी नहीं हो सकता 4 विषय में मैंने पढ़ा तुझे कभी नहीं भूल सकता

BP high school mein usne apne ten kiya tha koi peeche se batane vala nahi tha ki aapko kya lena hai kya le lena hai bus jo aapko chale gaya aur bacche aksar aisi naadaani mein galat jagah change kar lete hain agar aaj mujhe science bye usme tension kiya hote rehne aur ko dekhkar jo nirnay aur yagya par sabse pehle din mein kabhi nahi ho sakta 4 vishay mein maine padha tujhe kabhi nahi bhool sakta

बीपी हाई स्कूल में उसने अपने टेन किया था कोई पीछे से बताने वाला नहीं था कि आपको क्या लेना

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  397
WhatsApp_icon
user
1:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हाई स्कूल के समय में एक बड़ा प्रतिभावान छात्र का राजनीतिक में होली स्कूल के कल्चर गतिविधियों में छात्र संघ के चुनाव में अग्रणी था हाई स्कूल के अंतर्गत होने वाले विभिन्न स्कूली कार्यक्रमों में में अव्वल आता था और साहित्य के क्षेत्र में मेरा साहनी कोई भी नहीं था वाद-विवाद के अंतर्गत पूरे प्रदेश में मैं नंबर वन रहा और तब के तत्कालीन मुख्यमंत्री या मध्य प्रदेश से मैं हूं मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री अर्जुन सिंह द्वारा मुझे भेज डिबेटर का अवार्ड दिया गया था तो हाई स्कूल के दिन मेरे लिए बड़े ही सुखद और यादगार के पलकें उन दिनों में हमें स्कूल में अपना साहित्य सचिव के पद पर भी अन्यथा और चुनाव जीतकर आया था तो मुझे राजनीति में भी आगे बढ़ने की उससे प्रेरणा मिली थी

high school ke samay mein ek bada pratibhavan chatra ka raajnitik mein holi school ke culture gatividhiyon mein chatra sangh ke chunav mein agranee tha high school ke antargat hone waale vibhinn skuli karyakramon mein mein avval aata tha aur sahitya ke kshetra mein mera sahani koi bhi nahi tha vad vivaad ke antargat poore pradesh mein main number van raha aur tab ke tatkalin mukhyamantri ya madhya pradesh se main hoon madhya pradesh ke mukhyamantri arjun Singh dwara mujhe bhej debater ka award diya gaya tha toh high school ke din mere liye bade hi sukhad aur yaadgaar ke palken un dino mein hamein school mein apna sahitya sachiv ke pad par bhi anyatha aur chunav jeetkar aaya tha toh mujhe raajneeti mein bhi aage badhne ki usse prerna mili thi

हाई स्कूल के समय में एक बड़ा प्रतिभावान छात्र का राजनीतिक में होली स्कूल के कल्चर गतिविधिय

Romanized Version
Likes  42  Dislikes    views  1868
WhatsApp_icon
user

M S Aditya Pandit

Entrepreneur | Politician

0:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अरे बच्चे के अंदर कुछ से कुछ क्वालिटी होती है स्कूल का मेरा दौड़ दौड़ था वह डोली सबसे बड़ी मुश्किल से भी कम है बट मेरे दिल की प्यास बुझा रूप से हर चीज को करने का जुनून था और तब से मेरे लाइफ का सबसे स्टंट पांच आदमी है यह हार जाने लड़का होगा तो आंसर देने के काबिल हो

arre bacche ke andar kuch se kuch quality hoti hai school ka mera daudh daudh tha vaah doli sabse badi mushkil se bhi kam hai but mere dil ki pyaas bujha roop se har cheez ko karne ka junun tha aur tab se mere life ka sabse stunt paanch aadmi hai yah haar jaane ladka hoga toh answer dene ke kaabil ho

अरे बच्चे के अंदर कुछ से कुछ क्वालिटी होती है स्कूल का मेरा दौड़ दौड़ था वह डोली सबसे बड़ी

Romanized Version
Likes  207  Dislikes    views  2571
WhatsApp_icon
user

Dr.Nisha Joshi

Psychologist

3:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत अच्छा प्रश्न उत्तर प्रश्न अच्छा लगेगा मुझे इसका आंसर देने में हाई स्कूल में आप किस तरह के छात्र थे और उसके सबसे यादगार पल क्या थे हाई स्कूल में मैं गुड स्पोर्ट्स में खेलती थी फिर दूसरी अलग अलग एक्टिविटीज कंपटीशन खेला कराटे रेसलिंग इट सर पे बुलाया था तो सब लोग की लड़की है एक साइड वाला स्कूटर लेकर पल कभी नहीं जाते और मैंने अपने स्कूल लाइफ गुजराती मीडियम में कंप्लीट किया है डबल पोस्ट ग्रेजुएशन गुजराती हिंदी और इंग्लिश ही पता चलते चलते तो हिंदी में बातचीत हो जाती है इंग्लिश का फेल हो जाता है कुछ आ जाता है बोलने में थोड़ा सा प्रॉब्लम हो जाता है लेकिन अब तो मुझे पता चला कि रखिए नरेंद्र मोदी हिंदी में बातचीत करते है उसका प्रचार नरेंद्र मोदी ने हिंदी का बहुत अच्छा किया है अच्छा लगा मुझे चाहिए कि चलो अगर इंडिया नेशनल लैंग्वेज हिंदी है और उसका प्रचार बहुत अच्छे से हो रहा है और काफी जगह हिंदी कराती है तभी देता है लेकिन मुझे अच्छा लगा कि मुझे हिंदी की जा सकती है जरूरी नहीं कि इंग्लिश आए तभी सारा काम हो और यह काफी सारे अनूप है मेरे पास अब तो लेटेस्ट में पहले का पता नहीं लेकिन अभी का तो इतना मुझे मालूम है बाकी काफी लोग ऐसे भी है जो हिंदी से नफरत करते हैं उन लोगों का तक इंग्लिश में सब कुछ काम होगा वही चीज अच्छी चीज चल रही है छात्रों में हम मस्तीखोर साथ रखें और फेमस बीच स्पोर्ट्स फॉर मंथली में और साथी साथी ओके सब चलता था

bahut accha prashna uttar prashna accha lagega mujhe iska answer dene mein high school mein aap kis tarah ke chatra the aur uske sabse yaadgaar pal kya the high school mein main good sports mein khelti thi phir dusri alag alag activities competition khela karate wrestling it sir pe bulaya tha toh sab log ki ladki hai ek side vala scooter lekar pal kabhi nahi jaate aur maine apne school life gujarati medium mein complete kiya hai double post graduation gujarati hindi aur english hi pata chalte chalte toh hindi mein batchit ho jaati hai english ka fail ho jata hai kuch aa jata hai bolne mein thoda sa problem ho jata hai lekin ab toh mujhe pata chala ki rakhiye narendra modi hindi mein batchit karte hai uska prachar narendra modi ne hindi ka bahut accha kiya hai accha laga mujhe chahiye ki chalo agar india national language hindi hai aur uska prachar bahut acche se ho raha hai aur kaafi jagah hindi karati hai tabhi deta hai lekin mujhe accha laga ki mujhe hindi ki ja sakti hai zaroori nahi ki english aaye tabhi saara kaam ho aur yah kaafi saare anup hai mere paas ab toh latest mein pehle ka pata nahi lekin abhi ka toh itna mujhe maloom hai baki kaafi log aise bhi hai jo hindi se nafrat karte hain un logo ka tak english mein sab kuch kaam hoga wahi cheez achi cheez chal rahi hai chhatro mein hum mastikhor saath rakhen aur famous beech sports for monthly mein aur sathi sathi ok sab chalta tha

बहुत अच्छा प्रश्न उत्तर प्रश्न अच्छा लगेगा मुझे इसका आंसर देने में हाई स्कूल में आप किस तर

Romanized Version
Likes  228  Dislikes    views  7359
WhatsApp_icon
user

Kishan Kumar

Motivational speaker

1:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रूटीन सुबह 4:00 बजे 3:00 बजे उठना पढ़ाई करना वह हमारे लिए बहुत ही टफ था क्योंकि ठंडक में बहुत ही दिक्कत होती थी और उसके बाद कोचिंग जाना कोचिंग करके भी स्कूल जाना स्कूल से फिर शाम को कोचिंग करना और उसके बाद हिमसेल्फ पढ़ाई करना यह बहुत ही दिक्कत थी वह हमारे लिए बहुत ही यादगार पल थे जो अपने जिंदगी को आगे बढ़ाने के लिए और हाईस्कूल ऐसा स्टेप होता है कि आपकी जिंदगी की शुरुआत यहां से होती है अगर आप अच्छे मार्क पाते हैं तभी आपकी जिंदगी में एक नई रोशनी आती तो हमारे लिए सबसे यादगार पल थे यह हाई स्कूल जो मेरे को बहुत ही याद आएगा और उस टाइम काफी अच्छे स्टूडेंट हो में आता था तो थैंक यू आप भी हाई स्कूल के एग्जाम को टॉप करिए और उस को यादगार बनाइए यादगार पल के लिए थैंक यू

routine subah 4 00 baje 3 00 baje uthna padhai karna vaah hamare liye bahut hi tough tha kyonki thandak mein bahut hi dikkat hoti thi aur uske baad coaching jana coaching karke bhi school jana school se phir shaam ko coaching karna aur uske baad himself padhai karna yah bahut hi dikkat thi vaah hamare liye bahut hi yaadgaar pal the jo apne zindagi ko aage badhane ke liye aur highschool aisa step hota hai ki aapki zindagi ki shuruat yahan se hoti hai agar aap acche mark paate hai tabhi aapki zindagi mein ek nayi roshni aati toh hamare liye sabse yaadgaar pal the yah high school jo mere ko bahut hi yaad aayega aur us time kaafi acche student ho mein aata tha toh thank you aap bhi high school ke exam ko top kariye aur us ko yaadgaar banaiye yaadgaar pal ke liye thank you

रूटीन सुबह 4:00 बजे 3:00 बजे उठना पढ़ाई करना वह हमारे लिए बहुत ही टफ था क्योंकि ठंडक में ब

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  81
WhatsApp_icon
user

Rajesh Kumar Pandey

Career Counsellor

0:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हाई स्कूल के समय इंसान के ऊपर वह सिर्फ एग्जाम का टेंशन होता है लिंग कैसे बड़ा होता है शादी होती है हमें जिम्मेदारी आ जाती है तो हाई स्कूल हो चाहे दूर हो चाहे यादव सन ऑफ यह बहुत याद आता है

high school ke samay insaan ke upar vaah sirf exam ka tension hota hai ling kaise bada hota hai shadi hoti hai hamein jimmedari aa jaati hai toh high school ho chahen dur ho chahen yadav san of yah bahut yaad aata hai

हाई स्कूल के समय इंसान के ऊपर वह सिर्फ एग्जाम का टेंशन होता है लिंग कैसे बड़ा होता है शादी

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  142
WhatsApp_icon
user

सुरेन्द्र पाल गुप्ता

रिटायर्ड प्रधानाचार्य

0:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हाई स्कूल में मस्त स्टूडेंट था और मेरा एक ही उद्देश्य था कि दसवीं पास की है उसमें राजस्थान बोर्ड के रिजल्ट कब जाते थे तो मैंने अपनी पढ़ाई लगातार जारी रखी और दसवीं में उत्तीर्ण हो गया उसके बाद मेरा जीवनी चेंज हो गया दसवीं के बाद मैंने खूब मेहनत की और अपना लक्ष्य जो है वह काफी हद तक का दिया था इस प्रकार हाई हील हाई स्कूल की परीक्षा में परीक्षा पास होना मेरा सबसे यादगार पल है धन्यवाद

high school mein mast student tha aur mera ek hi uddeshya tha ki dasavi paas ki hai usme rajasthan board ke result kab jaate the toh maine apni padhai lagatar jaari rakhi aur dasavi mein uttirna ho gaya uske baad mera jeevni change ho gaya dasavi ke baad maine khoob mehnat ki aur apna lakshya jo hai vaah kaafi had tak ka diya tha is prakar high heel high school ki pariksha mein pariksha paas hona mera sabse yaadgaar pal hai dhanyavad

हाई स्कूल में मस्त स्टूडेंट था और मेरा एक ही उद्देश्य था कि दसवीं पास की है उसमें राजस्थान

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  91
WhatsApp_icon
user

Shivam Kumar

Yoga Instructor

1:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो नमस्कार महानुभाव आपका प्रश्न है हाई स्कूल में आप किस तरह के छात्र थे और उसके सबसे यादगार पल क्या था तो मैं आपको बताना चाहूंगा कि हाई स्कूल में जब मैं था उस समय में थोड़ा डरपोक किस्म का इंसान था और उसे उसके बाद जब मैं थोड़ा स्टॉप मेरे को चढ़ा नृत्य करने का डांस करने का तब से थोड़ा थोड़ा डर निकलना चालू हुआ और वह पल ऐसा था जब मैं डांस किया था थोड़ा डरा हुआ भाई भी था उस समय मैंने डांस किया और तुम मैंने वह बखूबी निभाया और वह मेरे लिए वह पल बहुत ही यादगार रहा जब मैं किसी और के साथ किया था डांस और आज भी वह दिन मेरे को याद आते हैं जब मैं कितना डरा करता था और डरपोक इतना था और अब यह समय ऐसा हो गया है कि स्टेज पर जाने पर तनिक भी डर नहीं लगता क्यों यह करते-करते हुआ है अभ्यास आपको वैसा बना देता है तो मैं आपको यही कहना चाहूंगा आप अपने जीवन को सफल बनाने के लिए अपने जीवन को अपने लक्ष्य तक पहुंचाने के लिए आपको कर्म करना पड़ेगा तो आज तक कि नहीं बस इतने ही फिर मिलेंगे अगले स्टेशन में नमस्कार

hello namaskar mahanubhav aapka prashna hai high school mein aap kis tarah ke chatra the aur uske sabse yaadgaar pal kya tha toh main aapko bataana chahunga ki high school mein jab main tha us samay mein thoda darpok kism ka insaan tha aur use uske baad jab main thoda stop mere ko chadha nritya karne ka dance karne ka tab se thoda thoda dar nikalna chaalu hua aur vaah pal aisa tha jab main dance kiya tha thoda dara hua bhai bhi tha us samay maine dance kiya aur tum maine vaah bakhubi nibhaya aur vaah mere liye vaah pal bahut hi yaadgaar raha jab main kisi aur ke saath kiya tha dance aur aaj bhi vaah din mere ko yaad aate hain jab main kitna dara karta tha aur darpok itna tha aur ab yah samay aisa ho gaya hai ki stage par jaane par tanik bhi dar nahi lagta kyon yah karte karte hua hai abhyas aapko waisa bana deta hai toh main aapko yahi kehna chahunga aap apne jeevan ko safal banane ke liye apne jeevan ko apne lakshya tak pahunchane ke liye aapko karm karna padega toh aaj tak ki nahi bus itne hi phir milenge agle station mein namaskar

हेलो नमस्कार महानुभाव आपका प्रश्न है हाई स्कूल में आप किस तरह के छात्र थे और उसके सबसे याद

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  330
WhatsApp_icon
user

आकाश

अधिवक्ता

1:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जब मैं हाई स्कूल सन 2007 में था उस टाइम में जवाहर नवोदय विद्यालय मनकापुर गोंडा में पढ़ाई कर रहा था क्योंकि मैं यूपी बोर्ड से वहां पर एडमिशन लिया था थोड़ी सी मेहनत करके या किसी तरह सफल हो पर मैं 9 दिन में पहुंच गया लेकिन वहां अचानक से जिंदगी के टाइम सीबीएससी बोर्ड आया इंग्लिश इतनी अच्छी थी इसीलिए मैं ना इंपॉर्टेंट सबसे बिग स्टूडेंट का सबसे पीछे बैठना पसंद करता था कि कोई टीचर मुझे ना देख ना ही कोई सवाल पूछो कि मुझे ब्लैक बोर्ड पर कुछ समझ में आता ही नहीं था और फिर सबसे दूसरी बड़ी चीज है कि नवोदय विद्यालय में एक अलग लैंग्वेज की पढ़ाई कराई जाती है जो माइग्रेशन ब्लॉग यात्रा कभी नहीं पड़ा था वहां बांग्ला पढ़ाई हो तो मैं हमेशा फेल होता था फिर जब मैं आई स्कूल रो रो के एग्जाम दे ताकि किसी कसम भगवान पास करा दे भगवान पर भी भरोसा करता था अपने आप में भी पास होने की पढ़ाई करता था दिल लगाकर क्योंकि जानता था 100% तो आएंगे नहीं लेकिन हां इतना हो इज्जत बजट पास हो जाऊं इतनी बार का तो मेहनत कर ही सकता हूं अगर 10 घंटे में मैं पांच नंबर तैयार कर लिया तो मेरे लिए बहुत हो सकता है फिर उसके बाद मैं उसी टाइम डिसाइड कर लिया कि ऐसे रो-रो से पढ़ने से अच्छा साइन तो नहीं समझ में आ रहा तो इसीलिए हाई स्कूल का एग्जाम पास करके फर्स्ट ईयर में आर्ट साइड जो मिलिट्री वर्ग ले लिया उसके बाद हाई स्कूल में जहां मैंने 51% पाया मेरी रुचि बढ़ी इतिहास भूगोल जागृति में क्योंकि मैं उस में बेहतर कर सकता था इसलिए इंटर अच्छे नंबर से पास हुआ धन्यवाद

jab main high school san 2007 mein tha us time mein jawahar navodaya vidyalaya mankapur gonda mein padhai kar raha tha kyonki main up board se wahan par admission liya tha thodi si mehnat karke ya kisi tarah safal ho par main 9 din mein pohch gaya lekin wahan achanak se zindagi ke time CBSE board aaya english itni achi thi isliye main na important sabse big student ka sabse peeche baithana pasand karta tha ki koi teacher mujhe na dekh na hi koi sawaal pucho ki mujhe black board par kuch samajh mein aata hi nahi tha aur phir sabse dusri badi cheez hai ki navodaya vidyalaya mein ek alag language ki padhai karai jaati hai jo migration blog yatra kabhi nahi pada tha wahan bangla padhai ho toh main hamesha fail hota tha phir jab main I school ro ro ke exam de taki kisi kasam bhagwan paas kara de bhagwan par bhi bharosa karta tha apne aap mein bhi paas hone ki padhai karta tha dil lagakar kyonki jaanta tha 100 toh aayenge nahi lekin haan itna ho izzat budget paas ho jaaun itni baar ka toh mehnat kar hi sakta hoon agar 10 ghante mein main paanch number taiyar kar liya toh mere liye bahut ho sakta hai phir uske baad main usi time decide kar liya ki aise ro ro se padhne se accha sign toh nahi samajh mein aa raha toh isliye high school ka exam paas karke first year mein art side jo miltary varg le liya uske baad high school mein jaha maine 51 paya meri ruchi badhi itihas bhugol jagriti mein kyonki main us mein behtar kar sakta tha isliye inter acche number se paas hua dhanyavad

जब मैं हाई स्कूल सन 2007 में था उस टाइम में जवाहर नवोदय विद्यालय मनकापुर गोंडा में पढ़ाई क

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  131
WhatsApp_icon
user

Grt2100

Youtube Par S T Motivation

0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हाई स्कूल में मैं एकदम बेस्ट क्लास का स्टूडेंट था और सबसे मेरा फेवरेट सब्जेक्ट मैथ्स एनीवे और मतलब सबसे ज्यादा मैजिक टॉप रैंक रहा है मेरा मैथमी रहा है इसको एनीवे हिंदी नहीं आती थी लेकिन पढ़ता नहीं था और बहुत सारे ऐसे

high school me main ekdam best class ka student tha aur sabse mera favourite subject maths anyway aur matlab sabse zyada magic top rank raha hai mera maithmi raha hai isko anyway hindi nahi aati thi lekin padhata nahi tha aur bahut saare aise

हाई स्कूल में मैं एकदम बेस्ट क्लास का स्टूडेंट था और सबसे मेरा फेवरेट सब्जेक्ट मैथ्स एनीवे

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  164
WhatsApp_icon
user

Mohd Amjad Khan

Bill Collectorate In Nagar Palica &Human Rights President

0:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हाई स्कूल में हम एकदम शांति के लिए छात्र थे और उसके जो यादगार पल हमें जो है उस वक्त जो है हमारे स्कूल में जो एक होटल होती थी और वहां कचोरी मिलाकर की थी और वह कचोरी खाने के लिए हमको 8 दिन इंतजार करना पड़ता था और 8 दिन तक को पैसे जमा करना पड़ता था 8 दिन में हो थोड़े थोड़े पैसे जमा होकर कुछ my18 नेयाइबर जमा होता था और उसमें हम कचोरी खाते थे तो बहुत ही यादगार पल हमें याद है

high school me hum ekdam shanti ke liye chatra the aur uske jo yaadgaar pal hamein jo hai us waqt jo hai hamare school me jo ek hotel hoti thi aur wahan kachori milakar ki thi aur vaah kachori khane ke liye hamko 8 din intejar karna padta tha aur 8 din tak ko paise jama karna padta tha 8 din me ho thode thode paise jama hokar kuch my18 neyaibar jama hota tha aur usme hum kachori khate the toh bahut hi yaadgaar pal hamein yaad hai

हाई स्कूल में हम एकदम शांति के लिए छात्र थे और उसके जो यादगार पल हमें जो है उस वक्त जो है

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  130
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हाई स्कूल में हम पड़ाव को छात्र थे हाई स्कूल छात्र में हम तीन मित्र थे जो बहुत घनिष्ठ पूरी क्लास थ्री मार जाती थी और हम तीनों क्लास में बैठे रहते थे और कई बार हमारे साथ के छात्र बहुत क्रोधित भी होते थे एक दो बार तो यह भी होगी केमिस्ट्री वाले सर ने उस दिन की क्लास देश में बहुत कुछ पढ़ा दिया और सब लोग बहुत नाराज हैं तो हम लोग टस से मस नहीं हुए हम तीनों की एकता बहुत महत्वपूर्ण थी और हम लोगों ने बहुत मेहनत और हमें उसका लाभ मिल रहा है आज से ₹1 तक पहुंच गया

high school me hum padav ko chatra the high school chatra me hum teen mitra the jo bahut ghanishth puri class three maar jaati thi aur hum tatvo class me baithe rehte the aur kai baar hamare saath ke chatra bahut krodhit bhi hote the ek do baar toh yah bhi hogi chemistry waale sir ne us din ki class desh me bahut kuch padha diya aur sab log bahut naaraj hain toh hum log tse se mas nahi hue hum tatvo ki ekta bahut mahatvapurna thi aur hum logo ne bahut mehnat aur hamein uska labh mil raha hai aaj se Rs tak pohch gaya

हाई स्कूल में हम पड़ाव को छात्र थे हाई स्कूल छात्र में हम तीन मित्र थे जो बहुत घनिष्ठ पूर

Romanized Version
Likes  36  Dislikes    views  646
WhatsApp_icon
user

Chirag Dave

Private Job

0:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं एक अच्छा छात्र था और मुझे घूमने का बहुत शौक था तो क्या करते हम दोस्तों के साथ जब क्लास खाली होती तो पिछले दरवाजे से बैग लेकर भाग जाते थे और मैं खेल मंत्री भी रह चुका हूं स्कूल में और स्कूल का काम भी करता था प्लस टाइम पर स्कूल आता था और टाइम पर स्कूल में जाता था कभी कबार भाग जाता है दोस्तों के साथ और इंजॉय करते खेलकूद में सबसे इंजॉय वाली बात तो खेलकूद खेलकूद में मैं बहुत ही अच्छा दृश्य दिया था और खेलकूद ने का शौक बचपन से था

main ek accha chatra tha aur mujhe ghoomne ka bahut shauk tha toh kya karte hum doston ke saath jab class khaali hoti toh pichle darwaze se bag lekar bhag jaate the aur main khel mantri bhi reh chuka hoon school me aur school ka kaam bhi karta tha plus time par school aata tha aur time par school me jata tha kabhi kabar bhag jata hai doston ke saath aur enjoy karte khelkud me sabse enjoy wali baat toh khelkud khelkud me main bahut hi accha drishya diya tha aur khelkud ne ka shauk bachpan se tha

मैं एक अच्छा छात्र था और मुझे घूमने का बहुत शौक था तो क्या करते हम दोस्तों के साथ जब क्लास

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  81
WhatsApp_icon
user

Raj

Teachear

2:28
Play

Likes  3  Dislikes    views  170
WhatsApp_icon
user

Ahana Bhardwaz

Life Coach | Author

1:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अभी मैं हाई स्कूल ना जाने रीत ऑफिस बॉय था इतना नाइंथ क्लास का क्वेश्चन था तो उसने बोला भैया और मेरी फैमिली आप मैंने उसे बोलिए बोलिए था अभी चाय को बहुत बुरा लगा तभी हम सारी फ्रेंड कैसे भुला दूं तू कल से किसी से पल में लड़की बहुत याद आती है बहुत सारे क्वेश्चन के आंसर गलत ही गांधी रेट

abhi main high school na jaane reet office boy tha itna ninth class ka question tha toh usne bola bhaiya aur meri family aap maine use bolie bolie tha abhi chai ko bahut bura laga tabhi hum saree friend kaise bhula doon tu kal se kisi se pal mein ladki bahut yaad aati hai bahut saare question ke answer galat hi gandhi rate

अभी मैं हाई स्कूल ना जाने रीत ऑफिस बॉय था इतना नाइंथ क्लास का क्वेश्चन था तो उसने बोला भैय

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  377
WhatsApp_icon
user

Saurabh Kumar

Biology student

0:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन मैं अपने हाईस्कूल के बाद अलग करूं तुम्हें अपने हाईस्कूल का एक प्रतिष्ठित और अच्छा-अच्छा 2 स्थानों पर भी नहीं था और पूरा लो पर भी नहीं था मीडिया में और एक अच्छा चाहता था जैसे कि स्कूल के हर एक अध्यापक हर एक शिक्षक परीक्षा क्या पहचानती थी और अच्छे से अच्छे बच्चे की तरह मानती थी और अगर बात किया जाए कि मेरी हाई स्कूल के सबसे यादगार पल के हाई स्कूल के सबसे ज्यादा आर-पार की जब दोस्तों के साथ में स्कूल जाता था स्कूल से आता था मेरी गर्लफ्रेंड थी और उसने सब के साथ बिताया वो पल सबसे यादगार पल होता है

lekin main apne highschool ke baad alag karu tumhe apne highschool ka ek pratishthit aur accha accha 2 sthano par bhi nahi tha aur pura lo par bhi nahi tha media mein aur ek accha chahta tha jaise ki school ke har ek adhyapak har ek shikshak pariksha kya pahachaanati thi aur acche se acche bacche ki tarah maanati thi aur agar baat kiya jaaye ki meri high school ke sabse yaadgaar pal ke high school ke sabse zyada R par ki jab doston ke saath mein school jata tha school se aata tha meri girlfriend thi aur usne sab ke saath bitaya vo pal sabse yaadgaar pal hota hai

लेकिन मैं अपने हाईस्कूल के बाद अलग करूं तुम्हें अपने हाईस्कूल का एक प्रतिष्ठित और अच्छा-अच

Romanized Version
Likes  61  Dislikes    views  1831
WhatsApp_icon
user

Pritam Kumar Vishwakarma

Student Class 12th

0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो दोस्तों हमारे हाई स्कूल में सबसे अधिक यादगार पल अमर दोस्तों के साथ रहा और हाईस्कूल में मैं ज्यादा तेज भी भेजा कि नहीं था और नोबिता मीडियम का विद्यार्थी था और मैं मैं अपनी सपना को लेकर आगे बढ़ना चाहता हूं अभी मैं इलेवंथ क्लास में पढ़ता हूं आगे सेकंड ईयर में जाऊंगा तो भी मेरी कोशिश रहेगी कि मैं उसको भूल जाऊं थैंक्स दोस्त

hello doston hamare high school mein sabse adhik yaadgaar pal amar doston ke saath raha aur highschool mein main zyada tez bhi bheja ki nahi tha aur nobita medium ka vidyarthi tha aur main main apni sapna ko lekar aage badhana chahta hoon abhi main eleventh class mein padhata hoon aage second year mein jaunga toh bhi meri koshish rahegi ki main usko bhool jaaun thanks dost

हेलो दोस्तों हमारे हाई स्कूल में सबसे अधिक यादगार पल अमर दोस्तों के साथ रहा और हाईस्कूल मे

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  140
WhatsApp_icon
user
0:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हाई स्कूल में छात्र तो ठीक थी सभी के साथ खेलती थी अच्छा लगता था और कुछ कुछ गलती हुई थी सभी लोग साथ खेलते थे तो वह मेरी यादगार वह मेरे पल याद हमें मैं कभी नहीं बोला था

high school mein chatra toh theek thi sabhi ke saath khelti thi accha lagta tha aur kuch kuch galti hui thi sabhi log saath khelte the toh vaah meri yaadgaar vaah mere pal yaad hamein main kabhi nahi bola tha

हाई स्कूल में छात्र तो ठीक थी सभी के साथ खेलती थी अच्छा लगता था और कुछ कुछ गलती हुई थी सभी

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  3
WhatsApp_icon
user
1:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो फ्रेंड क्या में क्वेश्चन किया है कि हाई स्कूल में आप किस तरह के छात्र थे और उसके सबसे यादगार पल क्या खेत में फ्रांस आपको बता देना चाहता हूं जब हम सभी छात्र या दोस्त रैंचो हाई स्कूल में थे तो साथ में ही हम लोग पढ़ते थे और टी-शर्ट द्वारा क्वेश्चन पूछे जाने पर जब कोई स्टूडेंट उसका आंसर नहीं दे पाता था तो नहीं दे पाता था तो अगर मैं उसका आंसर सोना देखा था तो मुझे बहुत ही अच्छा महसूस होता था और खुशी भी होती थी आज मैं उस पल को याद करके नरमा सो जाता हूं कि वो बचपन के दिन क्या थे

hello friend kya mein question kiya hai ki high school mein aap kis tarah ke chatra the aur uske sabse yaadgaar pal kya khet mein france aapko bata dena chahta hoon jab hum sabhi chatra ya dost raincho high school mein the toh saath mein hi hum log padhte the aur T shirt dwara question pooche jaane par jab koi student uska answer nahi de pata tha toh nahi de pata tha toh agar main uska answer sona dekha tha toh mujhe bahut hi accha mehsus hota tha aur khushi bhi hoti thi aaj main us pal ko yaad karke narama so jata hoon ki vo bachpan ke din kya the

हेलो फ्रेंड क्या में क्वेश्चन किया है कि हाई स्कूल में आप किस तरह के छात्र थे और उसके सबसे

Romanized Version
Likes  43  Dislikes    views  1058
WhatsApp_icon
user
0:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन ऐसा कुछ आपने अपने आप इस तरह के चाहता हूं ठीक है स्कूल में हम लोग जब हम लोगों ने उसको हम लोगों के पास कुछ भी मंजूर कर लिया कर पढ़ाई करना होता तो लोगों को मंगलाबाई स्कूल में हम लोग प्रवेश करेंगे तो बिछाने का लड़ाई का टाइम आ गया

lekin aisa kuch aapne apne aap is tarah ke chahta hoon theek hai school mein hum log jab hum logo ne usko hum logo ke paas kuch bhi manzoor kar liya kar padhai karna hota toh logo ko mangalabai school mein hum log pravesh karenge toh bichane ka ladai ka time aa gaya

लेकिन ऐसा कुछ आपने अपने आप इस तरह के चाहता हूं ठीक है स्कूल में हम लोग जब हम लोगों ने उसको

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  136
WhatsApp_icon
user
1:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हाई स्कूल में मैं बहुत ही उग्र तरह का स्टूडेंट था बहुत ज्यादा कॉमेडी करता था और पढ़ाई में भी बहुत ज्यादा कंसंट्रेटेड था मैं बहुत मस्ती करता था हाई स्कूल में मैं हमेशा अव्वल रहता था और हर एग्जाम में टॉप आता था हाई स्कूल में बहुत अंताक्षरी में खेलता था गाना निकाला था हाई स्कूल में हमको पास बहुत सारे यादगार चीजें हैं जो जो आज भी जेहन में ताजा हाईस्कूल मैंने एक के बहुत ही यादगार स्टेज शो किया था 15 अगस्त के मौके पर कपिल शर्मा शो से प्रेरित होकर मैं उन्हीं का 10 मिनट का शो किया था 56 ग्रुप से 56 लड़कों का ग्रुप बनाकर और मैं उसमें वह वाला और बहुत फनी था वह मोमेंट और ऐसे कई सारे यादें हैं जो अद्भुत अकल्पनीय अविश्वसनीय धन्यवाद

high school mein main bahut hi ugra tarah ka student tha bahut zyada comedy karta tha aur padhai mein bhi bahut zyada kansantreted tha main bahut masti karta tha high school mein main hamesha avval rehta tha aur har exam mein top aata tha high school mein bahut antakshari mein khelta tha gaana nikaala tha high school mein hamko paas bahut saare yaadgaar cheezen hain jo jo aaj bhi jehan mein taaza highschool maine ek ke bahut hi yaadgaar stage show kiya tha 15 august ke mauke par kapil sharma show se prerit hokar main unhi ka 10 minute ka show kiya tha 56 group se 56 ladko ka group banakar aur main usme vaah vala aur bahut Funny tha vaah moment aur aise kai saare yaadain hain jo adbhut akalpaniya avishwasaniya dhanyavad

हाई स्कूल में मैं बहुत ही उग्र तरह का स्टूडेंट था बहुत ज्यादा कॉमेडी करता था और पढ़ाई में

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  95
WhatsApp_icon
user

RAVI

Teacher and Poet

0:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ने भावनात्मक उभरती का छात्र था और कविताएं लिखना मेरा काफी अच्छा शौक था मैं हाई स्कूल से ही नहीं एक क्लास से कविताएं लिखना मैंने स्टार्ट किया था और वास्तविकता यह है कि मैं मिशन अंदर कमियां ढूंढ करता था और उन पर काम किया करता था तो यह मेरी आखिरी शो हाई स्कूल के अंदर खासियत थी वही थी और मेरे सबसे यादगार पल रोए थे जब मैं अपने दोस्तों के साथ बैठकर अपने मैथ के सॉल्यूशंस और अदर वाइज सब्जेक्ट रिलेटेड जो भी प्रॉब्लम क्रिएट हुआ करती थी उनका समाधान लिया करता था धन्यवाद

ne bhavnatmak ubharti ka chatra tha aur kavitayen likhna mera kaafi accha shauk tha main high school se hi nahi ek class se kavitayen likhna maine start kiya tha aur vastavikta yah hai ki main mission andar kamiyan dhundh karta tha aur un par kaam kiya karta tha toh yah meri aakhiri show high school ke andar khasiyat thi wahi thi aur mere sabse yaadgaar pal ROYE the jab main apne doston ke saath baithkar apne math ke solution aur other wise subject related jo bhi problem create hua karti thi unka samadhan liya karta tha dhanyavad

ने भावनात्मक उभरती का छात्र था और कविताएं लिखना मेरा काफी अच्छा शौक था मैं हाई स्कूल से ही

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  90
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत अच्छा भजन है आपका बहुत खुशी हुई मुझे सुनके मुझे भाई स्कूल में था तो मुझे मित्र थे मेरे दोस्त थे वह मुझे बहुत प्यार करते थे सभी ओके जो मेरे गुरु जन्म टीचर थे वह भी मुझे बहुत स्नेह प्रेम दिया करते थे बहुत स्मार्ट और मैं क्लास के अंदर स्कूल के अंदर भी अच्छे नंबरों से पास हुआ करता था अमेरिका की गिफ्ट मिला करते थे स्कूल से अधिक सेवा भाव होता है मित्रों के प्रति और गुरुजनों के प्रति टीचर के प्रति शिक्षा के प्रति विद्या के प्रति के शिक्षा बहुत बड़ी चीज है कभी खराब नहीं होती जितनी इसका ज्ञान लेना कम है थैंक यू ठीक है

bahut accha bhajan hai aapka bahut khushi hui mujhe sunake mujhe bhai school mein tha toh mujhe mitra the mere dost the vaah mujhe bahut pyar karte the sabhi ok jo mere guru janam teacher the vaah bhi mujhe bahut sneh prem diya karte the bahut smart aur main class ke andar school ke andar bhi acche numberon se paas hua karta tha america ki gift mila karte the school se adhik seva bhav hota hai mitron ke prati aur gurujanon ke prati teacher ke prati shiksha ke prati vidya ke prati ke shiksha bahut badi cheez hai kabhi kharab nahi hoti jitni iska gyaan lena kam hai thank you theek hai

बहुत अच्छा भजन है आपका बहुत खुशी हुई मुझे सुनके मुझे भाई स्कूल में था तो मुझे मित्र थे मेर

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  1
WhatsApp_icon
user
0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जब मैं हाई स्कूल में पढ़ता था तो मैं अपने क्लास के अच्छे छात्र था और मैं अपने क्लास के कुछ बातें जो है जो यादगार बना के रखा हूं सी क्लास में ज्यादा बोलना अच्छे लोगों से दोस्ती करना अच्छे पढ़ाई में मन लगाना यह मेरे क्लास में कुछ यादगार है

jab main high school mein padhata tha toh main apne class ke acche chatra tha aur main apne class ke kuch batein jo hai jo yaadgaar bana ke rakha hoon si class mein zyada bolna acche logo se dosti karna acche padhai mein man lagana yah mere class mein kuch yaadgaar hai

जब मैं हाई स्कूल में पढ़ता था तो मैं अपने क्लास के अच्छे छात्र था और मैं अपने क्लास के कुछ

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  152
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हाई स्कूल में हम कितने मस्जिद में बीटा इतनी मस्ती में हमारा बचपन उतना नहीं पीता था लेकिन बाद में पछतावा हुआ कि अगर हम अच्छे से विषय होते स्कूल तो अच्छा होता बचपन के पास जितने अच्छे होते हैं उससे कई गुना अच्छा होता है इसको लेकर अच्छे से नहीं पड़ने पर बताओ

high school mein hum kitne masjid mein beta itni masti mein hamara bachpan utana nahi pita tha lekin baad mein pachtava hua ki agar hum acche se vishay hote school toh accha hota bachpan ke paas jitne acche hote hain usse kai guna accha hota hai isko lekar acche se nahi padane par batao

हाई स्कूल में हम कितने मस्जिद में बीटा इतनी मस्ती में हमारा बचपन उतना नहीं पीता था लेकिन ब

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  71
WhatsApp_icon
user

Ramkaran

Teching

0:24
Play

Likes  4  Dislikes    views  190
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!