आपने अभी तक सबसे बहादुरी वाला कौन सा काम किया है?...


user

Kavita Panyam

Certified Award Winning Counseling Psychologist

1:57
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखे बाय नेचर महिम पास हूं और मुझे हम से दूसरों को उनकी हेल्प करने का लगा रहता है तो कई बार जो है मैं अपने आप पर से ज्यादा जाकर दूसरों को हेल्प करती थी इतना ज्यादा हो गया था कि मेरे खुद के माइंड बॉडी फुल में डिस्कनेक्ट आ गया था जहां पर मैं टाइम देखती नहीं थी खाना खाना खाना छोड़ कर जा कर उनके मदद करो या फिर अपना खुद का जो अनीज है अपने-अपने जो खुद के जो अब बॉडी लिया फिर मंत्री अपने लिए जो भी चाहिए होता है उसको इग्नोर करके दूसरों को हेल्प करो कुछ ज्यादा ही गिविंग पर्सन बन गई थी मैं तो एक वक्त ऐसा आया कि जब मुझे उसमें इतनी रुचि नहीं दिखी और जब मेरे बड़ी प्रॉब्लम स्टार्ट हुए जैसे कि पैर दर्द होना 6 आना या फिर एक डिस्कनेक्ट लगना तो मुझे समझ में आया कि शायद ऐसा कुछ कर रही हूं जो मेरे माइंड बॉडी और सोनू के इंसल्ट नहीं है कुछ है जहां पर डिस्कनेक्ट है तो मुझे पता चला कि हमें सिर्फ उतना ही देना चाहिए जितना हम दे सकते हैं और अगर हम खुश होंगे तभी हम खुशी बांट सकते हैं तब मैंने मना करना शुरू किया तब मैंने 9 बोलना शुरू किया अपने सगे संबंधियों को इमेजेस फैमिली मेंबर्स को जब मैंने 9 बोलना शुरू किया तो इनिशियली मुझे बुरा लगा कि वो लोग क्या सोचेंगे लेकिन बाद में जब मुझे फ्रीडम मिला कि हमेशा मेरी चॉइस है कि मैं कब कितना और किस की मदद कर सकती हूं अपने आप को बिना डिलीट किए तो वो जो मुझे पवन मिला अपने खुद के लाइफ का अपने हाथों में और वह सबसे हंसी था मेरे लिए क्योंकि पहले मैं वह कर नहीं पाती थी और अब मुझे बहुत अच्छा लग रहा है क्योंकि मैं चूस कर सकती हूं कि मुझे कब कैसे कितना और किस की मदद करनी चाहिए और और मेरे भी लाइफ जो है वह न क्लिक नहीं हो रही है तो मैं बहुत खुश हूं इस विषय को लेकर मुझे लगता है आप सब को भी इसके बारे में सोचना चाहिए और सिर्फ उतना ही करना चाहिए जितना आप माइंड बॉडी सोल कमेंट करता हूं अगर आप उससे बढ़कर करेंगे तो आप का नुकसान होगा और आपका नुकसान होगा तो फिर आप कहां पर दुनिया में खुशियां से लाएंगे किसी की मदद आप कहां कर पाएंगे अभी उसके बारे में गौर कीजिएगा

dekhe bye nature mahim paas hoon aur mujhe hum se dusro ko unki help karne ka laga rehta hai toh kai baar jo hai apne aap par se zyada jaakar dusro ko help karti thi itna zyada ho gaya tha ki mere khud ke mind body full mein diskanekt aa gaya tha jaha par main time dekhti nahi thi khana khana khana chod kar ja kar unke madad karo ya phir apna khud ka jo anij hai apne apne jo khud ke jo ab body liya phir mantri apne liye jo bhi chahiye hota hai usko ignore karke dusro ko help karo kuch zyada hi giving person ban gayi thi main toh ek waqt aisa aaya ki jab mujhe usme itni ruchi nahi dikhi aur jab mere badi problem start hue jaise ki pair dard hona 6 aana ya phir ek diskanekt lagna toh mujhe samajh mein aaya ki shayad aisa kuch kar rahi hoon jo mere mind body aur sonu ke insult nahi hai kuch hai jaha par diskanekt hai toh mujhe pata chala ki hamein sirf utana hi dena chahiye jitna hum de sakte hain aur agar hum khush honge tabhi hum khushi baant sakte hain tab maine mana karna shuru kiya tab maine 9 bolna shuru kiya apne sage sambandhiyon ko images family members ko jab maine 9 bolna shuru kiya toh inishiyali mujhe bura laga ki vo log kya sochenge lekin baad mein jab mujhe freedom mila ki hamesha meri choice hai ki main kab kitna aur kis ki madad kar sakti hoon apne aap ko bina delete kiye toh vo jo mujhe pawan mila apne khud ke life ka apne hathon mein aur vaah sabse hansi tha mere liye kyonki pehle main vaah kar nahi pati thi aur ab mujhe bahut accha lag raha hai kyonki main chus kar sakti hoon ki mujhe kab kaise kitna aur kis ki madad karni chahiye aur aur mere bhi life jo hai vaah na click nahi ho rahi hai toh main bahut khush hoon is vishay ko lekar mujhe lagta hai aap sab ko bhi iske bare mein sochna chahiye aur sirf utana hi karna chahiye jitna aap mind body soul comment karta hoon agar aap usse badhkar karenge toh aap ka nuksan hoga aur aapka nuksan hoga toh phir aap kahaan par duniya mein khushiya se layenge kisi ki madad aap kahaan kar payenge abhi uske bare mein gaur kijiega

देखे बाय नेचर महिम पास हूं और मुझे हम से दूसरों को उनकी हेल्प करने का लगा रहता है तो कई बा

Romanized Version
Likes  84  Dislikes    views  2300
KooApp_icon
WhatsApp_icon
18 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!