ऐसी कौन सी सरल बात है जिससे आपने अपने जीवन में बहुत देर से समझा लेकिन जिसने आपका जीवन बदल कर रख दिया?...


user

Dr. J.Singh

Financial Expert || Ayurvedic Doctor

0:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सबसे सरल बात है कि गुस्सा आपको बहुत ज्यादा नुकसान देता है आपको गुस्सा नहीं करना है बिल्कुल भी गुस्सा नहीं करना है उस वक्त अगर गुस्सा आपका राजवाप सवाल है उसको अपने अच्छे व्यवहार में बदलती यह आपके जीवन को बदल कर रहे थे मेरे आप सब से यह चीज है कि मैंने गुस्सा कर गुस्से से मुझे बहुत नुकसान हुआ इसको मैंने देर से समझा और उसी मेरा जीवन वास्तव में बदल कर रखी है धन्यवाद

sabse saral baat hai ki gussa aapko bahut zyada nuksan deta hai aapko gussa nahi karna hai bilkul bhi gussa nahi karna hai us waqt agar gussa aapka rajvap sawaal hai usko apne acche vyavhar me badalti yah aapke jeevan ko badal kar rahe the mere aap sab se yah cheez hai ki maine gussa kar gusse se mujhe bahut nuksan hua isko maine der se samjha aur usi mera jeevan vaastav me badal kar rakhi hai dhanyavad

सबसे सरल बात है कि गुस्सा आपको बहुत ज्यादा नुकसान देता है आपको गुस्सा नहीं करना है बिल्कुल

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  196
WhatsApp_icon
30 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Amit vishwakarma

Psychologist

0:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां जीवन के मदरसा

haan jeevan ke madarsa

हां जीवन के मदरसा

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  48
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पहले तो मैं नहीं करता था और अभी तक करीब 5 साल से उसमें अगर मैं थोड़ा सहयोग करता हूं तो मैंने देखा कि उससे बड़े अच्छी उठ जाती है और एक दूसरे मुझे बहुत अच्छा लगा मुझे देर में समझ में आया लेकिन मेरा कोई संबंध नहीं

pehle toh main nahi karta tha aur abhi tak kareeb 5 saal se usme agar main thoda sahyog karta hoon toh maine dekha ki usse bade achi uth jaati hai aur ek dusre mujhe bahut accha laga mujhe der me samajh me aaya lekin mera koi sambandh nahi

पहले तो मैं नहीं करता था और अभी तक करीब 5 साल से उसमें अगर मैं थोड़ा सहयोग करता हूं तो मैं

Romanized Version
Likes  300  Dislikes    views  2960
WhatsApp_icon
user

Ajay kumar

Motivational Speaker , Life Coach

5:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो फ्रेंड्स मैं अजय कुमार मोटिवेशनल स्पीकर लाइफ कोच ऐसी कौन सी सरल बात है जिससे आपने अपने जीवन में बहुत देर से समझा लेकिन जिसने आपका जीवन बदल कर रख दिया ऐसी एक बात है जिसे मैंने बहुत देर से समझा लेकिन हां जब से उस बात को मैंने समझा सच में मेरा जीवन बदल गया और वह बात है द रूल आफ गिवन यानी देने की प्रक्रिया देने का नियम हमेशा सोचा करता था कि मैं लोगों से लेता हूं लोग मुझे पैसा दे बस में लोगों से पाने के बारे में सोचता था हमेशा पाने के बारे में सोचता था देने के बारे में मैंने कभी नहीं सोचा था जब तक मैं ऐसा सोचता था कि मुझे मिले लोगों से मैं प्राप्त करूं लोग मुझे दें क्या वह पैसा हो इज्जत हो सम्मान हो और तब तक जब तक मेरी सोच ऐसी थी तब तक मैं हर तरीके से गरीब था लेकिन आज मैं थैंक्स करता हूं तहे दिल से बचने देसाई का किन की प्रेरणा से उनका मन एक सेमिनार अटेंड किया डायनेमिक योगा और डायनामिक योगा में उन्होंने स्प्रिचुअल लॉक के बारे में बताया जिसमें उन्होंने जीवन के रूल के बारे में बताया और जप्त मैंने उस रोल को समझा तब से मेरा जीवन सच में बदल गया अब मैं हमेशा देने के बारे में सोचता हूं और जब से मैंने इस बारे में सोचना शुरू किया मैं हर तरफ से अमीर होता चला गया आज मेरे पास पहले से बेहतर सुख सुविधाएं हैं सम्मान है सारी चीजें हैं जो मेरे पास पहले नहीं थी और वह चीजें मिली है इस सोच के बदलने से और वह सोच जब से मैंने बदले पर इस जीवन में इस सेमिनार को अटेंड करने से पहले बिजनेस में कुछ हुआ किसने बिजनेस में हमें धोखा दिया और उसमें काफी हमारा नुकसान हुआ ऐसा सोचा करता था ऐसा मेरे साथ क्यों हुआ और मैं बस इस ताक में था कि पैसे भी व्यक्ति मुझे मिल जाए उसे हम कैसे भी अपना पूरा पैसा वसूल ले परंतु जिस दिन हम नहीं अटेंड किया और उन्होंने कहा कि यदि आपने कुछ किसी को दिया है उस व्यक्ति ने चाहा उधार समझ के लिए आचार्य स्वरूप में लिया है लेकिन उसने नहीं लौट आया है तो इसमें आपका कोई नुकसान नहीं है क्योंकि आपने तो दिया है नुकसान तो उस बंदे का है जिसने दिया है और आपने दिया है तो ऊपर वाले के यहां इसका हिसाब चल रहा है वह ब्याज समेत लौट आएगा लेकिन जिस व्यक्ति ने लिया है उसे ब्याज समेत हजारों गुना भरना पड़ेगा और सच में यकीन मानिए दोस्तों जब से यह रूल को मैंने समझा है तब से मेरे जीवन में कैसी भी कोई घटना घट जाए मुझे कोई दुख नहीं होता कि मैं हर वक्त सिर्फ देने के बारे में सोचता हूं और तीता वही है जिसके पास होता है और जब से मैंने ऐसा सोचना शुरु कर कि मैं लोगों को दूं तब से मेरे में लगातार बढ़ता गया फिर चाहे वह ज्ञान हो जाओ पैसा हो सारी चीजें आज पहले से कई गुना ज्यादा मेरे पास तो दोस्त आप भी अपने जीवन में इस नियम को अपनाएं यदि आपको किसी ने पैसा लिया है आपका धन लिया है या कोई भी चीज आपसे ली है और उसने वापस नहीं किया तो इस बात के लिए उसे कुछ ना छोड़ दीजिए घुसने दिया नहीं उससे वसूल करना है बल्कि खुश हो जाइए आप ने उसके ऊपर कर्ज चढ़ा रखा है आपने ले नहीं रखा अपने दे रखा है आप उससे कई गुना ज्यादा अमीर और आप हर वक्त फायदे में हैं क्योंकि आपने दिया है अप्लाई करके देखें दोस्तों जीवन बदल जाए और इसी के साथ अभी के लिए इतना ही और यदि आपने इतना शक कर लिया तो अब बन जाएंगे कुछ ऐसा कि लोग बनना चाहेंगे आपके जैसे जवाब पसंद आए तो लाइक कर देना कैसा लगा हमें कमेंट करके बता सकते हैं और ऐसे ही यूज करने वाले हमेशा पाते रहने के लिए फॉलो जरूर कर लेना मिलता हूं एक नए प्रश्न के उत्तर के साथ तब तक के लिए खुश रहना खुशियां बांटते रहना अपना ख्याल रखना अपनों का ख्याल रखना बाय बाय टेक केयर

hello friends main ajay kumar Motivational speaker life coach aisi kaun si saral baat hai jisse aapne apne jeevan me bahut der se samjha lekin jisne aapka jeevan badal kar rakh diya aisi ek baat hai jise maine bahut der se samjha lekin haan jab se us baat ko maine samjha sach me mera jeevan badal gaya aur vaah baat hai the rule of given yani dene ki prakriya dene ka niyam hamesha socha karta tha ki main logo se leta hoon log mujhe paisa de bus me logo se paane ke bare me sochta tha hamesha paane ke bare me sochta tha dene ke bare me maine kabhi nahi socha tha jab tak main aisa sochta tha ki mujhe mile logo se main prapt karu log mujhe de kya vaah paisa ho izzat ho sammaan ho aur tab tak jab tak meri soch aisi thi tab tak main har tarike se garib tha lekin aaj main thanks karta hoon tahe dil se bachne desai ka kin ki prerna se unka man ek seminar attend kiya daynemik yoga aur dynamic yoga me unhone sprichual lock ke bare me bataya jisme unhone jeevan ke rule ke bare me bataya aur japt maine us roll ko samjha tab se mera jeevan sach me badal gaya ab main hamesha dene ke bare me sochta hoon aur jab se maine is bare me sochna shuru kiya main har taraf se amir hota chala gaya aaj mere paas pehle se behtar sukh suvidhaen hain sammaan hai saari cheezen hain jo mere paas pehle nahi thi aur vaah cheezen mili hai is soch ke badalne se aur vaah soch jab se maine badle par is jeevan me is seminar ko attend karne se pehle business me kuch hua kisne business me hamein dhokha diya aur usme kaafi hamara nuksan hua aisa socha karta tha aisa mere saath kyon hua aur main bus is tak me tha ki paise bhi vyakti mujhe mil jaaye use hum kaise bhi apna pura paisa vasool le parantu jis din hum nahi attend kiya aur unhone kaha ki yadi aapne kuch kisi ko diya hai us vyakti ne chaha udhaar samajh ke liye aacharya swaroop me liya hai lekin usne nahi lot aaya hai toh isme aapka koi nuksan nahi hai kyonki aapne toh diya hai nuksan toh us bande ka hai jisne diya hai aur aapne diya hai toh upar waale ke yahan iska hisab chal raha hai vaah byaj samet lot aayega lekin jis vyakti ne liya hai use byaj samet hazaro guna bharna padega aur sach me yakin maniye doston jab se yah rule ko maine samjha hai tab se mere jeevan me kaisi bhi koi ghatna ghat jaaye mujhe koi dukh nahi hota ki main har waqt sirf dene ke bare me sochta hoon aur tita wahi hai jiske paas hota hai aur jab se maine aisa sochna shuru kar ki main logo ko doon tab se mere me lagatar badhta gaya phir chahen vaah gyaan ho jao paisa ho saari cheezen aaj pehle se kai guna zyada mere paas toh dost aap bhi apne jeevan me is niyam ko apanaen yadi aapko kisi ne paisa liya hai aapka dhan liya hai ya koi bhi cheez aapse li hai aur usne wapas nahi kiya toh is baat ke liye use kuch na chhod dijiye ghusne diya nahi usse vasool karna hai balki khush ho jaiye aap ne uske upar karj chadha rakha hai aapne le nahi rakha apne de rakha hai aap usse kai guna zyada amir aur aap har waqt fayde me hain kyonki aapne diya hai apply karke dekhen doston jeevan badal jaaye aur isi ke saath abhi ke liye itna hi aur yadi aapne itna shak kar liya toh ab ban jaenge kuch aisa ki log banna chahenge aapke jaise jawab pasand aaye toh like kar dena kaisa laga hamein comment karke bata sakte hain aur aise hi use karne waale hamesha paate rehne ke liye follow zaroor kar lena milta hoon ek naye prashna ke uttar ke saath tab tak ke liye khush rehna khushiya bantate rehna apna khayal rakhna apnon ka khayal rakhna bye bye take care

हेलो फ्रेंड्स मैं अजय कुमार मोटिवेशनल स्पीकर लाइफ कोच ऐसी कौन सी सरल बात है जिससे आपने अपन

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  77
WhatsApp_icon
user
3:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पूजा कैसे सवाल है अपने जीवन में बहुत देर से समझा लेकिन इसमें आपका जीवन बदल कर रख दिया तो इस क्वेश्चन को एक व्हाट्सएप मैसेज नहीं करना चाहती थी इस क्वेश्चन के लिए मैंने इसलिए लिया क्योंकि मुझे लगा क्वेश्चन आंसर के शुरू में अपने दिल की बात करूंगी खुद के ठीक है इसलिए मैंने आंसर को यहां पर डिस्कस करने की कोशिश की और मुझे लगता है कि थोड़ा देर से सीखी लेकिन फिर भी मुझे लगता है देर से सीखी बहुत ज्यादा देर नहीं हुई लेकिन मुझे लगता है कि अगर थोड़ा पहले समझ जाती तो इतना हक नहीं जो भी मुझे ऐसा लगता है तो वह है जो चीज मेरे सीखी और जिसने सीखने के बाद सच में मेरे जीवन को बदला है वह है मेरा बिल सिस्टम जोकि बहुत दिख रहा हूं बहुत बेकार था खुद के बारे में तो बिलीफ सिस्टम से कहीं बैटरी नहीं थी जैसे कि मैं खुद क्या कर सकती हूं मेरे अंदर क्या-क्या पहुंचने है मेरे अंदर क्या-क्या संभावना है वह चीजें कर सकती हूं या नहीं कर सकती इसके बारे में अपने लिए कभी सोचते ही नहीं थी ठीक है और दूसरों पर अंधा भरोसा कि मुझे लगता था कि मेरे मन में इसके लिए गलत ख्याल नहीं आ रही हूं मैं बुरा नहीं समझता और मुझे लगता है कि जो लोग मेरी लाइफ में मुझसे नाराज हुए हैं अपने पराए जो भी है ठीक है वह मेरे खराब बिलीफ सिस्टम की वजह से नाराज हो अगर मेरा दिल है सिस्टम ऐसा ना होता मेरा अंधा भरोसा मत करना होता तो बोलो मुझसे नाराज नहीं होते उनको मौका दिया मैंने उन पर फालतू का भरोसा करके तो मेरा भी लिपस्टिक लिप्स सीखने का एक फायदा हुआ है ठीक है वह यह हुआ है कि मैं तो एक झटके की तरह मेरे सामने कोई पेनफुल एक्सपीरियंस इन लाइफ में नहीं जुड़ता ऐसा हो सकता होता लेकिन जिस तरीके से करते हैं कोई चीज जो आपके लाइफ एकदम झटके से आते हैं सब चौक जाते हैं जो हमेशा से नहीं थी आपके साथ ही आपकी आदत ने मुझे अचानक से आपकी लाइफ में आती है वह चीज पहले से निकली आपके अंदर होती तो शायद नहीं जाता इसलिए गया क्योंकि तुम टावर की तरह वह क्यों जाती लाइफ में आई कुछ ऐसा हुआ तो इसका थोड़ा बहुत तो मुझे नुकसान हुआ पर देर से आने का एक फायदा भी हुआ कि ऐसी बहुत सारी चीजों के लिए मैं करीब ला भाई अपने अंदर और मैंने यह सोचा कि इस चीज को उखाड़ फेंकना है उसको लाना है और इसी चीज ने मेरी लाइफ को बदला नहीं बल्कि बहुत बढ़िया है बड़े म्यूजिक तरीके से और एकदम मजे शंकरा बदला है और मुझे यहां पर एक्सेप्ट करने में कोई दिक्कत नहीं है बट डर के आगे जीत है ट्रेन के बाद

puja kaise sawaal hai apne jeevan me bahut der se samjha lekin isme aapka jeevan badal kar rakh diya toh is question ko ek whatsapp massage nahi karna chahti thi is question ke liye maine isliye liya kyonki mujhe laga question answer ke shuru me apne dil ki baat karungi khud ke theek hai isliye maine answer ko yahan par discs karne ki koshish ki aur mujhe lagta hai ki thoda der se sikhi lekin phir bhi mujhe lagta hai der se sikhi bahut zyada der nahi hui lekin mujhe lagta hai ki agar thoda pehle samajh jaati toh itna haq nahi jo bhi mujhe aisa lagta hai toh vaah hai jo cheez mere sikhi aur jisne sikhne ke baad sach me mere jeevan ko badla hai vaah hai mera bill system joki bahut dikh raha hoon bahut bekar tha khud ke bare me toh belief system se kahin battery nahi thi jaise ki main khud kya kar sakti hoon mere andar kya kya pahuchne hai mere andar kya kya sambhavna hai vaah cheezen kar sakti hoon ya nahi kar sakti iske bare me apne liye kabhi sochte hi nahi thi theek hai aur dusro par andha bharosa ki mujhe lagta tha ki mere man me iske liye galat khayal nahi aa rahi hoon main bura nahi samajhata aur mujhe lagta hai ki jo log meri life me mujhse naaraj hue hain apne parae jo bhi hai theek hai vaah mere kharab belief system ki wajah se naaraj ho agar mera dil hai system aisa na hota mera andha bharosa mat karna hota toh bolo mujhse naaraj nahi hote unko mauka diya maine un par faltu ka bharosa karke toh mera bhi lipstick lips sikhne ka ek fayda hua hai theek hai vaah yah hua hai ki main toh ek jhatake ki tarah mere saamne koi painful experience in life me nahi judta aisa ho sakta hota lekin jis tarike se karte hain koi cheez jo aapke life ekdam jhatake se aate hain sab chauk jaate hain jo hamesha se nahi thi aapke saath hi aapki aadat ne mujhe achanak se aapki life me aati hai vaah cheez pehle se nikli aapke andar hoti toh shayad nahi jata isliye gaya kyonki tum tower ki tarah vaah kyon jaati life me I kuch aisa hua toh iska thoda bahut toh mujhe nuksan hua par der se aane ka ek fayda bhi hua ki aisi bahut saari chijon ke liye main kareeb la bhai apne andar aur maine yah socha ki is cheez ko ukhad phenkana hai usko lana hai aur isi cheez ne meri life ko badla nahi balki bahut badhiya hai bade music tarike se aur ekdam maje sankra badla hai aur mujhe yahan par except karne me koi dikkat nahi hai but dar ke aage jeet hai train ke baad

पूजा कैसे सवाल है अपने जीवन में बहुत देर से समझा लेकिन इसमें आपका जीवन बदल कर रख दिया तो इ

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  114
WhatsApp_icon
user

bhaand's Theatre and Acting Classes

Acting And drama Coach Casting director Drama Director

1:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नए जीवन में बहुत सारे काम किए बहुत सारे काम की है और मैं शुरू से कलात्मक करना चाहता था मैं ड्रामा एक्टिंग इसी में करना चाहता था लेकिन मुझको समझ में नहीं आता था कि मैं दूसरे काम क्यों नहीं कर पा रहा हूं मुझे कोई कोई काम करने के लिए यह बोलता है मैं लोगों के मनोरंजन में लग जाता हूं लेकिन मुझे समझ में नहीं आता था फिर मैंने एक फिल्म देखी थी मेरे बचपन में बॉबी और वह फिल्म देखते देखते देखते देखते उन दो-तीन घंटों में मेरे अंदर पता नहीं क्या हुआ है ऐसा कि मुझे लग गया कि मुझे यही करना है मुझे यही करना है और वह एक छोटी सी चीज थी उससे मैंने जीवन बदल दिया और उसके बाद मुझे टाइम लगा काफी अरसे बाद मैंने यह काम शुरू किया लेकिन हां मैं वही कर रहा हूं जो मैं चाहता था जो मेरी मेरी आत्मा मुझे बोलती थी कि ऐसा कुछ करना है लेकिन मुझे समझ में नहीं आता तो क्या करना है लेकिन जब मैंने फिल्म देखी और रहो मुझे एहसास हुआ कि याद कीजिए मैं करना चाहता था और तू फिर मैंने लोगों के इंटरव्यू देखना शुरू किया और लोगों के देखी और मिला क्या काम में हो रहा यह सब कर रहा हूं

naye jeevan me bahut saare kaam kiye bahut saare kaam ki hai aur main shuru se kalaatmak karna chahta tha main drama acting isi me karna chahta tha lekin mujhko samajh me nahi aata tha ki main dusre kaam kyon nahi kar paa raha hoon mujhe koi koi kaam karne ke liye yah bolta hai main logo ke manoranjan me lag jata hoon lekin mujhe samajh me nahi aata tha phir maine ek film dekhi thi mere bachpan me bobby aur vaah film dekhte dekhte dekhte dekhte un do teen ghanto me mere andar pata nahi kya hua hai aisa ki mujhe lag gaya ki mujhe yahi karna hai mujhe yahi karna hai aur vaah ek choti si cheez thi usse maine jeevan badal diya aur uske baad mujhe time laga kaafi arase baad maine yah kaam shuru kiya lekin haan main wahi kar raha hoon jo main chahta tha jo meri meri aatma mujhe bolti thi ki aisa kuch karna hai lekin mujhe samajh me nahi aata toh kya karna hai lekin jab maine film dekhi aur raho mujhe ehsaas hua ki yaad kijiye main karna chahta tha aur tu phir maine logo ke interview dekhna shuru kiya aur logo ke dekhi aur mila kya kaam me ho raha yah sab kar raha hoon

नए जीवन में बहुत सारे काम किए बहुत सारे काम की है और मैं शुरू से कलात्मक करना चाहता था मैं

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  162
WhatsApp_icon
user

Dr. Sangeet Sharma

Life Coach(कड़वी लेकिन सच्ची सलाह)/Doctorate

0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीवन की सबसे सरल बात जो मुझे देर से समझ में आई जिसने मेरा जीवन बदलती हो यह है कि इस जीवन में सफलताएं आपको सिखाने के लिए आती है कुछ उन्हें अपना फेल नहीं मानना चाहिए उन्हें एक सीख उन्हें सबक मानना चाहिए उन्हें स्टेप बनाकर आगे बढ़ना चाहिए यह सीधी सी बात है लेकिन यह अगर आप समझ में समझ लो आपका जीवन सच में घुसता है थैंक यू वेरी मच

jeevan ki sabse saral baat jo mujhe der se samajh me I jisne mera jeevan badalti ho yah hai ki is jeevan me safalataen aapko sikhane ke liye aati hai kuch unhe apna fail nahi manana chahiye unhe ek seekh unhe sabak manana chahiye unhe step banakar aage badhana chahiye yah seedhi si baat hai lekin yah agar aap samajh me samajh lo aapka jeevan sach me ghuste hai thank you very match

जीवन की सबसे सरल बात जो मुझे देर से समझ में आई जिसने मेरा जीवन बदलती हो यह है कि इस जीवन म

Romanized Version
Likes  33  Dislikes    views  510
WhatsApp_icon
user

Anshu Saxena

Business Manager

2:01
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है ऐसी कौन सी सरल बात है जिससे आपने अपने जीवन में बहुत देर से समझा लेकिन जिनसे आपका जीवन बदल कर रख दिया कोई बहुत बड़ी बात तो मेरे जीवन में नहीं है ऐसी हां एक चीज मैं आपको जरूर बताना चाहूंगा मैं छोटा था मैं खाने का बहुत शौकीन था रघु बहुत सारी चीजें हमारी मां में बना कर देती हूं बहुत अच्छी लगती थी धीरे-धीरे हम बड़े हुए भगवान की दया से परिवार में कोई कमी नहीं थी जो चाहते मिल जाता था एक बार हमने व्रत रखा मेरे को समझ आ गया कि व्रत रखने से भी काम चल सकता है और ऐसा भी समय आया कि यह चीज नहीं है तो चलो कोई बात नहीं जब मुझे यह लगने लगा कि इन चीजों से काम चल सकता है और ऐसे भी किया जा सकता है तब से मेरी सोच भी बदली फिर जीवन सरल सा लगने लगा कि जरूरत नहीं है हम जो सोचते हैं वह हमें मिले और उसके बगैर हमारा काम चलेगी नहीं ऐसा नहीं आपको जीने के लिए अगर कभी ऐसा जरूरत पड़े कि दो रोटी है आपके पास में और उसी से आपको पेट भरना है तो अगर आप में इतनी नाम है तो वह तो रोटी ही आपको जीवन के अंदर आगे बढ़ाने के लिए बहुत है बाकी छप्पन भोग भी कम पड़ जाते हैं वह फिर भी नहीं शांत होती इसलिए यह चीज मैंने देखी कि कभी नहीं था तो भी काम चला दूसरों को जब मैंने छोटा किया तो लगा कि जिंदगी तो आसान है हमने इतनी उसको कठिन क्यों बना दिया और यहीं से वह सरलता मेरे जीवन में भी आएगी

aapka sawaal hai aisi kaun si saral baat hai jisse aapne apne jeevan me bahut der se samjha lekin jinse aapka jeevan badal kar rakh diya koi bahut badi baat toh mere jeevan me nahi hai aisi haan ek cheez main aapko zaroor batana chahunga main chota tha main khane ka bahut shaukin tha raghu bahut saari cheezen hamari maa me bana kar deti hoon bahut achi lagti thi dhire dhire hum bade hue bhagwan ki daya se parivar me koi kami nahi thi jo chahte mil jata tha ek baar humne vrat rakha mere ko samajh aa gaya ki vrat rakhne se bhi kaam chal sakta hai aur aisa bhi samay aaya ki yah cheez nahi hai toh chalo koi baat nahi jab mujhe yah lagne laga ki in chijon se kaam chal sakta hai aur aise bhi kiya ja sakta hai tab se meri soch bhi badli phir jeevan saral sa lagne laga ki zarurat nahi hai hum jo sochte hain vaah hamein mile aur uske bagair hamara kaam chalegi nahi aisa nahi aapko jeene ke liye agar kabhi aisa zarurat pade ki do roti hai aapke paas me aur usi se aapko pet bharna hai toh agar aap me itni naam hai toh vaah toh roti hi aapko jeevan ke andar aage badhane ke liye bahut hai baki chappan bhog bhi kam pad jaate hain vaah phir bhi nahi shaant hoti isliye yah cheez maine dekhi ki kabhi nahi tha toh bhi kaam chala dusro ko jab maine chota kiya toh laga ki zindagi toh aasaan hai humne itni usko kathin kyon bana diya aur yahin se vaah saralata mere jeevan me bhi aayegi

आपका सवाल है ऐसी कौन सी सरल बात है जिससे आपने अपने जीवन में बहुत देर से समझा लेकिन जिनसे आ

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  117
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसी कौन सी सरल बात है जिसे आपने जीवन में बहुत देर से समझा लेकिन जिसने आपके जीवन को बदल कर रख दिया जीवन का जो मूल्य है वह मुझे बहुत देर बाद समझ में आया जीवन के बहुत सारे वर्ष को जाने के बाद जब ध्यान जीवन में उतरा तब जीवन की मूल्य काफी मुझे पता चला कि प्रकृति के द्वारा इतनी अनुपम धरोहर मुझे फिटकरी गई और मैं अनंत अनंत इच्छाओं को लिए जो कभी पूरी हूं कभी नहीं हो पाई इसी आंखों में अपने जीवन को हो जाती रही लेकिन जीवन का मजाक किया था कि मैं कभी ना सकी थी जब तक यह समझ में नहीं आया था कि जीवन क्या है और कितना बहुमूल्य है आज जब जीवन का मूल्य समझ में आया है आज जब यह समझ में आया है कि प्रकृति ने मेरे ऊपर भी 9 महीने उतना ही काम किया जितना दूसरों पर किया तो प्रकृति के लिए मन में अनंत अनंत धन्यवाद उड़ जाता है अपनी तुलना में हम अपनी क्षमताओं को अक्सर नकहा देते हैं किंतु जब हम जीवन के मूल्य को समझते हैं तब हमें यह पता चलता है कि किसी को भी खाली नहीं रखता उसने किसी न किसी व्यक्ति के अंदर कुछ ना कुछ गुण अवश्य भरे होते हैं किंतु हम जब तुलना में लगे रहते हैं या फिर हम अपने जीवन में आशाओं को ऐसी इच्छाओं को जो पूरी नहीं हो पाती है उनके पीछे भागते रहते तो जीवन के वह मूल अफसरों को खोते जाते हैं मैं अपने लिए कहूंगी कि देर से आए पर दुरुस्त आए जब जीवन का मूल्य मुझे समझ में आ गया तू जीवन मानव पंख लगा कर उठा है और जितना अधिक धन्यवाद मैं प्रकृति को इस प्यारे से जीवन के लिए करती हूं उतनी ही अधिक क्षमताएं वह मुझ में बढ़ता जा रहा है तो यहां मैं कहना चाहूंगी कि हर व्यक्ति को यह समझना चाहिए कि प्रकृति ने सबसे पहले तो आपको जीवन देकर ही आपके ऊपर इतना उपकार किया जो चीज ब्रह्मांड में कहीं भी नहीं हमारी मैकेनिक सुषमा सा कीट भी कहीं नहीं ढूंढ सके हैं इस पृथ्वी के अलावा यदि प्रकृति ने आप को चुनकर जीवन दिया है तो पहले आप उस जीवन का आधार करेक्शन का आदर करना सीख जाते हैं तो जीवन के पीछे आनंद और खुशियों के पल अपने आप चले आते हैं धन्यवाद

aisi kaun si saral baat hai jise aapne jeevan me bahut der se samjha lekin jisne aapke jeevan ko badal kar rakh diya jeevan ka jo mulya hai vaah mujhe bahut der baad samajh me aaya jeevan ke bahut saare varsh ko jaane ke baad jab dhyan jeevan me utara tab jeevan ki mulya kaafi mujhe pata chala ki prakriti ke dwara itni anupam dharohar mujhe fitkari gayi aur main anant anant ikchao ko liye jo kabhi puri hoon kabhi nahi ho payi isi aakhon me apne jeevan ko ho jaati rahi lekin jeevan ka mazak kiya tha ki main kabhi na saki thi jab tak yah samajh me nahi aaya tha ki jeevan kya hai aur kitna bahumulya hai aaj jab jeevan ka mulya samajh me aaya hai aaj jab yah samajh me aaya hai ki prakriti ne mere upar bhi 9 mahine utana hi kaam kiya jitna dusro par kiya toh prakriti ke liye man me anant anant dhanyavad ud jata hai apni tulna me hum apni kshamataon ko aksar nakaha dete hain kintu jab hum jeevan ke mulya ko samajhte hain tab hamein yah pata chalta hai ki kisi ko bhi khaali nahi rakhta usne kisi na kisi vyakti ke andar kuch na kuch gun avashya bhare hote hain kintu hum jab tulna me lage rehte hain ya phir hum apne jeevan me ashaon ko aisi ikchao ko jo puri nahi ho pati hai unke peeche bhagte rehte toh jeevan ke vaah mul afsaron ko khote jaate hain main apne liye kahungi ki der se aaye par durast aaye jab jeevan ka mulya mujhe samajh me aa gaya tu jeevan manav pankh laga kar utha hai aur jitna adhik dhanyavad main prakriti ko is pyare se jeevan ke liye karti hoon utani hi adhik kshamataen vaah mujhse me badhta ja raha hai toh yahan main kehna chahungi ki har vyakti ko yah samajhna chahiye ki prakriti ne sabse pehle toh aapko jeevan dekar hi aapke upar itna upkar kiya jo cheez brahmaand me kahin bhi nahi hamari mechanic sushma sa kit bhi kahin nahi dhundh sake hain is prithvi ke alava yadi prakriti ne aap ko chunkar jeevan diya hai toh pehle aap us jeevan ka aadhar correction ka aadar karna seekh jaate hain toh jeevan ke peeche anand aur khushiyon ke pal apne aap chale aate hain dhanyavad

ऐसी कौन सी सरल बात है जिसे आपने जीवन में बहुत देर से समझा लेकिन जिसने आपके जीवन को बदल कर

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  121
WhatsApp_icon
user

Ansh jalandra

Motivational speaker

0:33
Play

Likes  150  Dislikes    views  3033
WhatsApp_icon
user

Dr. Shantanu Pauranik

Ayurved Detoxification Specialist

5:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीवन वास्तव में पहेली है हर व्यक्ति का जीवन एक अलग प्रकार की पहली है कोई भी दो व्यक्तियों के जीवन एक जैसे कभी नहीं होता है यहां पर बात आती क्या आपने क्या सीखा समझा तो दिखे मैं आपको एक सीधी सीधी बात बताना चाहता हूं मेरी उम्र अभी तकरीबन 40 वर्ष है पूरे भारतवर्ष में अलग-अलग जगह पर मेरा प्रैक्टिस की है सेंट्रल गवर्नमेंट में रहा हूं अलग-अलग जगह पर अपनी स्टडीज के लिए गया हूं मास्टर से किया है कई डिप्लोमास किए हुए हैं और बहुत सारे कारण हैं जिनके द्वारा जिनके कारण से मैं पूरे भारत में अलग-अलग जगह पर हैं अलग-अलग प्रकार के लोगों से मिला हूं बात किए हजारों प्रकार के पेशेंट से देखे हैं तो सिद्धांत होता है मुंडे मुंडे मंदिर बिना कभी भी दो व्यक्ति एक जिससे कभी नहीं होते हैं आप बात कर रहे थे कि जीवन में समझने की बात तो इसके कई उत्तर हो सकते हैं जैसे मैंने बोला मुंडे मुंडे मैं तेरे बिना मेरा जहां तक प्रश्न है तो मेरा यह मानना है कि जीवन में हम जब आशय रखते हैं ना तो दुखी होते हैं क्योंकि आशा ही जो है वह दुख का कारण है अगर मैं किसी से मित्रता करता हूं और मैं अपनी तरफ से उसके लिए अच्छा करता हूं तो मेरी उसके साथ में भी यही आशा होगी कि मैंने उसको साथ में अच्छा किया है और वह भी मेरे साथ अच्छा करें लेकिन होता क्या है किसी कारण से अगर उन्होंने हमारे साथ में वैसा परिणाम नहीं दिया तो हमें दुख होगा और हमें यही चीज किसी मित्र से रिलेटेड नहीं है हम हमारे घर में हमारे माता-पिता अपने बच्चों और अपनी पत्नी अपने रिश्तेदार परिवार वाले सभी के ऊपर यह बात लागू होती है हम चाहते हैं कि हमारे बच्चा बहुत बड़े बहुत आगे जाए बहुत यश का मन नहीं करता तो दुख का कारण बनता है और मेरा यह मानना है कि दुख का मूल कारण ही किसी के ऊपर विश्वास रखना है तो बहुत ज्यादा विश्वास मत रखिए क्योंकि भगवान कृष्ण ने भी गीता में कहा है कर्मण्येवाधिकारस्ते मा फलेषु कदाचन आप यदि पिता है तो आप अपना कर्म करिए अपने बच्चों को लालन-पालन अच्छी तरह से दीजिए अच्छे संस्कार देने की कोशिश करिए उसका अच्छी तरह से ध्यान देखिए पढ़ाई है उसका स्वास्थ्य से लेकर उसकी शिक्षा तक संपूर्ण रूप से सर्वांगीण विकास के लिए बात करी लेकिन उसका वह क्या परिणाम आपको देने वाला है उस परिणाम के लिए आप ज्यादा विचार मत करिए अगर वह परिणाम विपरीत होता है तो आपको दुख का कारण बनेगा तो आप हर वह काम जो कि आप कर रहे हैं उसे अपना कर्तव्य और कर्म को समझकर करिए ना कि उसके परिणाम की आशा के साथ में उसको करिए परिणाम मिलेगा आप अच्छा कर्म करेंगे तो आपके साथ में कहीं पर भी गलत नहीं होगा लेकिन उसके ऊपर इतना ज्यादा आप आश्वस्त होकर और विश्वस्त मत रोइए किसका का उसका यही परिणाम मिलेगा वह हमको इतना ही लाभ होने वाला है और अगर ऐसा होता है तो जो होने वाला है वह तो होगा ही लेकिन आपको दुख तो होगा लेकिन वह दुख आपका कम होगा तो मेरा यह मानना है अपेक्षा ही दुख का कारण है अगर सुख चाहते हैं तो अपने कर्तव्य पथ पर निरंतर अग्रसर हुए कहीं कोई व्यक्ति आपके ऊपर उंगली उठाकर यह नहीं बोले कि इसने यह इस प्रकार का कर मन नहीं किया यह कर्तव्य है तो मैंने अपने जीवन का एक सार मैंने आपको दिया है चाहे कोई भी हो हम अपने कर्म को करते रहे निरंतर करते रहे सबसे अच्छे तरीके से करें बिना यह विचार है कि हम को इसका क्या लाभ मिलने वाला है और इसी प्रकार की अपेक्षा रखे बिना अपने कर्तव्य को अपने कर्म को निरंतर करते रहें निश्चित ईश्वर आपको प्रसन्न रखेंगे खुश रखेंगे आपके सही कर्मों का परिणाम सही ही मिलने वाला है इतना विश्वास एकमात्र ईश्वर पर ही रखिए नमस्कार

jeevan vaastav me paheli hai har vyakti ka jeevan ek alag prakar ki pehli hai koi bhi do vyaktiyon ke jeevan ek jaise kabhi nahi hota hai yahan par baat aati kya aapne kya seekha samjha toh dikhe main aapko ek seedhi seedhi baat batana chahta hoon meri umar abhi takareeban 40 varsh hai poore bharatvarsh me alag alag jagah par mera practice ki hai central government me raha hoon alag alag jagah par apni studies ke liye gaya hoon master se kiya hai kai diplomas kiye hue hain aur bahut saare karan hain jinke dwara jinke karan se main poore bharat me alag alag jagah par hain alag alag prakar ke logo se mila hoon baat kiye hazaro prakar ke patient se dekhe hain toh siddhant hota hai munde munde mandir bina kabhi bhi do vyakti ek jisse kabhi nahi hote hain aap baat kar rahe the ki jeevan me samjhne ki baat toh iske kai uttar ho sakte hain jaise maine bola munde munde main tere bina mera jaha tak prashna hai toh mera yah manana hai ki jeevan me hum jab aashay rakhte hain na toh dukhi hote hain kyonki asha hi jo hai vaah dukh ka karan hai agar main kisi se mitrata karta hoon aur main apni taraf se uske liye accha karta hoon toh meri uske saath me bhi yahi asha hogi ki maine usko saath me accha kiya hai aur vaah bhi mere saath accha kare lekin hota kya hai kisi karan se agar unhone hamare saath me waisa parinam nahi diya toh hamein dukh hoga aur hamein yahi cheez kisi mitra se related nahi hai hum hamare ghar me hamare mata pita apne baccho aur apni patni apne rishtedar parivar waale sabhi ke upar yah baat laagu hoti hai hum chahte hain ki hamare baccha bahut bade bahut aage jaaye bahut yash ka man nahi karta toh dukh ka karan banta hai aur mera yah manana hai ki dukh ka mul karan hi kisi ke upar vishwas rakhna hai toh bahut zyada vishwas mat rakhiye kyonki bhagwan krishna ne bhi geeta me kaha hai karmanyevadhikaraste ma faleshu kadachan aap yadi pita hai toh aap apna karm kariye apne baccho ko lalan palan achi tarah se dijiye acche sanskar dene ki koshish kariye uska achi tarah se dhyan dekhiye padhai hai uska swasthya se lekar uski shiksha tak sampurna roop se Sarvangiṇa vikas ke liye baat kari lekin uska vaah kya parinam aapko dene vala hai us parinam ke liye aap zyada vichar mat kariye agar vaah parinam viprit hota hai toh aapko dukh ka karan banega toh aap har vaah kaam jo ki aap kar rahe hain use apna kartavya aur karm ko samajhkar kariye na ki uske parinam ki asha ke saath me usko kariye parinam milega aap accha karm karenge toh aapke saath me kahin par bhi galat nahi hoga lekin uske upar itna zyada aap aashvast hokar aur vishwast mat roiye kiska ka uska yahi parinam milega vaah hamko itna hi labh hone vala hai aur agar aisa hota hai toh jo hone vala hai vaah toh hoga hi lekin aapko dukh toh hoga lekin vaah dukh aapka kam hoga toh mera yah manana hai apeksha hi dukh ka karan hai agar sukh chahte hain toh apne kartavya path par nirantar agrasar hue kahin koi vyakti aapke upar ungli uthaakar yah nahi bole ki isne yah is prakar ka kar man nahi kiya yah kartavya hai toh maine apne jeevan ka ek saar maine aapko diya hai chahen koi bhi ho hum apne karm ko karte rahe nirantar karte rahe sabse acche tarike se kare bina yah vichar hai ki hum ko iska kya labh milne vala hai aur isi prakar ki apeksha rakhe bina apne kartavya ko apne karm ko nirantar karte rahein nishchit ishwar aapko prasann rakhenge khush rakhenge aapke sahi karmon ka parinam sahi hi milne vala hai itna vishwas ekmatra ishwar par hi rakhiye namaskar

जीवन वास्तव में पहेली है हर व्यक्ति का जीवन एक अलग प्रकार की पहली है कोई भी दो व्यक्तियों

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  59
WhatsApp_icon
user

Phool Kanwar

Business Owner

0:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप ने सवाल किया ऐसी कौन सी तरल बात है जिससे आप मैं बहुत देर से समझा लेकिन जिसने आपका जीवन बदल कर रख दिया आलोचना आलोचना ही वह मेरे जीवन की सबसे बड़ी चीज की जिसको मैंने बहुत देर में समझा आज उसी आलोचना को मैंने प्रभावशाली लोगों से सुना लोगों ने मेरे बारे में आलोचना किया लेकिन मैंने उसको अपने अंदर के जज्बात से अपने अंदर के मोटिवेशन से अपने अंदर की भावना उसे जब कंपेयर किया तो मुझे एहसास हुआ कि मुझे एक अच्छा इंसान बनना जिससे कोई आलोचना कर सके और आज मैं कामयाब हूं

aap ne sawaal kiya aisi kaun si taral baat hai jisse aap main bahut der se samjha lekin jisne aapka jeevan badal kar rakh diya aalochana aalochana hi vaah mere jeevan ki sabse badi cheez ki jisko maine bahut der me samjha aaj usi aalochana ko maine prabhavshali logo se suna logo ne mere bare me aalochana kiya lekin maine usko apne andar ke jazbaat se apne andar ke motivation se apne andar ki bhavna use jab compare kiya toh mujhe ehsaas hua ki mujhe ek accha insaan banna jisse koi aalochana kar sake aur aaj main kamyab hoon

आप ने सवाल किया ऐसी कौन सी तरल बात है जिससे आप मैं बहुत देर से समझा लेकिन जिसने आपका जीवन

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  154
WhatsApp_icon
user

मीनाक्षी शर्मा

Enterpreneur, Author, Teacher, Motivational Speaker, Career Counsellor.

0:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीवन की यह बात अत्यंत सरल है किंतु इससे मुझे अपने जीवन में समझने में बहुत तेज लगी जब कोई परेशानी हो या कोई भी काम करना होता था तो मुझे लगता था कि यह काम मैं कर रही हूं और इस काम को मुझे करना है लेकिन जीवन में बहुत सारी ऐसी परिस्थितियां आई जब मैंने कुछ नहीं किया और मेरे सारे काम अपने आप हो गए तब मुझे समझ में आया कि पूरी तरह से अपने बंदे के साथ रहता है बस बंदे को ही समझना होता है कि वह उसे पूर्णतया विश्वास कर समर्पित हो जाए और फिर जीवन खुशहाल हो जाता है

jeevan ki yah baat atyant saral hai kintu isse mujhe apne jeevan me samjhne me bahut tez lagi jab koi pareshani ho ya koi bhi kaam karna hota tha toh mujhe lagta tha ki yah kaam main kar rahi hoon aur is kaam ko mujhe karna hai lekin jeevan me bahut saari aisi paristhiyaann I jab maine kuch nahi kiya aur mere saare kaam apne aap ho gaye tab mujhe samajh me aaya ki puri tarah se apne bande ke saath rehta hai bus bande ko hi samajhna hota hai ki vaah use purnataya vishwas kar samarpit ho jaaye aur phir jeevan khushahal ho jata hai

जीवन की यह बात अत्यंत सरल है किंतु इससे मुझे अपने जीवन में समझने में बहुत तेज लगी जब कोई प

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  62
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैंने जीवन में कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा आगे बढ़ता रहता जितनी समस्या है परेशानियां मुझको रही हूं उन समस्याओं और परेशानियों के बारे में कभी पीछे मुड़कर देखा ही नहीं हमेशा आगे बढ़ने की कोशिश की जीवन को सरल बनाने सोच को सकारात्मक रखें जो कुछ मिला है खा लिया जो कुछ मिला वह पहन लिया है और हमेशा ईमानदारी के साथ मैंने अपनी नौकरी के और मुझे उस में सफलता मिली है सत्य और न्याय के मार्ग पर चला हूं और हमेशा शीर्ष स्तर पर मैं रहा हूं और जहां भी मैंने जो कार्य के भी कुछ से खड़ी कर दिया अपने प्रशासन में

maine jeevan me kabhi peeche mudkar nahi dekha aage badhta rehta jitni samasya hai pareshaniya mujhko rahi hoon un samasyaon aur pareshaniyo ke bare me kabhi peeche mudkar dekha hi nahi hamesha aage badhne ki koshish ki jeevan ko saral banane soch ko sakaratmak rakhen jo kuch mila hai kha liya jo kuch mila vaah pahan liya hai aur hamesha imaandaari ke saath maine apni naukri ke aur mujhe us me safalta mili hai satya aur nyay ke marg par chala hoon aur hamesha shirsh sthar par main raha hoon aur jaha bhi maine jo karya ke bhi kuch se khadi kar diya apne prashasan me

मैंने जीवन में कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा आगे बढ़ता रहता जितनी समस्या है परेशानियां मुझको र

Romanized Version
Likes  218  Dislikes    views  2093
WhatsApp_icon
user

अशोक गुप्ता

Founder of Vision Commercial Services.

0:25
Play

Likes  9  Dislikes    views  166
WhatsApp_icon
user
1:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपने बहुत ही अच्छा सवाल पूछा पर सवाल था ऐसी कौन सी सरल बात है जिससे आपने अपने जीवन में बहुत देर से समझा लेकिन जितने आपका जीवन बदल कर रख दिया तो मेरी जीवन में एक बात है बहुत ही सरल मैं कौन हूं उज्जैन से मैंने जाना है कि मैं कौन हूं उस दिन से मेरी जिंदगी अपने आप ही बदल गई है मेल लाइफ को देखने का परसेप्शन बहुत ही अलग है मेरी सोच बहुत ही सकारात्मक हो गई है मैं हर चीज से अनुभव लेकर ज्ञान लेकर आगे बढ़ता बढ़ता हूं और आगे बढ़ रहा हूं इसलिए मेरे आप सब लोगों से भी एक विनती है कि बहुत ही छोटी सी बात है मैं कौन उसको खोजने के लिए आपको अपने अंदर ही साथ ना होगा अपने अंदर ही देखना होगा क्योंकि इस बात का जवाब नहीं दे सकते हो और कोई बात का जवाब नहीं दे सकता इसलिए आपको ही डालना होगा कि आप कौन हैं जिस दिन आप यह बात जान जाएंगे आपकी जिंदगी एक किराए पर आपको भी और आपके सोचने की क्षमता और लोगों से अधिक हो जाएगी लिए सकारात्मक रहिए और खुद को जानने की कोशिश करिए और आज में दीजिए लिव इन द प्रेजेंट

namaskar aapne bahut hi accha sawaal poocha par sawaal tha aisi kaun si saral baat hai jisse aapne apne jeevan me bahut der se samjha lekin jitne aapka jeevan badal kar rakh diya toh meri jeevan me ek baat hai bahut hi saral main kaun hoon ujjain se maine jana hai ki main kaun hoon us din se meri zindagi apne aap hi badal gayi hai male life ko dekhne ka perception bahut hi alag hai meri soch bahut hi sakaratmak ho gayi hai main har cheez se anubhav lekar gyaan lekar aage badhta badhta hoon aur aage badh raha hoon isliye mere aap sab logo se bhi ek vinati hai ki bahut hi choti si baat hai main kaun usko khojne ke liye aapko apne andar hi saath na hoga apne andar hi dekhna hoga kyonki is baat ka jawab nahi de sakte ho aur koi baat ka jawab nahi de sakta isliye aapko hi dalna hoga ki aap kaun hain jis din aap yah baat jaan jaenge aapki zindagi ek kiraye par aapko bhi aur aapke sochne ki kshamta aur logo se adhik ho jayegi liye sakaratmak rahiye aur khud ko jaanne ki koshish kariye aur aaj me dijiye live in the present

नमस्कार आपने बहुत ही अच्छा सवाल पूछा पर सवाल था ऐसी कौन सी सरल बात है जिससे आपने अपने जीवन

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  84
WhatsApp_icon
user

VC. Speaks

Soft Skill Trainer

1:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक ऐसी बात जो हम हम में से बहुत सारे अक्सर बहुत देर से समझते हैं वह है किस जिंदगी से लम्हे चुरा बटुए में रखता रहा फुर्सत से खर्च लूंगा बस यही सोचता रहा वह धरती रही जब करता रहा तुरपाई चलती रही खुशियां करता रहा भरपाई 1 दिन फुर्सत पाई तो सोचा खुद को आज सुझाव परसों से जो जुड़े वह लम्हे खर्चा खोला बटुआ लम्हे नाथे जाने कहां रह गए मैंने तो खर्चे नहीं जाने कैसे बीत गए फुर्सत मिली थी सोचा खुद सही मिलाऊं आईने में देखा जो पहचान ही ना पाऊं ध्यान से देखा बालों पर चांदी सा चढ़ा था था तो मुझ जैसा पर सामने जाने कौन खड़ा था सवाई गैस से हमें यह समझ आता है कि हम अक्सर जिंदगी की भाग दौड़ में जीना भूल जाते हैं इसको ध्यान रखिए जितनी जल्दी हो सके समझ जाइए रिलाइज करिए और अच्छे से खुशी से जीना शुरू करिए थैंक यू

ek aisi baat jo hum hum mein se bahut saare aksar bahut der se samajhte hain vaah hai kis zindagi se lamhe chura batuye mein rakhta raha phursat se kharch lunga bus yahi sochta raha vaah dharti rahi jab karta raha turpai chalti rahi khushiya karta raha bharpai 1 din phursat payi toh socha khud ko aaj sujhaav parso se jo jude vaah lamhe kharcha khola batuaa lamhe nathay jaane kahaan reh gaye maine toh kharche nahi jaane kaise beet gaye phursat mili thi socha khud sahi milaun aaine mein dekha jo pehchaan hi na paun dhyan se dekha balon par chaandi sa chadha tha tha toh mujhse jaisa par saamne jaane kaun khada tha sawai gas se hamein yah samajh aata hai ki hum aksar zindagi ki bhag daudh mein jeena bhool jaate hain isko dhyan rakhiye jitni jaldi ho sake samajh jaiye rilaij kariye aur acche se khushi se jeena shuru kariye thank you

एक ऐसी बात जो हम हम में से बहुत सारे अक्सर बहुत देर से समझते हैं वह है किस जिंदगी से लम्हे

Romanized Version
Likes  166  Dislikes    views  1870
WhatsApp_icon
user

Kavita Panyam

Certified Award Winning Counseling Psychologist

2:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है ऐसी कौन सी सरल बात है जिससे आपने अपने जीवन में बहुत देती समझा लेकिन जिसने आपका जीवन बदल कर रख दिया सबसे पहले बात यह है कि इंसान को जो भी करना है वह सोच समझ कर करना है चाहे वह लव हो या वॉर हो प्रेयर हो कुछ कभी भी इंपल्सिव नहीं रहना है नहीं तो क्या होता है कि एवरीथिंग बेलकम्स ट्रांजैक्शन पर एग्जांपल अगर कोई अलर्ट्स अकबर रिलेशनशिप आपका बॉयफ्रेंड है उसने आपको आई लव यू कहा अगर आपने इमेज ली फिर से उनको आई लव यू वापस कह दिया तो एक पल के लिए उनको अच्छा लगेगा लगेगा लेकिन वहां पर क्या होता है कि वह इंटरनेट कम हो जाती आपको चाहिए कि उस वक्त ना कहकर ग्रुप के शाम को या अगले दिन जैसे 2 दिन बाद आपके सकती हैं यह जो इंतजार का टाइम है वेटिंग पीरियड इससे क्या होता है थोड़ा और रिश्ता जो डिवेलप होता है डॉग एंड फोन आपका रिश्ता किस मोड पर है अब कनेक्शन कैसा एक्शन वर्ड इन चैनल रिश्ते जो ट्रांजैक्शनल होते हैं जहां पर एक से एक हम देखते आपने कुछ किया मैंने कुछ किया आपने कुछ किया मैंने कुछ किया वह इमेजेस नहीं होना चाहिए एक थोड़े से ज्ञात के बाद अगर आप करेंगे तो उसकी वैल्यू भी रहती है अगर आप दूसरा क्या होता है कि अगर मैंने आपको कुछ दिया है आपने मुझे मिलिट्री वापस दे दिया तो ना मेरा मैंने मेरा दिया हुआ वैल्यू रहता नहीं है आप कभी मेरे को देवाली रहने दे कम सकोर कार्ड फिर आप सोचते हैं कि चलो ठीक है मैंने दिया उसने भी दे दिया तू एकदम में कुछ कोर कार्ड अगर आपको वैल्यू बनाना है तो बड़ी गलती होगी उसको थैंक्यू की बोल कर उसको अप्रिशिएट कि झूठ थोड़ी टाइम के बाद उसको रिटर्न कीजिए डोंट राइट अवे उसे क्या होता है कि वैल्यू बिल्डर नहीं होता वैल्यू बिल्ड अप करना अपना और दूसरों का स्टेशन 8 और यह मैंने थोड़ा टाइम के बाद देखा तो आया अंडरस्टूड वॉल्यूम बिल्डिंग रिश्ते में फिर नौकरी में कहीं पर भी वह कैसे करते हैं दो समथिंग विच आई डोंट वेरी लेट एंड लाइफ जो मैं आजकल एयरटेल ऑल माय फ्रेंड एंड पेशेंट कंपनी व्हाट इज द वे टू विल बिल्ड वैल्यू इन लाइफ ओक आंसरिंग प्लीज कनेक्ट ऑन कविता प्रणब डॉट कॉम

aapka sawaal hai aisi kaun si saral baat hai jisse aapne apne jeevan mein bahut deti samjha lekin jisne aapka jeevan badal kar rakh diya sabse pehle baat yah hai ki insaan ko jo bhi karna hai vaah soch samajh kar karna hai chahen vaah love ho ya war ho prayer ho kuch kabhi bhi impulsive nahi rehna hai nahi toh kya hota hai ki everything belakams transaction par example agar koi alerts akbar Relationship aapka boyfriend hai usne aapko I love you kaha agar aapne image li phir se unko I love you wapas keh diya toh ek pal ke liye unko accha lagega lagega lekin wahan par kya hota hai ki vaah internet kam ho jaati aapko chahiye ki us waqt na kehkar group ke shaam ko ya agle din jaise 2 din baad aapke sakti hai yah jo intejar ka time hai waiting period isse kya hota hai thoda aur rishta jo develop hota hai dog and phone aapka rishta kis mode par hai ab connection kaisa action word in channel rishte jo tranjaikshanal hote hai jaha par ek se ek hum dekhte aapne kuch kiya maine kuch kiya aapne kuch kiya maine kuch kiya vaah images nahi hona chahiye ek thode se gyaat ke baad agar aap karenge toh uski value bhi rehti hai agar aap doosra kya hota hai ki agar maine aapko kuch diya hai aapne mujhe miltary wapas de diya toh na mera maine mera diya hua value rehta nahi hai aap kabhi mere ko devali rehne de kam sakor card phir aap sochte hai ki chalo theek hai maine diya usne bhi de diya tu ekdam mein kuch core card agar aapko value banana hai toh baadi galti hogi usko thainkyu ki bol kar usko aprishiet ki jhuth thodi time ke baad usko return kijiye dont right away use kya hota hai ki value builder nahi hota value build up karna apna aur dusro ka station 8 aur yah maine thoda time ke baad dekha toh aaya understood volume building rishte mein phir naukri mein kahin par bhi vaah kaise karte hai do something which I dont very late and life jo main aajkal airtel all my friend and patient company what is the ve to will build value in life oak ansaring please connect on kavita pranab dot com

आपका सवाल है ऐसी कौन सी सरल बात है जिससे आपने अपने जीवन में बहुत देती समझा लेकिन जिसने आपक

Romanized Version
Likes  995  Dislikes    views  24728
WhatsApp_icon
user

Vaibhav Sharma

Spiritual and Motivational Speaker

0:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सिर्फ एक छोटी सी बात की हम अपने जीवन में जो भी प्राप्त कर सकते हैं वह मात्र अपने प्रयत्नों से ही कर सकते हैं दूसरा व्यक्ति हमारा मार्गदर्शन कर सकता है दूसरा व्यक्ति हमें रास्ता दिखा सकता है लेकिन चलना हमें खुद ही पड़ता है एक छोटी सी बात शायद मुझे ही नहीं बहुत से लोगों को देर में समझ में आती है लेकिन जब समझ में आती है तो उसका पूरा जीवन ही परिवर्तित हो जाता है और यह सब यह सब से बड़ा सत्य भी है कि आदमी के खुद के प्रयास से ही उसे किसी भी उपलब्धि पहुंचाते हैं ना कि किसी दूसरे की बैसाखी किसी दूसरे का सहारा जब यह बात आदमी की समझ में आ जाती है तो वह अपने लक्ष्य को प्राप्त कर लेता है

sirf ek choti si baat ki hum apne jeevan mein jo bhi prapt kar sakte hain vaah matra apne prayatnon se hi kar sakte hain doosra vyakti hamara margdarshan kar sakta hai doosra vyakti hamein rasta dikha sakta hai lekin chalna hamein khud hi padta hai ek choti si baat shayad mujhe hi nahi bahut se logo ko der mein samajh mein aati hai lekin jab samajh mein aati hai toh uska pura jeevan hi parivartit ho jata hai aur yah sab yah sab se bada satya bhi hai ki aadmi ke khud ke prayas se hi use kisi bhi upalabdhi pahunchate hain na ki kisi dusre ki baisakhi kisi dusre ka sahara jab yah baat aadmi ki samajh mein aa jaati hai toh vaah apne lakshya ko prapt kar leta hai

सिर्फ एक छोटी सी बात की हम अपने जीवन में जो भी प्राप्त कर सकते हैं वह मात्र अपने प्रयत्नों

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  193
WhatsApp_icon
user

Dr. KRISHNA CHANDRA

Rehabilitation Psychologist

0:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीवन में जब हमारे अंदर कॉमन सेंस विकसित सुनना शुरू होता है जब हमें कॉमन सेंस अंधा होता है जब हमें बीजेपी व पौष्टिक दृष्टिकोण से चीजों को समझने की कोशिश ना कर के सम्यक रूप से अंतर्धान करने की क्षमता विकसित होती है तब हमारे जीवन में बदलाव आता है कॉमन सेंस इज द मोस्ट रीड थे मुस्लिम थे मोस्टली वेरी डिफिकल्ट थिंग टू डू यू हैव ए न्यू

jeevan mein jab hamare andar common sense viksit sunana shuru hota hai jab hamein common sense andha hota hai jab hamein bjp va paushtik drishtikon se chijon ko samjhne ki koshish na kar ke samyak roop se antardhan karne ki kshamta viksit hoti hai tab hamare jeevan mein badlav aata hai common sense is the most read the muslim the Mostly very difficult thing to do you have a new

जीवन में जब हमारे अंदर कॉमन सेंस विकसित सुनना शुरू होता है जब हमें कॉमन सेंस अंधा होता ह

Romanized Version
Likes  493  Dislikes    views  7596
WhatsApp_icon
user
3:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

समय की कीमत हम जितने कहेंगे समय हमें उसकी कीमत की आदर का बदला उससे ज्यादा प्रमाण में हमें हटेगा चली इसको हम एक खूबसूरत से और एक मजेदार से उदाहरण के साथ समझते हैं मान लीजिए कि आप एक कंपनी में जॉब करते हैं 8 घंटे की आपकी ड्यूटी है महीने में 30 दिन है और मान लीजिए कि आप की इसके 30 दिन काम करते हैं जिंदगी के 240 घंटे आप ने दिए और 1 महीने का एक तिहाई हिस्सा आपने अपनी कंपनी को दिया उसके बदले आपकी कंपनी आपको ₹30000 पगार चलिए 30000 को थोड़ा कम कर देते हैं 24000 करते हैं तो एवरेज जो है हमें 24000 डिवाइड बाय 240 ठीक है प्रति घंटे का ₹100 में मिल रहा है तो हमने प्रति घंटे का ₹100 कमाया यह हमारे 1 घंटे की कीमत हुए अब इसका यही मतलब होता है कि आप 1 घंटे में 300 से ₹400 का मुनाफा पैदा कर रहे हैं अपने कार्य से तब जाकर वह आपको एक ₹100 दे रहे हैं तो आपने जो कार्य किया उसके बदले में 300 से ₹400 का मुनाफा हासिल किया जा सकता है आप के समय की कीमत है जो आपको मिल रही है तो अब हमको यह समझना है कि हम जो कार्य करते हैं उसकी कीमत हम कैसे बढ़ाएं जिससे हम समय की कीमत बढ़ाएंगे समय की कीमत बढ़ेगी तो हमारी कीमत बढ़ेगी हमारी कीमत असल में जो हमें उसके बदले मिलता है कार्य करके इसका यह मतलब नहीं है कि इंसान की कोई कीमत नहीं है इंसान अमूल्य है ऐसा नहीं है कि 10000 कमाने वाली की कीमत कम है और 1000000 रुपए कमाने वाली कीमत ज्यादा है फर्क सिर्फ इतना है कि वह जो 1 घंटे में करके दिखाता है वह बंदा 10000 में करने वाला बंदा उस चीज को नहीं कर पाता जबकि वह चीजें मेरे ख्याल से काफी ज्यादा सरल है मैं जब भी स्तर पर पहुंचा हूं तो मैं आज यह बता पा रहा हूं अपने पूरे के पूरे एक्सपीरियंस के साथ k10000 कमाने के लिए जितनी मेहनत हम करते हैं ₹1000000 कमाने के लिए इतनी मेहनत की जरूरत ही नहीं है जरूरत है हमें समय की कीमत को समझने की तो जिंदगी में जिस इंसान ने समय की कीमत को समझा उसने अपनी जिंदगी में वह हर चीज पाई है जिसका सिर्फ उसने अपने बंद आंखों से सपना देखा है आशा करता हूं उम्मीद करता हूं कि आपके सवाल का जवाब मैंने संतुष्ट पूर्वक आपको दिया है खुश रहे आबाद रहे मेरी तरफ से आपको प्रेम पूर्वक धन्यवाद

samay ki kimat hum jitne kahenge samay hamein uski kimat ki aadar ka badla usse zyada pramaan mein hamein hatega chali isko hum ek khoobsurat se aur ek majedar se udaharan ke saath samajhte hain maan lijiye ki aap ek company mein job karte hain 8 ghante ki aapki duty hai mahine mein 30 din hai aur maan lijiye ki aap ki iske 30 din kaam karte hain zindagi ke 240 ghante aap ne diye aur 1 mahine ka ek tihai hissa aapne apni company ko diya uske badle aapki company aapko Rs pagar chaliye 30000 ko thoda kam kar dete hain 24000 karte hain toh average jo hai hamein 24000 divide bye 240 theek hai prati ghante ka Rs mein mil raha hai toh humne prati ghante ka Rs kamaya yah hamare 1 ghante ki kimat hue ab iska yahi matlab hota hai ki aap 1 ghante mein 300 se Rs ka munafa paida kar rahe hain apne karya se tab jaakar vaah aapko ek Rs de rahe hain toh aapne jo karya kiya uske badle mein 300 se Rs ka munafa hasil kiya ja sakta hai aap ke samay ki kimat hai jo aapko mil rahi hai toh ab hamko yah samajhna hai ki hum jo karya karte hain uski kimat hum kaise badhaye jisse hum samay ki kimat badhaenge samay ki kimat badhegi toh hamari kimat badhegi hamari kimat asal mein jo hamein uske badle milta hai karya karke iska yah matlab nahi hai ki insaan ki koi kimat nahi hai insaan amuly hai aisa nahi hai ki 10000 kamane wali ki kimat kam hai aur 1000000 rupaye kamane wali kimat zyada hai fark sirf itna hai ki vaah jo 1 ghante mein karke dikhaata hai vaah banda 10000 mein karne vala banda us cheez ko nahi kar pata jabki vaah cheezen mere khayal se kaafi zyada saral hai jab bhi sthar par pohcha hoon toh main aaj yah bata paa raha hoon apne poore ke poore experience ke saath k10000 kamane ke liye jitni mehnat hum karte hain Rs kamane ke liye itni mehnat ki zarurat hi nahi hai zarurat hai hamein samay ki kimat ko samjhne ki toh zindagi mein jis insaan ne samay ki kimat ko samjha usne apni zindagi mein vaah har cheez payi hai jiska sirf usne apne band aankho se sapna dekha hai asha karta hoon ummid karta hoon ki aapke sawaal ka jawab maine santusht purvak aapko diya hai khush rahe aabaad rahe meri taraf se aapko prem purvak dhanyavad

समय की कीमत हम जितने कहेंगे समय हमें उसकी कीमत की आदर का बदला उससे ज्यादा प्रमाण में हमें

Romanized Version
Likes  56  Dislikes    views  629
WhatsApp_icon
user

Yog Guru Gyan Ranjan Maharaj

Founder & Director - Kashyap Yogpith

1:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका क्वेश्चन है ऐसी कौन सी सरल बात है जिससे आपने अपने जीवन में बहुत देर से समझा लेकिन जिसने आपका जीवन बदल कर रख दिया हो देखिए देर से तो मैं नहीं समझा मेरे जीवन को बदलने वाला योग ही है मैं 12 साल से या उससे प्राप्त पहले से ही प्रयोग करना आरंभ कर दिया था मेरे दादाजी भी मालिनी तो एक संत की जिंदगी यापन करते थे परिवारिक जीवन में रहते हुए भी उनके अलमीरा से मैं एक किताब को निकाला के उपयोग से बिल्कुल नया उपरोक्त पुस्तक की योग के बारे में सम बताया गया था उस समय काफी लाभान्वित हुआ और उसी समय समय योग करना आरंभ कर दिया मेरे शरीर मन और मस्तिष्क में काफी परिवर्तन का अनुभव जमा होने लगा तो मैं सोचा कि इसे अपने जीवन का अंग बना ही लेना चाहिए सिर में योग का कोर्स किया ग्रेजुएशन करने के बाद तो वो भी है जिसका महत्त्व में करने के बाद भी मैं बहुत आदमी समझा धन्यवाद

aapka question hai aisi kaun si saral baat hai jisse aapne apne jeevan mein bahut der se samjha lekin jisne aapka jeevan badal kar rakh diya ho dekhiye der se toh main nahi samjha mere jeevan ko badalne vala yog hi hai 12 saal se ya usse prapt pehle se hi prayog karna aarambh kar diya tha mere dadaji bhi malini toh ek sant ki zindagi yaapan karte the pariwarik jeevan mein rehte hue bhi unke alamira se main ek kitab ko nikaala ke upyog se bilkul naya uparokt pustak ki yog ke bare mein some bataya gaya tha us samay kaafi labhanvit hua aur usi samay samay yog karna aarambh kar diya mere sharir man aur mastishk mein kaafi parivartan ka anubhav jama hone laga toh main socha ki ise apne jeevan ka ang bana hi lena chahiye sir mein yog ka course kiya graduation karne ke baad toh vo bhi hai jiska mahatva mein karne ke baad bhi main bahut aadmi samjha dhanyavad

आपका क्वेश्चन है ऐसी कौन सी सरल बात है जिससे आपने अपने जीवन में बहुत देर से समझा लेकिन जिस

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  1074
WhatsApp_icon
user

Pankaj Kr(youtube -AJ PANKAJ MATHS GURU)

Motivational Speaker/YouTube-AJ PANKAJ MATHS GURU

0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दिनेश की सफलता का आधार उसका परिश्रम उसका मेहनत उसका लगाना है जिस व्यक्ति ने इस मेहनत परिश्रम को समझ लिया और जीवन में दर्ज होगी वह अपने जीवन के हर कार्य को कर सकता है सही दिशा में आगे बढ़ सकता है और जीवन में सफलता ला सकता है भगवा हमारा मेहनत हमारा धारी वह हमारा परिश्रम नहीं जिसके आधार पर हम अपने जीवन को बदल सकते हैं सार्थक जीवन कर सकते हैं

dinesh ki safalta ka aadhar uska parishram uska mehnat uska lagana hai jis vyakti ne is mehnat parishram ko samajh liya aur jeevan mein darj hogi vaah apne jeevan ke har karya ko kar sakta hai sahi disha mein aage badh sakta hai aur jeevan mein safalta la sakta hai bhagva hamara mehnat hamara dhari vaah hamara parishram nahi jiske aadhar par hum apne jeevan ko badal sakte hain sarthak jeevan kar sakte hain

दिनेश की सफलता का आधार उसका परिश्रम उसका मेहनत उसका लगाना है जिस व्यक्ति ने इस मेहनत परिश्

Romanized Version
Likes  168  Dislikes    views  1179
WhatsApp_icon
user

Harender Kumar Yadav

Career Counsellor.

1:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसी कौन सी सरल बात है जिससे आपने अपने जीवन में बहुत देर से समझा लेकिन जिसने आपका जीवन बदल कर रख दिया देखिए पहले मैंने तो अपने जीवन के हर सरल से सरल 1 को समझा और इस मुकाम तक पहुंच गया और मेरी मंजिल अब हमने बताया कि अगले 10 साल में 2028 में हमारे स्टेटमेंट है तो कुल मिलाकर हम अपनी मंजिल को प्राप्त कर सके मुझे इसमें कोई नजर नहीं आया अब आप अपने ऊपर देखिए और उसका एक्सपेरिमेंट खुद करो तो ज्यादा बेहतर होगा और सबसे बेहतर होगा

aisi kaun si saral baat hai jisse aapne apne jeevan mein bahut der se samjha lekin jisne aapka jeevan badal kar rakh diya dekhiye pehle maine toh apne jeevan ke har saral se saral 1 ko samjha aur is mukam tak pohch gaya aur meri manjil ab humne bataya ki agle 10 saal mein 2028 mein hamare statement hai toh kul milakar hum apni manjil ko prapt kar sake mujhe isme koi nazar nahi aaya ab aap apne upar dekhiye aur uska experiment khud karo toh zyada behtar hoga aur sabse behtar hoga

ऐसी कौन सी सरल बात है जिससे आपने अपने जीवन में बहुत देर से समझा लेकिन जिसने आपका जीवन बदल

Romanized Version
Likes  214  Dislikes    views  1497
WhatsApp_icon
user

Rahul Jangra

Health and Fitness Expert, Yoga Teacher

1:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

फर्स्ट ईयर की जो मजे की चीजें हैं हम देखते हैं फनी वीडियोस सोच और पता नहीं कितना कुछ करते हैं हम बहुत बड़ी टाइम की बर्बादी करते हैं इसकी वजह हम वह सब भी कर सकते हैं जो हमारा गोल है टारगेट है जो हमें खुशियां देते हैं जो अपने बचपन में सोचा जो अभी आप सोचते हैं कि आपको आगे जाके ऐसा करना है तो उसकी तरफ एक कदम बढ़ाए आगे उसके लिए आपको क्या सीखना है क्या करना है क्या करना पड़ेगा कितना टाइम पढ़ना है या कितने टाइम काम करना है किस फील्ड में जाना है तो उस पर काम किया जाए खुशी से तो मेरे ख्याल से आपका जीवन बदल देगा यह चीज और सबसे बड़ी गलती हम अभी हम यही करते हैं कि हम लक्ष्य टारगेट को तो बनाते हैं पर उसके लिए कदम आगे की तरफ कभी नहीं लिखे जाते हम उस टाइम को खराब कर देते हैं जो हम आप दे सकते थे तो प्लीज अपना टाइम खराब करें टाइम भाग रहा है तो उसको यूज करें धन्यवाद

first year ki jo maje ki cheezen hain hum dekhte hain Funny videos soch aur pata nahi kitna kuch karte hain hum bahut badi time ki barbadi karte hain iski wajah hum vaah sab bhi kar sakte hain jo hamara gol hai target hai jo hamein khushiya dete hain jo apne bachpan mein socha jo abhi aap sochte hain ki aapko aage jake aisa karna hai toh uski taraf ek kadam badhae aage uske liye aapko kya sikhna hai kya karna hai kya karna padega kitna time padhna hai ya kitne time kaam karna hai kis field mein jana hai toh us par kaam kiya jaaye khushi se toh mere khayal se aapka jeevan badal dega yah cheez aur sabse badi galti hum abhi hum yahi karte hain ki hum lakshya target ko toh banate hain par uske liye kadam aage ki taraf kabhi nahi likhe jaate hum us time ko kharab kar dete hain jo hum aap de sakte the toh please apna time kharab kare time bhag raha hai toh usko use kare dhanyavad

फर्स्ट ईयर की जो मजे की चीजें हैं हम देखते हैं फनी वीडियोस सोच और पता नहीं कितना कुछ करते

Romanized Version
Likes  160  Dislikes    views  2856
WhatsApp_icon
user

PANKAJ SHARMA

Yoga Instructor

0:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

खुद के बारे में जानना मैंने अपने जीवन में हमेशा यही गलती कि बाहर से चीजों को समझने की कोशिश की बाहर की ओर भटकते रहे और बाहर ही सब कुछ समझा लेकिन वास्तव में सच हमारे भीतर ही है जिस दिन हम खुद को जान जाते हैं उस दिन हम सब कुछ जान जाते हैं अपने भीतरी सिस्टम को समझे इंजीनियरिंग को समझें उसके बाद अपने आप ही पूरा जीवन भर जाएगा

khud ke bare mein janana maine apne jeevan mein hamesha yahi galti ki bahar se chijon ko samjhne ki koshish ki bahar ki aur bhatakte rahe aur bahar hi sab kuch samjha lekin vaastav mein sach hamare bheetar hi hai jis din hum khud ko jaan jaate hain us din hum sab kuch jaan jaate hain apne bheetari system ko samjhe Engineering ko samajhe uske baad apne aap hi pura jeevan bhar jaega

खुद के बारे में जानना मैंने अपने जीवन में हमेशा यही गलती कि बाहर से चीजों को समझने की कोशि

Romanized Version
Likes  71  Dislikes    views  1622
WhatsApp_icon
user

Bk Ashok Pandit

आध्यात्मिक गुरु

0:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दिव्य ज्ञान सत्य ज्ञान यह ज्ञान जब प्राप्त होता है तब अनुभव होता है कि और पहले से हमको मिलना चाहिए क्योंकि ज्ञान से जीवन में परिवर्तन आता है सब विवेक जागृत होता है दीप बुद्धि के साथ-साथ देवी शक्तियां भी ईश्वरी शक्ति प्राप्त हुए हो जाती है जिससे जीवन में हर मार्शल हो जाता है शुभम हो जाता है और श्रेष्ठता की तरफ अग्रसर हो जाते हैं

divya gyaan satya gyaan yah gyaan jab prapt hota hai tab anubhav hota hai ki aur pehle se hamko milna chahiye kyonki gyaan se jeevan mein parivartan aata hai sab vivek jagrit hota hai deep buddhi ke saath saath devi shaktiyan bhi ISHWARI shakti prapt hue ho jaati hai jisse jeevan mein har marshall ho jata hai subham ho jata hai aur shreshthata ki taraf agrasar ho jaate hain

दिव्य ज्ञान सत्य ज्ञान यह ज्ञान जब प्राप्त होता है तब अनुभव होता है कि और पहले से हमको मिल

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  142
WhatsApp_icon
user

Vinod Kumar Pandey

Life Coach | Career Counsellor ::Relationship Counsellor :: Parenting Counsellor

3:01
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने जो प्रश्न किया है उसके उत्तर में मैं यही कहना चाहता हूं कि हर एक व्यक्ति को अपने जीवन में अपना प्रोफेशन अपना कैरियर केवल और केवल उसी फिल्में बनाना चाहिए उसी क्षेत्र में बनाना चाहिए जिसमें आपका इंटरेस्ट हो जिसमें आपकी प्रतिभा हो जिस कार्यों को आप बहुत अच्छा मानते हैं ध्यान रहे ज्यादातर हम अपने जीवन में जो कैरियर का चुनाव करते हैं वह कहीं ना कहीं दूसरों की सलाह पर करते हैं पारिवारिक दबाव में करते हैं या कहीं ना कहीं बाहरी आकर्षण को देखकर के सुनते हैं जो कि कहीं ना कहीं हमारे लिए बहुत बाद में खतरनाक साबित होता है क्योंकि ध्यान रहे हमें अपने जीवन में उन चीजों से कभी संतुष्टि नहीं मिल पाती है उनसे हमारी जरूरतें जरूर पूरी हो जाती है खड़ी खुशी जरूर मिलती है लेकिन अस्थाई संतुष्टि कभी नहीं मिल पाती है इसलिए जीवन में सेटिस्फेक्शन के लिए बहुत अधिक कामयाबी के लिए बहुत जरूरी है कि अपने कैरियर का इलेक्शन चुनाव अपने प्रतिभा अपने पसंद अपने इंटरेस्ट के आधार पर करें क्योंकि हर एक व्यक्ति के अंदर एक अलग प्रतिभा होती है निकाला क्वालिटी होती है उसको पहचानना बेटी का काम होता है और जब आपको अपनी प्रतिभा का ज्ञान हो जाए तो वह चाहे जिस प्रकार की प्रतिभा हो सिर्फ उसको आप निखारने की कोशिश करें और अपना कैरियर अपना प्रोफेशन उसी दिशा में ले जाने की कोशिश करें कि ध्यान रखें अगर आपको सहयोग मिलना है तो भी और नहीं मिल रहा है तो भी आप जब अपने कैरियर को अपनी प्रतिभा के आधार पर कर ले जाने की कोशिश करते हैं चुनाव की कोशिश करते हैं तब आपको अपने जीवन में बहुत अधिक सफलता मिलती है जिससे आप अपने जीवन में बहुत ऊंचाई तक जाते हैं और उससे कहीं ना कहीं आपको सेटिस्फेक्शन भी अपने जीवन से बहुत रहता है लेकिन जो व्यक्ति अपने जीवन में अपने कैरियर का चुनाव केवल परिस्थिति के आधार पर करते हैं या बाहरी आकर्षण के आधार पर करते हैं या कहीं ना कहीं दूसरों की सलाह या पारिवारिक दबाव के आधार पर करते हैं उनको जीवन में एक रोजी-रोटी तो मिल जाती है लेकिन कहीं ना कहीं उनके अंदर एक खालीपन होता है एक संतुष्टि का भाव होता है इसलिए वह अपने जीवन में कभी भी संतुष्ट नहीं हो पाते और ना ही अपने जीवन में बहुत अधिक सफलता या कामयाबी देख पाते हैं इसलिए मेरी यही सलाह है कि जीवन में कभी भी इतना लेट नहीं होता है कि आप जीवन को अपने तरीके से ना जी सके अपने आधार पर अपनी ट्रांस कंडीशन पर जीवन को आगे बढ़ा सकते मेरा यही कहना है कि आप हमेशा अपने किसी और कैरियर का निर्धारण अपने प्रतिभाओं के आधार पर करिए अपने पसंद के आधार पर करिए और आपका जिस भी क्षेत्र में जाने की इच्छा है उसी क्षेत्र में जाएं कभी भी दूसरों की सलाह दूसरे के अनुभव दूसरे का दबाव या बाहरी आकर्षण को देख करके इसका चुनाव बिल्कुल ना करें मेरी यही सलाह है आशा करता हूं कि आपको जरूर लाभ देगा मेरे बहुत सारी शुभकामनाएं धन्यवाद

aapne jo prashna kiya hai uske uttar mein main yahi kehna chahta hoon ki har ek vyakti ko apne jeevan mein apna profession apna carrier keval aur keval usi filme banana chahiye usi kshetra mein banana chahiye jisme aapka interest ho jisme aapki pratibha ho jis karyo ko aap bahut accha maante hain dhyan rahe jyadatar hum apne jeevan mein jo carrier ka chunav karte hain vaah kahin na kahin dusro ki salah par karte hain parivarik dabaav mein karte hain ya kahin na kahin bahri aakarshan ko dekhkar ke sunte hain jo ki kahin na kahin hamare liye bahut baad mein khataranaak saabit hota hai kyonki dhyan rahe hamein apne jeevan mein un chijon se kabhi santushti nahi mil pati hai unse hamari jaruratein zaroor puri ho jaati hai khadi khushi zaroor milti hai lekin asthai santushti kabhi nahi mil pati hai isliye jeevan mein setisfekshan ke liye bahut adhik kamyabi ke liye bahut zaroori hai ki apne carrier ka election chunav apne pratibha apne pasand apne interest ke aadhar par kare kyonki har ek vyakti ke andar ek alag pratibha hoti hai nikaala quality hoti hai usko pahachanana beti ka kaam hota hai aur jab aapko apni pratibha ka gyaan ho jaaye toh vaah chahen jis prakar ki pratibha ho sirf usko aap nikharne ki koshish kare aur apna carrier apna profession usi disha mein le jaane ki koshish kare ki dhyan rakhen agar aapko sahyog milna hai toh bhi aur nahi mil raha hai toh bhi aap jab apne carrier ko apni pratibha ke aadhar par kar le jaane ki koshish karte hain chunav ki koshish karte hain tab aapko apne jeevan mein bahut adhik safalta milti hai jisse aap apne jeevan mein bahut uchai tak jaate hain aur usse kahin na kahin aapko setisfekshan bhi apne jeevan se bahut rehta hai lekin jo vyakti apne jeevan mein apne carrier ka chunav keval paristithi ke aadhar par karte hain ya bahri aakarshan ke aadhar par karte hain ya kahin na kahin dusro ki salah ya parivarik dabaav ke aadhar par karte hain unko jeevan mein ek rozi roti toh mil jaati hai lekin kahin na kahin unke andar ek khalipan hota hai ek santushti ka bhav hota hai isliye vaah apne jeevan mein kabhi bhi santusht nahi ho paate aur na hi apne jeevan mein bahut adhik safalta ya kamyabi dekh paate hain isliye meri yahi salah hai ki jeevan mein kabhi bhi itna late nahi hota hai ki aap jeevan ko apne tarike se na ji sake apne aadhar par apni trans condition par jeevan ko aage badha sakte mera yahi kehna hai ki aap hamesha apne kisi aur carrier ka nirdharan apne pratibhaon ke aadhar par kariye apne pasand ke aadhar par kariye aur aapka jis bhi kshetra mein jaane ki iccha hai usi kshetra mein jayen kabhi bhi dusro ki salah dusre ke anubhav dusre ka dabaav ya bahri aakarshan ko dekh karke iska chunav bilkul na kare meri yahi salah hai asha karta hoon ki aapko zaroor labh dega mere bahut saree subhkamnaayain dhanyavad

आपने जो प्रश्न किया है उसके उत्तर में मैं यही कहना चाहता हूं कि हर एक व्यक्ति को अपने जीवन

Romanized Version
Likes  167  Dislikes    views  844
WhatsApp_icon
user

Dr Chandra Shekhar Jain

MBBS, Yoga Therapist Yoga Psychotherapist

2:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दो बातें जिसने ना केवल मेरी जीवन को बदल दिया बल्कि मुझे संसार की हर समस्या का समाधान पाने का रास्ता दिखाया वह दो बातें थी पहली थी कि मैं अपने जीवन में जो कुछ भी करता हूं सिर्फ और सिर्फ आनंद की प्राप्ति के लिए करता हूं और दूसरी बात थी कि इस आनंद की प्राप्ति में मेरी अतिरिक्त किसी और व्यक्ति का उतना रोल नहीं है जितना कि मुझे बताया गया था अर्थात उस आनंद की प्राप्ति में सबसे बड़ा निर्णय करने वाला मैं हूं ना कि भगवान जिस दिन से मैंने भगवान को अपने जीवन से निर्णय निर्णायक रूप में निकाल दिया है अर्थात निर्णय लेता हूं और भगवान मुझे उस में सहयोग कर सकता है वह भी सिर्फ ज्ञान के द्वारा भगवान ज्ञान के अतिरिक्त मेरे जीवन में किसी रूप में इंटरफेयर करने की कोई शक्ति नहीं रखता और यदि भगवान मेरी जीवन में लिए जाने वाले निर्णयों में इंटरफेयर करने में सक्षम है तो वह भगवान नहीं है शैतान है क्योंकि अगर भगवान मेरी जीवन के निर्णय को लेने में सक्षम है तो फिर इस संसार में होने वाली हर परेशानी के लिए भगवान जिम्मेदार है और विशेष तौर पर भगवान बच्चों के साथ होने वाले बलात्कार जबकि 6 महीने की बच्ची से लेकर 60 साल की महिला तक के साथ जो बलात्कार होते हैं उसके लिए भगवान जिम्मेदार होगा इन शब्दों का इस्तेमाल करना मूर्खों के लिए बहुत जरूरी है क्योंकि अगर भगवान इस संसार में होने वाली हर क्रियाकलाप के लिए जिम्मेदार है अर्थात जो कुछ भी होता है इस ब्रह्मांड में भगवान की मर्जी से होता है तो बच्चियों और महिलाओं के साथ होने वाले बलात्कार के लिए क्या मनुष्य जिम्मेदार है तो इस तरह से जब से मैंने अपने जीवन की पूर्ण जिम्मेदारी अपने ऊपर ली और जीवन में अपने लक्ष्य अर्थात आनंद की प्राप्ति के महत्त्व को समझा इसलिए मेरे पूरे जीवन को पलट कर रख दिया और आज मेरे पास संसार की अपनी ही नहीं बल्कि संस्कार संसार की अधिकांश समस्याओं का सैद्धांतिक समाधान मौजूद

do batein jisne na keval meri jeevan ko badal diya balki mujhe sansar ki har samasya ka samadhan paane ka rasta dikhaya vaah do batein thi pehli thi ki main apne jeevan mein jo kuch bhi karta hoon sirf aur sirf anand ki prapti ke liye karta hoon aur dusri baat thi ki is anand ki prapti mein meri atirikt kisi aur vyakti ka utana roll nahi hai jitna ki mujhe bataya gaya tha arthat us anand ki prapti mein sabse bada nirnay karne vala main hoon na ki bhagwan jis din se maine bhagwan ko apne jeevan se nirnay niranayak roop mein nikaal diya hai arthat nirnay leta hoon aur bhagwan mujhe us mein sahyog kar sakta hai vaah bhi sirf gyaan ke dwara bhagwan gyaan ke atirikt mere jeevan mein kisi roop mein intarafeyar karne ki koi shakti nahi rakhta aur yadi bhagwan meri jeevan mein liye jaane waale nirnayon mein intarafeyar karne mein saksham hai toh vaah bhagwan nahi hai shaitaan hai kyonki agar bhagwan meri jeevan ke nirnay ko lene mein saksham hai toh phir is sansar mein hone wali har pareshani ke liye bhagwan zimmedar hai aur vishesh taur par bhagwan baccho ke saath hone waale balatkar jabki 6 mahine ki bachi se lekar 60 saal ki mahila tak ke saath jo balatkar hote hain uske liye bhagwan zimmedar hoga in shabdon ka istemal karna murkhon ke liye bahut zaroori hai kyonki agar bhagwan is sansar mein hone wali har kriyakalap ke liye zimmedar hai arthat jo kuch bhi hota hai is brahmaand mein bhagwan ki marji se hota hai toh bachiyo aur mahilaon ke saath hone waale balatkar ke liye kya manushya zimmedar hai toh is tarah se jab se maine apne jeevan ki purn jimmedari apne upar li aur jeevan mein apne lakshya arthat anand ki prapti ke mahatva ko samjha isliye mere poore jeevan ko palat kar rakh diya aur aaj mere paas sansar ki apni hi nahi balki sanskar sansar ki adhikaansh samasyaon ka saiddhaantik samadhan maujud

दो बातें जिसने ना केवल मेरी जीवन को बदल दिया बल्कि मुझे संसार की हर समस्या का समाधान पाने

Romanized Version
Likes  56  Dislikes    views  1855
WhatsApp_icon
user

Kishan Kumar

Motivational speaker

1:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो फ्रेंड आप का क्वेश्चन है ऐसी कौन सी सरल बात है इससे आपने अपने जीवन में बहुत देर से समझा लेकिन जिसने आपका जीवन बदल कर रख दिया दोस्तों मैंने इस बात को समझा कि गरीब होना कोई बुरी बात नहीं है लेकिन हां गरीब होकर मर जाना सबसे बड़ी बात है क्योंकि तभी मेरे को सोचना आया कि इंसान आर्थिक से गरीब हो सकता लेकिन अपनी मानसिकता से गरीब नहीं होता अपने दिल से गरीब नहीं हो सकता उसी दिन से मैं प्रयास करना शुरू किया आज मैं आज कई सारे मुकाम हासिल कर लिए और जो भी कर रहा हूं अपनी फैमिली को भी खुश रखा हूं तो मैं अपने आप को बहुत अच्छा महसूस कर रहा हूं कि गरीबी से हमें एक और बनना शुरू कर दिया हूं थैंक यू

hello friend aap ka question hai aisi kaun si saral baat hai isse aapne apne jeevan mein bahut der se samjha lekin jisne aapka jeevan badal kar rakh diya doston maine is baat ko samjha ki garib hona koi buri baat nahi hai lekin haan garib hokar mar jana sabse badi baat hai kyonki tabhi mere ko sochna aaya ki insaan aarthik se garib ho sakta lekin apni mansikta se garib nahi hota apne dil se garib nahi ho sakta usi din se main prayas karna shuru kiya aaj main aaj kai saare mukam hasil kar liye aur jo bhi kar raha hoon apni family ko bhi khush rakha hoon toh main apne aap ko bahut accha mehsus kar raha hoon ki garibi se hamein ek aur banna shuru kar diya hoon thank you

हेलो फ्रेंड आप का क्वेश्चन है ऐसी कौन सी सरल बात है इससे आपने अपने जीवन में बहुत देर से सम

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  216
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!