जोखिम भरे हस्तमैथुन तरीक़ों के कारण हर साल 100 जर्मन मर जाते हैं। सही एहतियात क्या हैं?...


user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

1:04
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी मुझे लगता है कि हमारे समाज में मास्टरबेशन को एक नेगेटिव में में देखा गया आपको गलत माना गया है लेकिन पॉलिटिकल अली मैं अगर आपको बताऊं तो अगर आपने संदीप माहेश्वरी की वीडियो देखा होगा तो उन्होंने एक बहुत बड़ा लेक्चर मास्टरबेशन के ऊपर दिया हुआ है अगर आप उस को सुनेंगे तो आपको पता चलेगा कि बहुत ज्यादा फायदे भी हैं यह कोई गलत काम नहीं होता लाइफ में कुछ भी गलत और कुछ भी सही नहीं होता जो आपको सेटिस्फेक्शन थे वह सही होता है ठीक है लेकिन मैं जरूर यह बात कहूंगा एक्सेसिबिलिटी में हम फुल ठीक है हां एक लिमिट से ज्यादा नहीं होना चाहिए बहुत ज्यादा एक्साइटेड भी नहीं होना चाहिए और जो एक होती है 15 प्लस वह इस तरह की फीलिंग्स बॉडी के अंदर तरह के हार्मोन क्रिएट होने लगते हैं तो उनका एजैक्युलेशन होना भी जरूरी है अगर आप चॉकलेट नहीं करेंगे तो फिर आप बॉडी में कुछ ना कुछ जरूर प्रॉब्लम आएगी तो मुझे लगता है कि मास्टरबेशन एकदम पॉजिटिव चीज है लेकिन एडिक्शन नहीं होना चाहिए रेगुलर राजा वन वीक में अगर दो या तीन बार हो जाता है कॉमन है किसी भी सुन लो जिससे आप डिस्कस करोगे तो वही बताएंगे कि नॉर्मल होती है इसमें बहुत ज्यादा इसके बारे में बहुत ज्यादा नहीं सोचना होता है

vicky mujhe lagta hai ki hamare samaj mein masturbation ko ek Negative mein mein dekha gaya aapko galat mana gaya hai lekin political ali main agar aapko bataun toh agar aapne sandeep maheswari ki video dekha hoga toh unhone ek bahut bada lecture masturbation ke upar diya hua hai agar aap us ko sunenge toh aapko pata chalega ki bahut zyada fayde bhi hain yah koi galat kaam nahi hota life mein kuch bhi galat aur kuch bhi sahi nahi hota jo aapko setisfekshan the vaah sahi hota hai theek hai lekin main zaroor yah baat kahunga eksesibiliti mein hum full theek hai haan ek limit se zyada nahi hona chahiye bahut zyada excited bhi nahi hona chahiye aur jo ek hoti hai 15 plus vaah is tarah ki feelings body ke andar tarah ke hormone create hone lagte hain toh unka ejaikyuleshan hona bhi zaroori hai agar aap chocolate nahi karenge toh phir aap body mein kuch na kuch zaroor problem aayegi toh mujhe lagta hai ki masturbation ekdam positive cheez hai lekin addiction nahi hona chahiye regular raja van weak mein agar do ya teen baar ho jata hai common hai kisi bhi sun lo jisse aap discs karoge toh wahi batayenge ki normal hoti hai isme bahut zyada iske bare mein bahut zyada nahi sochna hota hai

विकी मुझे लगता है कि हमारे समाज में मास्टरबेशन को एक नेगेटिव में में देखा गया आपको गलत मान

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  300
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Vatsal

Engineering Student

1:53

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लिखे जो हस्तमैथुन है हम इसे आमतौर पर एक नेगेटिव दृष्टि से या गलत धारणा से किस चीज को देखते हैं लेकिन अगर हम एक पॉजिटिव बे में देखे जाए यह हमारे शरीर के लिए जो है यह एक जरूरत है बजाएं की आदत की आदत तो होती है लेकिन उसके अलावा यह मुख्य तौर पर हमारे शरीर के लिए देखा जाए तो जरूरत है यदि आप इसके फायदे देखेंगे फायदे रात भर तेरे इश्क जोखिम भरे तरीके किस के सही तरीके की कोई भी चीज जो चाहे वही पर हो या कोई भी चीज ज्यादा होती है तो वह बुरी होती है किसी भी चीज की अति बुरी होती है जो कि आमतौर पर लोग करते हैं वह इतना सा देश के एडिक्टेड हो जाते हैं आदत हो जाते हैं कि वह उनके कंट्रोल में नहीं रहता है और वह लगातार यह चीज करते रहते हैं वह उनकी जो ड्यूरेशन जो फ्रीक्वेंसी है वह बहुत ज्यादा बढ़ती जाती है जो काफी हमारे नुकसानदायक इसके अलावा यह एक चर्चा में प्रचलित है एक मैथ है कि इससे शरीर में नुकसान पहुंचता है हमारी आंखों की रोशनी में नुकसान है शरीर की कमजोरी यह सब केवल एक में थे साइंटिफिक लिए ऐसा कुछ प्रूफ नहीं हुआ है बायोलॉजी के लिए लेकिन यदि आप का जोखिम भरा तरीका तो यही है कि आप इस की फ्रीक्वेंसी काफी मात्रा में कर रहे हैं आप स्कोर पर डे के हिसाब से काफी मात्रा में कर रहा है तो वह चीज गलत है वह ही तरीका है इसके अलावा कोई सोचो खबर तरीका नहीं है आप एक प्रॉपर ली क्योंकि होता क्या है जब हम पार्टी के लिए फीलिंग में होते हैं तो हम सब चीजों को भूल जाते हैं और हमारे शरीर आउट ऑफ कंट्रोल हो जाता है हमें नहीं समझ में आता क्या कर रहे तो उसी पार्टी के टाइम पर हमें अपना कंट्रोल नहीं होना क्योंकि ऐसे टाइम पर हमें इतिहास बनाती है जो भी चीज कर रहे हैं वह प्रॉपर तरीके से करें और जितना हमारे शरीर को स्वस्थ रख सकता है उतना ही करें

likhe jo hastamaithun hai hum ise aamtaur par ek Negative drishti se ya galat dharana se kis cheez ko dekhte hai lekin agar hum ek positive be mein dekhe jaaye yah hamare sharir ke liye jo hai yah ek zarurat hai bajaye ki aadat ki aadat toh hoti hai lekin uske alava yah mukhya taur par hamare sharir ke liye dekha jaaye toh zarurat hai yadi aap iske fayde dekhenge fayde raat bhar tere ishq jokhim bhare tarike kis ke sahi tarike ki koi bhi cheez jo chahen wahi par ho ya koi bhi cheez zyada hoti hai toh vaah buri hoti hai kisi bhi cheez ki ati buri hoti hai jo ki aamtaur par log karte hai vaah itna sa desh ke edikted ho jaate hai aadat ho jaate hai ki vaah unke control mein nahi rehta hai aur vaah lagatar yah cheez karte rehte hai vaah unki jo duration jo frequency hai vaah bahut zyada badhti jaati hai jo kaafi hamare nukasanadayak iske alava yah ek charcha mein prachalit hai ek math hai ki isse sharir mein nuksan pahuchta hai hamari aankho ki roshni mein nuksan hai sharir ki kamzori yah sab keval ek mein the scientific liye aisa kuch proof nahi hua hai biology ke liye lekin yadi aap ka jokhim bhara tarika toh yahi hai ki aap is ki frequency kaafi matra mein kar rahe hai aap score par day ke hisab se kaafi matra mein kar raha hai toh vaah cheez galat hai vaah hi tarika hai iske alava koi socho khabar tarika nahi hai aap ek proper li kyonki hota kya hai jab hum party ke liye feeling mein hote hai toh hum sab chijon ko bhool jaate hai aur hamare sharir out of control ho jata hai hamein nahi samajh mein aata kya kar rahe toh usi party ke time par hamein apna control nahi hona kyonki aise time par hamein itihas banati hai jo bhi cheez kar rahe hai vaah proper tarike se kare aur jitna hamare sharir ko swasthya rakh sakta hai utana hi karen

लिखे जो हस्तमैथुन है हम इसे आमतौर पर एक नेगेटिव दृष्टि से या गलत धारणा से किस चीज को देखते

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  164
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!