35% मुख्यमंत्री भारत में आपराधिक मामलों का सामना करते हैं।इसको कैसे कम करें?...


play
user

Shubham

Software Engineer in IBM

1:41

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जिंदगी दोस्त इसमें कोई दो राय नहीं है कि आज हमारे देश में जो बड़े बड़े राजनेता है और जो मुख्यमंत्री हैं वह अपराधी है या नहीं आज हमारे देश का बहुत बुरा हाल है हम आए दिन न्यूज़ पढ़ते हैं कि यह राज नेता यह मुख्यमंत्री इस घोटाले में फंस गया और उस पर जांच चल रही है अगर मैं इन अपराधों को कम करने की बात करूं तो हमें खुद से योगदान देना होगा सबसे पहली चीज हम लोग जो कैंडिडेट्स को रिप्रेजेंट करते हैं और जिन को वोट करते हैं वह हम लोग काश जाती रिलीजन इस हिसाब से करते हैं तो हमें इस हिसाब से नहीं करना चाहिए हमें उस व्यक्ति को वोट देना चाहिए जो डिजाइनिंग है जो पढ़ा लिखा है और जो टैलेंटेड है और जो हमारे देश का सुधार कर सकता है ना कि पॉलिटिकल लीडर्स जिनको हम पसंद करते हैं सिर्फ उन्हीं को वोट करें और जात के हिसाब से वोट करें यह करना बिल्कुल गलत है अगर हम ऐसे ही करते रहे और काश के साथ से वोट करते रहे तो 1 दिन की आगरा 35 से बढ़कर 50 हो जाएगा और धीरे-धीरे उससे भी ज्यादा तुम्हें ऐसा नहीं करना चाहिए दूसरी चीज हमारी गवर्नमेंट भी इस पर ध्यान नहीं देती है अगर कोई मुख्यमंत्री या कोई बड़ा राजनेता किसी स्कैम में फंसता है तो उसकी जांच में काफी साल लग जाते हैं और इंडस्ट्री कैसे चलती ही रहती है उस का डिसीजन लिया तो आता ही नहीं है क्या फिर काफी देर बाद आता है तू हमारे गवर्नमेंट को ऐसे लोन लेकर आने चाहिए और ऐसे डिसीजन लेकर आने चाहिए जिससे इन पर इन्वेस्टीगेशन जल्दी से जल्दी हो और अपराधी सामने आए ताकि यह क्राइम कम धीरे-धीरे 35 परसेंट से घटकर 30 और 1 दिन खत्म हो जाए तो मैं बस यही बोलूंगा कि हम दोनों को गवर्नमेंट को और हम आम जनता को कुछ ऐसे योगदान करने चाहिए जो कि मैंने आपको भी बताएं

zindagi dost isme koi do rai nahi hai ki aaj hamare desh mein jo bade bade raajneta hai aur jo mukhyamantri hain vaah apradhi hai ya nahi aaj hamare desh ka bahut bura haal hai hum aaye din news padhte hain ki yah raj neta yah mukhyamantri is ghotale mein fans gaya aur us par jaanch chal rahi hai agar main in apradho ko kam karne ki baat karu toh hamein khud se yogdan dena hoga sabse pehli cheez hum log jo candidates ko represent karte hain aur jin ko vote karte hain vaah hum log kash jaati religion is hisab se karte hain toh hamein is hisab se nahi karna chahiye hamein us vyakti ko vote dena chahiye jo designing hai jo padha likha hai aur jo talented hai aur jo hamare desh ka sudhaar kar sakta hai na ki political leaders jinako hum pasand karte hain sirf unhi ko vote kare aur jaat ke hisab se vote kare yah karna bilkul galat hai agar hum aise hi karte rahe aur kash ke saath se vote karte rahe toh 1 din ki agra 35 se badhkar 50 ho jaega aur dhire dhire usse bhi zyada tumhe aisa nahi karna chahiye dusri cheez hamari government bhi is par dhyan nahi deti hai agar koi mukhyamantri ya koi bada raajneta kisi scam mein fansata hai toh uski jaanch mein kaafi saal lag jaate hain aur industry kaise chalti hi rehti hai us ka decision liya toh aata hi nahi hai kya phir kaafi der baad aata hai tu hamare government ko aise loan lekar aane chahiye aur aise decision lekar aane chahiye jisse in par investigation jaldi se jaldi ho aur apradhi saamne aaye taki yah crime kam dhire dhire 35 percent se ghatakar 30 aur 1 din khatam ho jaaye toh main bus yahi boloonga ki hum dono ko government ko aur hum aam janta ko kuch aise yogdan karne chahiye jo ki maine aapko bhi batayen

जिंदगी दोस्त इसमें कोई दो राय नहीं है कि आज हमारे देश में जो बड़े बड़े राजनेता है और जो मु

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  186
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

1:01
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन मुझे लगता है कि जो हाल ही में रिपोर्ट आई है जिसमें बताया गया कि 35 परसेंट मुख्यमंत्री भारत के आपराधिक मामलों में अनमोल है तो मुझे लगता है कि यह देश का दुर्भाग्य जिस प्रकार के लिए हमारे देश को मिले हैं इसी इसी का यह परिणाम है आज डेवलपमेंट की कोई बात नहीं करता मुझे लगता है कि हर जो भी पॉलिटिकल पार्टी से हमेशा रिफॉर्म्स की बात करती हैं तो पॉलिटिकल के फॉर्म ही होने चाहिए ऐसे व्यक्ति जिनके पास इनके ऊपर किसी भी तरह के आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं उन व्यक्तियों का कैंडिडेट कैंसिल होना चाहिए ताकि वह कोई भी इलेक्शन लड़ सके और दूसरी पार्टी उसको भी सोचना चाहिए जो ऐसे कैंडिडेट को अपना मुख्यमंत्री के लिए पसंद करती हैं जिन पर आपराधिक मामले चल रहे हो तो मुझे लगता है कि कहीं ना कहीं एक जनता को भी यह मैसेज देना चाहिए ऐसे लोग जो किसी न किसी आपराधिक मामले में अनमोल हूं ऐसे लोगों को वोट बिल्कुल नहीं करना चाहिए मुझे लगता है कि जब हम लोग इस देश की जनता ने ठान ले कि ऐसे व्यक्ति को वोट नहीं करना है तो मुझे लगता है कि जो आंगन 35 परसेंट का दिखाया गया वह डेफिनेटली कम हो जाएगा

lekin mujhe lagta hai ki jo haal hi mein report I hai jisme bataya gaya ki 35 percent mukhyamantri bharat ke apradhik mamlon mein anmol hai toh mujhe lagta hai ki yah desh ka durbhagya jis prakar ke liye hamare desh ko mile hain isi isi ka yah parinam hai aaj development ki koi baat nahi karta mujhe lagta hai ki har jo bhi political party se hamesha reforms ki baat karti hain toh political ke form hi hone chahiye aise vyakti jinke paas inke upar kisi bhi tarah ke apradhik mukadme darj hain un vyaktiyon ka candidate cancel hona chahiye taki vaah koi bhi election lad sake aur dusri party usko bhi sochna chahiye jo aise candidate ko apna mukhyamantri ke liye pasand karti hain jin par apradhik mamle chal rahe ho toh mujhe lagta hai ki kahin na kahin ek janta ko bhi yah massage dena chahiye aise log jo kisi na kisi apradhik mamle mein anmol hoon aise logo ko vote bilkul nahi karna chahiye mujhe lagta hai ki jab hum log is desh ki janta ne than le ki aise vyakti ko vote nahi karna hai toh mujhe lagta hai ki jo aangan 35 percent ka dikhaya gaya vaah definetli kam ho jaega

लेकिन मुझे लगता है कि जो हाल ही में रिपोर्ट आई है जिसमें बताया गया कि 35 परसेंट मुख्यमंत्र

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  129
WhatsApp_icon
user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

The Hero कीजिए अभी रिसेंटली जो एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म में नेशनल इलेक्शन वॉच है उन्होंने एनालिसिस किया उसमें यह सामने आएगी करीबन 35 परसेंट CM जो है भारत में उनके खिलाफ क्रिमिनल केसेस इन 2031 CM है और सिस्टम यूनिट के 11 ऐसे हैं जिन्होंने खुद के खिलाफ डिक्लेयर कर दिया गया किए हैं और बचे हुए 26 ऐसे दिन के खिलाफ सीरियस क्रिमिनल केसेस इसके अंदर मर्डर अटेंप्ट टू मर्डर चीटिंग डिक्शनरी और बाकी क्रिमिनल एंड मैडिटेशन कैसे बचे हुए हैं इस चीज को कम करने के लिए क्या करना चाहिए कि जो भी मंत्री RCM होते हैं यह किसी स्टेट की है किसी एक पर्टिकुलर जगह की बागडोर संभालते हैं तो उनको उनके ऊपर काफी पावर है और अगर एक ऐसा व्यक्ति के खिलाफ क्रिमिनल केसेस है वह ऐसा कुछ पोजीशन पर है तो वह सक्षम नहीं है ऐसे पैसे लेने के लिए वक्त ही नहीं है तू करना क्या चाहिए कि जरूर बनाना चाहिए कि किसी भी व्यक्ति के खिलाफ अगर कोई भी क्रिमिनल केस है चाहे उसकी बॉडी का नहीं रहती वह क्या केस कोर्ट में चल रहा हूं जब तक उसकी वर्डिक्ट ना आ जाए तब तक उससे वह कब तक उससे अलाउड नहीं करना चाहिए कोई भी इलेक्शन कांटेक्ट करने के लिए दूसरी चीज बहुत सारे मंत्री और CM ऐसे हैं जो पांचवी पास तक नहीं है तू एक मिनिमम एजुकेशन क्वालिफिकेशन रख देना चाहिए जैसे कि करें जिससे कि कम से कम ग्रेजुएशन पास होना चाहिए एक व्यक्ति को इलेक्शन लड़ने के लिए सीएम बनने के लिए तो यह सब चीजें कर कर ही यह जो क्राइम जो इतनी बड़ी पोस्ट पर ऐसे लोगों को बिठाया जाता है उस चीज में कमी आएगी

The Hero kijiye abhi recently jo association for democratic reform mein national election watch hai unhone analysis kiya usme yah saamne aayegi kariban 35 percent CM jo hai bharat mein unke khilaf criminal cases in 2031 CM hai aur system unit ke 11 aise hain jinhone khud ke khilaf declare kar diya gaya kiye hain aur bache hue 26 aise din ke khilaf serious criminal cases iske andar murder attempt to murder cheating dictionary aur baki criminal and meditation kaise bache hue hain is cheez ko kam karne ke liye kya karna chahiye ki jo bhi mantri RCM hote hain yah kisi state ki hai kisi ek particular jagah ki baghdor sambhalate hain toh unko unke upar kaafi power hai aur agar ek aisa vyakti ke khilaf criminal cases hai vaah aisa kuch position par hai toh vaah saksham nahi hai aise paise lene ke liye waqt hi nahi hai tu karna kya chahiye ki zaroor banana chahiye ki kisi bhi vyakti ke khilaf agar koi bhi criminal case hai chahen uski body ka nahi rehti vaah kya case court mein chal raha hoon jab tak uski verdict na aa jaaye tab tak usse vaah kab tak usse allowed nahi karna chahiye koi bhi election Contact karne ke liye dusri cheez bahut saare mantri aur CM aise hain jo paanchvi paas tak nahi hai tu ek minimum education qualification rakh dena chahiye jaise ki kare jisse ki kam se kam graduation paas hona chahiye ek vyakti ko election ladane ke liye cm banne ke liye toh yah sab cheezen kar kar hi yah jo crime jo itni badi post par aise logo ko bithaya jata hai us cheez mein kami aaegi

The Hero कीजिए अभी रिसेंटली जो एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म में नेशनल इलेक्शन वॉच है उ

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  152
WhatsApp_icon
user

Amber Rai

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

0:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां यह बिल्कुल सही है मुख्यमंत्री हैं और भारत में आपराधिक मामला क्रिमिनल से मुख्यमंत्री हैं ज्यादातर मामलों में उनका नाम आपको मिल जाएगा तो भारत में स्वाभाविक है कि जो अपने बन जाते हैं MP बन जाते हैं और जो है वह मुख्यमंत्री बन जाते हैं वहां प्रधानमंत्री में थोड़ा मुश्किल है क्योंकि प्रधानमंत्री बहुत बड़ा पोस्ट हो गया और उस पर किसी को कोई परेशानी से दिया जा सकता को तकलीफ ना मिली हो

haan yah bilkul sahi hai mukhyamantri hain aur bharat mein apradhik maamla criminal se mukhyamantri hain jyadatar mamlon mein unka naam aapko mil jaega toh bharat mein swabhavik hai ki jo apne ban jaate hain MP ban jaate hain aur jo hai vaah mukhyamantri ban jaate hain wahan pradhanmantri mein thoda mushkil hai kyonki pradhanmantri bahut bada post ho gaya aur us par kisi ko koi pareshani se diya ja sakta ko takleef na mili ho

हां यह बिल्कुल सही है मुख्यमंत्री हैं और भारत में आपराधिक मामला क्रिमिनल से मुख्यमंत्री है

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  132
WhatsApp_icon
user

Bhaskar Saurabh

Politics Follower | Engineer

1:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारे देश में 35 फ़ीसदी ऐसे मुख्यमंत्री हैं जिनके खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं वही 81 फ़ीसदी मुख्यमंत्री ऐसे हैं जो कि करोड़पति हैं राजनीतिक दलों पर निगरानी रखने वाले संगठन एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म और नेशनल इलेक्शन वॉच ने सोमवार को यह रिपोर्ट जारी की है तो इस रिपोर्ट के मुताबिक हमारे देश की जो एक तिहाई मुख्यमंत्रियों की पद है वह ऐसे लोगों से भरी है जो कि आपराधिक मामलों में फंसे हुए हैं और उन पर कोर्ट में कार्यवाही चल रही है या मुकदमे चल रहे हैं तो मुझे ऐसा लगता है कि अगर हमें कुछ ऐसे मुख्यमंत्री चाहिए जो की साफ छवि वाले हैं तू जब चुनाव होते हैं उसी समय हमें सजग होने की आवश्यकता है और हम ऐसे उम्मीदवारों को वोट ना करें जिन पर कोई भी आपराधिक में दर्द हो तो यह हम लोगों की जिम्मेदारी बनती है यानी कि आम नागरिकों की जिम्मेदारी बनती है कि वह चुनाव के समय काफी सतर्कता बरतें ताकि इस तरह के जो आपराधिक छवि वाले नेता हैं ऊंचे पदों तक ना पहुंच पाए यह जो रिपोर्ट आई है उसके मुताबिक 31 मुख्यमंत्रियों में से 11 ने खुद के खिलाफ आपराधिक मामले दायर होने की घोषणा की है यह कुल संख्या का 35 फ़ीसदी है इनमें से 26 फ़ीसदी के खिलाफ हत्या हत्या की कोशिश धोखाधड़ी जैसे गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हैं तू अगर भारत को अपराध मुक्त राजनीति में प्रवेश करना है तो यहां की जो चुनाव आयोग हैं उन्हें भी कुछ कड़े कदम उठाने चाहिए यानी कि अगर कोई व्यक्ति जिस पर आपराधिक मामले दर्ज हैं वह चुनाव लड़ने के लिए अयोग्य घोषित कर दिया जाना चाहिए तो अगर ऐसा होगा तभी हमारा समाज सुधर पायेगा

hamare desh mein 35 fisadi aise mukhyamantri hain jinke khilaf apradhik mamle darj hain wahi 81 fisadi mukhyamantri aise hain jo ki crorepati hain raajnitik dalon par nigrani rakhne waale sangathan association for democratic reform aur national election watch ne somwar ko yah report jaari ki hai toh is report ke mutabik hamare desh ki jo ek tihai mukhyamantriyon ki pad hai vaah aise logo se bhari hai jo ki apradhik mamlon mein fanse hue hain aur un par court mein karyavahi chal rahi hai ya mukadme chal rahe hain toh mujhe aisa lagta hai ki agar hamein kuch aise mukhyamantri chahiye jo ki saaf chhavi waale hain tu jab chunav hote hain usi samay hamein sajag hone ki avashyakta hai aur hum aise ummidwaron ko vote na kare jin par koi bhi apradhik mein dard ho toh yah hum logo ki jimmedari banti hai yani ki aam nagriko ki jimmedari banti hai ki vaah chunav ke samay kaafi satarkata barte taki is tarah ke jo apradhik chhavi waale neta hain unche padon tak na pohch paye yah jo report I hai uske mutabik 31 mukhyamantriyon mein se 11 ne khud ke khilaf apradhik mamle dayar hone ki ghoshana ki hai yah kul sankhya ka 35 fisadi hai inme se 26 fisadi ke khilaf hatya hatya ki koshish dhokhadhari jaise gambhir apradhik mamle darj hain tu agar bharat ko apradh mukt raajneeti mein pravesh karna hai toh yahan ki jo chunav aayog hain unhe bhi kuch kade kadam uthane chahiye yani ki agar koi vyakti jis par apradhik mamle darj hain vaah chunav ladane ke liye ayogya ghoshit kar diya jana chahiye toh agar aisa hoga tabhi hamara samaj sudhar payega

हमारे देश में 35 फ़ीसदी ऐसे मुख्यमंत्री हैं जिनके खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं वही 81 फ़ीस

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  190
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!