हम अपने मन को बुरे असर से कैसे बचाए?...


user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका पसंद है हम अपने मन को बुरे असर से कैसे बचाएं लिखिए मन कहीं ना कहीं बहुत जल्दी प्रभावित हो जाता है और वह एक बुरी चीज के साथ 10 और भविष्य तो देता है इसी अमन को बुरे असर से बचाने के लिए हमेशा सकारात्मक विचारों में रहिए क्योंकि जहां एक नकारात्मक विचार आया कहीं मैं कहीं आपकी वैक्यूम बन जाती है उसमें सकारात्मक विचार जोड़िए और कहीं ना कहीं नकारात्मक की चेन तोड़ी है जैसे आपने किसी को फोन किया और बाई चांस उन्होंने फोन नहीं उठाया फिर आपने फोन किया मैंने फोन नहीं उठाया अब आपका मन कहना शुरु करेगा किमोन राज को नहीं है मैंने उसके बारे में किसी से ऐसी बात करी थी कहीं उसको पता तो नहीं चल गई या उसके साथ तो बुरी घटना तो नहीं हो गई 10 तरह की चीजें आप नेगेटिव नेगेटिव करते जाएंगे परंतु आप यह नहीं विचार दे पाएंगे कि हो सकता है उनका फोन साइलेंट पर हो या वह कोई काम कर रहे हो जब फ्री मुझे फोन कर लेंगे जैसे ही आप ऐसा विचार देंगे तो आपके पूरे नकारात्मक विचारों की चेन खत्म हो जाएगी जो बुरा असर है में समाप्त हो जाएगा इसलिए हमें अच्छी और सच्ची सकारात्मक भावनाएं अपने आपको प्रदान करनी है धन्यवाद

namaskar aapka pasand hai hum apne man ko bure asar se kaise bachaen likhiye man kahin na kahin bahut jaldi prabhavit ho jata hai aur vaah ek buri cheez ke saath 10 aur bhavishya toh deta hai isi aman ko bure asar se bachane ke liye hamesha sakaratmak vicharon me rahiye kyonki jaha ek nakaratmak vichar aaya kahin main kahin aapki vacuum ban jaati hai usme sakaratmak vichar jodiye aur kahin na kahin nakaratmak ki chain todi hai jaise aapne kisi ko phone kiya aur bai chance unhone phone nahi uthaya phir aapne phone kiya maine phone nahi uthaya ab aapka man kehna shuru karega kimon raj ko nahi hai maine uske bare me kisi se aisi baat kari thi kahin usko pata toh nahi chal gayi ya uske saath toh buri ghatna toh nahi ho gayi 10 tarah ki cheezen aap Negative Negative karte jaenge parantu aap yah nahi vichar de payenge ki ho sakta hai unka phone silent par ho ya vaah koi kaam kar rahe ho jab free mujhe phone kar lenge jaise hi aap aisa vichar denge toh aapke poore nakaratmak vicharon ki chain khatam ho jayegi jo bura asar hai me samapt ho jaega isliye hamein achi aur sachi sakaratmak bhaavnaye apne aapko pradan karni hai dhanyavad

नमस्कार आपका पसंद है हम अपने मन को बुरे असर से कैसे बचाएं लिखिए मन कहीं ना कहीं बहुत जल्दी

Romanized Version
Likes  130  Dislikes    views  2609
WhatsApp_icon
19 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

ज्योतिषी झा मेरठ (Pt. K L Shashtri)

Astrologer Jhaमेरठ,झंझारपुर और मुम्बई

0:39
Play

Likes  65  Dislikes    views  2182
WhatsApp_icon
user

Gopal Srivastava

Acupressure Acupuncture Sujok Therapist

0:46
Play

Likes  151  Dislikes    views  3483
WhatsApp_icon
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

2:13
Play

Likes  296  Dislikes    views  4200
WhatsApp_icon
user

Sandeep Agnihotri

Author , Motivational Trainer.

1:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए आपका प्रश्न है कि हम अपने मन को बुरे असर से कैसे बचाएं बहुत अच्छा प्रश्न है आपका और मन को बुरे असर से बचाने के लिए पहली चीज तो यह है आपको यह ध्यान देना होगा कि आपके मन में किस तरह के विचार जा रहे हैं क्योंकि जैसे विचार आपके मन में जाएंगे आपका मन भी उसी तरह का ही रिएक्ट करेगा यदि माली आपके मन में बुरे विचार जा रहे हैं तो निश्चित थी आपकी एक्टिविटीज भी बुरी ही होंगी क्योंकि हम वही करते हैं जो हमारे विचार होते हैं अब आपके मन के विचार को किस तरह से आप कंट्रोल कर सकते हैं एक आपने बात सुनी होगी कि एक कंप्यूटर का सिद्धांत होता है कि गोगिगो का मतलब होता है घर में सिंगार विदाउट मालिया यदि कूड़ा करकट अंदर जा रहा है तो बाहर भी कूड़ा करकट ही आएगा तो यह कहा गया है कि यह जार्वेद सिंगार विदाउट गुड इन गुड आउट अगर कोई अच्छा अंदर जा रहा है तो अच्छा बाहर आएगा नीचे इन नेगेटिव आउट पोस्ट इन पासपोर्ट अगर मालिया नकारात्मक बातें अंदर जा रही है तो नकारात्मक बातें ही बाहर आएंगे और यदि पॉजिटिव सकारात्मक बातें अंदर जा रही है तो सकारात्मक ही बाहर आएंगे इसलिए यह आप पर निर्भर करता है कि आप अपने माइंड को किस तरह के थॉट्स प्रोवाइड करते हैं तो इसलिए अपना टाइम आप अच्छे थॉट्स को पढ़ने में उनको सुनने में अच्छी ऑडियो वीडियो सुनने में अपने टाइम पर सेंड करें अच्छे लोगों के साथ टाइम स्पेंड करें ताकि उससे आपको बेनिफिट मिल सके क्योंकि यह बात आप का मन नहीं समझता है कि आप अपने मन में किस तरह की बातों को डाल रहे हैं क्या आपके मन में जा रहा है और वह आपको रिजल्ट जरूर देगा इसलिए आपको बहुत सावधान रहना चाहिए और बहुत सावधानी से आपको पुस्तकें वीडियोस और दोस्त बहुत सावधानी से चलना चाहिए यदि आपको जवाब अच्छा लगा हो तो आप हमारे यूट्यूब चैनल से भी जुड़ सकते हैं धन्यवाद

dekhiye aapka prashna hai ki hum apne man ko bure asar se kaise bachaen bahut accha prashna hai aapka aur man ko bure asar se bachane ke liye pehli cheez toh yah hai aapko yah dhyan dena hoga ki aapke man me kis tarah ke vichar ja rahe hain kyonki jaise vichar aapke man me jaenge aapka man bhi usi tarah ka hi react karega yadi maali aapke man me bure vichar ja rahe hain toh nishchit thi aapki activities bhi buri hi hongi kyonki hum wahi karte hain jo hamare vichar hote hain ab aapke man ke vichar ko kis tarah se aap control kar sakte hain ek aapne baat suni hogi ki ek computer ka siddhant hota hai ki gogigo ka matlab hota hai ghar me shingar without maliya yadi kooda karakat andar ja raha hai toh bahar bhi kooda karakat hi aayega toh yah kaha gaya hai ki yah jarved shingar without good in good out agar koi accha andar ja raha hai toh accha bahar aayega niche in Negative out post in passport agar maliya nakaratmak batein andar ja rahi hai toh nakaratmak batein hi bahar aayenge aur yadi positive sakaratmak batein andar ja rahi hai toh sakaratmak hi bahar aayenge isliye yah aap par nirbhar karta hai ki aap apne mind ko kis tarah ke thoughts provide karte hain toh isliye apna time aap acche thoughts ko padhne me unko sunne me achi audio video sunne me apne time par send kare acche logo ke saath time spend kare taki usse aapko benefit mil sake kyonki yah baat aap ka man nahi samajhata hai ki aap apne man me kis tarah ki baaton ko daal rahe hain kya aapke man me ja raha hai aur vaah aapko result zaroor dega isliye aapko bahut savdhaan rehna chahiye aur bahut savdhani se aapko pustakein videos aur dost bahut savdhani se chalna chahiye yadi aapko jawab accha laga ho toh aap hamare youtube channel se bhi jud sakte hain dhanyavad

देखिए आपका प्रश्न है कि हम अपने मन को बुरे असर से कैसे बचाएं बहुत अच्छा प्रश्न है आपका और

Romanized Version
Likes  84  Dislikes    views  987
WhatsApp_icon
user

Norang sharma

Social Worker

1:28
Play

Likes  43  Dislikes    views  1527
WhatsApp_icon
play
user

Dr.Nisha Joshi

Psychologist

0:28

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

व्हाट इस प्रेशर हम अपने मन को बुरे असर से कैसे बचाएं सिंपल चीजें पॉजिटिव सोच सकारात्मक सोचिए अपने मन को अच्छे से बचाएं और अच्छा साबित करोगे अपने विचार आए तो अपनी फैमिली का सोच लीजिए जिससे आप प्यार करते हो

what is pressure hum apne man ko bure asar se kaise bachaen simple cheezen positive soch sakaratmak sochiye apne man ko acche se bachaen aur accha saabit karoge apne vichar aaye toh apni family ka soch lijiye jisse aap pyar karte ho

व्हाट इस प्रेशर हम अपने मन को बुरे असर से कैसे बचाएं सिंपल चीजें पॉजिटिव सोच सकारात्मक सोच

Romanized Version
Likes  242  Dislikes    views  8069
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हम अपने मन को बुरे असर से तभी बचा सकते हैं कि जहां उसकी विषय में जो भी लक्ष्य बना उसके विषय में गाय देखना सोचे मंथन करें इससे हम को क्या-क्या लाभ होने और क्या-क्या हानि होने वाला जो है वह नकारात्मक विचार के कारण आता है और लाभ जितने ग्रुप में सकारात्मक विचारों के कारण आते हैं तो सकारात्मक विचार से उसके लाभ सोचिए और आगे बढ़ने के लिए लक्ष्य निर्धारित कीजिए लकी जब निर्धारित करेंगे तो आप उसके लिए सकारात्मक कार्य करेंगे मेहनत करेंगे आप दूरदर्शिता से काम कीजिए समाज में आगे बढ़ने के लिए कीजिए समाज की सेवा के लिए माता-पिता की सेवा कीजिए अधिक ऊर्जा स्तर पर भरोसा रखिए हमेशा जो है आपको अच्छे परिणाम मिलेंगे और बुरी सोच से आप बच निकलेंगे क्योंकि सोच ही मनुष्य को आगे की ओर ले जाती है यह बुरी सोच जीवन में न्यूनता की और नकारात्मक सोच के कारण कुछ नहीं कर पाएंगे अपनी सोच को सकारात्मक बनाइए और यह सोचे हम जो भी करेंगे वह निर्णय जो उम्र दराज व्यक्तियों से बैठकर उनके अनुभव का लाभ लीजिए कुछ लोगों से जीवन के दिशा निर्देशन बिताते कीजिए कुछ काउंसलर से बात कर ले ताकि आप अपने जीवन को समाप्त कर सकें

hum apne man ko bure asar se tabhi bacha sakte hain ki jaha uski vishay me jo bhi lakshya bana uske vishay me gaay dekhna soche manthan kare isse hum ko kya kya labh hone aur kya kya hani hone vala jo hai vaah nakaratmak vichar ke karan aata hai aur labh jitne group me sakaratmak vicharon ke karan aate hain toh sakaratmak vichar se uske labh sochiye aur aage badhne ke liye lakshya nirdharit kijiye lucky jab nirdharit karenge toh aap uske liye sakaratmak karya karenge mehnat karenge aap duradarshita se kaam kijiye samaj me aage badhne ke liye kijiye samaj ki seva ke liye mata pita ki seva kijiye adhik urja sthar par bharosa rakhiye hamesha jo hai aapko acche parinam milenge aur buri soch se aap bach nikalenge kyonki soch hi manushya ko aage ki aur le jaati hai yah buri soch jeevan me nyunata ki aur nakaratmak soch ke karan kuch nahi kar payenge apni soch ko sakaratmak banaiye aur yah soche hum jo bhi karenge vaah nirnay jo umar daraj vyaktiyon se baithkar unke anubhav ka labh lijiye kuch logo se jeevan ke disha nirdeshan Bitate kijiye kuch counselor se baat kar le taki aap apne jeevan ko samapt kar sake

हम अपने मन को बुरे असर से तभी बचा सकते हैं कि जहां उसकी विषय में जो भी लक्ष्य बना उसके विष

Romanized Version
Likes  208  Dislikes    views  2054
WhatsApp_icon
user

Dr. Ashwani Kumar Singh

Chairman & Director at VEMS

1:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हम अपने मन को बुरे असर से कैसे बनाएं होता क्या है कि पोस्ट यूज होता है क्रिएटिव हो जाता है जब आप पॉजिटिव लोगों के साथ चलते हैं तो दे दे आप भी पॉजिटिव थिंकिंग तोड़ के तरफ बढ़ने लगते हैं दूसरा आएंगे आप अपना एक टाइम शेड्यूल बनाते हैं कि आप मेंटली फिजिकली अपने को और हिंदी रखते हैं तब भी आपको पोस्ट ही बनर्जी का संचार हो जाता है फिर आप अच्छी-अच्छी किताबें पढ़ते हैं तब भी आपको पॉजिटिव एनर्जी का संचार शुरू हो जाता है आपने इटिविटी से बढ़ता है और खुली हवा में रहना नेचर के आसपास रहना और हमेशा फिल करना कि सब कुछ अच्छा होने वाला है सब कुछ अच्छा होने वाला हमको अच्छा करना है हमको अच्छा करना हमको अच्छा करना अगर इस तरह के दिन आप करते हैं सोचते हैं तो आपका सब कुछ चरवाहों प्रॉपर होने लगता है और आप अच्छी तरीके से आगे बढ़ जाते हैं और मन को भी आप सम्मानित मन मन मन को भी खुराक चाहिए विचारों का खुराक चाहिए अच्छे लोगों की संगत का कुछ है क्या खुराक चाहिए अच्छे वातावरण में रहने का खुराक चाहिए और प्राकृतिक चीजों से आसपास रहने से मनकापुर अगर आप अपनी समस्या पर ध्यान देंगे और प्रयास करेंगे तो आपको बेहतर कर पाने की स्थिति में शुक्रिया शुभकामनाएं

hum apne man ko bure asar se kaise banaye hota kya hai ki post use hota hai creative ho jata hai jab aap positive logo ke saath chalte hai toh de de aap bhi positive thinking tod ke taraf badhne lagte hai doosra aayenge aap apna ek time schedule banate hai ki aap mentally physically apne ko aur hindi rakhte hai tab bhi aapko post hi banerjee ka sanchar ho jata hai phir aap achi achi kitaben padhte hai tab bhi aapko positive energy ka sanchar shuru ho jata hai aapne ETVT se badhta hai aur khuli hawa mein rehna nature ke aaspass rehna aur hamesha fill karna ki sab kuch accha hone vala hai sab kuch accha hone vala hamko accha karna hai hamko accha karna hamko accha karna agar is tarah ke din aap karte hai sochte hai toh aapka sab kuch charvaahon proper hone lagta hai aur aap achi tarike se aage badh jaate hai aur man ko bhi aap sammanit man man man ko bhi khurak chahiye vicharon ka khurak chahiye acche logo ki sangat ka kuch hai kya khurak chahiye acche vatavaran mein rehne ka khurak chahiye aur prakirtik chijon se aaspass rehne se mankapur agar aap apni samasya par dhyan denge aur prayas karenge toh aapko behtar kar paane ki sthiti mein shukriya subhkamnaayain

हम अपने मन को बुरे असर से कैसे बनाएं होता क्या है कि पोस्ट यूज होता है क्रिएटिव हो जाता है

Romanized Version
Likes  342  Dislikes    views  3210
WhatsApp_icon
user

Dr Sampadananda Mishra

Sanskrit scholar, Author, Director, Sri Aurobindo Foundation for Indian Culture

6:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारे जो मन है मन का इतना कंप्लीट से जटिल उपादान है हमारी चेतना की कि इस पर काबू रखना साधारण चेतना में रहने वाले लोगों के लिए बहुत ही मुश्किल है हम कुछ भी करें हमारे मन अब नियंत्रण में है तू हम बुरे असर या अच्छे अवसर उसमें जो अंतर है बुरा अच्छा सा जो भाग है वह भी एक सीमित भाग है हमारे अंदर विवेक बुद्धि का विकास व अच्छी तरह से नहीं हुई है नहीं हुआ है तू तो हम यह भी नहीं कर पाते हैं कि बुरा क्या है अच्छा क्या है एक स्थिति में जिसको हम बुरा मानते हैं तो एक दूसरे से अच्छा नहीं हो सकता है जिसको हम अच्छा मानते हैं वह बुरा भी हो सकता है कि हमारे अंदर विवेक बुद्धि का विकास होना बहुत जरूरी है अच्छा बुरा पाप पुण्य स्वर्ग नर्क इस प्रकार की भावनाएं हैं यह भावना है इससे हम को ऊपर उठना पड़ेगा हमारे चेतना का विकास हमारा लक्ष्य होना चाहिए पर नियंत्रण करना काबू में लाना यह हमारा दैनंदिन जीवन में जिसे हम अध्यात्म जीवन और एक उचित जीवन उसका जीवन जीने का लक्ष्य लेकर हम जब जीवन के पथ पर चल पड़ते हैं वे चेतना का विकास हमारे मन प्राण शरीर जितना कि विभाग है शुभ विभागों को एजुकेट करना उसने संस्कार लाना उसके संस्कार बनाना विकसित बनाना एक पशु भाग से भेदभाव और भीड़भाड़ हमारा लक्ष्य होना चाहिए हमारा जन्मदिन कार्य सब निर्माण होना चाहिए जो है मन इतना चंचल है और मन के परिधि है अगर हम बुद्धि और विकसित करें मन काबू में आ सकता नहीं तो मन में लोभ है मन में हर प्रकार की शंकाएं हैं मनी डिपॉजिट चेतना में रहता है उसमें विविधा विविधा भागपत आप हमेशा रहता है और मन चंचल है मन पर काबू पाना बहुत ही मुश्किल है इसलिए भगवान कृष्ण ने अर्जुन को बार-बार कहते हैं दिशा में कि तुम मन पर काबू अर्जुन कहता है कि मनुष्य एक महावाक्य जैसी है तू जिसे एक महाबत्य की स्थिति में किसी का किसी भी चीज पर नियंत्रण नहीं रहता है इस पर मन पर कोई नियंत्रण आ सकता है क्या श्री कृष्ण संध्या पर नियंत्रण अभ्यास और वैराग्य अभियंत्रण जो हमारी चेतना में हम उसको यह दिखा दे कि यह हमारा कर्तव्य है कि हम हमारी इंद्रियों पर नियंत्रण रखें और हमेशा हम ही सचेतन हो जाए हर स्थिति में क्या मेरे मनपसंद का नियंत्रण है इंद्रियों पर नियंत्रण ना सकी बस में चढ़ी तू हमारे अंदर कोई अच्छा नहीं है कोई बुरा नहीं है तू यह करो वह करो हम बहुत कुछ होता है तो इसलिए हम अगर हमेशा सचित्र निबंध तो हम हमारे इंद्रिय हमारे मन पर हम नियंत्रण ला सकते हैं वह राज्य का भाग्य मतलब यह नहीं है कि हम संसार विरक्त बन जाए हमको रहना है संसार में हर कार्य में हमको सिद्धि लाना है और हमारी चेतना से विकसित करना है पद मातृभाषा गीता में कही गई है इसको स्पष्ट नहीं कर पाता है संसार की हर परिस्थितियों में युद्ध कर हमको संसार में रहना है लेकिन संसार की किसी भी परिस्थिति में यह हमको एक हमारे ऊपर एक प्रभाव डाल दें इस प्रकार की स्थिति हम बना देते कोई भी अच्छा हो अजी सुनती हो या बुरी स्थिति हो सारी स्थितियों में हमको एक क्षमता का भाग रखना है इतना प्रधान ने दिया गया है कि उनका लक्ष्य कि हम समझते और असत्य को प्राप्त करें और इसके लिए जरूरी है जो ज्यादा 100% लोग हम जैसे हम एक और सचेतन यांत्रिकी जीवन रोबोट विशाल मशीन जैसा हम हमारे बारे में हमारे अंदर किस प्रकार की भावना ही चलती है इसलिए हम जागृत मन नहीं है एक संकल्प लेकर तो हम इस ह्यूमन का जो प्रभाव है इंद्रियों का जो हम इंद्रिय हमको बस में लाकर जो कुछ कर देता है तो इस पर हम का बुला सकते हैं नियंत्रण ला सकते तब जाकर हमारे जीवन में सफलता प्राप्त कर सकते हैं

hamare jo man hai man ka itna complete se jatil upadan hai hamari chetna ki ki is par kabu rakhna sadhaaran chetna mein rehne waale logo ke liye bahut hi mushkil hai hum kuch bhi kare hamare man ab niyantran mein hai tu hum bure asar ya acche avsar usme jo antar hai bura accha sa jo bhag hai vaah bhi ek simit bhag hai hamare andar vivek buddhi ka vikas va achi tarah se nahi hui hai nahi hua hai tu toh hum yah bhi nahi kar paate hai ki bura kya hai accha kya hai ek sthiti mein jisko hum bura maante hai toh ek dusre se accha nahi ho sakta hai jisko hum accha maante hai vaah bura bhi ho sakta hai ki hamare andar vivek buddhi ka vikas hona bahut zaroori hai accha bura paap punya swarg nark is prakar ki bhaavnaye hai yah bhavna hai isse hum ko upar uthna padega hamare chetna ka vikas hamara lakshya hona chahiye par niyantran karna kabu mein lana yah hamara dainandin jeevan mein jise hum adhyaatm jeevan aur ek uchit jeevan uska jeevan jeene ka lakshya lekar hum jab jeevan ke path par chal padte hai ve chetna ka vikas hamare man praan sharir jitna ki vibhag hai shubha vibhagon ko educate karna usne sanskar lana uske sanskar banana viksit banana ek pashu bhag se bhedbhav aur bhidbhad hamara lakshya hona chahiye hamara janamdin karya sab nirmaan hona chahiye jo hai man itna chanchal hai aur man ke paridhi hai agar hum buddhi aur viksit kare man kabu mein aa sakta nahi toh man mein lobh hai man mein har prakar ki shankaen hai money deposit chetna mein rehta hai usme vividha vividha bhagapat aap hamesha rehta hai aur man chanchal hai man par kabu paana bahut hi mushkil hai isliye bhagwan krishna ne arjun ko baar baar kehte hai disha mein ki tum man par kabu arjun kahata hai ki manushya ek mahavakya jaisi hai tu jise ek mahabatya ki sthiti mein kisi ka kisi bhi cheez par niyantran nahi rehta hai is par man par koi niyantran aa sakta hai kya shri krishna sandhya par niyantran abhyas aur varagya abhiyantran jo hamari chetna mein hum usko yah dikha de ki yah hamara kartavya hai ki hum hamari indriyon par niyantran rakhen aur hamesha hum hi sachetan ho jaaye har sthiti mein kya mere manpasand ka niyantran hai indriyon par niyantran na saki bus mein chadhi tu hamare andar koi accha nahi hai koi bura nahi hai tu yah karo vaah karo hum bahut kuch hota hai toh isliye hum agar hamesha sachitr nibandh toh hum hamare indriya hamare man par hum niyantran la sakte hai vaah rajya ka bhagya matlab yah nahi hai ki hum sansar virakt ban jaaye hamko rehna hai sansar mein har karya mein hamko siddhi lana hai aur hamari chetna se viksit karna hai pad matrubhasha geeta mein kahi gayi hai isko spasht nahi kar pata hai sansar ki har paristhitiyon mein yudh kar hamko sansar mein rehna hai lekin sansar ki kisi bhi paristithi mein yah hamko ek hamare upar ek prabhav daal de is prakar ki sthiti hum bana dete koi bhi accha ho aji sunti ho ya buri sthiti ho saree sthitiyo mein hamko ek kshamta ka bhag rakhna hai itna pradhan ne diya gaya hai ki unka lakshya ki hum samajhte aur asatya ko prapt kare aur iske liye zaroori hai jo zyada 100 log hum jaise hum ek aur sachetan yaantriki jeevan robot vishal machine jaisa hum hamare bare mein hamare andar kis prakar ki bhavna hi chalti hai isliye hum jagrit man nahi hai ek sankalp lekar toh hum is human ka jo prabhav hai indriyon ka jo hum indriya hamko bus mein lakar jo kuch kar deta hai toh is par hum ka bula sakte hai niyantran la sakte tab jaakar hamare jeevan mein safalta prapt kar sakte hain

हमारे जो मन है मन का इतना कंप्लीट से जटिल उपादान है हमारी चेतना की कि इस पर काबू रखना साधा

Romanized Version
Likes  19  Dislikes    views  114
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मिस्टर आपका प्रश्न है हम अपने मन को बुरे असर से कैसे बचाएं देखी अपने मन को बुरे प्रभावों बुरे असर से बचाने के लिए अच्छी पुस्तकें पढ़ें अच्छे साहित्य का अध्ययन करें अच्छी चीजों में मन लगाएं दूसरों की मदद करें और कभी भी नकारात्मक चीजों से ना जोड़ें नकारात्मक शक्तियां आपके मन में बुरी बातें बुरे विचार उत्पन्न करती हैं जो लोग अच्छी बातें करते हो अच्छे विचार हैं उनके साथ रहे और जीवन में आगे बढ़ धन्यवाद आपका दिन शुभ हो

mister aapka prashna hai hum apne man ko bure asar se kaise bachaen dekhi apne man ko bure prabhavon bure asar se bachane ke liye achi pustakein padhen acche sahitya ka adhyayan kare achi chijon me man lagaye dusro ki madad kare aur kabhi bhi nakaratmak chijon se na joden nakaratmak shaktiyan aapke man me buri batein bure vichar utpann karti hain jo log achi batein karte ho acche vichar hain unke saath rahe aur jeevan me aage badh dhanyavad aapka din shubha ho

मिस्टर आपका प्रश्न है हम अपने मन को बुरे असर से कैसे बचाएं देखी अपने मन को बुरे प्रभावों ब

Romanized Version
Likes  236  Dislikes    views  4599
WhatsApp_icon
user

Harender Kumar Yadav

Career Counsellor.

1:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अहमदनगर से जुड़े लोगों के विजुअल इफेक्ट गरम सिगरेट की फिल्में देखेंगे वीडियो देखें यूट्यूब पर छाया फिर घर जाएंगे और भी आरोपियों से और आसानी से उनको पोर्न वीडियो मिल जाता है उसमें वाले लोग ऐसे ही होते होंगे और वह कैसी विचारों से हमेशा दूर रहना चाहिए ऐसे साहित्य से दूर पीनी चाहिए ऐसे वीडियो क्लिप से दूर रहना चाहिए जो हमारे बुरे विचार पैदा करती है जो मन के अंदर बुराई अनुशासन से कैसे बचाएं

ahmednagar se jude logo ke visual effect garam cigarette ki filme dekhenge video dekhen youtube par chhaya phir ghar jaenge aur bhi aaropiyon se aur aasani se unko porn video mil jata hai usme waale log aise hi hote honge aur vaah kaisi vicharon se hamesha dur rehna chahiye aise sahitya se dur peeni chahiye aise video clip se dur rehna chahiye jo hamare bure vichar paida karti hai jo man ke andar burayi anushasan se kaise bachaen

अहमदनगर से जुड़े लोगों के विजुअल इफेक्ट गरम सिगरेट की फिल्में देखेंगे वीडियो देखें यूट्यूब

Romanized Version
Likes  261  Dislikes    views  2680
WhatsApp_icon
user

Shubham Saini

Software Engineer

0:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर कोई व्यक्ति अपने मन के बुरे बुरे असर से बचाना चाहता है तो वह बचा सकता है मैं खुद की सोच बदले अच्छे बुक्स बड़े अच्छे लोगों से मिले और अच्छे लोगों का अनुसरण करें वह बुरी आदतों से और बुरे भाव से अपनी जिंदगी को बचा सकते हैं

agar koi vyakti apne man ke bure bure asar se bachaana chahta hai toh vaah bacha sakta hai main khud ki soch badle acche books bade acche logo se mile aur acche logo ka anusaran kare vaah buri aadaton se aur bure bhav se apni zindagi ko bacha sakte hain

अगर कोई व्यक्ति अपने मन के बुरे बुरे असर से बचाना चाहता है तो वह बचा सकता है मैं खुद की सो

Romanized Version
Likes  197  Dislikes    views  1381
WhatsApp_icon
user

Yog Guru Amit Agrawal Rishiyog

Yoga Acupressure Expert

1:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका पति ने अपने मन को बुरे असर से कैसे बचाएं आप ज्यादा से ज्यादा पॉजिटिव रहें खुश रहें आप पॉजिटिव माहौल में रहें अपने आसपास लगे के माहौल से बचे नकारात्मक विचार वाले लोगों से बचें पॉजिटिव थिंकर को सुनें पहुंचते हुए मोटिवेशनल स्पीकर सोते हैं उनको आप सुने आज बस अब ऑनलाइन उपलब्ध हैं ऐसी बुक्स पड़ी है जिससे आपको मोटिवेट हो जीवन में आगे बढ़ने की प्रेरणा मिले और मन में बुरे विचारों को दूर भगाने के लिए या ना आने के लिए प्राणायाम और ध्यान एक बहुत अच्छा माध्यम है सुबह शाम आपको समय निकालकर प्राणायाम और ध्यान करिए इस पर मैंने कुछ वीडियोस भी बनाई है आप मेरे यूट्यूब चैनल पर जाइए प्रोफाइल में लिंक दिया है चैनल को सब्सक्राइब करिए और वहां से जाकर आ वीडियोस देखकर प्राणायाम और ध्यान सीख सकते हैं हरि ओम

aapka pati ne apne man ko bure asar se kaise bachaen aap zyada se zyada positive rahein khush rahein aap positive maahaul me rahein apne aaspass lage ke maahaul se bache nakaratmak vichar waale logo se bache positive thinker ko sunen pahunchate hue Motivational speaker sote hain unko aap sune aaj bus ab online uplabdh hain aisi books padi hai jisse aapko motivate ho jeevan me aage badhne ki prerna mile aur man me bure vicharon ko dur bhagane ke liye ya na aane ke liye pranayaam aur dhyan ek bahut accha madhyam hai subah shaam aapko samay nikalakar pranayaam aur dhyan kariye is par maine kuch videos bhi banai hai aap mere youtube channel par jaiye profile me link diya hai channel ko subscribe kariye aur wahan se jaakar aa videos dekhkar pranayaam aur dhyan seekh sakte hain hari om

आपका पति ने अपने मन को बुरे असर से कैसे बचाएं आप ज्यादा से ज्यादा पॉजिटिव रहें खुश रहें आप

Romanized Version
Likes  491  Dislikes    views  5473
WhatsApp_icon
user

Ramandeep Singh

Waheguru industry

2:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए दोस्तों जब हम जब किसी की भी इंसान का मन कोमल हो जाता है कोमल किसी के भी दर्द को अपना दर्द रहता है इतना सचेत अवस्था में पहुंच जाता है उसको एक चींटी का भी दर्द महसूस होने लग जाता है अर्थात इतना कोमल हो जाता है और इतना पुरुषार्थ हो जाता है कि किसी और के लिए खुद का खुद की जान जो है जोखिम में डाल सकता हूं कोई अगर किसी को परेशान कर रहा है गलत वजह से और उसका मुकाबला करने के लिए हमेशा तत्पर रहे तो फिर उसका मन जो है बुरे असर से बच सकता है और सबसे ज्यादा जो मेन है मन को बुरे असर से बचाने के लिए वह है हर जगह पर ईश्वर को खोजना शुरू का हर धर्म में हर ग्रंथ में इसमें एक गुरुग्राम से 1 लाइन खोज रे मन रोज खोज रे मन रोज यानि कहने मतलब खोज इस मन में रोज को परमात्मा कहां है तेरे को जरूर मिलेगा परमात्मा जब तू एक फूल में परमात्मा को ढूंढना शुरू करेगा हर ग्रंथों में कोमल हृदय से यह नहीं उसने ऐसा क्यों उसमें ऐसा क्योंकि तू क्यों परंतु क्यों जब तक तू किंतु-परंतु करता रहेगा तब तक तेरे को कभी परमात्मा नहीं मिलेगा और जब तेरे को परमात्मा मिलेगा तो यह मन शांत हो जाएगा फिर बुरे कर्म क्या फिर अच्छे कर्म क्या करें मतलब जब तक मन शांत नहीं तब तक दौड़ धूप लगी रहेगी दौड़ धूप लगी रहेगी और मन शांत तब होगा जब ईश्वर उस वाहेगुरु उस अल्लाह उस खुदा के चरणों में लग जाएगा और जैसे ही चरणों में लगेगा तो वह गुरु है परमात्मा गुरु है मैंने बहुत कमेंट ओं में कहा है परमात्मा ही गुरु है तो जब वह गुरु मिलेगा तो ज्ञान ऑटोमेटिक मिलेगा जब ज्ञान मिलेगा तो मन अपने आप शांत है तुम्हें सही गलत हर चीज का खुद ही मालूम पड़ने लग जाएगा यह सही क्या है गलत क्या है लेकिन कठिन है राज आनंद बहुत आएगा दुख बहुत मिलेंगे लेकिन दुख में भी आनंद आएगा रास्ता बहुत गठित इस रास्ते पर चलना बहुत मुश्किल है लेकिन जो चल पड़ता है जो सिर्फ चलने की शुरुआत ही करता है फिर आनंद ही आनंद है शुरुआत करने में ही आनंद शुरू हो जाता है धन्यवाद

dekhiye doston jab hum jab kisi ki bhi insaan ka man komal ho jata hai komal kisi ke bhi dard ko apna dard rehta hai itna sachet avastha me pohch jata hai usko ek chinti ka bhi dard mehsus hone lag jata hai arthat itna komal ho jata hai aur itna purusharth ho jata hai ki kisi aur ke liye khud ka khud ki jaan jo hai jokhim me daal sakta hoon koi agar kisi ko pareshan kar raha hai galat wajah se aur uska muqabla karne ke liye hamesha tatpar rahe toh phir uska man jo hai bure asar se bach sakta hai aur sabse zyada jo main hai man ko bure asar se bachane ke liye vaah hai har jagah par ishwar ko khojana shuru ka har dharm me har granth me isme ek gurugram se 1 line khoj ray man roj khoj ray man roj yani kehne matlab khoj is man me roj ko paramatma kaha hai tere ko zaroor milega paramatma jab tu ek fool me paramatma ko dhundhana shuru karega har granthon me komal hriday se yah nahi usne aisa kyon usme aisa kyonki tu kyon parantu kyon jab tak tu kintu parantu karta rahega tab tak tere ko kabhi paramatma nahi milega aur jab tere ko paramatma milega toh yah man shaant ho jaega phir bure karm kya phir acche karm kya kare matlab jab tak man shaant nahi tab tak daudh dhoop lagi rahegi daudh dhoop lagi rahegi aur man shaant tab hoga jab ishwar us vaheguru us allah us khuda ke charno me lag jaega aur jaise hi charno me lagega toh vaah guru hai paramatma guru hai maine bahut comment on me kaha hai paramatma hi guru hai toh jab vaah guru milega toh gyaan Automatic milega jab gyaan milega toh man apne aap shaant hai tumhe sahi galat har cheez ka khud hi maloom padane lag jaega yah sahi kya hai galat kya hai lekin kathin hai raj anand bahut aayega dukh bahut milenge lekin dukh me bhi anand aayega rasta bahut gathit is raste par chalna bahut mushkil hai lekin jo chal padta hai jo sirf chalne ki shuruat hi karta hai phir anand hi anand hai shuruat karne me hi anand shuru ho jata hai dhanyavad

देखिए दोस्तों जब हम जब किसी की भी इंसान का मन कोमल हो जाता है कोमल किसी के भी दर्द को अपना

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  187
WhatsApp_icon
user

Mohini Kharbanda

Soft Skill Trainer, Teacher

0:57
Play

Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
user

MD Amir Ariya Tim

I'm a Student Nd Playing Circket Football

0:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक तो हमारे ऊपर डिपेंड करता है कि हम इस तरीके से अपने मन को किधर रखना कसम से कोई ऐसा ज्ञान उसके पीछे रहे और हमें वह काम पर ध्यान ना रहेंगे जो हमको बुरे चीज का मन में असर होगा

ek toh hamare upar depend karta hai ki hum is tarike se apne man ko kidhar rakhna kasam se koi aisa gyaan uske peeche rahe aur hamein vaah kaam par dhyan na rahenge jo hamko bure cheez ka man mein asar hoga

एक तो हमारे ऊपर डिपेंड करता है कि हम इस तरीके से अपने मन को किधर रखना कसम से कोई ऐसा ज्ञान

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  1
WhatsApp_icon
user

Kesharram

Teacher

0:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपके मन में अगर बुरे विचार आ रहे हैं तो आप उनको दूर कीजिए ऐसे दूर नहीं होते हैं आप ज्यादा से ज्यादा वितरण कीजिए विचरण करने से क्या किया आपने तो लगी थी आपको निजात मिलेगी धीरे-धीरे आपकी सोच को सकारात्मक सोच के साथ में आप आगे आगे करके जाओगे वैसे भी चले जाओगे धन्यवाद दोस्तों

aapke man mein agar bure vichar aa rahe hain toh aap unko dur kijiye aise dur nahi hote hain aap zyada se zyada vitaran kijiye vichran karne se kya kiya aapne toh lagi thi aapko nijat milegi dhire dhire aapki soch ko sakaratmak soch ke saath mein aap aage aage karke jaoge waise bhi chale jaoge dhanyavad doston

आपके मन में अगर बुरे विचार आ रहे हैं तो आप उनको दूर कीजिए ऐसे दूर नहीं होते हैं आप ज्यादा

Romanized Version
Likes  28  Dislikes    views  523
WhatsApp_icon
user

Amarbhatt

Ma Vindhyvasini Temple Prist

0:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अच्छा छोटी बुरा कभी होगा ही नहीं

accha choti bura kabhi hoga hi nahi

अच्छा छोटी बुरा कभी होगा ही नहीं

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  3
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!