क्या पॉजिटिव थिंकिंग से वाकई फायदा होता है?...


user

Psychologist Lovenish Mittal

Psychologist, Motivational Speaker, Psychotherapist, Hypnotherapist.

2:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नहीं तो बोलती बेटी का नुकसान भी हो सकता है अगर यह वास्तविकता से बिल्कुल हट जाए अगर या व्यवहारिक ना हो अगर यह ओवरकॉन्फिडेंस में हो वास्तविकता में पॉजिटिविटी हमारी मानसिक स्थिति है एक ऐसी स्थिति जिसमें हम अपनी उम्मीद को नहीं खोते हैं हम विश्वास रखते हैं कि बुरे से बुरे समय के अंदर भी कुछ अच्छा हो सकता है हम उम्मीद करते हैं कि बड़ी से बड़ी मुसीबत का कोई ना कोई समाधान उपलब्ध है कितनी भी बड़ी मुसीबत हो कहीं ना कहीं उसका समाधान उपलब्ध है और हम अगर कोशिश करें तो उसको ढूंढ सकते हैं यह उम्मीद आशा विश्वास और अपने में एक विश्वास कि मैं कर सकता हूं जब आपको आपके सामने कोई समस्या आती है या आपके सामने कुत्ता खाता है आप बोल देते कि मैं नहीं कर सकता उस कंडीशन में आपका दिमाग आपको जो समझ और जो ताकत चाहिए उस काम को करने के लिए गुड नहीं देता है लेकिन जब आप बोलते बोलते हैं तो उस आशा विश्वास उम्मीद के साथ आप में वह ताकत और आपकी कुछ समझ भी आ जाती है जिससे उन समस्याओं से बाहर निकल सकते हैं इसलिए होती बीटी जरूर फायदा करती है लेकिन तब भी अगर यह व्यवहारिक हो अगर ओवरकॉन्फिडेंस में ना हो अगर है जो मुसीबत है उसकी ताकत को भी समझें ऐसा नहीं कि मेरे सामने कोई भी ताकत कोई भी सॉरी कोई भी समस्या हो उसका हल कर सकता हूं ठीक है कोई भी इंसान कर सकता है लेकिन उसके लिए आपको पहले प्रिपेयर होना पड़ेगा क्यों उसके लिए अच्छी प्लानिंग करनी पड़ेगी तो अगर आप व्यवहारिक नहीं है आगरा मालू डॉक्टर की ट्रेनिंग नहीं लेते हैं डॉक्टर की छड़ी नहीं करते हैं आपका एक्सपीरियंस नहीं है और आप बोलो जी हां जी मेरे को पूरा विश्वास में बहुत ज्यादा पॉजिटिव हूं मैं किसी का ऑपरेशन कर सकता हूं तुम्हें झूठ हो जाएगा अगर आप बोलो कि मैं छत पर चला और मुझे कुछ भी नहीं होगा तो वह झूठ हो सकता है अगर आपकी ट्रेनिंग नहीं है तू तो दोस्त पोस्ट थिंकिंग सहयोग कर सकती है सिर्फ तभी अगर व्यवहारिक है इसके अलावा अगर पुत्र थिंकिंग व्यवहारिक है तो उसके बहुत ज्यादा फायदे हैं यह आपको पूरी से पूरी मुसीबत के अंदर समस्या के अंदर रास्ता दिखाने के काम आती है बोलते हैं ना कि दुनिया उम्मीद पर कायम है उसकी बेटी का सबसे बड़ी पावर उम्मीद है जो कि आशा है क्योंकि बड़ी से बड़ी मुसीबत में साथ करवाती है कि चिंता मत करो कहीं ना बात

nahi toh bolti beti ka nuksan bhi ho sakta hai agar yah vastavikta se bilkul hut jaaye agar ya vyavaharik na ho agar yah ovarakanfidens me ho vastavikta me positivity hamari mansik sthiti hai ek aisi sthiti jisme hum apni ummid ko nahi khote hain hum vishwas rakhte hain ki bure se bure samay ke andar bhi kuch accha ho sakta hai hum ummid karte hain ki badi se badi musibat ka koi na koi samadhan uplabdh hai kitni bhi badi musibat ho kahin na kahin uska samadhan uplabdh hai aur hum agar koshish kare toh usko dhundh sakte hain yah ummid asha vishwas aur apne me ek vishwas ki main kar sakta hoon jab aapko aapke saamne koi samasya aati hai ya aapke saamne kutta khaata hai aap bol dete ki main nahi kar sakta us condition me aapka dimag aapko jo samajh aur jo takat chahiye us kaam ko karne ke liye good nahi deta hai lekin jab aap bolte bolte hain toh us asha vishwas ummid ke saath aap me vaah takat aur aapki kuch samajh bhi aa jaati hai jisse un samasyaon se bahar nikal sakte hain isliye hoti BT zaroor fayda karti hai lekin tab bhi agar yah vyavaharik ho agar ovarakanfidens me na ho agar hai jo musibat hai uski takat ko bhi samajhe aisa nahi ki mere saamne koi bhi takat koi bhi sorry koi bhi samasya ho uska hal kar sakta hoon theek hai koi bhi insaan kar sakta hai lekin uske liye aapko pehle prepare hona padega kyon uske liye achi planning karni padegi toh agar aap vyavaharik nahi hai agra maloom doctor ki training nahi lete hain doctor ki chadi nahi karte hain aapka experience nahi hai aur aap bolo ji haan ji mere ko pura vishwas me bahut zyada positive hoon main kisi ka operation kar sakta hoon tumhe jhuth ho jaega agar aap bolo ki main chhat par chala aur mujhe kuch bhi nahi hoga toh vaah jhuth ho sakta hai agar aapki training nahi hai tu toh dost post thinking sahyog kar sakti hai sirf tabhi agar vyavaharik hai iske alava agar putra thinking vyavaharik hai toh uske bahut zyada fayde hain yah aapko puri se puri musibat ke andar samasya ke andar rasta dikhane ke kaam aati hai bolte hain na ki duniya ummid par kayam hai uski beti ka sabse badi power ummid hai jo ki asha hai kyonki badi se badi musibat me saath karwati hai ki chinta mat karo kahin na baat

नहीं तो बोलती बेटी का नुकसान भी हो सकता है अगर यह वास्तविकता से बिल्कुल हट जाए अगर या व्यव

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  58
WhatsApp_icon
15 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Suresh Kumar

Motivational Speaker, Trainer, Counsellor, Handwriting Analyst

1:16
Play

Likes  115  Dislikes    views  967
WhatsApp_icon
play
user

Umesh Upaadyay

Life Coach | Motivational Speaker

1:59

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

चलिए मैं इसका जवाब कुछ ऐसे देता हूं आप मत सोचिए पॉजिटिव पॉजिटिव मत रहिए और बताइए क्या फायदा करेगा हो जाते हैं आप हर चीज में बुराई ढूंढते हैं आप हर समय पीछे भागते हैं आप सर्कल में घूमते रहते हैं आप हर चीज में नुकसान है अब देखते हैं आप अगर यह देखने की का मुझसे नहीं होगा मैं नहीं कर सकता मेरे बस की नहीं है तो क्या आपको लगते हैं आप अपने जीवन को आगे ले जा पाएंगे यह डिप्रेशन होता है किसी को यह सब क्या होता है यह इसी का परिणाम तो है आर्मी के डिस्ट्रेसफुल पीली करता है वह क्योंकि करता है यह सारी बहुत सारी बातें जो आप को पीछे धकेल ते हैं मैं नहीं कहता कि बे पॉजिटिव थिंकिंग से आप सक्सेसफुल हो जाएंगे लेकिन पॉजिटिव थिंकिंग जैसे निकले इनक्रीस द प्रोबेबिलिटी ऑफ को एक दिशा में ऊर्जा प्रदान करता है आपको हेल्प करता है आप लाइफ को थोड़ा सा और बेटे तरीके से ले जाने में आपको थोड़ा हो फुल बनाता है आपके अंदर पेट रहता है आपके अंदर आ जाएं रहती हैं उम्मीदें रहती हैं और इसी उम्मीद के सहारे आप काफी डिस्टेंस ट्रेवल कर सकते हैं इसीलिए पॉजिटिव थी कि यह बहुत ज्यादा जरूरत होती है आप अगर नेगेटिव सोचेंगे तो यह आपकी लाइफ है आपकी मर्जी जैसा आपको सोचने आप सोच सकते हैं लेकिन एक सुशील जी एक इंसान जो कि या पॉजिटिव सोचता है और एक जो नेगेटिव सोचता है वह दोनों किस किस दिशा में जाएंगे सोच कर देख एकदम उल्टी तरीके उलटी दिशा में जाएंगे हनी बहुत सारे इंसान देखे हैं जिनका कल्याण नहीं हो पाया है जो ज्यादा कुछ नहीं कर पाए ऐसे किसी कारण से क्योंकि उनकी सोच सही नहीं थी सबसे पहले अगर हमें कुछ किया किसी चीज पर काम करने की जरूरत होती है तो बहुत ही हमारी अपनी सोच है अगर उस पर आपने थोड़ा काम कर लिया तो जैसे नेसली आप अपनी मंजिल तक पहुंच जाएंगे आज नहीं तो कल

chaliye main iska jawab kuch aise deta hoon aap mat sochiye positive positive mat rahiye aur bataiye kya fayda karega ho jaate hain aap har cheez mein burayi dhoondhate hain aap har samay peeche bhagte hain aap circle mein ghumte rehte hain aap har cheez mein nuksan hai ab dekhte hain aap agar yah dekhne ki ka mujhse nahi hoga main nahi kar sakta mere bus ki nahi hai toh kya aapko lagte hain aap apne jeevan ko aage le ja payenge yah depression hota hai kisi ko yah sab kya hota hai yah isi ka parinam toh hai army ke distresful pili karta hai vaah kyonki karta hai yah saree bahut saree batein jo aap ko peeche dhakel te hain main nahi kahata ki be positive thinking se aap successful ho jaenge lekin positive thinking jaise nikle increase the porbability of ko ek disha mein urja pradan karta hai aapko help karta hai aap life ko thoda sa aur bete tarike se le jaane mein aapko thoda ho full banata hai aapke andar pet rehta hai aapke andar aa jayen rehti hain ummeeden rehti hain aur isi ummid ke sahare aap kaafi distance travel kar sakte hain isliye positive thi ki yah bahut zyada zarurat hoti hai aap agar Negative sochenge toh yah aapki life hai aapki marji jaisa aapko sochne aap soch sakte hain lekin ek sushil ji ek insaan jo ki ya positive sochta hai aur ek jo Negative sochta hai vaah dono kis kis disha mein jaenge soch kar dekh ekdam ulti tarike ulti disha mein jaenge honey bahut saare insaan dekhe hain jinka kalyan nahi ho paya hai jo zyada kuch nahi kar paye aise kisi karan se kyonki unki soch sahi nahi thi sabse pehle agar hamein kuch kiya kisi cheez par kaam karne ki zarurat hoti hai toh bahut hi hamari apni soch hai agar us par aapne thoda kaam kar liya toh jaise nesli aap apni manjil tak pohch jaenge aaj nahi toh kal

चलिए मैं इसका जवाब कुछ ऐसे देता हूं आप मत सोचिए पॉजिटिव पॉजिटिव मत रहिए और बताइए क्या फायद

Romanized Version
Likes  1026  Dislikes    views  6664
WhatsApp_icon
user

Girijakant Singh

Founder/ President Yog Bharati Foundation Trust

0:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न आया क्या पॉजिटिव थिंकिंग से वाकई फायदा होता है जी हां बिल्कुल सकारात्मक सोच जो है हमारे शरीर के अंदर सकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न करती है और जब सकारात्मक ऊर्जा हमारे शरीर के अंदर होती है तो हम कुछ भी करने में कामयाब हो जाते हैं इसलिए हमेशा सकारात्मक सोच ही रखती के लिए पॉलिटेक्निक में रखनी चाहिए धन्यवाद

aapka prashna aaya kya positive thinking se vaakai fayda hota hai ji haan bilkul sakaratmak soch jo hai hamare sharir ke andar sakaratmak urja utpann karti hai aur jab sakaratmak urja hamare sharir ke andar hoti hai toh hum kuch bhi karne mein kamyab ho jaate hain isliye hamesha sakaratmak soch hi rakhti ke liye polytechnic mein rakhni chahiye dhanyavad

आपका प्रश्न आया क्या पॉजिटिव थिंकिंग से वाकई फायदा होता है जी हां बिल्कुल सकारात्मक सोच जो

Romanized Version
Likes  75  Dislikes    views  1933
WhatsApp_icon
user

Yog Guru Amit Agrawal Rishiyog

Yoga Acupressure Expert

0:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आटा पीसने क्या पॉजिटिव थिंकिंग से वाकई फायदा होता है जी हां सौ पर्सेंट फायदा होता है अगर आप नेगेटिव होते हैं तो आपको चीजें भी नेगेटिविटी दिखाई देते हैं परिणाम भी नेगेटिव मिलते हैं और उसके आप लगातार लगे टिविटी में चले जाते हैं तो पॉजिटिव थिंकिंग बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि आप जानते हैं आपके सारे शरीर का संबंध आपके मन से है आपका एक गलत विचार आपको शारीरिक रूप से और मानसिक रूप से रोगी बना सकता है अगर आप पॉजिटिव रहते हैं आप सोच अपनी सकारात्मक रखते हैं तो आप के परिणाम भी अच्छे होते हैं आप अपने लक्ष्य को हासिल कर पाते हैं आप उन उपलब्धियों को हासिल कर पाते हैं जिनका आपने प्लान किया है जिनको आपने मोटे बनाया तो बहुत जरूरी है आपका जीवन में पोस्ट बहना और पौष्टिक सोचना

atta pisne kya positive thinking se vaakai fayda hota hai ji haan sau percent fayda hota hai agar aap Negative hote hain toh aapko cheezen bhi negativity dikhai dete hain parinam bhi Negative milte hain aur uske aap lagatar lage TVT mein chale jaate hain toh positive thinking bahut mahatvapurna hai kyonki aap jante hain aapke saare sharir ka sambandh aapke man se hai aapka ek galat vichar aapko sharirik roop se aur mansik roop se rogi bana sakta hai agar aap positive rehte hain aap soch apni sakaratmak rakhte hain toh aap ke parinam bhi acche hote hain aap apne lakshya ko hasil kar paate hain aap un uplabdhiyon ko hasil kar paate hain jinka aapne plan kiya hai jinako aapne mote banaya toh bahut zaroori hai aapka jeevan mein post bahna aur paushtik sochna

आटा पीसने क्या पॉजिटिव थिंकिंग से वाकई फायदा होता है जी हां सौ पर्सेंट फायदा होता है अगर आ

Romanized Version
Likes  159  Dislikes    views  1636
WhatsApp_icon
user

Kalpana Arora

Executive Coach, Life Coach, Career Coach, NLP Practitioner, Behavioral Assessment

2:11
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पैदा होता है क्योंकि हम जो सोचते हैं वही हमारी जिंदगी में कोई काम नहीं कर सकते हम इस काम को कर सकते हैं हमें हम को फ्राई करना चाहिए करके देखते हैं तो हमको उसके अनुसार रिजल्ट मिलता है तो हमारी थिंकिंग कैसी है हमारे मन में क्या विचार चल रही है वह डिसाइड करते हैं कि हमारा आने वाला समय या आज या कल कैसे जाएगा ऐसा कहा जाता है कि जो भी हमारा भविष्य है उसकी रचना डूबा होती है हमारी लाइफ में थी पॉजिटिव पिक्चर क्या हम ऐसी बातों के बारे में सोचते हैं जो हमें डिफरेंस करती है या जो हमको डिफरेंट करके हमको लगता है कि हम कर नहीं सकते क्योंकि हम ऐसे हैं तो हम उसी प्रोसेस में अपने आप को लिमिट कर लेते हैं और आगे की बात है इसलिए प्रत्येक व्यक्ति को हमेशा हर वक्त करना चाहिए कि वह अपने विचारों में एक पॉजिटिव का फैसला अच्छी बातें ही बातें सोचते हैं तो उनके साथ में आती है तो हम कंटीन्यूअसली निराश जाते हैं यह निराशाजनक था हमारे मन में आते हैं यह हम नेगेटिव बातें सोचने लगते हैं ऐसा कोई गलत बात नहीं है लेकिन एक अच्छा इंसान है जो कि उसमें अपने आप को पानी लेते टेंपरेरी थॉट प्रोसेस के बाद तुरंत यह सोचता है कि इस सिचुएशन में मैं क्या कर सकता हूं और अपने थॉट्स को पॉजिटिव डायरेक्शन में सलूशन के निरीक्षण में

paida hota hai kyonki hum jo sochte hain wahi hamari zindagi mein koi kaam nahi kar sakte hum is kaam ko kar sakte hain hamein hum ko fry karna chahiye karke dekhte hain toh hamko uske anusaar result milta hai toh hamari thinking kaisi hai hamare man mein kya vichar chal rahi hai vaah decide karte hain ki hamara aane vala samay ya aaj ya kal kaise jaega aisa kaha jata hai ki jo bhi hamara bhavishya hai uski rachna dooba hoti hai hamari life mein thi positive picture kya hum aisi baaton ke bare mein sochte hain jo hamein difference karti hai ya jo hamko different karke hamko lagta hai ki hum kar nahi sakte kyonki hum aise hain toh hum usi process mein apne aap ko limit kar lete hain aur aage ki baat hai isliye pratyek vyakti ko hamesha har waqt karna chahiye ki vaah apne vicharon mein ek positive ka faisla achi batein hi batein sochte hain toh unke saath mein aati hai toh hum kantinyuasali nirash jaate hain yah nirashajanak tha hamare man mein aate hain yah hum Negative batein sochne lagte hain aisa koi galat baat nahi hai lekin ek accha insaan hai jo ki usme apne aap ko paani lete tempareri thought process ke baad turant yah sochta hai ki is situation mein main kya kar sakta hoon aur apne thoughts ko positive direction mein salution ke nirikshan mein

पैदा होता है क्योंकि हम जो सोचते हैं वही हमारी जिंदगी में कोई काम नहीं कर सकते हम इस काम क

Romanized Version
Likes  35  Dislikes    views  456
WhatsApp_icon
user

Author, Business Consultant and Life Coach - visit at https://sudhirkv.com/

6:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

समाधि क्या पॉजिटिव थिंकिंग के बाद ही फायदा होता है जवाब हां हो सकता है लेकिन इटली हां हो सकता है लेकिन उससे पहले मैं पॉजिटिव थिंकिंग के बारे में थोड़ा सा कुछ कहना चाह पॉजिटिव थिंकिंग से पहले ही समझी थिंकिंग क्या है सोचना क्या है क्या करते हैं आप इसको हम सोचना कहते हैं सोचने से होता क्या है जब भी आप कोई चीज सोच रहे होते हैं तो आपके अंदर बायोलॉजिकली साइंटिफिकली मेडिकल बहुत सारे चेंज एस होते हैं आपका पूरा शरीर बायोलॉजिकल आर्गन से भरा पड़ा है बहुत सारे बायोलॉजिकल पार्क आपका दिमाग खराब का दिल आपके ब्लड का फ्लो आपकी किडनी आपके एड्रेनल ग्लैंड और बहुत सारे केमिकल कंपोजीशन आपके बोंस आपकी नर्स यह सब कुछ एक सिस्टमैटिक वे में काम करते हैं और जो आप सोचते हैं और उस सोच का इज़हर इन सभी चीजों पर असर पड़ता है वह असर पॉजिटिव हो सकता है वह असर निगेटिव भी हो सकता है एग्जांपल के लिए अगर आप किसी ऐसे व्यक्ति के बारे में या ऐसी घटना के बारे में सोचना शुरु करते हैं जिसमें आपका बहुत नुकसान हुआ बहुत बेइज्जती हो गई बहुत सारी प्रॉब्लम सो गई आप उस व्यक्ति से दुश्मनी या बहुत ज्यादा खटास लेकर अपने मन में बैठे बारे में सोचते हैं उस दिन यह घटना के बारे में पूछने हैं आपका मूड ऑफ हो जाता है मूड ऑफ होने का मतलब क्या हुआ आपके दिमाग में थोड़ी टेंशन क्रिएट हो जाती है यह एक बायलॉजी कलेक्ट एके बायोलॉजिकल रिएक्शन है आपकी उस सोच का जो आपके दिमाग में आई है आपका हार्टबीट बढ़ जाता है आपके शरीर में थोड़ा तनाव महसूस होता है स्टेशन ऐसा जाती है आप अच्छा फील नहीं करते हैं थोड़ा सा और उस समय आपका व्यवहार भी थोड़ा चिड़चिड़ा हो जाता है ऐसा ही होता है हुआ क्या सिर्फ आपने सोचा किसी बुरी घटना के बारे में किसी नेगेटिव इवेंट के बारे में किसी नेगेटिव पर्सनालिटी के बारे में आपने सिर्फ सोचा इसका उल्टा करके देखिए आप किसी ऐसे इवेंट के बारे में सोचिए जिस दिन आपको बहुत ज्यादा सम्मान मिला प्यार मिला बहुत आपका मनोबल बढ़ा तो आपकी तारीफ हुई कोई किसी ऐसे व्यक्ति के बारे में सोचिए जो आपको बहुत ज्यादा मोरल सपोर्ट करता है मंडली सपोर्ट करता है और आपकी बहुत तारीफ करता है आपको बहुत मोटिवेट करता है नर जायज करता है इंस्पायरर करता है तो क्या होगा इस सोच का भी आपके पूरे व्यक्तित्व सारे बायोलॉजिकल और गंज पर असर पड़ेगा थोड़ा अलग तरीके का अब आपके दिमाग में थोड़ा सा शांति महसूस होगी दिल और दिमाग नॉर्मल काम करेंगे रक्त संचार सही रहेगा उसी की वजह से आपका चेहरा लाल लाल होता है नहीं होगा बहुत ही महसूस करेंगे डिलाइटेड महसूस करेंगे लाइट हल्का महसूस करेंगे और साथ में मोटिवेटेड भी महसूस करेंगे आपका मनोबल थोड़ा सा ऊपर जाएगा और इस बढ़े हुए मनोबल के साथ शांत दिमाग के साथ कुर्ती ले शरीर के साथ जो सिर्फ एक पॉजिटिव सोच से पैदा अब और कुछ आगे कर सकते हैं और अगर आपने नेगेटिव सोचा तो यही आपका शरीर दिल और दिमाग साथ देना बंद कर देता है फिर आप कुछ भी करते हैं वह मिठाई पड़ जाता है तो पॉजिटिव थिंकिंग से वाकई फायदा होता है बहुत फायदा होता है अगर आप सिर्फ पॉजिटिव सोचते ही हैं कोई एक्शन नहीं पी लेते हैं तो भी आर्टिस्ट आफ दिल दिमाग शरीर से स्वस्थ रहते हैं और स्वस्थ शरीर स्वस्थ दिमाग से आगे चलकर कोई भी काम करते हैं कोई भी एक्शन प्लान बनाते हैं कोई भी बनाते हैं कोई बिजनेस करना चाहते हैं अपनी जॉब में या अपने रिलेशनशिप आप हमेशा कुछ ना कुछ अच्छा ही कर पाएंगे और अच्छा करने का रिजल्ट भी अच्छा होगा लाइफ में खुशियां भी अच्छी आएगी वाकई में फायदा होता है बिल्कुल होता है और पॉजिटिव थिंकिंग को बढ़ाने के लिए अगर आपके पास आसपास अच्छा माहौल नहीं मिल रहा है कैसे घर में रह रहे हैं या ऐसे माहौल में रह रहे हैं या ऐसी जगह पर रह रहे हैं जहां पर बेवजह का तनाव फैला हुआ है लोगों के व्यवहार से बातचीत से या वर्क प्रेशर से किसी भी वजह से कुछ तनाव फैला हुआ है थोड़ा सा अपने आपको इस लायक बनाना पड़ेगा कि आप उस प्रेशर को उस तनाव को आसानी से ऐप्स और कर सकें समर्थक हैं और अपनी पॉजिटिव थिंकिंग को बढ़ाने के लिए नए-नए सोर्सेस ढूंढ सकें अच्छी बुक्स पढ़िए अच्छे वीडियोस देखिए अच्छी मूवीस देखिए अच्छे लोगों के साथ खुश मिजाज लोगों के साथ थोड़ा संपर्क में रहिए पॉजिटिव थिंकिंग अगर आपने अचीव कर ली तो आप जीवन में बहुत कुछ अजीब कर सकते हैं धन्यवाद

samadhi kya positive thinking ke baad hi fayda hota hai jawab haan ho sakta hai lekin italy haan ho sakta hai lekin usse pehle main positive thinking ke bare me thoda sa kuch kehna chah positive thinking se pehle hi samjhi thinking kya hai sochna kya hai kya karte hain aap isko hum sochna kehte hain sochne se hota kya hai jab bhi aap koi cheez soch rahe hote hain toh aapke andar bayolajikli scientifically medical bahut saare change S hote hain aapka pura sharir biological organ se bhara pada hai bahut saare biological park aapka dimag kharab ka dil aapke blood ka flow aapki KIDNEY aapke adrenal gland aur bahut saare chemical composition aapke bons aapki nurse yah sab kuch ek systematic ve me kaam karte hain aur jo aap sochte hain aur us soch ka izahar in sabhi chijon par asar padta hai vaah asar positive ho sakta hai vaah asar negative bhi ho sakta hai example ke liye agar aap kisi aise vyakti ke bare me ya aisi ghatna ke bare me sochna shuru karte hain jisme aapka bahut nuksan hua bahut beijjati ho gayi bahut saari problem so gayi aap us vyakti se dushmani ya bahut zyada khatas lekar apne man me baithe bare me sochte hain us din yah ghatna ke bare me poochne hain aapka mood of ho jata hai mood of hone ka matlab kya hua aapke dimag me thodi tension create ho jaati hai yah ek biology collect AK biological reaction hai aapki us soch ka jo aapke dimag me I hai aapka heartbeat badh jata hai aapke sharir me thoda tanaav mehsus hota hai station aisa jaati hai aap accha feel nahi karte hain thoda sa aur us samay aapka vyavhar bhi thoda chidchida ho jata hai aisa hi hota hai hua kya sirf aapne socha kisi buri ghatna ke bare me kisi Negative event ke bare me kisi Negative personality ke bare me aapne sirf socha iska ulta karke dekhiye aap kisi aise event ke bare me sochiye jis din aapko bahut zyada sammaan mila pyar mila bahut aapka manobal badha toh aapki tareef hui koi kisi aise vyakti ke bare me sochiye jo aapko bahut zyada moral support karta hai mandali support karta hai aur aapki bahut tareef karta hai aapko bahut motivate karta hai nar jayaj karta hai inspayarar karta hai toh kya hoga is soch ka bhi aapke poore vyaktitva saare biological aur ganj par asar padega thoda alag tarike ka ab aapke dimag me thoda sa shanti mehsus hogi dil aur dimag normal kaam karenge rakt sanchar sahi rahega usi ki wajah se aapka chehra laal laal hota hai nahi hoga bahut hi mehsus karenge dilaited mehsus karenge light halka mehsus karenge aur saath me motivated bhi mehsus karenge aapka manobal thoda sa upar jaega aur is badhe hue manobal ke saath shaant dimag ke saath kurtee le sharir ke saath jo sirf ek positive soch se paida ab aur kuch aage kar sakte hain aur agar aapne Negative socha toh yahi aapka sharir dil aur dimag saath dena band kar deta hai phir aap kuch bhi karte hain vaah mithai pad jata hai toh positive thinking se vaakai fayda hota hai bahut fayda hota hai agar aap sirf positive sochte hi hain koi action nahi p lete hain toh bhi artist of dil dimag sharir se swasthya rehte hain aur swasthya sharir swasthya dimag se aage chalkar koi bhi kaam karte hain koi bhi action plan banate hain koi bhi banate hain koi business karna chahte hain apni job me ya apne Relationship aap hamesha kuch na kuch accha hi kar payenge aur accha karne ka result bhi accha hoga life me khushiya bhi achi aayegi vaakai me fayda hota hai bilkul hota hai aur positive thinking ko badhane ke liye agar aapke paas aaspass accha maahaul nahi mil raha hai kaise ghar me reh rahe hain ya aise maahaul me reh rahe hain ya aisi jagah par reh rahe hain jaha par bewajah ka tanaav faila hua hai logo ke vyavhar se batchit se ya work pressure se kisi bhi wajah se kuch tanaav faila hua hai thoda sa apne aapko is layak banana padega ki aap us pressure ko us tanaav ko aasani se apps aur kar sake samarthak hain aur apni positive thinking ko badhane ke liye naye naye sources dhundh sake achi books padhiye acche videos dekhiye achi Movies dekhiye acche logo ke saath khush mizaaz logo ke saath thoda sampark me rahiye positive thinking agar aapne achieve kar li toh aap jeevan me bahut kuch ajib kar sakte hain dhanyavad

समाधि क्या पॉजिटिव थिंकिंग के बाद ही फायदा होता है जवाब हां हो सकता है लेकिन इटली हां हो स

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  392
WhatsApp_icon
user

Kankan Sarmah

Psychologist

1:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है क्या पॉजिटिव थिंकिंग से वाकई फायदा होता है दिल खुश है यह पॉजिटिव थिंकिंग से हम लोग हम लोगों का शरीर हम लोगों का मन जानकी तन मन धन इन तीनों दिशाएं पर आपको पॉजिटिविटी मिलेगा आपका मन सही है आपका मन मन में अगर पॉजिटिव थिंकिंग है पॉजिटिव उड़ जाए हैं तो आपके काम में भी उसका असर दिखाई देगा और जब आपका काम से ही है तो ओबेसली आपका ध्यान याने की लक्ष्मी भी आपके साथ ही होंगे तो इसीलिए आपका सोच विचार आपका व्यवहार आपका कर्म करने का जो तरीका है तो हमेशा आप पॉजिटिव थिंकिंग से कीजिए आप पॉजिटिव रही है अगर कुछ बुरा भी होता है तो आप उन बुराई में पॉजिटिव एनर्जी के साथ पॉजिटिव थिंकिंग के साथ उस बुराई को कैसे पॉजिटिव डायरेक्शन पर लाना चाहिए उसके बारे में आप थोड़ा सा चर्चा कीजिए देखिए क्या आपका जीवन सफल रहेगा

aapka prashna hai kya positive thinking se vaakai fayda hota hai dil khush hai yah positive thinking se hum log hum logo ka sharir hum logo ka man janki tan man dhan in tatvo dishaen par aapko positivity milega aapka man sahi hai aapka man man mein agar positive thinking hai positive ud jaaye hain toh aapke kaam mein bhi uska asar dikhai dega aur jab aapka kaam se hi hai toh obesali aapka dhyan yane ki laxmi bhi aapke saath hi honge toh isliye aapka soch vichar aapka vyavhar aapka karm karne ka jo tarika hai toh hamesha aap positive thinking se kijiye aap positive rahi hai agar kuch bura bhi hota hai toh aap un burayi mein positive energy ke saath positive thinking ke saath us burayi ko kaise positive direction par lana chahiye uske bare mein aap thoda sa charcha kijiye dekhiye kya aapka jeevan safal rahega

आपका प्रश्न है क्या पॉजिटिव थिंकिंग से वाकई फायदा होता है दिल खुश है यह पॉजिटिव थिंकिंग से

Romanized Version
Likes  163  Dislikes    views  2034
WhatsApp_icon
user

Manish Sharma

Hypnotherapist and Founder, SecondSightIndia

0:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल होता है पॉजिटिव थिंकिंग से जितनी भी हमारे थॉट्स है जो हमारा फ्यूचर होता है वह हमारे पर्सेंट के थॉट्स पर ही डिपेंड करता है ग्राम पॉजिटिव थॉट्स अभी रखते हैं तो आगे आने वाली हमारी लाइफ पॉजिटिव होगी हमेशा और पॉजिटिव थिंकिंग रखने से आपको ब्रेन के न्यूरॉन्स भी ज्यादा अच्छे तरीके से पैर होते हैं जिसकी वजह से हमारा मन शांत रहता है और साथ में डिप्रेशन नहीं जाती जैसी बीमारियां भी नहीं होते पहुंच चैटिंग क्यों रखने से

bilkul hota hai positive thinking se jitni bhi hamare thoughts hai jo hamara future hota hai vaah hamare percent ke thoughts par hi depend karta hai gram positive thoughts abhi rakhte hain toh aage aane wali hamari life positive hogi hamesha aur positive thinking rakhne se aapko brain ke neurons bhi zyada acche tarike se pair hote hain jiski wajah se hamara man shaant rehta hai aur saath mein depression nahi jaati jaisi bimariyan bhi nahi hote pohch chatting kyon rakhne se

बिल्कुल होता है पॉजिटिव थिंकिंग से जितनी भी हमारे थॉट्स है जो हमारा फ्यूचर होता है वह हमार

Romanized Version
Likes  158  Dislikes    views  2092
WhatsApp_icon
user

Neeraj Shukla

Philosopher || Avid Reader.

0:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दीक्षित बिल्कुल पॉजिटिव थिंकिंग से बहुत ज्यादा फायदा होता है और पॉजिटिव थिंकिंग ही एक ऐसी चीज है जो इंसान को इंसान बनाती हो और हमेशा पॉजिटिव सोचने वाले लोगों के पास आप देखेंगे कि वो पॉजिटिव एनर्जी से भरे होते हो आप पूछती रहने की बहुत ज्यादा जरूरी होती है जिस पोस्ट थिंकिंग के बहुत सारे फायदे हैं जैसा कि आपने एक पोस्ट पढ़ा होगा आवाज चौथ और देविका म्यूर वर्ड एंड वर्चुअल वर्ल्ड बेबी कम्युनिकेशंस वॉच और एक्शन बेबी कम्यून है वेट एंड वॉच यू हैव इट विल बी कमिंग कैरेक्टर कैरेक्टर आईटी कम्स योर डेस्टिनी विचार से जो चली वो आपके शब्दों में परिवर्तित हुई और शब्द आपके एक्शंस में परिवर्तित हुई हानि कार्य में और कार्य आपके परिवर्तित हो गए आदत में और आपकी आदत ने आपका एक चरित्र बना दिया और आपके चरित्र ने आपकी सफलता तक आपको पहुंचा दिया

dixit bilkul positive thinking se bahut zyada fayda hota hai aur positive thinking hi ek aisi cheez hai jo insaan ko insaan banati ho aur hamesha positive sochne waale logo ke paas aap dekhenge ki vo positive energy se bhare hote ho aap puchti rehne ki bahut zyada zaroori hoti hai jis post thinking ke bahut saare fayde jaisa ki aapne ek post padha hoga awaaz chauth aur devika myur word and virtual world baby kamyunikeshans watch aur action baby commune hai wait and watch you have it will be coming character character it comes your destiny vichar se jo chali vo aapke shabdon mein parivartit hui aur shabd aapke ekshans mein parivartit hui hani karya mein aur karya aapke parivartit ho gaye aadat mein aur aapki aadat ne aapka ek charitra bana diya aur aapke charitra ne aapki safalta tak aapko pohcha diya

दीक्षित बिल्कुल पॉजिटिव थिंकिंग से बहुत ज्यादा फायदा होता है और पॉजिटिव थिंकिंग ही एक ऐसी

Romanized Version
Likes  60  Dislikes    views  1218
WhatsApp_icon
user

Veer Bhupinder Singh Ji

The Visionary, www.thelivingtreasure.org

2:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां जी इन्होंने अपने आप ही बोल दिया कि मुझे लगता नहीं है कि पॉजिटिव थिंकिंग से फायदा होता तो इसका मतलब टीमों के पास पॉजिटिव थिंकिंग है नहीं है मैं उनको नहीं कर सकता उनके क्वेश्चन से निकल के आ रहा है परंतु जब पास में हो तो उसके रिजल्ट आउट गुटर गू देखने से ही महसूस करने से ही पता लगता क्या बेनिफिट प्रेक्टिस करने से पॉजिटिव थिंकिंग होती है ना देखो घर में पड़ी और मानसिंह का एग्जांपल बनाते हैं कि 11:00 बजे शब्दों का चूल्हा जलाने वाली छोरी के सुपर मार्केट खुली नहीं है तो भी पॉजिटिव थिंकिंग शुरू कर देती है तो प्यार को ही उसको रात में डालकर गर्म करके उसको घूम कर दे देती तो पॉजिटिव थिंकिंग हमसे जो कुछ कर आती है उसके बड़े अच्छे रिक्वेस्ट निकलते हैं और रिजल्ट को देखना रिजल्ट को मैसेज करने वाली आंखें हमारी बॉडी लैंग्वेज हमारा मन हमारी मन की आंखों से पॉजिटिव थिंकिंग बड़ा अच्छा सब्जेक्ट है बातों से तो मेरी रिक्वेस्ट फॉर पॉजिटिव थिंकिंग को एंट्री टू गेट द नेगेटिव थिंकिंग बड़ी नकारात्मक शक्ति सिंह के घर में मेहमान के बारे में बताइए मान जाएगा कब जाती है तो वर्क ऑफ वर्ल्ड पॉजिटिव थिंकिंग एंड ड्राइव टू यशोदा

haan ji inhone apne aap hi bol diya ki mujhe lagta nahi hai ki positive thinking se fayda hota toh iska matlab teamo ke paas positive thinking hai nahi hai unko nahi kar sakta unke question se nikal ke aa raha hai parantu jab paas mein ho toh uske result out gutar goo dekhne se hi mehsus karne se hi pata lagta kya benefit practice karne se positive thinking hoti hai na dekho ghar mein padi aur mansinh ka example banate hain ki 11 00 baje shabdon ka chulha jalane wali chhori ke super market khuli nahi hai toh bhi positive thinking shuru kar deti hai toh pyar ko hi usko raat mein dalkar garam karke usko ghum kar de deti toh positive thinking humse jo kuch kar aati hai uske bade acche request nikalte hain aur result ko dekhna result ko massage karne wali aankhen hamari body language hamara man hamari man ki aankho se positive thinking bada accha subject hai baaton se toh meri request for positive thinking ko entry to gate the Negative thinking badi nakaratmak shakti Singh ke ghar mein mehmaan ke bare mein bataye maan jaega kab jaati hai toh work of world positive thinking and drive to yashoda

हां जी इन्होंने अपने आप ही बोल दिया कि मुझे लगता नहीं है कि पॉजिटिव थिंकिंग से फायदा होता

Romanized Version
Likes  109  Dislikes    views  1212
WhatsApp_icon
user

Mohit Kumar Kakkar(Armaan)

Personality Development Trainer

1:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गुड मॉर्निंग फ्रेंड आपका क्वेश्चन है क्या पॉजिटिव थिंकिंग से वाकई फायदा होता है हां जी बिल्कुल फायदा होता है ऑडिट इन हिंदी रखने से आपका नजरिया पॉजिटिव होता है आप चीजों चीजों के और सिचुएशन के अच्छे पहलुओं को देखते हैं फ्रेंड्स जैसा हम सोचते हैं वैसा ही हम बोलते हैं और करते हैं और वैसा ही रिजल्ट निकलता है मान लीजिए अगर आप हर दम हर वक्त नेगेटिव सोचते हैं तो अब नहीं बोलेंगे और नहीं भी करेंगे उसका रिजल्ट भी नेगेटिव ही निकलेगा इसकी बजाय अगर आप पॉजिटिव सोचेंगे तो अच्छा बोलेंगे भी निकलेगा फ्रेंड्स पॉजिटिव थिंकिंग गुलाब के पौधे की तरह है जिसको अगर आप अपनी लाइफ में लगाते हैं तो और लगाते हैं और उसको दिल्ली पोस्टिंग पोस्ट की स्पीड देते हैं तो जो गुलाब का पौधा है वह बड़ा होकर आपकी लाइफ में खुशबू की खुशबू पहला देता है आपकी लाइफ खुशबू से भर जाती थिंकिंग रखने के बैठ जाना

good morning friend aapka question hai kya positive thinking se vaakai fayda hota hai haan ji bilkul fayda hota hai audit in hindi rakhne se aapka najariya positive hota hai aap chijon chijon ke aur situation ke acche pahaluwon ko dekhte hain friends jaisa hum sochte hain waisa hi hum bolte hain aur karte hain aur waisa hi result nikalta hai maan lijiye agar aap har dum har waqt Negative sochte hain toh ab nahi bolenge aur nahi bhi karenge uska result bhi Negative hi niklega iski bajay agar aap positive sochenge toh accha bolenge bhi niklega friends positive thinking gulab ke paudhe ki tarah hai jisko agar aap apni life me lagate hain toh aur lagate hain aur usko delhi posting post ki speed dete hain toh jo gulab ka paudha hai vaah bada hokar aapki life me khushboo ki khushboo pehla deta hai aapki life khushboo se bhar jaati thinking rakhne ke baith jana

गुड मॉर्निंग फ्रेंड आपका क्वेश्चन है क्या पॉजिटिव थिंकिंग से वाकई फायदा होता है हां जी बिल

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  183
WhatsApp_icon
user

Rihan Shah

I want to become An IAS Officer (Love Realationship Full Experience)

0:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपके पास अगर यह सब चीज चीज हैं पॉजिटिव थिंक में आपकी अच्छी है तो आपको वकील अचीव करने में गए किसी का सहारा नहीं लेना पड़ेगा आपकी यह किन-किन आप को आगे ले जाने में आपकी मदद चाहिए आपकी हेल्प करेंगे

aapke paas agar yah sab cheez cheez hain positive think mein aapki achi hai toh aapko vakil achieve karne mein gaye kisi ka sahara nahi lena padega aapki yah kin kin aap ko aage le jaane mein aapki madad chahiye aapki help karenge

आपके पास अगर यह सब चीज चीज हैं पॉजिटिव थिंक में आपकी अच्छी है तो आपको वकील अचीव करने में ग

Romanized Version
Likes  23  Dislikes    views  571
WhatsApp_icon
user

Satyanarayan Gurjar

Motivation Speaker ....SN UPSC MOTIVATION

0:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो सर मेरा नाम सत्यनारायण गुर्जर और मैं राजस्थान के अजमेर जिले से हूं सर आपको ट्यूशन है कि क्या पॉजिटिव थिंकिंग सेवा के फायदा होता है यह सर बिल्कुल पॉजिटिव इन के बहुत फायदे क्योंकि हम पॉजिटिव रहेंगे ना तो हमें सभी लोगों को मैं पुष्टि दिखेगी जैसे हम अच्छे तो दूसरे लोग देखेंगे अच्छे लोग हमेशा दूसरों करते हैं और वह हर कुछ अच्छा ढूंढने के लिए सोचते हैं कभी आपको कभी भी गुस्सा आए इसके बारे में थोड़ा बहुत कूल करके यह सोचना उसके चाहिए सूचना आपको आकर सर बहुत अच्छा लगेगा और आप जाग जाए वहां ज्यादा से ज्यादा पॉजिटिविटी खोजें और चकराता के साथ जीवन में आगे बढ़ते रहें जय हिंद जय भारत

hello sir mera naam satyanarayana gurjar aur main rajasthan ke ajmer jile se hoon sir aapko tuition hai ki kya positive thinking seva ke fayda hota hai yah sir bilkul positive in ke bahut fayde kyonki hum positive rahenge na toh hamein sabhi logo ko main pushti dikhegi jaise hum acche toh dusre log dekhenge acche log hamesha dusro karte hain aur vaah har kuch accha dhundhne ke liye sochte hain kabhi aapko kabhi bhi gussa aaye iske bare me thoda bahut cool karke yah sochna uske chahiye soochna aapko aakar sir bahut accha lagega aur aap jag jaaye wahan zyada se zyada positivity khojen aur chakrata ke saath jeevan me aage badhte rahein jai hind jai bharat

हेलो सर मेरा नाम सत्यनारायण गुर्जर और मैं राजस्थान के अजमेर जिले से हूं सर आपको ट्यूशन है

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  142
WhatsApp_icon
user

Mausam Babbar and, Dr. Rishu Singh

Managing Directors - Risham IAS Academy

3:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां पॉजिटिव थिंकिंग सेवा की फायदा होता है क्योंकि जब आप पॉजिटिव सोचते हैं सकारात्मक सोचते हैं तुम व्हाट्सएप कि आपके जीवन को सफलता की तरफ ले जाती है जैसे कि आपको कोई काम करना है और उस काम में आपका दिल है कि आप जरूर करें और आप ही सोचते हैं कि हां मैं कर लूंगा आई कैन डू एनीथिंग तो आपका वह काम जरूर से जरूर हो जाएगा और अगर आप यह सोचते हैं कि नहीं हो पाएगा आपकी थिंकिंग जो है वह नेगेटिव है तो उसने चुल है उसके अंदर कहीं ना कहीं रुकावटें जरूर आएगी कोई ना कोई और से कल जरूर आएगी जैसे कि अगर आपने सीक्रेट को भी देखा हो तो उसमें यह होता है कि अगर आपको जो भी चीज सूरत से मांगते हैं जो भी चीज जैसे भी आप बोलते हैं तो कुदरत ने वो काम करना शुरू कर देना होता है उसको उस से मतलब नहीं है कि आप पॉजिटिव एंड नेगेटिव है कि माना कि आपने ऑफिस पहुंचना है और आप घर से निकलते हैं तो आपने यह रोजमर्रा जिंदगी में अपनाएंगे तो आपको पता भी चल जाएगा कि आपने ऑफिस जल्दी पहुंचना है और आप जल्दी से निकल रहे हैं और चलते चलते चलते चलते आपको लगता है कि हां मैं टाइम से पहुंच जाऊं तो यह आपकी पार्टी देंगे जो आपको टाइम से पहुंच जाएगी ही क्योंकि आप उसी के कोडिंग चलते चले जाएंगे लेकिन इसी के विपरीत अगर हम उदाहरण दे तू अगर आप यह सोचते हैं कि नहीं मैं नहीं पहुंच पाउंगा कैसे पहुंच लूंगा कुछ ना कुछ हो जाएगा लेट हो जाएगा अगर टायर पंचर हो गया तू अगर मुझे आगे रेलवे क्रॉसिंग बंद मिला तो अगर मुझे और तुम ना मिला तो बहुत सारी ऐसी आपके माइंड में आ जाती है जिन्हें नेगेटिव थिंकिंग कहा जाता है जब यह चीज है आती है तो आप चाहे कितना भी टाइम से निकले हो आप टाइम से नहीं पहुंच पाए कि आपका जो माइंड है वह नेचर को कह रहा है कि आप नहीं पहुंच पाएंगे तो उसमें क्या होता है कि आपके हाथ में फाइल है आपकी फाइल ही गिर जाएगी आप उसे उठाने में टाइम में वक्त लगाएंगे अभी नीचे पहुंचे एक जरूरी चीज तो ऊपर रह गया अभी नीचे लेकर आ रहे हैं इतने में पता चलता है कि मोबाइल ऊपर रहेगी तू आगे चलते हैं तू आगे जाम लगा हुआ है ऐसा होता है क्योंकि आपकी जो नेगेटिव थिंकिंग है वह सारी उद्योग को यह मैसेज दे रही है कि उसे लेट होना है उसी तरह की बाधाएं आपकी जिंदगी में आपके आने में आती जाती है तो 5 से 3 दिन से यही फायदा होता है कि जो भी आप अच्छा अच्छा अपने लिए सोचते हम उस सब को जिंदगी में सफल सोने के लिए होता है

ji haan positive thinking seva ki fayda hota hai kyonki jab aap positive sochte hain sakaratmak sochte hain tum whatsapp ki aapke jeevan ko safalta ki taraf le jaati hai jaise ki aapko koi kaam karna hai aur us kaam me aapka dil hai ki aap zaroor kare aur aap hi sochte hain ki haan main kar lunga I can do anything toh aapka vaah kaam zaroor se zaroor ho jaega aur agar aap yah sochte hain ki nahi ho payega aapki thinking jo hai vaah Negative hai toh usne chul hai uske andar kahin na kahin rookaavatein zaroor aayegi koi na koi aur se kal zaroor aayegi jaise ki agar aapne secret ko bhi dekha ho toh usme yah hota hai ki agar aapko jo bhi cheez surat se mangate hain jo bhi cheez jaise bhi aap bolte hain toh kudrat ne vo kaam karna shuru kar dena hota hai usko us se matlab nahi hai ki aap positive and Negative hai ki mana ki aapne office pahunchana hai aur aap ghar se nikalte hain toh aapne yah rozmarra zindagi me apanaenge toh aapko pata bhi chal jaega ki aapne office jaldi pahunchana hai aur aap jaldi se nikal rahe hain aur chalte chalte chalte chalte aapko lagta hai ki haan main time se pohch jaaun toh yah aapki party denge jo aapko time se pohch jayegi hi kyonki aap usi ke coding chalte chale jaenge lekin isi ke viprit agar hum udaharan de tu agar aap yah sochte hain ki nahi main nahi pohch paunga kaise pohch lunga kuch na kuch ho jaega late ho jaega agar tyre puncher ho gaya tu agar mujhe aage railway crossing band mila toh agar mujhe aur tum na mila toh bahut saari aisi aapke mind me aa jaati hai jinhen Negative thinking kaha jata hai jab yah cheez hai aati hai toh aap chahen kitna bhi time se nikle ho aap time se nahi pohch paye ki aapka jo mind hai vaah nature ko keh raha hai ki aap nahi pohch payenge toh usme kya hota hai ki aapke hath me file hai aapki file hi gir jayegi aap use uthane me time me waqt lagayenge abhi niche pahuche ek zaroori cheez toh upar reh gaya abhi niche lekar aa rahe hain itne me pata chalta hai ki mobile upar rahegi tu aage chalte hain tu aage jam laga hua hai aisa hota hai kyonki aapki jo Negative thinking hai vaah saari udyog ko yah massage de rahi hai ki use late hona hai usi tarah ki baadhayain aapki zindagi me aapke aane me aati jaati hai toh 5 se 3 din se yahi fayda hota hai ki jo bhi aap accha accha apne liye sochte hum us sab ko zindagi me safal sone ke liye hota hai

जी हां पॉजिटिव थिंकिंग सेवा की फायदा होता है क्योंकि जब आप पॉजिटिव सोचते हैं सकारात्मक सोच

Romanized Version
Likes  311  Dislikes    views  3155
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!