जीवन से हम इतना डरते क्यों हैं?...


user

positive patidaar

Celebrity & Tycoon's Trainer ,yoga Entrepreneur..aanando Parmo Dharm

2:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीवन से हम इतना डरते क्यों हो रही वह यह तो एक बहुत ही निजी तम व्यक्तिगत अनुभव की बात है कौन जीवन को किस तरह से देखता है और कैसे लेता है और कैसे माहौल में वह बढ़ा हुआ है उसका क्या एजुकेशन रहा है और आगे अपने फ्यूचर के कैसे प्लान कर रहा है उस पर कोई लोग बहुत छोटी-छोटी बात नहीं डर जाते और कोई बहुत ही निडर और निर्भय स्वभाव के होते तो मेरा ऐसा मानना है कि लोग जीवन को किस तरह से देखते हैं अपने सेल्फ को अपने खुद के व्यक्तित्व को कहां पर हो पोजीशन को देखते हैं उस पर उनके मनोदशा का निर्भर करता है कि बॉर्डर में जीता है फिर या निडर होकर जीते पर एक कहावत भी है कि साहस से सिद्धि होती है तो अगर जीवन में कुछ भी लगता श्री करना है या गे बढ़ना है कुछ भी उन्नति आतंकी करना है तो आपको उतना साल से दिखाना ही होगा आप अगर किसी भी क्षेत्र के लिए या किसी भी काम के लिए आप साथ नहीं दिखाओगे तो जीवन बड़ा सा भौजी लगेगा डरा डरा हुआ लगेगा या आपकी दूसरों पर निर्भर था जितनी ज्यादा रहेगी जिद्दी डिपेंडेंसी ज्यादा रहेगी उतना आप का डर और खौफ बढ़ता जाएगा तो सबसे पहले आप अपने आपको डिपेंड करना कम करते जाइए जितना आप लोगों पर डिपेंड कम होते जाओगे उतना आपका जीवन ज्यादा सुलगता जाएगा ज्यादा निर्भय होते जाओगे और जितनी आप लाइफ में चले जिस तकलीफ एयर चने और आपत्तियों का सामना करोगे उतने आप मन से और आत्मविश्वास आपका और मजबूत होता जाएगा तो यही जीवन की अगर एक मोटा मोटा गणित देखे तो यही एक जीवन की फिल्मों की है कि आपको जीवन में जो जो अनुभव करते हो उस हिसाब से आपका व्यक्तित्व बनता जाता है उस हिसाब से आप की मनोदशा डिवेलप होती है तो मैं तो अपनी और से कहूंगा कि बिल्कुल भी नहीं डरना चाहिए बहुत ही निडर होकर जीवन जीना चाहिए बहुत ही सुंदर तम बेटे ईश्वर की मनुष्य अवतार मिला है हमें तो बहुत ही अच्छे से प्यार मोहब्बत से और निर्भयता से जीना चाहिए और जीवन में आगे बढ़ते रहना चाहिए धन्यवाद

jeevan se hum itna darte kyon ho rahi vaah yah toh ek bahut hi niji tum vyaktigat anubhav ki baat hai kaun jeevan ko kis tarah se dekhta hai aur kaise leta hai aur kaise maahaul me vaah badha hua hai uska kya education raha hai aur aage apne future ke kaise plan kar raha hai us par koi log bahut choti choti baat nahi dar jaate aur koi bahut hi nidar aur nirbhay swabhav ke hote toh mera aisa manana hai ki log jeevan ko kis tarah se dekhte hain apne self ko apne khud ke vyaktitva ko kaha par ho position ko dekhte hain us par unke manodasha ka nirbhar karta hai ki border me jita hai phir ya nidar hokar jeete par ek kahaavat bhi hai ki saahas se siddhi hoti hai toh agar jeevan me kuch bhi lagta shri karna hai ya gay badhana hai kuch bhi unnati aatanki karna hai toh aapko utana saal se dikhana hi hoga aap agar kisi bhi kshetra ke liye ya kisi bhi kaam ke liye aap saath nahi dikhaoge toh jeevan bada sa bhauji lagega dara dara hua lagega ya aapki dusro par nirbhar tha jitni zyada rahegi jiddi dipendensi zyada rahegi utana aap ka dar aur khauf badhta jaega toh sabse pehle aap apne aapko depend karna kam karte jaiye jitna aap logo par depend kam hote jaoge utana aapka jeevan zyada sulagata jaega zyada nirbhay hote jaoge aur jitni aap life me chale jis takleef air chane aur apattiyon ka samana karoge utne aap man se aur aatmvishvaas aapka aur majboot hota jaega toh yahi jeevan ki agar ek mota mota ganit dekhe toh yahi ek jeevan ki filmo ki hai ki aapko jeevan me jo jo anubhav karte ho us hisab se aapka vyaktitva banta jata hai us hisab se aap ki manodasha develop hoti hai toh main toh apni aur se kahunga ki bilkul bhi nahi darna chahiye bahut hi nidar hokar jeevan jeena chahiye bahut hi sundar tum bete ishwar ki manushya avatar mila hai hamein toh bahut hi acche se pyar mohabbat se aur nirbhayata se jeena chahiye aur jeevan me aage badhte rehna chahiye dhanyavad

जीवन से हम इतना डरते क्यों हो रही वह यह तो एक बहुत ही निजी तम व्यक्तिगत अनुभव की बात है कौ

Romanized Version
Likes  43  Dislikes    views  357
WhatsApp_icon
30 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Umesh kumar

Lecturer & Brain Guru ,Finger Prints Consultant

1:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका क्वेश्चन जीवन से हम इतना डरते क्यों हैं दोस्त मैं बताना चाहूंगा कि हमें जीवन से डरना नहीं चाहिए अगर डरते हैं तो क्योंकि जब हम समझ जाते हैं तो नहीं लगी क्योंकि जीवन एक युद्ध है और इस युद्ध में एक आदमी को जीवन पर्यंत करना पड़ता है संघर्ष करना पड़ता है जो ईद में विजेता रहता है वहीं क्या कहलाता है वही योद्धा खेल आता है वही जोधा कहलाता है और अगर जो यज्ञ मैदान छोड़कर भागता है वह कायर खिलाता है इसलिए जीवन एक संघर्ष है उससे डरना नहीं चाहिए हमें संघर्ष करते हुए और अपने जीवन में चाहिए ऐसा मेरा मानना है परेशानियां आती रहती लेकिन परेशानियों को कभी भी अपने से बढ़ाना सजीवन अमूल्य है उसकी कीमत को समझें और आप ईश्वर के द्वारा खुदा के द्वारा लकी द्वारा दिया गया यह सबसे अमृतम रूपीस का अच्छे से उपयोग करें ऐसा हमारा मानना है धन्यवाद

namaskar aapka question jeevan se hum itna darte kyon hain dost main batana chahunga ki hamein jeevan se darna nahi chahiye agar darte hain toh kyonki jab hum samajh jaate hain toh nahi lagi kyonki jeevan ek yudh hai aur is yudh me ek aadmi ko jeevan paryant karna padta hai sangharsh karna padta hai jo eid me vijeta rehta hai wahi kya kehlata hai wahi yodha khel aata hai wahi jodha kehlata hai aur agar jo yagya maidan chhodkar bhagta hai vaah kayar khilata hai isliye jeevan ek sangharsh hai usse darna nahi chahiye hamein sangharsh karte hue aur apne jeevan me chahiye aisa mera manana hai pareshaniya aati rehti lekin pareshaniyo ko kabhi bhi apne se badhana sajivan amuly hai uski kimat ko samajhe aur aap ishwar ke dwara khuda ke dwara lucky dwara diya gaya yah sabse amritam Rupees ka acche se upyog kare aisa hamara manana hai dhanyavad

नमस्कार आपका क्वेश्चन जीवन से हम इतना डरते क्यों हैं दोस्त मैं बताना चाहूंगा कि हमें जीवन

Romanized Version
Likes  31  Dislikes    views  308
WhatsApp_icon
user

Pramod Kushwaha

famous Motivational Guru N Painter

0:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं मोटिवेशनल गुरु प्रमोद कुशवाहा आपका वो कल मैं स्वागत करता हूं किसी ने प्रश्न किया जीवन से हम इतना डरता क्यों जीवन में डर पैसे का कारण लगता है आदमी स्मार्ट नहीं होता पैसा स्मार्ट होता है अगर आपके पास टाइम है तो आप कुछ भी खरीद सकते हैं उसे भेज सकते हैं कुछ भी किया जा सकता है तो जब आप एक भी पैसा खर्च ना करें मगर बैंक में आपके पास कुछ लाख रुपए जमा है तो आपकी मानसिक स्थिति बिल्कुल सही रहती है आपको डर नहीं रहता कोई बीमारी आ जाए कोई प्रॉब्लम है क्या आपको पता है कि आपके पास जाने अगर आपके पास धन है तो आपकी मानसिक स्थिति सही रहती है और आपको डर लगता है कि आपके पास अगर आपके पास जाना है तो डरा खत्म हो जाए

main Motivational guru pramod kushwaha aapka vo kal main swaagat karta hoon kisi ne prashna kiya jeevan se hum itna darta kyon jeevan me dar paise ka karan lagta hai aadmi smart nahi hota paisa smart hota hai agar aapke paas time hai toh aap kuch bhi kharid sakte hain use bhej sakte hain kuch bhi kiya ja sakta hai toh jab aap ek bhi paisa kharch na kare magar bank me aapke paas kuch lakh rupaye jama hai toh aapki mansik sthiti bilkul sahi rehti hai aapko dar nahi rehta koi bimari aa jaaye koi problem hai kya aapko pata hai ki aapke paas jaane agar aapke paas dhan hai toh aapki mansik sthiti sahi rehti hai aur aapko dar lagta hai ki aapke paas agar aapke paas jana hai toh dara khatam ho jaaye

मैं मोटिवेशनल गुरु प्रमोद कुशवाहा आपका वो कल मैं स्वागत करता हूं किसी ने प्रश्न किया जीवन

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  194
WhatsApp_icon
user

Pradeep Solanki

Corporate Yoga Consultant

1:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीवन में डरना एक स्वाभाविक प्रक्रिया है नेचुरल है शरीर का रिएक्शन है करोगे नहीं तो आपको कोई मार देगा ओके मनोज जंगल पर है तू जो जानवर है वह अपने से बड़े जानवर से डरेगा एक तो भाविक प्रक्रिया इसमें कुछ गलत नहीं है लेकिन आमतौर पर हम जब आजकल के आम जिंदगी में डरते हैं तो मतलब ज्यादातर हम रिस्क लेने से डरते हो जाएगा तो यह हो जाएगा और अब बहुत ज्यादा कैलकुलेट करते हैं तो कोई भी छोटा सा काम कर रहे हो रामपुर की फिल्म कुछ कर ही नहीं पाते जिंदगी भर हम डरते रहते हैं तो नॉर्मल डरना ठीक है आप लोगे नहीं तो शरीर आपके लायक नहीं करेगा कोई जानवर आपको काट लेगा ना करोगे नहीं तो अगर आप सांड के आगे आ रहे हो आप किधर हो भागना नहीं दोगे तो आपको मार देगा तो डरना लेकिन उसको हर चीज में डाल दोगे कोई भी चीज करते हो पहले डरना शुरु कर दोगे तो आपकी जिंदगी थोड़ी कठिन हो जाएगी

jeevan me darna ek swabhavik prakriya hai natural hai sharir ka reaction hai karoge nahi toh aapko koi maar dega ok manoj jungle par hai tu jo janwar hai vaah apne se bade janwar se darega ek toh bhavik prakriya isme kuch galat nahi hai lekin aamtaur par hum jab aajkal ke aam zindagi me darte hain toh matlab jyadatar hum risk lene se darte ho jaega toh yah ho jaega aur ab bahut zyada calculate karte hain toh koi bhi chota sa kaam kar rahe ho rampur ki film kuch kar hi nahi paate zindagi bhar hum darte rehte hain toh normal darna theek hai aap loge nahi toh sharir aapke layak nahi karega koi janwar aapko kaat lega na karoge nahi toh agar aap saand ke aage aa rahe ho aap kidhar ho bhaagna nahi doge toh aapko maar dega toh darna lekin usko har cheez me daal doge koi bhi cheez karte ho pehle darna shuru kar doge toh aapki zindagi thodi kathin ho jayegi

जीवन में डरना एक स्वाभाविक प्रक्रिया है नेचुरल है शरीर का रिएक्शन है करोगे नहीं तो आपको को

Romanized Version
Likes  36  Dislikes    views  378
WhatsApp_icon
user

Nishant Kr. Sharma

Social Worker And Advocate

1:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीवन में हमारे घर के बहुत सारे कारण होते हैं सबसे बड़ा कारण टाइम हो हमें ऐसे बंधन में बांध देता है कि हमें जो अपने हैं हमारे परिवार है हमें उससे महू हो जाता है कि यह मेरे अपने हैं हमें उन्हें छोड़कर जाने में डर लगता है या हम आगे की सोच के पता नहीं कैसा होगा आया मेरे बाद कैसा होगा कैसे सब्जी आएंगे यह सोचकर हमें डर लगता है परंतु देखिए आज तक आप हमारे होने ना होने से इस संसार की गति नहीं रुकती यह संसार अपनी गति से जो आप का डर है वह बेवजह जब आप नहीं थे तो भी यह संसार चल रहा था जवाब नहीं हो तब भी यह संसार चल रहा होगा आज आप है तब भी यह संसार अपनी गति से चल रहा है तो यह जान के चलिए हमारे दर का जो कारण होता है सबसे बड़ा कारण हमारा मुंह और लोग है अपनों के प्रति जो हमारा मुंह और इस जीवन का लालच हमारी डर की मुख्य वजह

jeevan me hamare ghar ke bahut saare karan hote hain sabse bada karan time ho hamein aise bandhan me bandh deta hai ki hamein jo apne hain hamare parivar hai hamein usse mahu ho jata hai ki yah mere apne hain hamein unhe chhodkar jaane me dar lagta hai ya hum aage ki soch ke pata nahi kaisa hoga aaya mere baad kaisa hoga kaise sabzi aayenge yah sochkar hamein dar lagta hai parantu dekhiye aaj tak aap hamare hone na hone se is sansar ki gati nahi rukti yah sansar apni gati se jo aap ka dar hai vaah bewajah jab aap nahi the toh bhi yah sansar chal raha tha jawab nahi ho tab bhi yah sansar chal raha hoga aaj aap hai tab bhi yah sansar apni gati se chal raha hai toh yah jaan ke chaliye hamare dar ka jo karan hota hai sabse bada karan hamara mooh aur log hai apnon ke prati jo hamara mooh aur is jeevan ka lalach hamari dar ki mukhya wajah

जीवन में हमारे घर के बहुत सारे कारण होते हैं सबसे बड़ा कारण टाइम हो हमें ऐसे बंधन में बांध

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  81
WhatsApp_icon
user

Er. Vikas Sharma

Entrepreneur - Life Advisor - Writer

1:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी बिल्कुल हमें जीवन से डर नहीं लगता हमें जीवन जीने से डर लगता है अर्थात हमें उस टेंशन जैसे डर या अस्थिरता से डर लगता है कि कल क्या होगा यह मिस यू चेंज करते हैं क्योंकि हम जो पीछे देखते हैं तो अस्थिरता जीवन में है और आगे क्या स्थिरता उससे हम डरते हैं मान लीजिए अभी डर लोगों को करुणा से ज्यादा हम जीवित कैसे रहेंगे वह चीज का डर है मैं मानता हूं कि आज से 100 साल से 200 साल से 300 साल पहले भी तो लोग जी रहे थे वह भी तो इतना ज्यादा 819 जी के बेटे पर नहीं थे तो वह भी तो जिए उन्होंने तो कुछ किया होगा ना लाइफ में तो डर हमें अस्थिरता का है बाकी हम और किसी चीज का डर नहीं है या किसी चीज को खोने से डरते हैं या वह नहीं मिला तब यह हम दूसरे पर ज्यादा से ज्यादा एक आधारित जो जीवन हमने कर लिया है इस समय तो वही एक डर है जो जीवन में खाए जा रहा है

ji bilkul hamein jeevan se dar nahi lagta hamein jeevan jeene se dar lagta hai arthat hamein us tension jaise dar ya asthirata se dar lagta hai ki kal kya hoga yah miss you change karte hain kyonki hum jo peeche dekhte hain toh asthirata jeevan me hai aur aage kya sthirta usse hum darte hain maan lijiye abhi dar logo ko corona se zyada hum jeevit kaise rahenge vaah cheez ka dar hai main maanta hoon ki aaj se 100 saal se 200 saal se 300 saal pehle bhi toh log ji rahe the vaah bhi toh itna zyada 819 ji ke bete par nahi the toh vaah bhi toh jiye unhone toh kuch kiya hoga na life me toh dar hamein asthirata ka hai baki hum aur kisi cheez ka dar nahi hai ya kisi cheez ko khone se darte hain ya vaah nahi mila tab yah hum dusre par zyada se zyada ek aadharit jo jeevan humne kar liya hai is samay toh wahi ek dar hai jo jeevan me khaye ja raha hai

जी बिल्कुल हमें जीवन से डर नहीं लगता हमें जीवन जीने से डर लगता है अर्थात हमें उस टेंशन जैस

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  82
WhatsApp_icon
user

Ankur Kanwar

Yoga Teacher

0:26
Play

Likes  16  Dislikes    views  132
WhatsApp_icon
user

Manoj Kumar

Spiritual Knowdge / working as a Social Worker

1:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भाई इस अनमोल जीवन से वही करेगा जिसको इस लालरोपी जीवन की कीमत बताना यह मानुष जन्म बहुत ही दुर्लभ है परमात्मा कहते हैं कि मानुष जन्म दुर्लभ है मिले ना बारंबार जैसे तवर से पत्ता टूट गिरे बहुर ना लगता डाल एक पर यह मनुष्य शरीर अगर छूट गया तो फिर दोबारा आसानी से प्राप्त नहीं होता दिल लाकर पेल करो सनम प्राप्त करते हैं और अगर इसे भी हम यह सोचेंगे कि इसमें भी करेंगे जीवन प्राप्त कर तो कैसे इसका लाभ जीवन का हम उपस्थित लाभ हमें तभी है इस जीवन के प्राप्त होने का जब हम पूर्ण संत द्वारा भक्ति के आधार पर उनके बताए मार्ग पर चलकर मोक्ष प्राप्ति कर ले यानी इस जन्म मरण से पीछा छुड़ाने अगर आप इस विषय में ज्यादा जानकारी चाहते हैं प्रतिदिन अवश्य देखें साधना टीवी 7:30 पीएम से 8:30 पीएम

bhai is anmol jeevan se wahi karega jisko is lalropi jeevan ki kimat batana yah maanush janam bahut hi durlabh hai paramatma kehte hain ki maanush janam durlabh hai mile na barambar jaise tavar se patta toot gire bahur na lagta daal ek par yah manushya sharir agar chhut gaya toh phir dobara aasani se prapt nahi hota dil lakar pale karo sanam prapt karte hain aur agar ise bhi hum yah sochenge ki isme bhi karenge jeevan prapt kar toh kaise iska labh jeevan ka hum upasthit labh hamein tabhi hai is jeevan ke prapt hone ka jab hum purn sant dwara bhakti ke aadhar par unke bataye marg par chalkar moksha prapti kar le yani is janam maran se picha chudane agar aap is vishay me zyada jaankari chahte hain pratidin avashya dekhen sadhna TV 7 30 pm se 8 30 pm

भाई इस अनमोल जीवन से वही करेगा जिसको इस लालरोपी जीवन की कीमत बताना यह मानुष जन्म बहुत ही द

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  46
WhatsApp_icon
user

ankit mehta

speaker/social activitie

1:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एयरप्लेन संजीव से नहीं डरता अर्थात जीवन से नहीं डरता इंसान मृत्यु से डरता है क्योंकि उसको मृत्यु की अनिश्चितता का भाई है कभी भी आ सकती है और क्योंकि इंसान एक सामाजिक प्राणी है एक पारिवारिक रानी है तो हर समय उसे परिवार के बंधनों का परिवार की जिम्मेदारियों का एहसास होता है उसे हर क्षण आती लगता है लेकिन मैं यह कहना चाहूंगा कि आप हर पल को इंजॉय करें अब जो कमाते हैं उसे कुछ ऐसा जमाव में डालें बचत में डालें और बहुत सारी चीजों में आप अपना जो पैसा है के पीछे वाले शेयर करें ताकि अब जीवन का पूरा आनंद ले सकें क्या आप उसको जिसे कहते हैं कि दुर्घटना बीमा के रूप में डालें चाहे एलआईसी के रूप में लें चाहे टर्म पॉलिसी के रूप में लें बीमा करा सकते हैं बीमा कराने के बाद सकते हैं और यदि ऐसा नहीं है इतना वेतन नहीं बचा पाते तो मैं एक छोटी सी बात कहूंगा कि हर पल को उत्साह के लिए कुछ भेजिए अपने परिवार को भी हर्षोल्लास के साथ जीने की प्रेरणा दे जय जिनेंद्र जय भारत

airplane sanjeev se nahi darta arthat jeevan se nahi darta insaan mrityu se darta hai kyonki usko mrityu ki anishchitata ka bhai hai kabhi bhi aa sakti hai aur kyonki insaan ek samajik prani hai ek parivarik rani hai toh har samay use parivar ke bandhanon ka parivar ki jimmedariyon ka ehsaas hota hai use har kshan aati lagta hai lekin main yah kehna chahunga ki aap har pal ko enjoy kare ab jo kamate hain use kuch aisa jamav me Daalein bachat me Daalein aur bahut saari chijon me aap apna jo paisa hai ke peeche waale share kare taki ab jeevan ka pura anand le sake kya aap usko jise kehte hain ki durghatna bima ke roop me Daalein chahen lic ke roop me le chahen term policy ke roop me le bima kara sakte hain bima karane ke baad sakte hain aur yadi aisa nahi hai itna vetan nahi bacha paate toh main ek choti si baat kahunga ki har pal ko utsaah ke liye kuch bhejiye apne parivar ko bhi harshollas ke saath jeene ki prerna de jai jinendra jai bharat

एयरप्लेन संजीव से नहीं डरता अर्थात जीवन से नहीं डरता इंसान मृत्यु से डरता है क्योंकि उसको

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  205
WhatsApp_icon
user

Amit vishwakarma

Psychologist

1:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमें जीवन से कोई डर नहीं है किसी तरह का भय नहीं है हम तो जीवन की मूलभूत अवधारणाओं से कैसे थे बचपन से ही हम एक डोमिनेशन दो सितारों का बचपन से ही हमें एग्जामिनेशन के शिकार होते हैं जैसे जैसे हमें और डोमिनेटेड किया जाता है जो मूलभूत आवश्यक जो ज्ञान होता है वो हमसे बहुत पहले ही छीन लिया गया है अब इस ज्ञान के मूलभूत जो आवश्यक जगन है वह हमसे छीन लिया कि अब हम डोमिनेशन के जरिए को ही ज्ञान दे रहे हैं जो हमारे नेहा मिली और हम आगे वाली पूरी कबूतर ज्ञान देते चले आ रहे हैं इसके पीछे ऐसा हो गया है कि हम अपने मुंह में तो अवश्य ज्ञान को बहुत पीछे छोड़ चुके हैं समय रहते कुछ लोग या मेरे जैसे कुछ लोग इस बात को समझ पाते हैं डिटरमिनेशन से काफी आगे निकल गए हो या कुछ ही समय से इस बात को धीरे-धीरे अपने मन पर बसे समझ गया हूं तो यह हम नहीं कह सकते कि जीवन में हमें डर की कोई एक वजह हो

hamein jeevan se koi dar nahi hai kisi tarah ka bhay nahi hai hum toh jeevan ki mulbhut avadharanaon se kaise the bachpan se hi hum ek domineshan do sitaron ka bachpan se hi hamein examination ke shikaar hote hain jaise jaise hamein aur domineted kiya jata hai jo mulbhut aavashyak jo gyaan hota hai vo humse bahut pehle hi cheen liya gaya hai ab is gyaan ke mulbhut jo aavashyak jagan hai vaah humse cheen liya ki ab hum domineshan ke jariye ko hi gyaan de rahe hain jo hamare neha mili aur hum aage wali puri kabootar gyaan dete chale aa rahe hain iske peeche aisa ho gaya hai ki hum apne mooh me toh avashya gyaan ko bahut peeche chhod chuke hain samay rehte kuch log ya mere jaise kuch log is baat ko samajh paate hain ditaramineshan se kaafi aage nikal gaye ho ya kuch hi samay se is baat ko dhire dhire apne man par base samajh gaya hoon toh yah hum nahi keh sakte ki jeevan me hamein dar ki koi ek wajah ho

हमें जीवन से कोई डर नहीं है किसी तरह का भय नहीं है हम तो जीवन की मूलभूत अवधारणाओं से कैसे

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  206
WhatsApp_icon
user

Rakesh Kothiyal

Astrologer And Yoga Teacher

2:11
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हरि ओम नमस्कार दोस्तों सभी वह कल ग्रुप मेंबर को मेरा नमस्कार दोस्तों आपका प्रश्न है जीवन में हम इतना डरती क्यों है दोस्तों जो डरा वह मरने की किस बात किस बात की है पर यह बताओ हमने कई चोरी डकैती की हो या मैंने कौन से काम किए हैं जब कहो तब तो हमें डर है साक्षात परम पिता परमेश्वर भगवान के सानिध्य में हैं उनके भजन कोनिका रहे हैं तो हमें किसी भी प्रकार का कोई डर नहीं होना चाहिए तो सोच ने जन्म लिया है ना उसने मरना भी है यह नहीं कि वह हमेशा के लिए स्पीड जीवन में रहेगा रावण और भगवान ही नहीं रहे तो हम किस खेत की मूली है बशर्ते कोई जल्दी जाता है तो कोई बात नहीं जाता है कोई लंबी आयु भूखे जाते कोई आ गया आदि आयु में ही चला जाता है पर टाइम टाइम की बात है तो उसको समय करने के बाद डरना नहीं चाहिए हर पल हर समय अपने इष्टदेव का नाम लेते रहो भगवान जी का नाम लेते रहो न जाने किस हाल में किस समय हमारा प्राण चले जाएं और उसी नाम से हम भगवान जी के धाम को चले जाएंगे ग्राम में पढ़ाने जाते जाते हैं उन्हें किसी और का नाम ले लिया या जानवर पर सुखाची टीका किस काल का ध्यान स्मरण राजा तमिल पुनः उसी जगह में आना पड़ेगा तभी तो कहते हैं दोस्तों की भगवान का नाम लेना सीखो न जाने कब समय में भगवान के धाम जाना पड़े अच्छा समय भगवान जी का नाम लेते चले जाओगे जाते-जाते भगवान का नाम ले लिया युवा ऐसे बना दो ऐसे रिटर्न कर दो तो हमेशा भगवान जी का नाम ही लिया जाए बस हरिओम आज क्या करना है हरि ओम नमो नारायण जी हां जी क्या कर राम-राम जी हा जी क्या करना है

hari om namaskar doston sabhi vaah kal group member ko mera namaskar doston aapka prashna hai jeevan me hum itna darti kyon hai doston jo dara vaah marne ki kis baat kis baat ki hai par yah batao humne kai chori dakaiti ki ho ya maine kaun se kaam kiye hain jab kaho tab toh hamein dar hai sakshat param pita parmeshwar bhagwan ke sanidhya me hain unke bhajan konica rahe hain toh hamein kisi bhi prakar ka koi dar nahi hona chahiye toh soch ne janam liya hai na usne marna bhi hai yah nahi ki vaah hamesha ke liye speed jeevan me rahega ravan aur bhagwan hi nahi rahe toh hum kis khet ki muli hai basharte koi jaldi jata hai toh koi baat nahi jata hai koi lambi aayu bhukhe jaate koi aa gaya aadi aayu me hi chala jata hai par time time ki baat hai toh usko samay karne ke baad darna nahi chahiye har pal har samay apne ishta dev ka naam lete raho bhagwan ji ka naam lete raho na jaane kis haal me kis samay hamara praan chale jayen aur usi naam se hum bhagwan ji ke dhaam ko chale jaenge gram me padhane jaate jaate hain unhe kisi aur ka naam le liya ya janwar par sukhachi tika kis kaal ka dhyan smaran raja tamil punh usi jagah me aana padega tabhi toh kehte hain doston ki bhagwan ka naam lena sikho na jaane kab samay me bhagwan ke dhaam jana pade accha samay bhagwan ji ka naam lete chale jaoge jaate jaate bhagwan ka naam le liya yuva aise bana do aise return kar do toh hamesha bhagwan ji ka naam hi liya jaaye bus hariom aaj kya karna hai hari om namo narayan ji haan ji kya kar ram ram ji ha ji kya karna hai

हरि ओम नमस्कार दोस्तों सभी वह कल ग्रुप मेंबर को मेरा नमस्कार दोस्तों आपका प्रश्न है जीवन म

Romanized Version
Likes  58  Dislikes    views  1570
WhatsApp_icon
user

Ajay kumar

Motivational Speaker , Life Coach

3:11
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो फ्रेंड्स माधुरी कुमार मोटिवेशनल स्पीकर लाइफ कोच आपका प्रश्न है जीवन से हम इतना डरते क्यों हैं जीवन से वही लोग डरते हैं जो यह भूल गए हैं कि जीवन में हमें कुछ सालों के लिए और कुछ गिनी हुई सांसे मिली हुई और जब वह अवधि पूरी हो जाएगी जब वह सांसे हम जी लेंगे उसके बाद ना ही हम एक साथ अधिक मिल सकती है और ना ही हम उससे पहले इस जीवन को समाप्त कर सकते हैं तुझे पहले से सब कुछ प्लान है फ्री प्लांट है और हम जानते हैं इस सत्य को ईश्वर ने जितने दिन का जीवन हमें दिया है उससे पहले ना ही तो हमें कोई इस जीवन को समाप्त कर सकता है और रहे उसके बाद हमें कोई इस दुनिया में जीवित रखता है तो फिर डरने की बात क्या है यार क्यों डर है जीवन से इसलिए डरना छोड़िए और लड़ना सीखिए अपने वर्तमान को सुधारी भविष्य खुद-ब-खुद बेहतर हो जाएगा फर्स्ट की चिंता ना करें क्योंकि पास्ट की चिंता जो लोग करते हैं पास्ट को देखकर अपने वर्तमान और भविष्य को अंदाजा जाते हैं पास्ट को तो बदल नहीं सकते लेकिन उस पास्ट के अकॉर्डिंग अपने जीवन की रूपरेखा बनाकर के भौंकने प्रजेंट और फ्यूचर को भी बिगड़ते हैं और यही कारण से डर उन पर और ज्यादा हावी हो जाता है इसलिए अपना वर्तमान कितना भविष्य की चिंता करें और ना ही पोस्ट से दुखी हूं बल्कि वर्तमान को जितना बेहतर तरीके से जी सके अपने रोल को वर्तमान में इतना बेहतरीन ढंग से प्ले कर सके उतना ढंग से करें और जब आप ऐसा कर लेंगे तो आप सच में एक बेहतरीन जीवन के मालिक बन जाएंगे आशा है कि आप को जवाब पसंद आया होगा अभी के लिए इतना ही जवाब पसंद आए तो लाइक कर लेना कोई विचार है तो कमेंट कर देना ऐसी यूज़फुल नॉलेज हर रोज पाने के लिए हमें फॉलो कर लेना मिलते हैं एक नई टॉपिक के ईश्वर के साथ तब तक के लिए खुश रहिए खुशियां बांटते रहिए अपना ख्याल रखिए अपनों का ख्याल रखें बाय बाय टेक केयर

hello friends madhuri kumar Motivational speaker life coach aapka prashna hai jeevan se hum itna darte kyon hain jeevan se wahi log darte hain jo yah bhool gaye hain ki jeevan me hamein kuch salon ke liye aur kuch gini hui sanse mili hui aur jab vaah awadhi puri ho jayegi jab vaah sanse hum ji lenge uske baad na hi hum ek saath adhik mil sakti hai aur na hi hum usse pehle is jeevan ko samapt kar sakte hain tujhe pehle se sab kuch plan hai free plant hai aur hum jante hain is satya ko ishwar ne jitne din ka jeevan hamein diya hai usse pehle na hi toh hamein koi is jeevan ko samapt kar sakta hai aur rahe uske baad hamein koi is duniya me jeevit rakhta hai toh phir darane ki baat kya hai yaar kyon dar hai jeevan se isliye darna chodiye aur ladana sikhiye apne vartaman ko sudhari bhavishya khud bsp khud behtar ho jaega first ki chinta na kare kyonki past ki chinta jo log karte hain past ko dekhkar apne vartaman aur bhavishya ko andaja jaate hain past ko toh badal nahi sakte lekin us past ke according apne jeevan ki rooprekha banakar ke bhaunkane present aur future ko bhi bigadte hain aur yahi karan se dar un par aur zyada haavi ho jata hai isliye apna vartaman kitna bhavishya ki chinta kare aur na hi post se dukhi hoon balki vartaman ko jitna behtar tarike se ji sake apne roll ko vartaman me itna behtareen dhang se play kar sake utana dhang se kare aur jab aap aisa kar lenge toh aap sach me ek behtareen jeevan ke malik ban jaenge asha hai ki aap ko jawab pasand aaya hoga abhi ke liye itna hi jawab pasand aaye toh like kar lena koi vichar hai toh comment kar dena aisi yuzful knowledge har roj paane ke liye hamein follow kar lena milte hain ek nayi topic ke ishwar ke saath tab tak ke liye khush rahiye khushiya bantate rahiye apna khayal rakhiye apnon ka khayal rakhen bye bye take care

हेलो फ्रेंड्स माधुरी कुमार मोटिवेशनल स्पीकर लाइफ कोच आपका प्रश्न है जीवन से हम इतना डरते क

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  110
WhatsApp_icon
user
0:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मित्रों नमस्कार इनवेजिनेशन पटेल आपके समझ प्रस्तुत हो

mitron namaskar inavejineshan patel aapke samajh prastut ho

मित्रों नमस्कार इनवेजिनेशन पटेल आपके समझ प्रस्तुत हो

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  99
WhatsApp_icon
user
5:11
Play

Likes  8  Dislikes    views  109
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीवन से डरने की दो ही बातें हैं या तो आप अपने आप को सीख मतलब सिक्योर नहीं समझते यह जीवन में आगे बढ़ने से घबराते हैं या आलसी हैं कुछ करना नहीं चाहते आपके विचार शक्ति कमजोर है अब कुछ सोच लो है बहुत गड़बड़ है आप मेहनत नहीं करना चाहते आपने अपने जीवन पर कोई लक्षण नहीं बना रखा है वैसे मैं तो परेशान हो जाएंगे अपने जीवन का लक्ष्य तय कीजिए कड़ी मेहनत दूर दृष्टि पक्का इरादा अनुशासन इसके हिसाब से चलिए अपने लक्ष्य को पाने के लिए खूब बड़ी मेहनत कीजिए करत करत अभ्यास के जड़मति होत सुजान रसरी आवत जात ते सिल पर चलिए खूब अभ्यास कीजिए मन को प्रसन्न रखने के लिए योगा कीजिए ईश्वर पर भरोसा रखिए थोड़ा सा गीता और रामायण का भी अध्ययन कीजिए अपनी सोच को सकारात्मक रखिए आगे बढ़ने के लाल सदस्य बुजुर्गों का सम्मान कीजिए माता-पिता का आशीर्वाद ली से सारी चीजें आपको जीने के लिए एक मार्ग सर्च करेंगे आपकी जीवन की कमियां जो है उनको बिल्कुल छूमंतर कर देंगे आपके अंदर एक नई चेतना चेतना को प्राप्त करने के लिए सारी बातें आपको करनी पड़ेगी

jeevan se darane ki do hi batein hain ya toh aap apne aap ko seekh matlab secure nahi samajhte yah jeevan me aage badhne se ghabarate hain ya aalsi hain kuch karna nahi chahte aapke vichar shakti kamjor hai ab kuch soch lo hai bahut gadbad hai aap mehnat nahi karna chahte aapne apne jeevan par koi lakshan nahi bana rakha hai waise main toh pareshan ho jaenge apne jeevan ka lakshya tay kijiye kadi mehnat dur drishti pakka irada anushasan iske hisab se chaliye apne lakshya ko paane ke liye khoob badi mehnat kijiye karat karat abhyas ke jadmati hot sujaan rasari avat jaat te sill par chaliye khoob abhyas kijiye man ko prasann rakhne ke liye yoga kijiye ishwar par bharosa rakhiye thoda sa geeta aur ramayana ka bhi adhyayan kijiye apni soch ko sakaratmak rakhiye aage badhne ke laal sadasya bujurgon ka sammaan kijiye mata pita ka ashirvaad li se saari cheezen aapko jeene ke liye ek marg search karenge aapki jeevan ki kamiyan jo hai unko bilkul chumantar kar denge aapke andar ek nayi chetna chetna ko prapt karne ke liye saari batein aapko karni padegi

जीवन से डरने की दो ही बातें हैं या तो आप अपने आप को सीख मतलब सिक्योर नहीं समझते यह जीवन मे

Romanized Version
Likes  212  Dislikes    views  1755
WhatsApp_icon
user

bhaand's Theatre and Acting Classes

Acting And drama Coach Casting director Drama Director

0:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीवन में हम इतना डरते हैं इसलिए हैं कि हमने जो भी है काम करने से डरते हैं जिस व्यक्ति से डरते हैं जिन मुद्दों को लेकर डरते हैं जिन परेशानियों से डरते हैं उनसे हमने डील नहीं कि कभी जब हम दिल करेंगे जब हम उनसे व्यवहार करेंगे जब हम उन लोगों से बात करेंगे जब हम उस मुसीबत का सामना करेंगे तब हमारे मन से डर चला जाएगा और हम नॉर्मल हो जाएंगे तो अब जीवन में कभी डरते हो जब किसी चीज का सामना नहीं करते तो सामना करिए आप जाइए खड़े हो जाइए डर के सामने और उसका सामना कीजिए समझिए क्या चाचा है वहां पर मैं क्या कर सकता हूं तो जैसे ही अब समझ लेंगे सारी चीजें आपको डर नहीं लगेगा

jeevan me hum itna darte hain isliye hain ki humne jo bhi hai kaam karne se darte hain jis vyakti se darte hain jin muddon ko lekar darte hain jin pareshaniyo se darte hain unse humne deal nahi ki kabhi jab hum dil karenge jab hum unse vyavhar karenge jab hum un logo se baat karenge jab hum us musibat ka samana karenge tab hamare man se dar chala jaega aur hum normal ho jaenge toh ab jeevan me kabhi darte ho jab kisi cheez ka samana nahi karte toh samana kariye aap jaiye khade ho jaiye dar ke saamne aur uska samana kijiye samjhiye kya chacha hai wahan par main kya kar sakta hoon toh jaise hi ab samajh lenge saari cheezen aapko dar nahi lagega

जीवन में हम इतना डरते हैं इसलिए हैं कि हमने जो भी है काम करने से डरते हैं जिस व्यक्ति से ड

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  126
WhatsApp_icon
user

Rajesh Kumar Pandey

Career Counsellor

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अबे गोचर जीवन में हम इतना क्यों रहते हैं लेकिन हम डरते हैं अपने असफलताओं से हम यह सोचते हैं कि हम जो काम करेंगे वह कंप्लीट नहीं होगा और बुरा हो जाएगा एल्बम का मजाक उड़ाने इसलिए डरते डरते हैं हम लोग बंद कर देना चाहिए तभी मैं डर खत्म हो जाएगा आगे कोई भी काम करें वह कंप्लीट हो नहीं होता है कोई दिक्कत नहीं करिए कोशिश करने वाले कभी हार नहीं होती है

abe gochar jeevan me hum itna kyon rehte hain lekin hum darte hain apne asafaltaon se hum yah sochte hain ki hum jo kaam karenge vaah complete nahi hoga aur bura ho jaega album ka mazak udane isliye darte darte hain hum log band kar dena chahiye tabhi main dar khatam ho jaega aage koi bhi kaam kare vaah complete ho nahi hota hai koi dikkat nahi kariye koshish karne waale kabhi haar nahi hoti hai

अबे गोचर जीवन में हम इतना क्यों रहते हैं लेकिन हम डरते हैं अपने असफलताओं से हम यह सोचते है

Romanized Version
Likes  254  Dislikes    views  1905
WhatsApp_icon
user

International Yogi

spiritual Guru (Life Coach)

1:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए जीवन जीने की कला हमारे पास नहीं होती है या फिर ज्ञान में कमी होती है अज्ञान हमारे अंदर होता है तभी हम जीवन में इतना डरते हैं और डर है वह केवल और केवल भ्रम है भ्रम किस चीज में है यह आपको मैं समझाता हूं या तो हम चिंतित रहते हैं कि डराता है हमेशा चिंता से या तो हम जो पहले हो चुका है उसको सोच सोच कर चिंता करते हैं और उसे बदला नहीं जा सकता तो जिसमें विवेक होगा ज्ञान होगा वह पुरानी चीजें याद कर कर भयभीत नहीं होगा उसके बारे में चिंता नहीं करेगा और नरेगा में नहीं और इसी प्रकार छूट सर कुछ लोग जो आगे होने वाला है उसको लेकर डरते हैं हुआ नहीं है उससे पहले आप डर रहे हो यानी कि जो वर्तमान जीवन है उसे आप कहीं ना कहीं अच्छे ढंग से जी नहीं रहे हो जीवन जीने की कला से दूर हो तो यही वजह है कि जीवन में हम डरते हैं लेकिन जो वर्तमान में जीते हैं वह कभी भी डरते नहीं है और अपनी लाइफ को अच्छे से इंजॉय करते हैं वह साक्षी भाव से सुख दुख सबको देखते रहते हैं उनका एनालिसिस करते रहते हैं और उनको दिल पर या मन पर नहीं लेते हैं तो इसी प्रकार अपने विचारों को सकारात्मक बनाए और डर से डर को भगाए धन्यवाद

dekhiye jeevan jeene ki kala hamare paas nahi hoti hai ya phir gyaan me kami hoti hai agyan hamare andar hota hai tabhi hum jeevan me itna darte hain aur dar hai vaah keval aur keval bharam hai bharam kis cheez me hai yah aapko main samajhaata hoon ya toh hum chintit rehte hain ki darata hai hamesha chinta se ya toh hum jo pehle ho chuka hai usko soch soch kar chinta karte hain aur use badla nahi ja sakta toh jisme vivek hoga gyaan hoga vaah purani cheezen yaad kar kar bhayabhit nahi hoga uske bare me chinta nahi karega aur nrega me nahi aur isi prakar chhut sir kuch log jo aage hone vala hai usko lekar darte hain hua nahi hai usse pehle aap dar rahe ho yani ki jo vartaman jeevan hai use aap kahin na kahin acche dhang se ji nahi rahe ho jeevan jeene ki kala se dur ho toh yahi wajah hai ki jeevan me hum darte hain lekin jo vartaman me jeete hain vaah kabhi bhi darte nahi hai aur apni life ko acche se enjoy karte hain vaah sakshi bhav se sukh dukh sabko dekhte rehte hain unka analysis karte rehte hain aur unko dil par ya man par nahi lete hain toh isi prakar apne vicharon ko sakaratmak banaye aur dar se dar ko bhagaye dhanyavad

देखिए जीवन जीने की कला हमारे पास नहीं होती है या फिर ज्ञान में कमी होती है अज्ञान हमारे अं

Romanized Version
Likes  229  Dislikes    views  5737
WhatsApp_icon
user

अशोक गुप्ता

Founder of Vision Commercial Services.

0:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जब तक हम जीवन में अपने को अकेला अर्थात चीजों से अलग अनुभव करेंगे तो हमें सुरक्षा के प्रति ज्यादा सजग हो जाते हैं और हर चीज से जो हमें लगता है कि हमारे जीवन को समाप्त कर सकते हम डरते हैं इसका उपाय है कि अपने अंदर चीजों के साथ अपनी को जोड़कर रखें जीवन में सब एक साथ हैं इससे आपको अपने अंदर भय कम होने लगेगा और आपको एक आंतरिक शक्ति कारण होने लगेगा इसे हम लोग कहते हैं वह भी हमारे भाई को दूर करने में बहुत सहायक होता है कोशिश करिए कि प्राणायाम करें जिससे आपको वैसे धीरे-धीरे मुक्ति मिल जाएगी

jab tak hum jeevan me apne ko akela arthat chijon se alag anubhav karenge toh hamein suraksha ke prati zyada sajag ho jaate hain aur har cheez se jo hamein lagta hai ki hamare jeevan ko samapt kar sakte hum darte hain iska upay hai ki apne andar chijon ke saath apni ko jodkar rakhen jeevan me sab ek saath hain isse aapko apne andar bhay kam hone lagega aur aapko ek aantarik shakti karan hone lagega ise hum log kehte hain vaah bhi hamare bhai ko dur karne me bahut sahayak hota hai koshish kariye ki pranayaam kare jisse aapko waise dhire dhire mukti mil jayegi

जब तक हम जीवन में अपने को अकेला अर्थात चीजों से अलग अनुभव करेंगे तो हमें सुरक्षा के प्रति

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  103
WhatsApp_icon
user
0:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हम जीवन से नहीं डरती जीवन के संघर्षों से डरते हैं या फिर मोदी से डरते हैं क्योंकि उसे जगाई हैं इसीलिए तो कौन होना से डरते घर में बैठे हैं

hum jeevan se nahi darti jeevan ke sangharshon se darte hain ya phir modi se darte hain kyonki use jagai hain isliye toh kaun hona se darte ghar me baithe hain

हम जीवन से नहीं डरती जीवन के संघर्षों से डरते हैं या फिर मोदी से डरते हैं क्योंकि उसे जगाई

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  302
WhatsApp_icon
user
0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

निकल लिखा जीवन अमृत नाटक के जीवन जीने के लिए क्या भगवान ने किसी तरह की कमी की तरह आपके पास पूरी जिंदगी अपनी इच्छा से जीरापुर कोई कुछ नहीं कह सकता घर में रहता है

nikal likha jeevan amrit natak ke jeevan jeene ke liye kya bhagwan ne kisi tarah ki kami ki tarah aapke paas puri zindagi apni iccha se jirapur koi kuch nahi keh sakta ghar me rehta hai

निकल लिखा जीवन अमृत नाटक के जीवन जीने के लिए क्या भगवान ने किसी तरह की कमी की तरह आपके पास

Romanized Version
Likes  63  Dislikes    views  881
WhatsApp_icon
user

Gopal Srivastava

Acupressure Acupuncture Sujok Therapist

0:20
Play

Likes  117  Dislikes    views  2688
WhatsApp_icon
play
user

Norang sharma

Social Worker

2:18

Likes  99  Dislikes    views  1554
WhatsApp_icon
user

Dr Arti Gupta

Yoga Trainer and Life Coach (instra Id-artipaharia135)

2:54
Play

Likes  21  Dislikes    views  625
WhatsApp_icon
user

Anshu Saxena

Business Manager

1:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीवन से हम इतना डरते क्यों हैं भाई मुझे जीवन से डर नहीं लगता इसलिए मैं इस बारे में क्या कह सकता हूं एक चीज जरूर समझा लूंगा जीवन से डर क्यों लगता है इसके पीछे एक वजह है कि हम खुद डरे हुए हैं इसलिए हमें जीवन से डर लगता है हमें अपनी हार से डर लगता है हमें मेहनत करने से डर लगता है इसीलिए यह डर जो है हमारे जीवन में उतर जाता है जीवन आपको पता है यह जीवन बहुत मुश्किल से मिलता है यह अमूल्य है और आप संसार में पैदा हुए हैं कारण इस संसार में कोई पैदा नहीं होता इसलिए आप अपनी जगह पर कुछ ना कुछ कहीं ना कहीं कोई किसी के लिए वैल्यू रख रहे हैं इसलिए जीवन से डरिए मत अपने जीवन को पहचानिए आगे बढ़िए अपने कर्म कर रही है और इस जीवन के मूल को समझिए डरने से हताश हो जाएंगे और जिस कार्य के लिए अपने जन्म लिया है हो सकता है वह भी पूरा न कर पाए

jeevan se hum itna darte kyon hain bhai mujhe jeevan se dar nahi lagta isliye main is bare me kya keh sakta hoon ek cheez zaroor samjha lunga jeevan se dar kyon lagta hai iske peeche ek wajah hai ki hum khud dare hue hain isliye hamein jeevan se dar lagta hai hamein apni haar se dar lagta hai hamein mehnat karne se dar lagta hai isliye yah dar jo hai hamare jeevan me utar jata hai jeevan aapko pata hai yah jeevan bahut mushkil se milta hai yah amuly hai aur aap sansar me paida hue hain karan is sansar me koi paida nahi hota isliye aap apni jagah par kuch na kuch kahin na kahin koi kisi ke liye value rakh rahe hain isliye jeevan se dariye mat apne jeevan ko pehchaniye aage badhiye apne karm kar rahi hai aur is jeevan ke mul ko samjhiye darane se hathaash ho jaenge aur jis karya ke liye apne janam liya hai ho sakta hai vaah bhi pura na kar paye

जीवन से हम इतना डरते क्यों हैं भाई मुझे जीवन से डर नहीं लगता इसलिए मैं इस बारे में क्या कह

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  97
WhatsApp_icon
user

mohit

8307747204 Founder Abhyasa Yogshala

0:35
Play

Likes  18  Dislikes    views  246
WhatsApp_icon
user

Subrat Kar

Tax , Project , Consultant, Spiritual Guru

0:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अज्ञानता ही हमारा डर का एकमात्र कारण है हम अपना सही स्वरूप को नहीं पहचानते हैं इस ब्राह्मण और हमारा उत्पत्ति का एक ही आधार ईश्वर है हम खुद को स्तर तक सीमित समझते हैं जब हम खुद को पहचानेंगे हम ना केवल डर काम से भी मुक्त हो जाएंगे और तूने चम्मच में

agyanata hi hamara dar ka ekmatra karan hai hum apna sahi swaroop ko nahi pehchante hain is brahman aur hamara utpatti ka ek hi aadhaar ishwar hai hum khud ko sthar tak simit samajhte hain jab hum khud ko pahachanenge hum na keval dar kaam se bhi mukt ho jaenge aur tune chammach mein

अज्ञानता ही हमारा डर का एकमात्र कारण है हम अपना सही स्वरूप को नहीं पहचानते हैं इस ब्राह्मण

Romanized Version
Likes  123  Dislikes    views  1441
WhatsApp_icon
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

0:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीवन सम इतना डरती क्यों जीवन से वही लोग डरते हैं जो जीने की कला नहीं जानते और जुचीनी को आनंद चमकते जीवन को अपना आधार चमकते जीवन को तरक्की का माध्यम समझते जीवन को खुशियों का भंडार समझते हैं जीवन को प्रकृति का आधार मानते हैं वे लोग खुशी-खुशी जीते हैं वह लोग डरते नहीं है बल्कि डर उनको छोड़ भी नहीं सकता लेकिन जो लोग जीवन को संघर्ष में जीवन को जीने से कतराते हैं या मुझे भी तो उठाने को तैयार नहीं है संघर्ष गोठानी को चयनित करने को तैयार नहीं है उन लोगों के लिए जीवन बोर्ड बन जाता है और वह लोग जीवन से डरते हैं

jeevan some itna darti kyon jeevan se wahi log darte hain jo jeene ki kala nahi jante aur juchini ko anand chamakate jeevan ko apna aadhaar chamakate jeevan ko tarakki ka madhyam samajhte jeevan ko khushiyon ka bhandar samajhte hain jeevan ko prakriti ka aadhaar maante hain ve log khushi khushi jeete hain vaah log darte nahi hai balki dar unko chod bhi nahi sakta lekin jo log jeevan ko sangharsh mein jeevan ko jeene se katrate hain ya mujhe bhi toh uthane ko taiyar nahi hai sangharsh gothani ko chayanit karne ko taiyar nahi hai un logo ke liye jeevan board ban jata hai aur vaah log jeevan se darte hain

जीवन सम इतना डरती क्यों जीवन से वही लोग डरते हैं जो जीने की कला नहीं जानते और जुचीनी को आन

Romanized Version
Likes  44  Dislikes    views  1217
WhatsApp_icon
user

Dr Sampadananda Mishra

Sanskrit scholar, Author, Director, Sri Aurobindo Foundation for Indian Culture

2:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या चक्कर में दे सकता हूं डरता हूं तो कोई करता है क्या जब तक हमारे अंदर यह भागने की मेरे भाई का कारण है भारती भवन कितना देर से पैदा होता है जब तक हम खुद को जितेंदर का जो भाग है उस समिति पटना में रहता है और ज्यादातर हमारा मन चाहिए मंत्री पी शंकर मूल कारण है दूसरों एक दूसरों दूसरा तीसरा चौथा भाग देना अगर कोई भागने नहीं उत्तर दिया जा सकता है लेकिन उधार नहीं लगेगा

kya chakkar mein de sakta hoon darta hoon toh koi karta hai kya jab tak hamare andar yah bhagne ki mere bhai ka karan hai bharati bhawan kitna der se paida hota hai jab tak hum khud ko jitendar ka jo bhag hai us samiti patna mein rehta hai aur jyadatar hamara man chahiye mantri p shankar mul karan hai dusro ek dusro doosra teesra chautha bhag dena agar koi bhagne nahi uttar diya ja sakta hai lekin udhaar nahi lagega

क्या चक्कर में दे सकता हूं डरता हूं तो कोई करता है क्या जब तक हमारे अंदर यह भागने की मेरे

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  149
WhatsApp_icon
user

Amit Chowdhry

Operational Head

0:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत अच्छा प्रश्न आपने पूछा है सच्चाई यह है कि हम जीवन से नहीं आगे आने वाले अपने फ्यूचर से डरते हैं और आगे आने वाली समस्याओं से डर कर के हम डर डर के जीने लगते हैं अगर हम वर्तमान में जीके और अपने आप को खुशहाल करने की कोशिश करें तो जरूर खुश रहेंगे

bahut accha prashna aapne poocha hai sacchai yah hai ki hum jeevan se nahi aage aane waale apne future se darte hain aur aage aane wali samasyaon se dar kar ke hum dar dar ke jeene lagte hain agar hum vartaman mein gk aur apne aap ko khushahal karne ki koshish kare toh zaroor khush rahenge

बहुत अच्छा प्रश्न आपने पूछा है सच्चाई यह है कि हम जीवन से नहीं आगे आने वाले अपने फ्यूचर से

Romanized Version
Likes  29  Dislikes    views  985
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
itna darte ho ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!