प्रथम् पांच अभाज्य संख्याओ का औसत क्या है?...


play
user

RAM KUMAR GUPTA

Lecturer Mathematics Cum Etymon

1:03

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्रथम पांच अभाज्य संख्याओं का औसत क्या है तो पहले तो हम यह समझते हैं कि अभाज्य संख्या कौन सी अभाज्य संख्याएं होती है जिनके 2 से अधिक गुणनखंड होते या ऐसी संस्थाएं जो है क्या आपने अलावा किसी और पहाड़ी में नहीं आती है उनको हम अभाज्य संख्या है या तो सबसे पहले जो भाज्य संख्या है वह दो है एक क्वेश्चन किया गया है क्योंकि आपके पास कोई विकल्प नहीं तो हमारे पास है वही 2357 और ध्यान योग है माधोपुर स्टार्स और साथ में पूरा उनियारा औषध

pratham paanch abhajya sankhyao ka ausat kya hai toh pehle toh hum yah samajhte hai ki abhajya sankhya kaun si abhajya sankhyae hoti hai jinke 2 se adhik gunankhand hote ya aisi sansthayen jo hai kya aapne alava kisi aur pahadi mein nahi aati hai unko hum abhajya sankhya hai ya toh sabse pehle jo bhajya sankhya hai vaah do hai ek question kiya gaya hai kyonki aapke paas koi vikalp nahi toh hamare paas hai wahi 2357 aur dhyan yog hai madhopur stars aur saath mein pura uniara awasadhi

प्रथम पांच अभाज्य संख्याओं का औसत क्या है तो पहले तो हम यह समझते हैं कि अभाज्य संख्या कौन

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  212
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Gulnaz

लेवल 1 (बिगिनर)

0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आ पहली पांच प्रमुख्य संख्याएं हैं 2357 और 11 है एक प्रधान संख्या एक पूर्णांक है यह पूर्ण संख्या है जिसमें केवल दो कारक है एक और स्वयं एक और तरीका रखो कि एक प्रमुख्य संख्या को समान रुप से केवल एक और उसके द्वारा सम्मान रूप से विभाजित किया जा सकता है प्राइम नंबर भी एक से अधिक होना चाहिए

aa pehli paanch pramukhya sankhyae hai 2357 aur 11 hai ek pradhan sankhya ek purnank hai yah purn sankhya hai jisme keval do kaarak hai ek aur swayam ek aur tarika rakho ki ek pramukhya sankhya ko saman roop se keval ek aur uske dwara sammaan roop se vibhajit kiya ja sakta hai prime number bhi ek se adhik hona chahiye

आ पहली पांच प्रमुख्य संख्याएं हैं 2357 और 11 है एक प्रधान संख्या एक पूर्णांक है यह पूर्ण स

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  135
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
प्रथम 10 अभाज्य संख्याओं का औसत ; प्रथम पांच अभाज्य संख्या ; प्रथम पांच अभाज्य संख्याओं का औसत ; pratham 10 abhajya sankhya ka ausat ; pratham 5 abhajya sankhya ; pratham 10 abhajya sankhya ; प्रथम 9 अभाज्य संख्या का औसत ; pratham abhajya sankhya ; prakritik sankhya kise kehte hain ; bhajya ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!