मुस्लिम बोर्ड ने पुरुषों को ट्रिपल तलाक के खिलाफ शपथ लेने के लिए कहा है। क्या यह सही है? क्यों?...


user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कृष्ण जी के देखिए अभी और जो ट्रिपल तलाक पहले वह लोकसभा में तो पास हो गया पर राज्यसभा में अभी उसको वह भी पास नहीं हो पाया अभी क्या न्यूज़ है कि जो ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड है उसने एक डिसाइड किया एक मॉडल निकाहनामा बनाने की और उसके अंदर यह चीज़ लिखी जाएगी कि जो लड़का होगा जो दूल्हा होगा वह एक शपथ लेगा कि वह अपनी वाइफ को ट्रिपल तलाक बिल के साथ ट्रिपल तलाक देकर उससे डाइवोर्स नहीं लेगा और जो इनका मोटे है ऐसा करने का वह यह कि अगर ऐसे निकाल ने कहा ना मां में आने की शादी के दौरान अगर ऐसी शपथ ली जाती है तो आइए मुस्लिम पर्सनल बोर्ड चाहता है कि इससे जो ट्रिपल तलाक को क्रिमिनल ऑफ सेंस कहा गया है उसके बाद 3 साल की सजा जो हो जाएगी उस व्यक्ति को जनसत्ता लाभ देगा ताकि यह धूल ना बन पाए तो यह जो यह निकाहनामा के दौरान शपथ लेने की बात है यह तो कुछ हद तक सही है ऐसा किया जा सकता है लेकिन ऐसा यह इस मोटर से नहीं होना चाहिए कि यह आलोचना बनाने की शपथ दिलवाई है वह बहुत अच्छी बात है लेकिन उसके बाद भी अगर कोई ऐसा ट्रिपल तलाक दे जाता है किसी महिला को तो उसे सजा जरुर मिलनी चाहिए और वैसे भी कोई यह लीगल मेरे हिसाब से नहीं होगा ऐसा नहीं होगा कि उनकी शादियां भी लीगल होती हैं फिर भी वह टूट जाती है तो सिर्फ एक शपथ लेकर मुझे लगता नहीं है कि जो लोग को तलाक देना होगा वह नहीं देंगे ऐसा कुछ होगा नहीं बाकी देखते आने में समय में क्या होगा

krishna ji ke dekhiye abhi aur jo triple talak pehle vaah lok sabha mein toh paas ho gaya par rajya sabha mein abhi usko vaah bhi paas nahi ho paya abhi kya news hai ki jo all india muslim personal law board hai usne ek decide kiya ek model nikahnama banane ki aur uske andar yah cheez likhi jayegi ki jo ladka hoga jo dulha hoga vaah ek shapath lega ki vaah apni wife ko triple talak bill ke saath triple talak dekar usse divorce nahi lega aur jo inka mote hai aisa karne ka vaah yah ki agar aise nikaal ne kaha na maa mein aane ki shadi ke dauran agar aisi shapath li jaati hai toh aaiye muslim personal board chahta hai ki isse jo triple talak ko criminal of sense kaha gaya hai uske baad 3 saal ki saza jo ho jayegi us vyakti ko jansatta labh dega taki yah dhul na ban paye toh yah jo yah nikahnama ke dauran shapath lene ki baat hai yah toh kuch had tak sahi hai aisa kiya ja sakta hai lekin aisa yah is motor se nahi hona chahiye ki yah aalochana banane ki shapath dilvai hai vaah bahut achi baat hai lekin uske baad bhi agar koi aisa triple talak de jata hai kisi mahila ko toh use saza zaroor milani chahiye aur waise bhi koi yah legal mere hisab se nahi hoga aisa nahi hoga ki unki shadiyan bhi legal hoti hain phir bhi vaah toot jaati hai toh sirf ek shapath lekar mujhe lagta nahi hai ki jo log ko talak dena hoga vaah nahi denge aisa kuch hoga nahi baki dekhte aane mein samay mein kya hoga

कृष्ण जी के देखिए अभी और जो ट्रिपल तलाक पहले वह लोकसभा में तो पास हो गया पर राज्यसभा में अ

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  163
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!