वेद और वेदांत में क्या अंतर है?...


user

Dr. Guddy Kumari

UPSC Coach / Ph.d

0:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्राइवेट और वेदांत में क्या होता है वेद चार हैं ऋग्वेद सामवेद यजुर्वेद और अथर्ववेद जबकि वेदांत कहां जाता है उपनिषद को उपनिषदों की संख्या भारत में रहे जबकि 108 उपनिषद है लेकिन वह सब लुप्त हो चुके हैं 12 13 अभी उपलब्ध है जिनमें से कुछ मुख्य उपनिषद कठोपनिषद कठोपनिषद उपनिषद मुंदक उपनिषद मुंदक उपनिषद का उपनिषद सैटरडे उपनिषद और इस तरह से उपनिषद कोई वेदांत कहां गया है

private aur vedant mein kya hota hai ved char hain rigved samved yajurved aur atharvaved jabki vedant kahaan jata hai upanishad ko upnishadon ki sankhya bharat mein rahe jabki 108 upanishad hai lekin vaah sab lupt ho chuke hain 12 13 abhi uplabdh hai jinmein se kuch mukhya upanishad kathopnishad kathopnishad upanishad mundak upanishad mundak upanishad ka upanishad saturday upanishad aur is tarah se upanishad koi vedant kahaan gaya hai

प्राइवेट और वेदांत में क्या होता है वेद चार हैं ऋग्वेद सामवेद यजुर्वेद और अथर्ववेद जबकि वे

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  65
WhatsApp_icon
15 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Sagar Giri S G M

मोबाइल शॉप

1:10
Play

Likes  10  Dislikes    views  223
WhatsApp_icon
play
user

PRAMOD KUMAR

Retired IFS Officer | Advisor to TRIFED

3:09

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आप की पिक्चर भेज और वेदांत में क्या अंतर है देश हमारा सबसे अनुच्छेद ट्रैफिक है उसमें चार वेद होता है और उपनिषद होता है ग्रुप बद्दूर वेद सामवेद अथर्ववेद में भी दिल करता है बेदर्दी दिल करता है पर थोड़ी न दिया गया ओल्ड सर्टिफाइड टू कंट्रोल द नेचर उसके बावजूद होती है वह आपके फिलोसॉफिकल सप्लीमेंट करते हैं बेटा पैदा होती है एक हॉस्पिटल करते हैं उनकी कथा गोरी अब जो है आपके तो एस एस को बताया था कि कन्फ्यूजन वेदिक नॉलेज इसको वैष्णो देवी चल लिखे थे दो बदन सूत्र जो है यह आपका स्मृति कटाकुरी वेदिक लिटरेचर कुंती का तेरे को ब्लॉक करता है तो जो आपके थे और चुनरी फिलोसॉफिज वैदिक प्रवचन का उसमें एक होती है आपका से होती है संख्या योगा दिन पैसे का दिन मीमांसा और बेदाग थे जो कि आप कहां से आपका प्रिय बैरलूटी सुनने बोलते हैं तो क्यों क्यों इसमें कुछ भी नहीं होती है एयरप्लेन करते मार्च आचार्य होते एक्सपेक्ट करते इसका बहुत सारे प्रैक्टिकल कोटेशन एक गधी के जुकेशन के लिए जो आज तिथि क्या है बम सपोर्ट ब्लॉक पतंजलि योगा ए डिस्टेंट करता है तो इसमें सबसे बड़ी स्टेशन नया करते जो पॉलिटेक्निक जॉब लगी बस एसी कार कौनसी 10 दिन बेसिक मैटेफिजिकल कैटेगरी जब रिजल्ट आंसर शीट रोल इंटरप्रिटेशन वेदांत जो है वह आपका 60 किलो सभी से एक होती है और इसको मारा जाता है कि वेदिक नॉलेज का अंतिम को बेशक आपने लिखी थी लिखे थे और एस मुझे कैटेगरी वेदिक लिटरेचर में आप का बयान सूत्र कहा जाता है धन्यवाद

namaskar aap ki picture bhej aur vedant mein kya antar hai desh hamara sabse anuched traffic hai usme char ved hota hai aur upanishad hota hai group baddur ved samved atharvaved mein bhi dil karta hai bedardii dil karta hai par thodi na diya gaya old Certified to control the nature uske bawajud hoti hai vaah aapke filosafikal supplement karte hain beta paida hoti hai ek hospital karte hain unki katha gori ab jo hai aapke toh s s ko bataya tha ki confusion vedic knowledge isko vaishno devi chal likhe the do badan sutra jo hai yah aapka smriti katakuri vedic literature kuntee ka tere ko block karta hai toh jo aapke the aur chunari filosafij vaidik pravachan ka usme ek hoti hai aapka se hoti hai sankhya yoga din paise ka din mimansa aur bedag the jo ki aap kahaan se aapka priya bairluti sunne bolte hain toh kyon kyon isme kuch bhi nahi hoti hai airplane karte march aacharya hote expect karte iska bahut saare practical quotation ek gadhi ke jukeshan ke liye jo aaj tithi kya hai bomb support block patanjali yoga a distant karta hai toh isme sabse badi station naya karte jo polytechnic job lagi bus ac car kaunsi 10 din basic maitefijikal category jab result answer sheet roll interpretation vedant jo hai vaah aapka 60 kilo sabhi se ek hoti hai aur isko mara jata hai ki vedic knowledge ka antim ko beshak aapne likhi thi likhe the aur s mujhe category vedic literature mein aap ka bayan sutra kaha jata hai dhanyavad

नमस्कार आप की पिक्चर भेज और वेदांत में क्या अंतर है देश हमारा सबसे अनुच्छेद ट्रैफिक है उसम

Romanized Version
Likes  321  Dislikes    views  3764
WhatsApp_icon
user
2:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

वेद शब्द विद से आया है अवैध का मतलब होता है ज्ञान तो वेद का अर्थ होता है ज्ञान और वेदांत का अर्थ होता है वेदों का अंत एक तरह से हम कहे वेदों का सार जो वेदांत है वह वेदांत दर्शन है ठीक है वेदांत सेलोसिटी वेदांत दर्शन में अद्वैत अद्वैत का मतलब होता है ब्रह्म सत्य जगत मिथ्या भ्रम है वही सत्य है और यह जगत है वह मिथ्या है ठीक है हम सब ब्रह्म से उपजे हैं हम सबका माता-पिता भ्रम है हम वही वापस चले जाते हैं वन्य किस लौटती है वह वेदांत और जावेद है वेद का मतलब होता है ज्ञान वेद हमारे चार है ऋग्वेद यजुर्वेद सामवेद अथर्ववेद दुनिया की सबसे प्राचीन किताब ऋग्वेद है ठीक है वेद और वेदांत में आपको अंतर समझ में आ गया होगा वेदांत एक बहुत बड़ी फिलॉस्फी ऐसे समझाने के लिए मुझे बहुत समय लगेगा यहां पर 10 मिनट से ज्यादा की वीडियो डाल नहीं सकते तो एक वेदांत बहुत ही बड़ी फिलॉस्फी है ब्रह्म सत्य जगत मिथ्या वनस का कांसेप्ट है कि पूरा ही ही संसार भगवान है हर चीज भगवान है हर चीज में भगवान है यह वेदांत कहता है अद्वैत वेदांत द्वैत अद्वैत जब द्वैत मिट जाता है तो अद्वैत रह जाता है ठीक है और अद्वैत वेदांत वेदांत की फिलॉस्फी है इसे मैं कभी और समझा लूंगा धन्यवाद

ved shabd with se aaya hai awaidh ka matlab hota hai gyaan toh ved ka arth hota hai gyaan aur vedant ka arth hota hai vedo ka ant ek tarah se hum kahe vedo ka saar jo vedant hai vaah vedant darshan hai theek hai vedant selositi vedant darshan me advait advait ka matlab hota hai Brahma satya jagat mithya bharam hai wahi satya hai aur yah jagat hai vaah mithya hai theek hai hum sab Brahma se upaje hain hum sabka mata pita bharam hai hum wahi wapas chale jaate hain vanya kis lautti hai vaah vedant aur javed hai ved ka matlab hota hai gyaan ved hamare char hai rigved yajurved samved atharvaved duniya ki sabse prachin kitab rigved hai theek hai ved aur vedant me aapko antar samajh me aa gaya hoga vedant ek bahut badi philosophy aise samjhane ke liye mujhe bahut samay lagega yahan par 10 minute se zyada ki video daal nahi sakte toh ek vedant bahut hi badi philosophy hai Brahma satya jagat mithya vansh ka concept hai ki pura hi hi sansar bhagwan hai har cheez bhagwan hai har cheez me bhagwan hai yah vedant kahata hai advait vedant dwait advait jab dwait mit jata hai toh advait reh jata hai theek hai aur advait vedant vedant ki philosophy hai ise main kabhi aur samjha lunga dhanyavad

वेद शब्द विद से आया है अवैध का मतलब होता है ज्ञान तो वेद का अर्थ होता है ज्ञान और वेदांत क

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  93
WhatsApp_icon
user
0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

वेद जो है वो ऋग्वेद यजुर्वेद सामवेद और अथर्ववेद का जाता है और एनसीसी ज्ञान प्रकाश के दांत कैसे पकड़ा जाता है क्योंकि धन्यवाद

ved jo hai vo rigved yajurved samved aur atharvaved ka jata hai aur NCC gyaan prakash ke dant kaise pakada jata hai kyonki dhanyavad

वेद जो है वो ऋग्वेद यजुर्वेद सामवेद और अथर्ववेद का जाता है और एनसीसी ज्ञान प्रकाश के दांत

Romanized Version
Likes  21  Dislikes    views  542
WhatsApp_icon
user

arun

teaching

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

वेद चार हैं ऋग्वेद यजुर्वेद सामवेद और अथर्ववेद इसके अलावा जो भी ग्रंथ हैं वह सब वेदांत हैं वेद के उपवेद हैं जैसे कि आयुर्वेद लेकिन वेद मुख्यतः चाह रहे हैं और उन चारों वेदों को छोड़कर जो भी उपनिषद प्राण अरण्यक को जितने भी ग्रंथ लिखे गए हैं वह वेदांत

ved char hain rigved yajurved samved aur atharvaved iske alava jo bhi granth hain vaah sab vedant hain ved ke upved hain jaise ki ayurveda lekin ved mukhyata chah rahe hain aur un charo vedo ko chhodkar jo bhi upanishad praan aranyak ko jitne bhi granth likhe gaye hain vaah vedant

वेद चार हैं ऋग्वेद यजुर्वेद सामवेद और अथर्ववेद इसके अलावा जो भी ग्रंथ हैं वह सब वेदांत हैं

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  157
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  3  Dislikes    views  137
WhatsApp_icon
user
0:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

वेद जो जिसमें भगवान का संविधान है और वेदांत जिसने सुनाया कथा होती है सुनी सुनाई वह वेदांत होता है नावेद ज्योतिष में परमात्मा का संविधान और यही अंतर होता है

ved jo jisme bhagwan ka samvidhan hai aur vedant jisne sunaya katha hoti hai suni sunayi vaah vedant hota hai naved jyotish me paramatma ka samvidhan aur yahi antar hota hai

वेद जो जिसमें भगवान का संविधान है और वेदांत जिसने सुनाया कथा होती है सुनी सुनाई वह वेदांत

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  71
WhatsApp_icon
user

Deepak Nagar

कर्मकांड

0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

वेद और वेदांत में अंतर यह है कि वेद होता है मूल जिस प्रकार एक वक्त होता है लक्ष्य को कहते हैं मूल जय हो गया वेद और उस पर लगी फल जो है वह वेदांत है उसका सार उसी प्रकार वेद मूल हो गया और उसके सर को हम विधान कहते हैं

ved aur vedant me antar yah hai ki ved hota hai mul jis prakar ek waqt hota hai lakshya ko kehte hain mul jai ho gaya ved aur us par lagi fal jo hai vaah vedant hai uska saar usi prakar ved mul ho gaya aur uske sir ko hum vidhan kehte hain

वेद और वेदांत में अंतर यह है कि वेद होता है मूल जिस प्रकार एक वक्त होता है लक्ष्य को कहते

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  106
WhatsApp_icon
user

Rohit Singh

Junior Volunteer

0:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बेतुल से आपके सनातन धर्म के बारे में और मूल और सबसे प्राचीन ग्रंथों में जो है यह सम्मिलित होते हैं इसमें जो है काफी दिनों तक बातें लिखी गई हैं और वेदांत दर्शन होते हैं वेदांत इनमें से मुकेश सोजा निकाले गए हैं जो उपनिषद है जैसे और भी लोग अंत निकाले गए हैं वेदों का सारांश टाइप करके तू उनको देने मैदान दर्शन कहा जाता है

baitul se aapke sanatan dharm ke bare mein aur mul aur sabse prachin granthon mein jo hai yah sammilit hote hain isme jo hai kaafi dino tak batein likhi gayi hain aur vedant darshan hote hain vedant inme se mukesh souza nikale gaye hain jo upanishad hai jaise aur bhi log ant nikale gaye hain vedo ka saransh type karke tu unko dene maidan darshan kaha jata hai

बेतुल से आपके सनातन धर्म के बारे में और मूल और सबसे प्राचीन ग्रंथों में जो है यह सम्मिलित

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  14
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

वेद भगवान की वाणी को कहा जाता है वेदांत जोशना अज्ञानता पूजा है उसको वेदांत है

ved bhagwan ki vani ko kaha jata hai vedant joshna agyanata puja hai usko vedant hai

वेद भगवान की वाणी को कहा जाता है वेदांत जोशना अज्ञानता पूजा है उसको वेदांत है

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  11
WhatsApp_icon
user
1:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार जैसे कि आपका प्रश्न है वेद और वेदांत में क्या अंतर है वेद भारत का ही नहीं हमारे सनातन संस्कृति का ही नहीं बल्कि पूरे विश्व का सबसे प्राचीन ग्रंथ वेद को श्रुति भी कहते हैं वेदा अपौरूषेय अर्थात वेद अपौरूषेय है यानी वेद को किसी ने लिखा नहीं वेद की रचना नहीं की गई है यहां मंत्र दृष्टा रहा ऋषि है मंत्र देखने वाले उन्होंने अपने ध्यान योग की शक्ति से मंत्रों को देखा और उसे लिपिबद्ध किया सिर्फ आगे पीढ़ियों तक पहुंचाने के लिए उसे लिपिबद्ध किया गया और दूसरी बात वेदांत वेदों के अंत में जो लिखा गया है उसे कहते हैं वेदांत तीन चीजें वेद वेदांग और वेदांत वेद आदि पुरुष है जो वेदांत है उनमें वेदों के सूत्रों की व्याख्या सामान देखे तो वेदों के अर्थ को समझने के लिए उसका स्पष्टीकरण दिया गया है वेदांत में जिनमें उपनिषद स्मृतियां आती है तीसरी बात है वेदांग वेद के छह अंग जिसमें शिक्षा कल्प व्याकरण निरुक्त स्मृति इत्यादि वेदांत कहा जाता है वेद वेदांग और उपनिषद के वेदांत में आते हैं जिनमें वेदों का सार नहीं था

namaskar jaise ki aapka prashna hai ved aur vedant me kya antar hai ved bharat ka hi nahi hamare sanatan sanskriti ka hi nahi balki poore vishwa ka sabse prachin granth ved ko shruti bhi kehte hain veda apaurushey arthat ved apaurushey hai yani ved ko kisi ne likha nahi ved ki rachna nahi ki gayi hai yahan mantra drishta raha rishi hai mantra dekhne waale unhone apne dhyan yog ki shakti se mantron ko dekha aur use lipibddh kiya sirf aage peedhiyon tak pahunchane ke liye use lipibddh kiya gaya aur dusri baat vedant vedo ke ant me jo likha gaya hai use kehte hain vedant teen cheezen ved vedang aur vedant ved aadi purush hai jo vedant hai unmen vedo ke sootron ki vyakhya saamaan dekhe toh vedo ke arth ko samjhne ke liye uska spashteekaran diya gaya hai vedant me jinmein upanishad smritiyan aati hai teesri baat hai vedang ved ke cheh ang jisme shiksha kalp vyakaran nirukt smriti ityadi vedant kaha jata hai ved vedang aur upanishad ke vedant me aate hain jinmein vedo ka saar nahi tha

नमस्कार जैसे कि आपका प्रश्न है वेद और वेदांत में क्या अंतर है वेद भारत का ही नहीं हमारे सन

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  99
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो दोस्तों आप का सवाल है कि वेद और वेदांत में क्या अंतर है तो मैं आपको बता दूं कि वेद और वेदांत में कोई खास अंतर नहीं है क्योंकि वेद की संख्या चार होती है पहला यजुर्वेद सामवेद ऋग्वेद और अथर्ववेद होता है और विधान तो होते हैं

hello doston aap ka sawaal hai ki ved aur vedant me kya antar hai toh main aapko bata doon ki ved aur vedant me koi khas antar nahi hai kyonki ved ki sankhya char hoti hai pehla yajurved samved rigved aur atharvaved hota hai aur vidhan toh hote hain

हेलो दोस्तों आप का सवाल है कि वेद और वेदांत में क्या अंतर है तो मैं आपको बता दूं कि वेद और

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  90
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बेदर्दी दांत में यह अंतर है वेद है उपचार है जो कि सभी को पता है श्री वेद यजुर्वेद सामवेद अथर्ववेद इन वेदों के 14 / संहिता ब्राह्मण आरण्यक उपनिषद तू सबसे अंतिम भाग होता है वेदांत कहा जाता है पुलिस अगर तुम हम इस विश्व में पड़ता है कि वेदांता नाम उपनिषद प्रमाणन उपनिषद जो अंतिम भाग्य संपूर्ण वेदों का संक्षिप्त होती है उसमें संक्षिप्त सार होता है दांत कहा जाता है वेदों को समझने का एक अंतिम भाग वेदांत है और एक पेज है संपूर्ण बताएं जिसमें संहिता ब्राह्मण आरण्यक उपनिषद तो यह अंतर है वेद और वेदांत में जो यह बेटा है यह सर्वश्रेष्ठ भागता है वेद का

bedardii dant me yah antar hai ved hai upchaar hai jo ki sabhi ko pata hai shri ved yajurved samved atharvaved in vedo ke 14 sanhita brahman aranyak upanishad tu sabse antim bhag hota hai vedant kaha jata hai police agar tum hum is vishwa me padta hai ki vedanta naam upanishad pramanan upanishad jo antim bhagya sampurna vedo ka sanshipta hoti hai usme sanshipta saar hota hai dant kaha jata hai vedo ko samjhne ka ek antim bhag vedant hai aur ek page hai sampurna bataye jisme sanhita brahman aranyak upanishad toh yah antar hai ved aur vedant me jo yah beta hai yah sarvashreshtha bhagta hai ved ka

बेदर्दी दांत में यह अंतर है वेद है उपचार है जो कि सभी को पता है श्री वेद यजुर्वेद सामवेद अ

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  1
WhatsApp_icon
user

K D SIR

Educator

1:55
Play

Likes  2  Dislikes    views  111
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
वेद पिक्चर ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!