चालान सस्ते होने चाहिए या महंगे?...


play
user

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

चालान सस्ते होने चाहिए हम देखें चालान महंगी होने चाहिए खास करके भारत देश में क्योंकि यहां जैसा आजादी कहीं भी कोई देश में नहीं है वो खुल के जीते जो मन में आता है तो कर देते हैं और अगर चलना हो तो काफी सुधार हो गए इसमें जैसे 18 वर्ष से कम उम्र का आयु का लड़का अगर गाड़ी चला रहा है तो उसको जो है सूखा भी नादानी होती है उत्तेजना होता है गाड़ी आते हैं जो है तो बहुत ही उतावला हो जाता है बहुत ही अच्छा लाता है जिससे सड़क दुर्घटना अधिक होती है अगर ऐसा नियम है कि 18 वर्ष से कम आयु का लड़का गाड़ी नहीं चला सकता है अथवा नहीं चलाएगा कुछ करता है तो उसके लिए लाइसेंस होना चाहिए और तेज चलाता है तो उसने फाइंड बसता है तो प्लीज चलाता है तो ज्यादा फायदा कर रहेगा तो वह लड़का जो है जुगाड़ उसके पास पैसा नहीं होगा तो नहीं भर पाएगा नहीं भर पाएगा ऐसा नहीं करेगा नहीं करेगा काफी देर क्यों है तो विकसित कर भेजो उसको गरीब और गरीब होते जा रहा है तो देश में विकास की ओर राह पर चल सकता है और लोगों को सोचना भी चाहिए जो अभी चला तुमसे लड़ाई कर चालान मांग रही है बस पे चला रहे थे लेकिन खुद का नुकसान को सुरक्षा के लिए लड़ाई नहीं करना चाहिए जिससे सभी का काम करें तो अच्छा रहेगा

chalan saste hone chahiye hum dekhen chalan mehengi hone chahiye khaas karke bharat desh mein kyonki yahan jaisa azadi kahin bhi koi desh mein nahi hai vo khul ke jeete jo man mein aata hai toh kar dete hain aur agar chalna ho toh kaafi sudhaar ho gaye isme jaise 18 varsh se kam umr ka aayu ka ladka agar gaadi chala raha hai toh usko jo hai sukha bhi naadaani hoti hai uttejna hota hai gaadi aate hain jo hai toh bahut hi utavala ho jata hai bahut hi accha lata hai jisse sadak durghatna adhik hoti hai agar aisa niyam hai ki 18 varsh se kam aayu ka ladka gaadi nahi chala sakta hai athva nahi chalayega kuch karta hai toh uske liye license hona chahiye aur tez chalata hai toh usne find basta hai toh please chalata hai toh zyada fayda kar rahega toh vaah ladka jo hai jugaad uske paas paisa nahi hoga toh nahi bhar payega nahi bhar payega aisa nahi karega nahi karega kaafi der kyon hai toh viksit kar bhejo usko garib aur garib hote ja raha hai toh desh mein vikas ki aur raah par chal sakta hai aur logo ko sochna bhi chahiye jo abhi chala tumse ladai kar chalan maang rahi hai bus pe chala rahe the lekin khud ka nuksan ko suraksha ke liye ladai nahi karna chahiye jisse sabhi ka kaam kare toh accha rahega

चालान सस्ते होने चाहिए हम देखें चालान महंगी होने चाहिए खास करके भारत देश में क्योंकि यहां

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  5
WhatsApp_icon
8 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Kesharram

Teacher

1:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सालासर के होने चाहिए या वैसे तो अगर में भारत की बात करूं तो साला महंगी होने चाहिए ना कि 10 के क्यों कि जो भी बंदा है आज की टाइम में परफेक्ट होना चाहिए उसके साथ किए सारे कागजात होली चाहिए तो सारे काम रास होंगे तो नियमों का उल्लंघन नहीं होगा तो ऑटोमेटिक जो मैं उससे भी कोई फर्क नहीं पड़ेगा और जो सस्ते भी कोई फर्क नहीं पड़ेगा तो आपको हिंदी में अगर नहीं पूछोगे और आपके पास में गाड़ी का सारा कार्य पूर्ण रूप से प्यार है वह वाला हो तो और भी लोग भी आपकी डॉक्यूमेंट होता है जलने दो गाड़ी के लाइसेंस उसमें आपको ताला क्यों या मैंगो इससे कोई फर्क पड़ने वाला नहीं है लेकिन मैं आपको यह बता देना चाहता हूं कि अगर चालान सकते हो पर लोग हैं जो जिनके पास में यह कागज कार्रवाई पूरी होनी चाहिए उसके हिसाब से अगर यह कर लेते हैं तो नहीं है और यह जो आज वाहन है वह छोटे बच्चे बहुत ज्यादा मतलब चला रहे हैं और वह अंधाधुन में चला रहे हैं इसलिए इसके हिसाब से तो यह सही है कि साला चाहिए धन्यवाद

salasar ke hone chahiye ya waise toh agar mein bharat ki baat karu toh sala mehengi hone chahiye na ki 10 ke kyon ki jo bhi banda hai aaj ki time mein perfect hona chahiye uske saath kiye saare kagajat holi chahiye toh saare kaam ras honge toh niyamon ka ullanghan nahi hoga toh Automatic jo main usse bhi koi fark nahi padega aur jo saste bhi koi fark nahi padega toh aapko hindi mein agar nahi puchoge aur aapke paas mein gaadi ka saara karya purn roop se pyar hai vaah vala ho toh aur bhi log bhi aapki document hota hai jalne do gaadi ke license usme aapko tala kyon ya mango isse koi fark padane vala nahi hai lekin main aapko yah bata dena chahta hoon ki agar chalan sakte ho par log hain jo jinke paas mein yah kagaz karyawahi puri honi chahiye uske hisab se agar yah kar lete hain toh nahi hai aur yah jo aaj vaahan hai vaah chote bacche bahut zyada matlab chala rahe hain aur vaah andhadhun mein chala rahe hain isliye iske hisab se toh yah sahi hai ki sala chahiye dhanyavad

सालासर के होने चाहिए या वैसे तो अगर में भारत की बात करूं तो साला महंगी होने चाहिए ना कि 10

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  3
WhatsApp_icon
user

Klsaini

Doctor

0:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

चालन सस्ते होनी चाहिए चौकी अगर साल आदमियों के तो हम जैसे गरीब लोग मारे जाएंगे क्योंकि इनको पुलिस वाले कहीं भी रोक लेते हैं और कागज पूरे नहीं होने पर उनका तालाब बना दिया जाता है और फिर उसको चार और भद्दा ही पड़ता है

chaalan saste honi chahiye chowki agar saal adamiyo ke toh hum jaise garib log maare jaenge kyonki inko police waale kahin bhi rok lete hain aur kagaz poore nahi hone par unka taalab bana diya jata hai aur phir usko char aur bhadda hi padta hai

चालन सस्ते होनी चाहिए चौकी अगर साल आदमियों के तो हम जैसे गरीब लोग मारे जाएंगे क्योंकि इन

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
user
0:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

चालान महंगे होने चाहिए क्योंकि वह अगर एक बार गलती करता है तो उसके बाद वह दोबारा गलती करने के लिए 10 बार सोचेगा

chalan mehnge hone chahiye kyonki vaah agar ek baar galti karta hai toh uske baad vaah dobara galti karne ke liye 10 baar sochega

चालान महंगे होने चाहिए क्योंकि वह अगर एक बार गलती करता है तो उसके बाद वह दोबारा गलती करने

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
user
0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

चालान नहीं महंगा होना चाहिए और ना ही सस्ता वह एरिया के हिसाब से होना चाहिए जैसे जिस राज्य में ज्यादा क्राइम है वहां के लिए चालान ज्यादा होना चाहिए और किस राज्य में क्राइम का लेवल कम है वहां पर कम होना चाहिए

chalan nahi mehnga hona chahiye aur na hi sasta vaah area ke hisab se hona chahiye jaise jis rajya mein zyada crime hai wahan ke liye chalan zyada hona chahiye aur kis rajya mein crime ka level kam hai wahan par kam hona chahiye

चालान नहीं महंगा होना चाहिए और ना ही सस्ता वह एरिया के हिसाब से होना चाहिए जैसे जिस राज्य

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
user
0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

चलाने से भी हो महंगे होने चाहिए क्योंकि हमारे देश में हर साल एक से डेढ़ लाख व्यक्ति बेमौत मारे जाते हैं जिसकी वजह होती है हेलमेट ना पहनकर मोटरसाइकिल चलाना इसीलिए ज्यादा से ज्यादा छलांग लगाना चाहिए मोदी जी जो है बहुत ही अच्छा काम कर रहे हैं

chalane se bhi ho mehnge hone chahiye kyonki hamare desh mein har saal ek se dedh lakh vyakti bemaut maare jaate hain jiski wajah hoti hai helmet na pehankar motorcycle chalana isliye zyada se zyada chalang lagana chahiye modi ji jo hai bahut hi accha kaam kar rahe hain

चलाने से भी हो महंगे होने चाहिए क्योंकि हमारे देश में हर साल एक से डेढ़ लाख व्यक्ति बेमौत

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
user
3:09
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे नहीं लगता है कि चालान मतलब भेजना ज्यादा होनी चाहिए क्योंकि किसी के मरने का उसकी लापरवाही होती है यह नहीं कि मतलब वह ऐसे ऐसे किसी को नहीं कर सकते कि नहीं आप ऐसे गाड़ी चलाइए तो हेलमेट तो बहुत दुख होता है कि यह मतलब आवाज सुनाई देता है ऐसे करते हैं मतलब कोई गाड़ी बाइक है मतलब आनंद आनंद लेने के लिए और कोई चलाता है कि थोड़ी न लगाना चाहिए तो चालान ठीक है लेकिन उन पर अगर विचार किया जाए तो यह क्या कर रहे हो उसको मरने के कारण तो बहुत चीज चीज है किसान मौत कम उमर रहे हैं तो उनका खेती में जो है मतलब उनको नुकसान हो रहा है या वह कर्ज नहीं चुका पा रहे हैं बहुत है लेकिन यह सरकार कहीं करें क्या किया जाए लोड कोई ना कोई बहाना बनाकर चालू करें फालतू का है उसके घर कोई नहीं और जो दूसरा व्यक्ति है के पास लाइसेंस नहीं है तो अगर वह घर पर नहीं है तो क्या मतलब की इमरजेंसी है तो क्या वहां क्या करने वाला जंतु वह जा नहीं सकता वह मरेगा साला घर पर बैठकर उसने इतना भारी गलती कर दिया है ना कि और जिसके पास मनी तो 10000 20000 हो रहा है ठीक है लेकिन जो नॉरमल पर्सन है उतना पैसा कहां से पेड़ करेगा बनाने की तो ठीक है लाइफ में बनाई ऐसी बात नहीं मत बनवाई अप्लाई कर रहे हैं तो आप लाइसेंस बनवा लीजिए कम से कम 2 महीने 3 महीने का समय देना चाहिए था अरे थोड़ी ना बहुत सी चीजें ऐसी हैं जिन पर ध्यान ना दे मोटर व्हीकल एक्ट लागू कर दिया गया क्या मतलब है मैडम छूट गई और रह गई बात मरने कुछ नहीं कि तू तो लापरवाही से मरते हैं इसमें क्या है किसी को मतलब बस अपना-अपना चलाना नहीं आता ऐसे तो वह अलग सी बात है यह थोड़ी ना है कि आप चला इतना ज्यादा कर देंगे उसे कुछ होगा नहीं है घाटा होगा आप ही का उसमें कोई दिक्कत नहीं है उनको क्या होगा गाड़ी चला घर में पड़ा रहेगा कोई कोई नहीं जाएगा नॉर्मल अपने अपना जो है सब कुछ करना होगा बनाना होगा उसके लिए आदमी दौड़ेगा तो यही जो आप लागू की है समय देकर उसके बाद किए होते तो नहीं ठीक था लेकिन एकाएक लांग करते हैं किसी को कुछ समय नहीं मिला है कैसे होगा बताइए

mujhe nahi lagta hai ki chalan matlab bhejna zyada honi chahiye kyonki kisi ke marne ka uski laparwahi hoti hai yah nahi ki matlab vaah aise aise kisi ko nahi kar sakte ki nahi aap aise gaadi chalaiye toh helmet toh bahut dukh hota hai ki yah matlab awaaz sunayi deta hai aise karte hain matlab koi gaadi bike hai matlab anand anand lene ke liye aur koi chalata hai ki thodi na lagana chahiye toh chalan theek hai lekin un par agar vichar kiya jaaye toh yah kya kar rahe ho usko marne ke karan toh bahut cheez cheez hai kisan maut kam umar rahe hain toh unka kheti mein jo hai matlab unko nuksan ho raha hai ya vaah karj nahi chuka paa rahe hain bahut hai lekin yah sarkar kahin kare kya kiya jaaye load koi na koi bahana banakar chaalu kare faltu ka hai uske ghar koi nahi aur jo doosra vyakti hai ke paas license nahi hai toh agar vaah ghar par nahi hai toh kya matlab ki emergency hai toh kya wahan kya karne vala jantu vaah ja nahi sakta vaah marega sala ghar par baithkar usne itna bhari galti kar diya hai na ki aur jiske paas money toh 10000 20000 ho raha hai theek hai lekin jo normal person hai utana paisa kahaan se ped karega banane ki toh theek hai life mein banai aisi baat nahi mat banwaai apply kar rahe hain toh aap license banwa lijiye kam se kam 2 mahine 3 mahine ka samay dena chahiye tha are thodi na bahut si cheezen aisi hain jin par dhyan na de motor vehicle act laagu kar diya gaya kya matlab hai madam chhut gayi aur reh gayi baat marne kuch nahi ki tu toh laparwahi se marte hain isme kya hai kisi ko matlab bus apna apna chalana nahi aata aise toh vaah alag si baat hai yah thodi na hai ki aap chala itna zyada kar denge use kuch hoga nahi hai ghata hoga aap hi ka usme koi dikkat nahi hai unko kya hoga gaadi chala ghar mein pada rahega koi koi nahi jaega normal apne apna jo hai sab kuch karna hoga banana hoga uske liye aadmi daudega toh yahi jo aap laagu ki hai samay dekar uske baad kiye hote toh nahi theek tha lekin ekaek lang karte hain kisi ko kuch samay nahi mila hai kaise hoga bataiye

मुझे नहीं लगता है कि चालान मतलब भेजना ज्यादा होनी चाहिए क्योंकि किसी के मरने का उसकी लापरव

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
user

Rohit Singh

Junior Volunteer

0:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

चालान अगर आप देखें तो असल में महंगी होने चाहिए क्योंकि लोगों को डर लगना चाहिए कि हम जो है रूल तोड़ेंगे तो हमें यह इतने पैसे देने पड़ेंगे उधर से जो है लोग रूल फॉलो करेंगे और रूल फॉलो करना जो है आपकी रोड सेफ्टी और इन सबके लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है लेकिन अभी क्या हुआ है कि चालान इतने महंगे हो गए हैं तो इससे क्या होगा सिर्फ आपकी जो रिश्वत आप देते थे पुलिस वालों को वह बढ़ जाएगी क्योंकि आपने उस पर चेक करने का तो कोई तरीका लगाया ही नहीं है तो फिर लोग जो भी तोड़ेंगे वह पहले ₹100 देते थे अब जो है उन्हें मजबूरी में ₹200 देने पर उल्टा मेरे ख्याल से तो बढ़ ही जाएगा चलाने के तरीके पुलिस वाले पैसे नहीं ले पा रहे हैं

chalan agar aap dekhen toh asal mein mehengi hone chahiye kyonki logo ko dar lagna chahiye ki hum jo hai rule todenge toh hamein yah itne paise dene padenge udhar se jo hai log rule follow karenge aur rule follow karna jo hai aapki road safety aur in sabke liye bahut mahatvapurna hota hai lekin abhi kya hua hai ki chalan itne mehnge ho gaye hain toh isse kya hoga sirf aapki jo rishwat aap dete the police walon ko vaah badh jayegi kyonki aapne us par check karne ka toh koi tarika lagaya hi nahi hai toh phir log jo bhi todenge vaah pehle Rs dete the ab jo hai unhe majburi mein Rs dene par ulta mere khayal se toh badh hi jaega chalane ke tarike police waale paise nahi le paa rahe hain

चालान अगर आप देखें तो असल में महंगी होने चाहिए क्योंकि लोगों को डर लगना चाहिए कि हम जो है

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  5
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!