होली क्यों मनाई जाती है?...


play
user
1:22

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

होली बुराई पर अच्छाई की जीत मानी गई है भक्त प्रहलाद को जलाने के लिए होली का उन्हें अपनी गोद में लेकर लकड़ी के लकड़ी के एक बड़े गई थी और उसमें आग लगा दी गई थी वरदान था कि वह आपसे नहीं जलेगी लेकिन भक्त प्रहलाद की भक्ति के आगे जब होली जलाई गई होलिका जल गई बरबरेला बज गए तभी से देश में होली मनाई जाती है होली अमीर गरीब सभी का त्योहार है कि आपसी भाईचारे के लिए मनाई जाती है रंगोला लो त्योहार है और बुराई पर अच्छाई की जीत आ जाता है किरण कश्यप का पुत्र प्रहलाद और हिरण्यकश्यप भगवान की भक्ति से नाखुश था इसलिए अपना दीवाना चला था होलिका की गोद में बिठा देना

holi burayi par acchai ki jeet maani gayi hai bhakt prahlad ko jalane ke liye holi ka unhe apni god mein lekar lakdi ke lakdi ke ek bade gayi thi aur usme aag laga di gayi thi vardaan tha ki vaah aapse nahi jalegi lekin bhakt prahlad ki bhakti ke aage jab holi jalai gayi holika jal gayi barabarela baj gaye tabhi se desh mein holi manai jaati hai holi amir garib sabhi ka tyohar hai ki aapasi bhaichare ke liye manai jaati hai rangola lo tyohar hai aur burayi par acchai ki jeet aa jata hai kiran kashyap ka putra prahlad aur hiranyakashyap bhagwan ki bhakti se nakhush tha isliye apna deewana chala tha holika ki god mein bitha dena

होली बुराई पर अच्छाई की जीत मानी गई है भक्त प्रहलाद को जलाने के लिए होली का उन्हें अपनी गो

Romanized Version
Likes  56  Dislikes    views  1138
WhatsApp_icon
12 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Liyakat Ali Gazi

Motivational Speaker, Life Coach & Soft Skills Trainer 📲 9956269300

0:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

होली एक धार्मिक त्योहार होली आस्था का विषय है होली धर्म का विषय है होली पर हमारे हिंदू धर्म में जो है भाइयों भाइयों के आस्था का धर्म का और बुजुर्गों का विषय है इसीलिए होली का गीत से है और होलिका जी की याद में उन को मारने के लिए उनको याद करने के लिए उनके द्वारा किए गए कार्यों को याद करने के लिए

holi ek dharmik tyohar holi astha ka vishay hai holi dharm ka vishay hai holi par hamare hindu dharm mein jo hai bhaiyo bhaiyo ke astha ka dharm ka aur bujurgon ka vishay hai isliye holi ka geet se hai aur holika ji ki yaad mein un ko maarne ke liye unko yaad karne ke liye unke dwara kiye gaye karyo ko yaad karne ke liye

होली एक धार्मिक त्योहार होली आस्था का विषय है होली धर्म का विषय है होली पर हमारे हिंदू धर्

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  3
WhatsApp_icon
user

Harish Menaria

Mind professor| Tourism Guide

1:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

होली का त्यौहार भारत में बहुत ही धूमधाम से मनाया जाता है इसके पीछे बहुत सारी पौराणिक कथाएं छुपी हुई है मैं मुख्य जो कथा कुछ इस प्रकार इस प्रकार हिना कक्षक जो राजमा का राजा था उसका पता पहलाद वह भगवान केंद्र बहुत ही बहुत मानता था लेकिन इसकी से बहुत नाराज रहता था वह खत्म कर दो पूरी पंचायत मेरे ही सरकारों से मेरे मेरे गुणगान करेंगी तो उसने जो भक्त प्रहलाद की बुआ और हिना कक्षक की बहन थी उसे अपने भगवान से वरदान प्राप्त था कि वह आदमी नहीं चलेगी तो उसने आग में जलाने के लिए भक्त पहलाद को अपनी गोदी में बिठा लिया लेकिन प्रभाव ऐसा हुआ कि अच्छाई की जीत कोई और बुराई जल गई उसके बाद होली मनाई जाती है भारत में

holi ka tyohar bharat mein bahut hi dhumadham se manaya jata hai iske peeche bahut saree pouranik kathaen chhupee hui hai mukhya jo katha kuch is prakar is prakar heena kakshak jo rajma ka raja tha uska pata pahlad vaah bhagwan kendra bahut hi bahut manata tha lekin iski se bahut naaraj rehta tha vaah khatam kar do puri panchayat mere hi sarkaro se mere mere gunagan karengi toh usne jo bhakt prahlad ki buaa aur heena kakshak ki behen thi use apne bhagwan se vardaan prapt tha ki vaah aadmi nahi chalegi toh usne aag mein jalane ke liye bhakt pahlad ko apni godi mein bitha liya lekin prabhav aisa hua ki acchai ki jeet koi aur burayi jal gayi uske baad holi manai jaati hai bharat mein

होली का त्यौहार भारत में बहुत ही धूमधाम से मनाया जाता है इसके पीछे बहुत सारी पौराणिक कथाएं

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  10
WhatsApp_icon
user
0:60
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

होली मनाने के पीछे एक कहानी है बहुत प्राचीन काल में किरण कश्यप नामक अत्याचारी राजा रहता था उसे ईश्वर में विश्वास नहीं था उसने अपनी प्रजा को ईश्वर की उपासना करने पर रोक लगा दी थी उसका पुत्र प्रहलाद स्वभाव तथा दुष्ट राजा ने अपनी बहन होलिका को आदेश दिया कि प्रहलाद को आग में जिंदा जला दें होली का एक ईश्वरीय वरदान के कारण आग में नहीं चल सकती थी परंतु ईश्वर की महिमा अद्भुत हैं होलिका जल गई और प्रहलाद का कुछ नहीं बिगड़ा किसी घटना की याद में होली के पहले की रात में होलिका दहन किया जाता है

holi manane ke peeche ek kahani hai bahut prachin kaal mein kiran kashyap namak atyachari raja rehta tha use ishwar mein vishwas nahi tha usne apni praja ko ishwar ki upasana karne par rok laga di thi uska putra prahlad swabhav tatha dusht raja ne apni behen holika ko aadesh diya ki prahlad ko aag mein zinda jala de holi ka ek ishwariya vardaan ke karan aag mein nahi chal sakti thi parantu ishwar ki mahima adbhut hain holika jal gayi aur prahlad ka kuch nahi bigda kisi ghatna ki yaad mein holi ke pehle ki raat mein holika dahan kiya jata hai

होली मनाने के पीछे एक कहानी है बहुत प्राचीन काल में किरण कश्यप नामक अत्याचारी राजा रहता था

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  117
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है होली क्यों मनाई जाती है तो मैं बता दूं आपको की होली बुराई अच्छाई की जीत मानी गई है होलिका का यह वरदान था कि वह आग से नहीं जलेगी लेकिन होलिका जल गई जल गई तभी से देश में होली मनाई जाती है और होली मेरे देश का अमीर गरीब का पर्व माना गया

aapka prashna hai holi kyon manai jaati hai toh main bata doon aapko ki holi burayi acchai ki jeet maani gayi hai holika ka yah vardaan tha ki vaah aag se nahi jalegi lekin holika jal gayi jal gayi tabhi se desh mein holi manai jaati hai aur holi mere desh ka amir garib ka parv mana gaya

आपका प्रश्न है होली क्यों मनाई जाती है तो मैं बता दूं आपको की होली बुराई अच्छाई की जीत मान

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  194
WhatsApp_icon
user
0:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इस मीनिंग ऑफ अटार्नी भगवान श्री कृष्ण ने अपने भक्त प्रहलाद की रक्षा की थी पहला की पिता उसे मारना चाहते थे तथा होली का उसकी प्रेम व उसके पिता की बहन थी तो भगवान श्री कृष्ण ने पहला को बचाया था क्योंकि पहला श्री कृष्ण के भक्ति गण तथा इसे उसके पिता नाराज थे क्योंकि वह राक्षस था इसीलिए भगवान आप को मारना चाहते थे स्कूल का की जलने की खुश्की में पेट्रोल का त्यौहार मनाया जाता है

is meaning of attorney bhagwan shri krishna ne apne bhakt prahlad ki raksha ki thi pehla ki pita use marna chahte the tatha holi ka uski prem va uske pita ki behen thi toh bhagwan shri krishna ne pehla ko bachaya tha kyonki pehla shri krishna ke bhakti gan tatha ise uske pita naaraj the kyonki vaah rakshas tha isliye bhagwan aap ko marna chahte the school ka ki jalne ki khushki me petrol ka tyohar manaya jata hai

इस मीनिंग ऑफ अटार्नी भगवान श्री कृष्ण ने अपने भक्त प्रहलाद की रक्षा की थी पहला की पिता उसे

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  157
WhatsApp_icon
user

struggler

Volunteer

0:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अरे के रंगों के त्यौहार के तौर पर जो मशहूर होली का त्योहार फाल्गुन महीने में पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है और संगीत और ढोल के बीच में दूसरे पर रंग और पानी फेंका जाता है और भारत के अन्य त्योहारों की तरह होली भी जो है बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक है और प्राचीन पौराणिक कथा के अनुसार होली का त्यौहार हरना कश्यप की कहानी से जुड़ा हुआ है

arre ke rangon ke tyohar ke taur par jo mashoor holi ka tyohar falgun mahine mein poornima ke din manaya jata hai aur sangeet aur dhol ke beech mein dusre par rang aur paani fenkaa jata hai aur bharat ke anya tyoharon ki tarah holi bhi jo hai burayi par acchai ki jeet ka prateek hai aur prachin pouranik katha ke anusaar holi ka tyohar harana kashyap ki kahani se juda hua hai

अरे के रंगों के त्यौहार के तौर पर जो मशहूर होली का त्योहार फाल्गुन महीने में पूर्णिमा के द

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  2
WhatsApp_icon
user

Amber Rai

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज के होली जो है वह प्यार का सिंबल है उसको होली जो है प्यार दर्शाता है और जो ब्रिज है रीजन है भारत का जहां पर कृष्ण जी जो है उनका पालन पोषण होता और वह बढ़े हुए थे तो वहां पर पहली बार जो है होली खेली गई थी होली जो है वह जो राधा जी का प्यार था कृष्ण जी के पति उसको रिपेरिंग करता है और होली को जो है वह फैसला भी कहते हैं

aaj ke holi jo hai vaah pyar ka symbol hai usko holi jo hai pyar darshata hai aur jo bridge hai reason hai bharat ka jaha par krishna ji jo hai unka palan poshan hota aur vaah badhe hue the toh wahan par pehli baar jo hai holi kheli gayi thi holi jo hai vaah jo radha ji ka pyar tha krishna ji ke pati usko ripering karta hai aur holi ko jo hai vaah faisla bhi kehte hain

आज के होली जो है वह प्यार का सिंबल है उसको होली जो है प्यार दर्शाता है और जो ब्रिज है रीजन

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  180
WhatsApp_icon
user

Ambuj Singh

Media Professional

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए होली मनाने के पीछे दो कारण हैं इंडिया में जो प्रचलित हैं एक तो एक होलिका प्रहलाद और हिरण्यकश्यप की कहानी थी और होलिका की जिसमें की होली का हिरण कश्यप की बहन थी और प्रहलाद उनका भतीजा लेगा तो प्रहलाद एजुकेशन कश्यप के अगेंस्ट था अपने फादर के तो इसीलिए उसी आग में जलाने के लिए एक होली का ने एक षड्यंत्र रचा लेकिन बाद में खुदखुशी अंत में जल गई तो इस तरह दिखती हो मतलब अच्छाई की बुराई पर जीत के लिए भी होली मनाई जाती है इसलिए होलिका दहन भी किया जाता है और दूसरी बात यह है कि इसे फेस्टिवल ऑफ लव भी कहा जाता है क्योंकि समय ब्रिज जो कि कृष्ण भगवान और राधा के प्यार के कारण वहां पर जो मनाई जाती है सिंबॉलिक है प्यार और होली स्टेशन

dekhiye holi manane ke peeche do karan hain india mein jo prachalit hain ek toh ek holika prahlad aur hiranyakashyap ki kahani thi aur holika ki jisme ki holi ka hiran kashyap ki behen thi aur prahlad unka bhatija lega toh prahlad education kashyap ke against tha apne father ke toh isliye usi aag mein jalane ke liye ek holi ka ne ek shadyantra racha lekin baad mein khudkhushee ant mein jal gayi toh is tarah dikhti ho matlab acchai ki burayi par jeet ke liye bhi holi manai jaati hai isliye holika dahan bhi kiya jata hai aur dusri baat yah hai ki ise festival of love bhi kaha jata hai kyonki samay bridge jo ki krishna bhagwan aur radha ke pyar ke karan wahan par jo manai jaati hai symbolic hai pyar aur holi station

देखिए होली मनाने के पीछे दो कारण हैं इंडिया में जो प्रचलित हैं एक तो एक होलिका प्रहलाद और

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  202
WhatsApp_icon
user

Ridhima

Mass Communications Student

1:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

होली के साथ कई सारी स्टोरी जुड़ी हुई है जो एक हमारे हिंदू धर्म में जोड़ी भी है वह थी होलिका प्रहलाद और हिरण्यकश्यप की प्रह्लाद हिरण्यकश्यप का बेटा था और फिर विष्णु जी का बहुत बड़ा भक्त था हिरण्यकश्यप इसको नहीं मानते थे और उनको इस दिन से बहुत अच्छा नहीं लगता था तो फिर उन्होंने प्रह्लाद को मारने की कोशिश करी फिर उन्होंने होलिका अपनी बहन का सहारा लिया और होलिका को एक वरदान मिला हुआ था कि वह आदमी कभी भी नहीं चलेगी तो इन लोगों ने यह प्लान किया की होली का और प्रहलाद दोनों आग में आग लगाया जाएगा उन दोनों में पर फिर क्या हुआ कि जब आग लगाया गया तो होली का जरूर मर गई पर पहला हक नहीं लगा क्योंकि वह विष्णु जी के बहुत बड़ा भक्त था और फिर उनसे प्रार्थना करता था तो यह एक वैसा स्टार्ट था कि बुराई का वापस अंत हुआ और फिर अच्छाई वर्क

holi ke saath kai saree story judi hui hai jo ek hamare hindu dharm mein jodi bhi hai vaah thi holika prahlad aur hiranyakashyap ki prahlad hiranyakashyap ka beta tha aur phir vishnu ji ka bahut bada bhakt tha hiranyakashyap isko nahi maante the aur unko is din se bahut accha nahi lagta tha toh phir unhone prahlad ko maarne ki koshish kari phir unhone holika apni behen ka sahara liya aur holika ko ek vardaan mila hua tha ki vaah aadmi kabhi bhi nahi chalegi toh in logo ne yah plan kiya ki holi ka aur prahlad dono aag mein aag lagaya jaega un dono mein par phir kya hua ki jab aag lagaya gaya toh holi ka zaroor mar gayi par pehla haq nahi laga kyonki vaah vishnu ji ke bahut bada bhakt tha aur phir unse prarthna karta tha toh yah ek waisa start tha ki burayi ka wapas ant hua aur phir acchai work

होली के साथ कई सारी स्टोरी जुड़ी हुई है जो एक हमारे हिंदू धर्म में जोड़ी भी है वह थी होलिक

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  134
WhatsApp_icon
user

Geet Awadhiya

Aspiring Software Developer

0:60
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

होली जोगीरा के पावन त्यौहार मनाया जाता है हिंदुओं में वही होली इसलिए मनाई जाती है क्योंकि एक राजा हिरण्यकश्यप उसका जो बेटा था प्रहलाद वह भगवान विष्णु के बहुत बड़े भक्त थे तथा जो राजा का हिरण का शव को काफी अय्यंकाली राय राजा का वह काफी प्रजा के अत्याचार करता था तो उसने अपने बेटे को दुखी भी विष्णु जी का भक्त था उसे मृत्युदंड देने की ठानी और होलिका द्वारा इसे अपनी गोद में ले कर बैठना था और होलिका को वरदान प्राप्त था कि वजन नहीं सकती है और उसे इन्हें लेकर बैठ कर जलाना तक उसको जिसे वह बताएं और पहलाद जलता हुआ होलिका खुद ही चल गए भगवान विष्णु की कृपा से और पहलाद बज गए इसी खुशी में किसी चीज के लिए होलिका दहन किया था था और दूसरे दिन रंगों का त्यौहार खेला जाता है

holi jogira ke paavan tyohar manaya jata hai hinduon mein wahi holi isliye manai jaati hai kyonki ek raja hiranyakashyap uska jo beta tha prahlad vaah bhagwan vishnu ke bahut bade bhakt the tatha jo raja ka hiran ka shav ko kaafi ayyankali rai raja ka vaah kaafi praja ke atyachar karta tha toh usne apne bete ko dukhi bhi vishnu ji ka bhakt tha use mrityudand dene ki thani aur holika dwara ise apni god mein le kar baithana tha aur holika ko vardaan prapt tha ki wajan nahi sakti hai aur use inhen lekar baith kar jalaana tak usko jise vaah bataye aur pahlad jalta hua holika khud hi chal gaye bhagwan vishnu ki kripa se aur pahlad baj gaye isi khushi mein kisi cheez ke liye holika dahan kiya tha tha aur dusre din rangon ka tyohar khela jata hai

होली जोगीरा के पावन त्यौहार मनाया जाता है हिंदुओं में वही होली इसलिए मनाई जाती है क्योंकि

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  64
WhatsApp_icon
user

Gulnaz

लेवल 1 (बिगिनर)

0:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज के होली जो है वह प्यार का संविलयन है उनको गोली और जैसे कि जो प्यार करता है और जो बीच में रीजन में भारत का जहां पर कृष्ण जी जो उन्हें उनके पालन पोषण होता है और वह बड़े हुए थे तो वहां पर पहली बार जो है होली खेली गई थी होली जो है वह जो राधा जी का प्यार था कृष्ण जी के पति उसको रिपेयरिंग करता है और होली को जो है वह फैसला भी कहते हैं

aaj ke holi jo hai vaah pyar ka sanvilayan hai unko goli aur jaise ki jo pyar karta hai aur jo beech mein reason mein bharat ka jaha par krishna ji jo unhe unke palan poshan hota hai aur vaah bade hue the toh wahan par pehli baar jo hai holi kheli gayi thi holi jo hai vaah jo radha ji ka pyar tha krishna ji ke pati usko repairing karta hai aur holi ko jo hai vaah faisla bhi kehte hain

आज के होली जो है वह प्यार का संविलयन है उनको गोली और जैसे कि जो प्यार करता है और जो बीच मे

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  177
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
holi ka tyohar kyu manaya jata hai ; हरना कश्यप वध ; होली क्यों मनाई जाती है ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!