200 रेलवे स्टेशनों पर नैपकिन डिस्पेंसर्स लगाए जाने हैं IAS महिला दिवस पर । क्या यह जागरूकता पैदा करने के लिए काफ़ी है?...


play
user

Mahjabeen Ali

RJ | Cook | TV Anchor | VO Artist

0:55

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक हद तक जागरूकता पैदा करने के लिए अच्छा कदम है लेकिन यह काफी नहीं है पूरी तरीके से और भी कई सारे मुद्दे हैं जिसमें सबसे इंपोर्टेंट और सबसे पहला मुद्दा तो यही आता है कि थाने की आज की रेट जो है वह बहुत ज्यादा है अगर एक मिडिल क्लास घर के बजट का कि हम बात करें तो उनके हिसाब से भी यह ज्यादा होता है तो अगर हम दोनों मिल क्लास और उससे भी नीचे तक देखी चलो ज्ञान की बात करें तो उनके लिए तो यह पॉसिबल हो जाता है तो जागरूकता तो अच्छी तरीके से या यूं कहें कि पूरी तरीके से तब फैलेगी जब इसकी रेट कम कर दी जाएंगी रेट कम होगी तो यह हर किसी के लिए अपने बल होता चला जाएगा गांव गांव शहर शहर गली गली औरतें का इस्तेमाल कर पाएंगी कपड़े का इस्तेमाल बंद करके और हाइजीन तब जाकर पूरी तरीके से हर एक घर में औरतों के लिए फैलेगा और बढ़ेगा तो रेट मुझे लगता है कि सबसे बड़ा इंपॉर्टेंट पॉइंट है जिसे की जागरूकता फैल सकती है

ek had tak jagrukta paida karne ke liye accha kadam hai lekin yah kaafi nahi hai puri tarike se aur bhi kai saare mudde hain jisme sabse important aur sabse pehla mudda toh yahi aata hai ki thane ki aaj ki rate jo hai vaah bahut zyada hai agar ek middle class ghar ke budget ka ki hum baat kare toh unke hisab se bhi yah zyada hota hai toh agar hum dono mil class aur usse bhi niche tak dekhi chalo gyaan ki baat kare toh unke liye toh yah possible ho jata hai toh jagrukta toh achi tarike se ya yun kahein ki puri tarike se tab failegi jab iski rate kam kar di jayegi rate kam hogi toh yah har kisi ke liye apne bal hota chala jaega gaon gaon shehar shehar gali gali auraten ka istemal kar paayengi kapde ka istemal band karke aur hygiene tab jaakar puri tarike se har ek ghar mein auraton ke liye failega aur badhega toh rate mujhe lagta hai ki sabse bada important point hai jise ki jagrukta fail sakti hai

एक हद तक जागरूकता पैदा करने के लिए अच्छा कदम है लेकिन यह काफी नहीं है पूरी तरीके से और भी

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  139
KooApp_icon
WhatsApp_icon
8 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!