हम लोग इतने बीमार क्यों हो रहे हैं?...


play
user

Luckypandey

Yoga Trainer

2:00

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जब तक पक्का इरादा नहीं होगा और कड़ी मेहनत नहीं होगी तब तक हम ऐसे बीमार होते रहे क्योंकि हमारा जो है मन का खेल क्योंकि जब मेरा हमारा सबका मन ही कमजोर हो जाएगा तो हमारे अंदर बीमारियां आना शुरू हो जाए अगर हम जिस दिन चाहते हैं कि इस दिन इस कार्य को नहीं करें लेकिन कोई भी कार्य कठिन क्यों हो जाता है जब हमारा मन कमजोर हो जाता तो मन को मजबूत बनाने के लिए आप मन का रूपी व्यवहार को ₹1 ज्ञान को ₹1 अंतर शक्ति को हमेशा प्रफुल्लित करने के लिए आपको प्रत्येक दिन प्राणायाम का अभ्यास करना होगा ध्यान करना होगा जिससे आपके अंदर बीमारियां ना आने पाए अगर बहुत ज्यादा मोटा लोहे से मनवा दिया जाए और उसमें गोली मारा जाए तो गोली भी नहीं जा सकती वैसे ही हमारे मन को जब इतना प्रबल बना दिया जाए कि कोई भी शक्ति हमें कमजोर नहीं कर सकते मन का ही खेल है मन हमारा बिगड़ गया सब काम बिगड़ गया ऐसे क्रोध बुद्धि को खा जाता है वैसे ही जमानत हो जाते हैं तो हमारे अंदर बीमारियां आना शुरू हो जाती है हमारे शरीर का वहीं से पतन होना शुरू हो जाता तो पतंग से दूर रहने के लिए आपको हमेशा सुखी रहने के लिए प्रत्येक दिन आपका दिनचर्या सही हो आपका जो ज्ञान और पुरुषार्थ कर रहे हैं उस पुरुषार्थ में किसी भी तरह का विघ्न ना हो तो हमेशा आपको अच्छा और सजग बनाएगा और आप की बीमारियां जो आप को स्पर्श करने का प्रयास करें वह भी दूर हो जाएंगे तो आप अपने मन को मजबूत करिए मन

jab tak pakka irada nahi hoga aur kadi mehnat nahi hogi tab tak hum aise bimar hote rahe kyonki hamara jo hai man ka khel kyonki jab mera hamara sabka man hi kamjor ho jayega toh hamare andar bimariyan aana shuru ho jaye agar hum jis din chahte hai ki is din is karya ko nahi karein lekin koi bhi karya kathin kyon ho jata hai jab hamara man kamjor ho jata toh man ko majboot banane ke liye aap man ka rupee vyavahar ko Rs gyaan ko Rs antar shakti ko hamesha prafullit karne ke liye aapko pratyek din pranayaam ka abhyas karna hoga dhyan karna hoga jisse aapke andar bimariyan na aane paye agar bahut zyada mota lohe se manva diya jaye aur usme goli mara jaye toh goli bhi nahi ja sakti waise hi hamare man ko jab itna prabal bana diya jaye ki koi bhi shakti humein kamjor nahi kar sakte man ka hi khel hai man hamara bigad gaya sab kaam bigad gaya aise krodh buddhi ko kha jata hai waise hi jamanat ho jaate hai toh hamare andar bimariyan aana shuru ho jati hai hamare sharir ka wahi se patan hona shuru ho jata toh patang se dur rehne ke liye aapko hamesha sukhi rehne ke liye pratyek din aapka dincharya sahi ho aapka jo gyaan aur purusharth kar rahe hai us purusharth mein kisi bhi tarah ka vighn na ho toh hamesha aapko accha aur sajag banayega aur aap ki bimariyan jo aap ko sparsh karne ka prayas karein wah bhi dur ho jaenge toh aap apne man ko majboot kariye man

जब तक पक्का इरादा नहीं होगा और कड़ी मेहनत नहीं होगी तब तक हम ऐसे बीमार होते रहे क्योंकि हम

Romanized Version
Likes  155  Dislikes    views  1949
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
hum bimar kyu hote hai ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!