play
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

4:32

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दहेज प्रथा का मतलब यह है कि जब किसी कन्या और वर्क का लड़की या लड़के की जब शादी होती तो लड़की वाले से अभिभावक तो माता-पिता है वह कन्या को अपनी बिटिया को घर का सामान और पुलिस समझने को लगदी भी दी जाती है तिलक 3G में भी कह दिया जाता है कोलिशन दहेज प्रथा के अंतर्गत कि ना जाता है पहले के जमाने में लड़कियों की कच्ची लड़कियों की संख्या कम थी या तो और भी कम होती जा रही है क्योंकि लड़कियों को जन्म से पहले और जन्नत के बाद मार दिया जाता है भ्रूण हत्या की जाती थी उसके कानूनन रोक लग गई है यह बहुत अच्छी बात है लेकिन फिर भी कोई कोई डॉक्टर कानून के विपरीत जाकर यह कार्य पैसों के लिए करते हैं इसलिए लड़कों और लड़कियों की लड़कियों और लड़कों की जो समानता जो अनुपात 2 है वह उसमें बहुत ही पका लेकिन पहले के जमाने में यह भी होता था कि लड़कियों को माता-पिता की जो माल मिल करते हो मरने के बाद माता-पिता के उनको लड़कियों कोई सा नहीं दिया जाता था सिर्फ लड़के ही उसके कानों में खो जाते थे वर्तमान कायदे के अनुसार लड़कियों को भी कानून अपने मां-बाप की मिलकर अपने से मिलने लगा है लेकिन ये अलग बात है कि लड़कियां कोई कोई इनकार कर दिया करो सुखी संसार में सुखी है लेकिन सबसे अच्छा गणेश लड़कियों के लिए मेरे ख्याल से यह होगा कि लड़कियों को पढ़ा लिखा कर और जितनी उसकी योग्यता है अपने हिसाब से उनको पढ़ा लिखा कर अपने पैर पर खड़ा होना मां-बाप सिखा दे तो दहेज प्रथा को जिमी जिमी बंद किया जा सकता है लेकिन सभी लड़के वाले जो होते हैं वह चाहते हैं कि योग्यता होने के बावजूद भी लड़के वाले से माता-पिता कुछ ना कुछ भी जबकि सबसे अच्छी गाय तू लड़की है जो अपना पूरा घर संसार अपने मां-बाप का घर छोड़ कर वह अकेली अपने पति के साथ चल निकलती है एक नई दुनिया अनजान जगह पर अनजान लोगों के पास किसी भी लोगों को मालूम नहीं है कि कौन लोग कैसे हैं थोड़ा बहुत अंदाज होता है लेकिन धर्म कैसे हैं क्या है उनको नहीं मालूम होता लड़की को सब्जी हो अभी भी हमारे हिंदुस्तान में कायम है मुस्लिम में इस तरह खूब मेहर की रकम बोलते हैं वह भी एक तरह का अमेरिका से भेजी हुआ कि वह जो लड़कियों के लिए जो श्रीधन हो जाता है तो यह दहेज प्रथा जो है अभिशाप है मेरे ख्याल से बहुत बड़ा अभिशाप है लड़कियों से भी इसीलिए दहेज प्रथा की वजह से लड़कियों को याद किया और यह सब जो बुराइयां हैं वह दहेज प्रथा के कारण ही है यह तो लड़कियों को संभालना और उनके ऊपर कई पाबंदियां लगा ना उसको कम खाना देना यह सब अभी देख गांव देहात में होता रहता है लेकिन यह दहेज प्रथा कलंक है कि हमारे समाज हिंदुस्तानी समाज में दहेज प्रथा एक अभिशाप है इससे जितना जल्दी हो सके बहुत कड़क मिल गया है लेकिन एकदम यह बंद होना चाहिए बंद होना चाहिए ना दहेज लेना चाहिए ना दहेज देना चाहिए अपर्याप्त मटके होंगे देश प्रथा क्या है और मेरे विचार किया है धन्यवाद

dahej pratha ka matlab yah hai ki jab kisi kanya aur work ka ladki ya ladke ki jab shadi hoti toh ladki waale se abhibhavak toh mata pita hai vaah kanya ko apni bitiya ko ghar ka saamaan aur police samjhne ko lagadi bhi di jaati hai tilak 3G mein bhi keh diya jata hai kolishan dahej pratha ke antargat ki na jata hai pehle ke jamane mein ladkiyon ki kachhi ladkiyon ki sankhya kam thi ya toh aur bhi kam hoti ja rahi hai kyonki ladkiyon ko janam se pehle aur jannat ke baad maar diya jata hai bharun hatya ki jaati thi uske kanunan rok lag gayi hai yah bahut achi baat hai lekin phir bhi koi koi doctor kanoon ke viprit jaakar yah karya paison ke liye karte hain isliye ladko aur ladkiyon ki ladkiyon aur ladko ki jo samanata jo anupat 2 hai vaah usme bahut hi paka lekin pehle ke jamane mein yah bhi hota tha ki ladkiyon ko mata pita ki jo maal mil karte ho marne ke baad mata pita ke unko ladkiyon koi sa nahi diya jata tha sirf ladke hi uske kanon mein kho jaate the vartaman kayade ke anusaar ladkiyon ko bhi kanoon apne maa baap ki milkar apne se milne laga hai lekin ye alag baat hai ki ladkiyan koi koi inkar kar diya karo sukhi sansar mein sukhi hai lekin sabse accha ganesh ladkiyon ke liye mere khayal se yah hoga ki ladkiyon ko padha likha kar aur jitni uski yogyata hai apne hisab se unko padha likha kar apne pair par khada hona maa baap sikha de toh dahej pratha ko jimmy jimmy band kiya ja sakta hai lekin sabhi ladke waale jo hote hain vaah chahte hain ki yogyata hone ke bawajud bhi ladke waale se mata pita kuch na kuch bhi jabki sabse achi gaay tu ladki hai jo apna pura ghar sansar apne maa baap ka ghar chod kar vaah akeli apne pati ke saath chal nikalti hai ek nayi duniya anjaan jagah par anjaan logo ke paas kisi bhi logo ko maloom nahi hai ki kaun log kaise hain thoda bahut andaaz hota hai lekin dharm kaise kya hai unko nahi maloom hota ladki ko sabzi ho abhi bhi hamare Hindustan mein kayam hai muslim mein is tarah khoob mehar ki rakam bolte hain vaah bhi ek tarah ka america se bheji hua ki vaah jo ladkiyon ke liye jo shridhan ho jata hai toh yah dahej pratha jo hai abhishap hai mere khayal se bahut bada abhishap hai ladkiyon se bhi isliye dahej pratha ki wajah se ladkiyon ko yaad kiya aur yah sab jo buraiyan hain vaah dahej pratha ke karan hi hai yah toh ladkiyon ko sambhaalna aur unke upar kai pabandiyan laga na usko kam khana dena yah sab abhi dekh gaon dehaant mein hota rehta hai lekin yah dahej pratha kalank hai ki hamare samaj hindustani samaj mein dahej pratha ek abhishap hai isse jitna jaldi ho sake bahut kadak mil gaya hai lekin ekdam yah band hona chahiye band hona chahiye na dahej lena chahiye na dahej dena chahiye aparyaapt matke honge desh pratha kya hai aur mere vichar kiya hai dhanyavad

दहेज प्रथा का मतलब यह है कि जब किसी कन्या और वर्क का लड़की या लड़के की जब शादी होती तो लड़

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  1067
KooApp_icon
WhatsApp_icon
4 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
dahej pratha kya hai ; dahej pratha par question answer ; dahej pratha ; dahej kya hai ; dahej ke bare mein ; dahej pratha kise kahate hain ; दहेज प्रथा क्या है ; प्रथा ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!