युवा के लिए 'जैकेट' और बुजुर्ग के लिए 'कुर्ता' !? ! राहुल गांधी दोहरे मान कौन को बनाए रखने की कोशिश क्यों कर र है हैं?...


play
user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

1:35

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

BP मुझे लगता है राहुल गांधी युवा नेता हैं वह सम्माननीय लेता है तो अगर वह जैकेट पहनते हैं तो विवाह जैकेट पहने का और क्या बनेगा और कुर्ता पजामा पहनता है तो मुझे नेता तो नेता सूट करेगा यह सादरी पहनता है तू इतना ज्यादा छुट्टी करेगा एक ट्रैक्टर बहुत मेहनत करता है और बुजुर्ग जो आपके 16 के अराउंड है City Plus है वह जैकेट पहनेंगे तो मुझे नेता बनाया सूट करेगा इस पर एक मौलिक पॉलिटिक्स में 30 तारीख जैकेट पहने तो मुझे लगता है उनकी खुद की चॉइस है और इसलिए उनको मैंने भी देखा तो फोटो सेंड कर दो घुट कर रही है लेकिन जिस तरह भारतीय जनता पार्टी ने उसको चुनावी मुद्दा बना लिया तो मुझे लगता है कि वह गलत चीज है नहीं होना चाहिए क्योंकि चुनाव के मुद्दे अलग होते हैं किसी का जैकेट पहने या ना पहने या अलग विषय है अगर चुनाव इसी बात पर होने लगी है इन्हीं मुद्दों पर होने लगेगी कौन कितने महंगे कपड़े पहना हुआ है तो मुझे लगता है कि श्री नरेंद्र मोदी जी को तो कोई नहीं देता क्योंकि कुछ दिन पहले आपने सुना होगा श्री नरेंद्र मोदी जी को एक गुजरात के बिजनेसमैन ने 1000000 की जैकेट 1000000 का सूट दिया था उसके बाद ही भारतीय जनता पार्टी ने चार जगह इलेक्शन जूते स्टेट के अंदर घुसी थी है तो डेफिनेटली के जैकेट पहनना या कुछ और पहनना बहुत महंगा आदमी कैपेबिलिटी पर डिपेंड करती है उसकी क्षमता है उसकी फाइनेंसियल इतना स्ट्रांग है कि वह अपने 59001 लकी जगत मैंने तो उस पर डिपेंड करता है लेकिन कभी चुनावी मुद्दा नहीं हो सकता चुनाव के मुद्दे कुछ अलग होते हैं

BP mujhe lagta hai rahul gandhi yuva neta hai vaah sammananiya leta hai toh agar vaah jacket pehente hai toh vivah jacket pehne ka aur kya banega aur kurta payjama pehanta hai toh mujhe neta toh neta suit karega yah sadri pehanta hai tu itna zyada chhutti karega ek tractor bahut mehnat karta hai aur bujurg jo aapke 16 ke around hai City Plus hai vaah jacket pahnenge toh mujhe neta banaya suit karega is par ek maulik politics mein 30 tarikh jacket pehne toh mujhe lagta hai unki khud ki choice hai aur isliye unko maine bhi dekha toh photo send kar do ghut kar rahi hai lekin jis tarah bharatiya janta party ne usko chunavi mudda bana liya toh mujhe lagta hai ki vaah galat cheez hai nahi hona chahiye kyonki chunav ke mudde alag hote hai kisi ka jacket pehne ya na pehne ya alag vishay hai agar chunav isi baat par hone lagi hai inhin muddon par hone lagegi kaun kitne mehnge kapde pehna hua hai toh mujhe lagta hai ki shri narendra modi ji ko toh koi nahi deta kyonki kuch din pehle aapne suna hoga shri narendra modi ji ko ek gujarat ke bussinessmen ne 1000000 ki jacket 1000000 ka suit diya tha uske baad hi bharatiya janta party ne char jagah election joote state ke andar ghusi thi hai toh definetli ke jacket pahanna ya kuch aur pahanna bahut mehnga aadmi capability par depend karti hai uski kshamta hai uski financial itna strong hai ki vaah apne 59001 lucky jagat maine toh us par depend karta hai lekin kabhi chunavi mudda nahi ho sakta chunav ke mudde kuch alag hote hain

BP मुझे लगता है राहुल गांधी युवा नेता हैं वह सम्माननीय लेता है तो अगर वह जैकेट पहनते हैं त

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  113
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी राहुल गांधी जी अभी रिसेंटली जो एक उनकी पार्टी का कौन से टाइप समझूं हुआ था वह वह जैकेट पहन कर गए और यूजर लीवर कुर्ता पजामा में होता जब बोल रहे हो के लिए जाते हैं कुछ भी बहुत क्रिएटिव अली दिखा रहा है कि राहुल गांधी का किस सर्टिफिकेट चल रहे हैं यानी कि वह हर किसी के रंग में मिलना चाह रहे हैं जैसे उनके ऑडियंस है जैसे उनको सुनने वाले लोग हैं वह वैसा ही परेशानियां वैसा ही बातें बोलना शुरू कर रहे हैं बुजुर्गों के बीच में होता तो वह कुर्ता पजामा में होता है और कैसी बातें करते हो और अगर वह युवाओं के बीच में है तो वह जैकेट पहनते बल्कि उनकी जैकेट पर भी काफी बवाल हुआ यह कहा गया कि लाखों रुपए की जगह है यहां ऐसा कुछ कि बहुत महंगे चाहते थे खुद की जब नरेंद्र मोदी जो है वह माना कि उनके परिधान नहीं बदलते लेकिन वह युवाओं के साथ डिजिटलीकरण करने की कोशिश करते हैं और बुजुर्गों के साथ को पुत्र को जैसी बात करते हैं राम कानून एग्जाम की कॉपी तो नहीं कर सकते बट वह अपनी तरह की अपने तरीके से हर वर्ग को लुभाने की कोशिश जरूर कर रहे हैं इलेक्शन के टाइम पर तो वोटिंग तो यह बुजुर्गों से भी जरूरी है मिलने और युवाओं से भी तो फिर वह उनके साथ एक ऐसे ना बदले तो यही वह भी कर रहे हैं वह जिस जिस औरत के पेट में जा रहे हैं वैसे ही ढलते जा रहे हैं

vicky rahul gandhi ji abhi recently jo ek unki party ka kaunsi type samjhu hua tha vaah vaah jacket pahan kar gaye aur user liver kurta payjama mein hota jab bol rahe ho ke liye jaate hai kuch bhi bahut creative ali dikha raha hai ki rahul gandhi ka kis certificate chal rahe hai yani ki vaah har kisi ke rang mein milna chah rahe hai jaise unke adiyans hai jaise unko sunne waale log hai vaah waisa hi pareshaniya waisa hi batein bolna shuru kar rahe hai bujurgon ke beech mein hota toh vaah kurta payjama mein hota hai aur kaisi batein karte ho aur agar vaah yuvaon ke beech mein hai toh vaah jacket pehente balki unki jacket par bhi kaafi bawaal hua yah kaha gaya ki laakhon rupaye ki jagah hai yahan aisa kuch ki bahut mehnge chahte the khud ki jab narendra modi jo hai vaah mana ki unke paridhan nahi badalte lekin vaah yuvaon ke saath digitalikaran karne ki koshish karte hai aur bujurgon ke saath ko putra ko jaisi baat karte hai ram kanoon exam ki copy toh nahi kar sakte but vaah apni tarah ki apne tarike se har varg ko lubhane ki koshish zaroor kar rahe hai election ke time par toh voting toh yah bujurgon se bhi zaroori hai milne aur yuvaon se bhi toh phir vaah unke saath ek aise na badle toh yahi vaah bhi kar rahe hai vaah jis jis aurat ke pet mein ja rahe hai waise hi dhalte ja rahe hain

विकी राहुल गांधी जी अभी रिसेंटली जो एक उनकी पार्टी का कौन से टाइप समझूं हुआ था वह वह जैकेट

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  157
WhatsApp_icon
user

Ekta

Researcher and Writer

1:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी जैसा कि आप जानते हैं कि लोग पब्लिक फिगर को पॉलिटिकल सीकर को बहुत ज्यादा ही लिपस्टिक बना देते हैं ऐसे गाना हमारी पुरानी आदत है जिसे हम बदल नहीं सकते अब चर्चे में न्यूज़ है कि युवाओं के लिए जाकर जरूर के लिए कुर्ता बनाना मानना राहुल गांधी के दौरे मानकों को बनाए रखने की कोशिश करना है तो मैं आप से सवाल करती हूं क्या युवा कुर्ते पहन के बाहर निकल सकते हैं और क्या जो बुजुर्ग हैं वह जाकर पहन कर खुद भाले करना पसंद करेंगे ऐसा कहना सही नहीं होगा क्योंकि जिस हिसाब से आज की जनता चल रही है उस हिसाब से डिमांड यही है युवा जैकेट पहना ज्यादा पसंद करेंगे कुर्ती अकेला बाबू बिल्कुल भी ऐसे बाहर निकलना पसंद नहीं करेंगे लेकिन अगर इस पर आप डिबेट बना रहे हैं कि राहुल गांधी अब से ऐसा करके ऐसा क्या कर दो रे तोहरे मांगों को बनाए रखने की कोशिश कर रहे हैं यह कहना बात सही नहीं होगा तो जैसे जैसे ट्रेन चलता है वैसे वैसे हमारी स्थिती भी चलती हो उस हिसाब से इंसान अपनी लाइफ में अपने स्टाइल में चेंजेस जाता है जो कि एक डिमांड है नेचर का और जनरेशन का उस हिसाब से उसे फॉलो करना चाहिए आपके ऊपर डिपेंड करता है क्या क्या पहनना पसंद करते हैं राधा जानकी राहुल गांधी क्या कह रहे हैं आपके लिए संस आपको पहनना यह आप बताएं तो ज्यादा बेहतर होगा

ji jaisa ki aap jante hai ki log public figure ko political sikar ko bahut zyada hi lipstick bana dete hai aise gaana hamari purani aadat hai jise hum badal nahi sakte ab charche mein news hai ki yuvaon ke liye jaakar zaroor ke liye kurta banana manana rahul gandhi ke daure maankon ko banaye rakhne ki koshish karna hai toh main aap se sawaal karti hoon kya yuva kurte pahan ke bahar nikal sakte hai aur kya jo bujurg hai vaah jaakar pahan kar khud bhalle karna pasand karenge aisa kehna sahi nahi hoga kyonki jis hisab se aaj ki janta chal rahi hai us hisab se demand yahi hai yuva jacket pehna zyada pasand karenge kurtee akela babu bilkul bhi aise bahar nikalna pasand nahi karenge lekin agar is par aap debate bana rahe hai ki rahul gandhi ab se aisa karke aisa kya kar do ray tohre maangon ko banaye rakhne ki koshish kar rahe hai yah kehna baat sahi nahi hoga toh jaise jaise train chalta hai waise waise hamari sthitee bhi chalti ho us hisab se insaan apni life mein apne style mein changes jata hai jo ki ek demand hai nature ka aur generation ka us hisab se use follow karna chahiye aapke upar depend karta hai kya kya pahanna pasand karte hai radha janki rahul gandhi kya keh rahe hai aapke liye saas aapko pahanna yah aap bataye toh zyada behtar hoga

जी जैसा कि आप जानते हैं कि लोग पब्लिक फिगर को पॉलिटिकल सीकर को बहुत ज्यादा ही लिपस्टिक बना

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  150
WhatsApp_icon
user

Sameer Tripathy

Political Critic

1:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए राहुल गांधी एक बहुत बड़े पागल पार्टी जो है वह सेकंड बिगेस्ट पार्टी और कांग्रेस पार्टी के उपाध्यक्ष हैं तो उनको यह सब मैं अभी चुनाव 2019 इलेक्शन इलेक्शन भी आ रहा है और अभी बहुत सारे बच्चे चार से पांच जो राज्य का विलय इलेक्शन प से शुरु होने वाला है तो राहुल गांधी तो उनको बोलना पड़ेगा कुछ ना कुछ तो कहां मीडिया में रहने के लिए कुछ ना कुछ तो बोलना पड़ेगा कि हम लोगों का भला करेंगे तो 7 साल का 7 साल में एक कंट्री में राजकीय मगर युवकों को जाकर डियर बुजुर्गों को कुत्ता नहीं दे पाए अभी वह तो वैसे बात करेंगे ही करेंगे तो आप देखिए यह सब बात को हम लोगों को इग्नोर करना चाहिए और वह कोई और दोनों को टारगेट नहीं कर रहे यह सिर्फ एक चुनावी मुद्दा है चुनावी मुद्दा में उनको वह यूथ को टारगेट करना चाहते हैं और जो साल रेडी सीनियर सिटीजन को भी टारगेट करना चाहते हैं तो उसे आप लोगों को पहले से पता है कि हमारा जो कभी इंडिया है उसमें युद्ध का फोटो परिणाम का परिमाण थोड़ा ज्यादा है बहुत ही वहां इंडिया जो विश्व में भी इंडिया का जो यूथ है बहुत बहुत ही ज्यादा है और मात्रा में बढ़ रहा है तो यूथ को हटाकर करना चाहते हैं तो इसके लिए एक चुनावी मुद्दा है तो उसमें हम लोगों को कुछ चाहिए पिछले वाले इंटरफेयर नहीं करना चाहिए और हम लोगों को यह सब इग्नोर करना चाहिए

dekhiye rahul gandhi ek bahut bade Pagal party jo hai vaah second biggest party aur congress party ke upadhyaksh hain toh unko yah sab main abhi chunav 2019 election election bhi aa raha hai aur abhi bahut saare bacche char se paanch jo rajya ka vilay election pa se shuru hone vala hai toh rahul gandhi toh unko bolna padega kuch na kuch toh kahaan media mein rehne ke liye kuch na kuch toh bolna padega ki hum logo ka bhala karenge toh 7 saal ka 7 saal mein ek country mein rajkiya magar yuvakon ko jaakar dear bujurgon ko kutta nahi de paye abhi vaah toh waise baat karenge hi karenge toh aap dekhiye yah sab baat ko hum logo ko ignore karna chahiye aur vaah koi aur dono ko target nahi kar rahe yah sirf ek chunavi mudda hai chunavi mudda mein unko vaah youth ko target karna chahte hain aur jo saal ready senior citizen ko bhi target karna chahte hain toh use aap logo ko pehle se pata hai ki hamara jo kabhi india hai usme yudh ka photo parinam ka parimaan thoda zyada hai bahut hi wahan india jo vishwa mein bhi india ka jo youth hai bahut bahut hi zyada hai aur matra mein badh raha hai toh youth ko hatakar karna chahte hain toh iske liye ek chunavi mudda hai toh usme hum logo ko kuch chahiye pichle waale intarafeyar nahi karna chahiye aur hum logo ko yah sab ignore karna chahiye

देखिए राहुल गांधी एक बहुत बड़े पागल पार्टी जो है वह सेकंड बिगेस्ट पार्टी और कांग्रेस पार्ट

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  169
WhatsApp_icon
user

Apurva D

Optimistic Coder

1:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए मैं आपसे मिलकर राहुल गांधी जी के बारे में सोचें तो वह गुजरात के चुनाव कंप्लेंट आदमी दिखाई दे रहे हैं डिलीवर नहीं हुआ कलेजा कटता गुर्जर के लिए कुर्ता ही सही है घर के बट फिर भी आए हैं राहुल गांधी दो रे मारो को बनाए रखने की कोशिश कर रहा है तो अच्छे से सब कुछ होना चाहिए उनको चाहिए होगा तो इसलिए युवाओं के लिए जा कर टच गुर्जर के लिए कुर्ता उन्होंने रखा है तो चली राहुल गांधी जी हो तो मैंने जैकेट जो है वह सब का एड्रेस हो सकता है बट फिर भी उनका यह मानना है कि एक दूसरे बंद करो उसे सब कुछ चलता रहे

dekhiye main aapse milkar rahul gandhi ji ke bare mein sochen toh vaah gujarat ke chunav complaint aadmi dikhai de rahe hain deliver nahi hua kaleja katata gurjar ke liye kurta hi sahi hai ghar ke but phir bhi aaye hain rahul gandhi do ray maaro ko banaye rakhne ki koshish kar raha hai toh acche se sab kuch hona chahiye unko chahiye hoga toh isliye yuvaon ke liye ja kar touch gurjar ke liye kurta unhone rakha hai toh chali rahul gandhi ji ho toh maine jacket jo hai vaah sab ka address ho sakta hai but phir bhi unka yah manana hai ki ek dusre band karo use sab kuch chalta rahe

देखिए मैं आपसे मिलकर राहुल गांधी जी के बारे में सोचें तो वह गुजरात के चुनाव कंप्लेंट आदमी

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  158
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
jacket dikhaye ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!