क्या राहुल गांधी को जनता के बीच में इतनी महंगी जैकेट पहनना सही है? आपकी राय?...


play
user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

1:19

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन मुझे लगता है कि राहुल गांधी हो या कोई हमारे देश का कोई भी सम्मान नहीं देता हूं अगर वह अपने मायके जैकेट या कुछ भी पहनता है तो मुझे नहीं लगता यह कभी भी चुनाव का मुद्दा हो सकता है आदमी की कुछ पर्सनल इच्छा होती हो मुझे लगता है क्या है राहुल गांधी अपने आप बजने कैपिटल हैं कि साथ में हजारों 70000 की जैकेट पहन सकते हैं दो तो मुझे लगता है कि जो जनता होती है वह इस बात को देखकर वह कभी नहीं करती कि कौन सा व्यक्ति हिंदी मै की जैकेट पहना है क्या वह हमारी मदद करेगा कि नहीं करेगा क्या हमारे लिए इस तरह की पॉलिसीस बनाएगा जो हमारे हमारे अपार्टमेंट को करेंगे तो मुझे नहीं पता इस इन सारी चीजों को देखकर जनता वोट कर दिए जनता व्हाट इस करती हैं आप किस तरह के उसको लॉयन ऑर्डर प्रोवाइड करा रहे हैं आप किस तरह का डेवलपमेंट पर बरकरार है अगर ऐसा ही होता है तो आपको पता होगा ऐसी नरेंद्र मोदी जी ने 1000000 का सूट राइटिंग पहना था तो अगर सूट के आधार पर पहनने का आधार पर वोट दिया जाता तो मुझे लगता है उसके बाद तीन या चार स्टेट के अंदर इलेक्शन होते उस भारतीय जनता पार्टी जरूर करती तो मुझे लगता है कि यह कभी चुनाव का विषय नहीं हो सकता और हां यह ब्राउज़ गांधी की खुद की चॉइस है कि इस तरह की जैकेट पहने या ना पहने अगर वह कैसे बने बिल्कुल पहन सकते हैं और यह कभी चुनाव का मुद्दा नहीं हो सकता कुछ चुनाव के मुद्दे बहुत अलग होते हैं हालांकि भारतीय जनता पार्टी ने इस को उल्लू बना दिया लेकिन मुझे नहीं आता है उसको बनाना चाहिए

lekin mujhe lagta hai ki rahul gandhi ho ya koi hamare desh ka koi bhi sammaan nahi deta hoon agar vaah apne mayke jacket ya kuch bhi pehanta hai toh mujhe nahi lagta yah kabhi bhi chunav ka mudda ho sakta hai aadmi ki kuch personal iccha hoti ho mujhe lagta hai kya hai rahul gandhi apne aap bajne capital hai ki saath mein hazaro 70000 ki jacket pahan sakte hai do toh mujhe lagta hai ki jo janta hoti hai vaah is baat ko dekhkar vaah kabhi nahi karti ki kaun sa vyakti hindi mai ki jacket pehna hai kya vaah hamari madad karega ki nahi karega kya hamare liye is tarah ki policies banayega jo hamare hamare apartment ko karenge toh mujhe nahi pata is in saree chijon ko dekhkar janta vote kar diye janta what is karti hai aap kis tarah ke usko layan order provide kara rahe hai aap kis tarah ka development par barkaraar hai agar aisa hi hota hai toh aapko pata hoga aisi narendra modi ji ne 1000000 ka suit writing pehna tha toh agar suit ke aadhaar par pahanne ka aadhaar par vote diya jata toh mujhe lagta hai uske baad teen ya char state ke andar election hote us bharatiya janta party zaroor karti toh mujhe lagta hai ki yah kabhi chunav ka vishay nahi ho sakta aur haan yah brauz gandhi ki khud ki choice hai ki is tarah ki jacket pehne ya na pehne agar vaah kaise bane bilkul pahan sakte hai aur yah kabhi chunav ka mudda nahi ho sakta kuch chunav ke mudde bahut alag hote hai halaki bharatiya janta party ne is ko ullu bana diya lekin mujhe nahi aata hai usko banana chahiye

लेकिन मुझे लगता है कि राहुल गांधी हो या कोई हमारे देश का कोई भी सम्मान नहीं देता हूं अगर व

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  167
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

Wikipedia इन कि क्या हुआ कि राहुल गांधी शिलांग में कांग्रेस पार्टी का एक रैली थी एक कॉम उनका एकॉन सटा मेघालय में वहां गए थे और वहां उन्होंने जो जैकेट पहनी अनुमान लगाया जा रहा है कि करीबन ₹70000 की है ₹70000 की जय के कहने के करीब $95 की और जब उन्हें पहना यह जैकेट पहना तो बीजेपी की तरफ से उन पर बहुत सारे आरोप लगाया कि काला धन कहां जा रहा है कालाधन इस तरह से इस्तेमाल किया जा रहा है कि राहुल गांधी ने करीबन ₹70000 की सेक्सी 3402 पेपर साइज ऐसी जैकेट पहनी हो मेरी जैकेट थी वाईफाई बेटे की कोई कंपनी है वहां की बनाई हुई वहां के डिजाइनस के जैकेट है इसके बारे में कॉल करने के बाद में बोला कि यह जैकेट उन्हें किसी ने गिफ्ट की थी तो बल्कि कांग्रेस के बड़े लीडर से जैसे कि उनकी रेणुका चौधरी है जो पार्टी प्रवक्ता उन्होंने बोला कि ऐसे जैकेट ₹700 में मिल जाती है कि ₹70000 में राहुल गांधी की पहली बात तो और वह मतलब नहीं था है तो वह कमा भी रहे होंगे हमें कंप्यूटर दो कि नहीं बोलूंगी क्यों नहीं सर नहीं पहनना चाहिए तब बड़ा देश में प्रॉब्लम बहुत सारी है यह पैसे किस अच्छे काम के लिए बोला बन सकते हैं राहुल गांधी या कोई भी या मोदी का जो सूट का हीरो का खेड़ा सूट पर ना मुझे वह भी गलत लगा था तो यूज कर सकते हैं पैसों के अच्छे काम में लेकिन मुंह से अगर वह कुर्ता पहनते हैं मुझसे अगर वह जैकेट पहन के रास्ते मोहम्मद सेटिंग खा दिवाली तो अगर उन्होंने एक बार पहन लिया वह कमा रहे हैं इतना महान कर रहे हैं इतना क्यों एक्सेप्ट ऐसे फोन कर सके या वह कहने के लिए गिफ्ट मिली तो उन्होंने कुछ पहेलियां तो इसके ऊपर राजनीति करने की मेरे साथ जरूरत नहीं है और भी बहुत सारे मुद्दे हैं हम वह चीज के बारे में बात करने की ज्यादा जरूरत है

Wikipedia in ki kya hua ki rahul gandhi shilong mein congress party ka ek rally thi ek com unka ekan sata meghalaya mein wahan gaye the aur wahan unhone jo jacket pahani anumaan lagaya ja raha hai ki kariban Rs ki hai Rs ki jai ke kehne ke kareeb 95 ki aur jab unhe pehna yah jacket pehna toh bjp ki taraf se un par bahut saare aarop lagaya ki kaala dhan kahaan ja raha hai kaladhan is tarah se istemal kiya ja raha hai ki rahul gandhi ne kariban Rs ki sexy 3402 paper size aisi jacket pahani ho meri jacket thi wifi bete ki koi company hai wahan ki banai hui wahan ke dijainas ke jacket hai iske bare mein call karne ke baad mein bola ki yah jacket unhe kisi ne gift ki thi toh balki congress ke bade leader se jaise ki unki renuka choudhary hai jo party pravakta unhone bola ki aise jacket Rs mein mil jaati hai ki Rs mein rahul gandhi ki pehli baat toh aur vaah matlab nahi tha hai toh vaah kama bhi rahe honge hamein computer do ki nahi bolungi kyon nahi sir nahi pahanna chahiye tab bada desh mein problem bahut saree hai yah paise kis acche kaam ke liye bola ban sakte hai rahul gandhi ya koi bhi ya modi ka jo suit ka hero ka kheda suit par na mujhe vaah bhi galat laga tha toh use kar sakte hai paison ke acche kaam mein lekin mooh se agar vaah kurta pehente hai mujhse agar vaah jacket pahan ke raste muhammad setting kha diwali toh agar unhone ek baar pahan liya vaah kama rahe hai itna mahaan kar rahe hai itna kyon except aise phone kar sake ya vaah kehne ke liye gift mili toh unhone kuch paheliyan toh iske upar raajneeti karne ki mere saath zarurat nahi hai aur bhi bahut saare mudde hai hum vaah cheez ke bare mein baat karne ki zyada zarurat hai

Wikipedia इन कि क्या हुआ कि राहुल गांधी शिलांग में कांग्रेस पार्टी का एक रैली थी एक कॉम उन

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  165
WhatsApp_icon
user

Kunjansinh Rajput

Aspiring Journalist

1:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखेगा राहुल गांधी जैसे लोगों कम से कम करने का और उसका पति खत्म होने के बाद ही बीजेपी महिला मोर्चा की बैठक फोटो डाली की जैकेट के बारे में दिखाओ रहा है बताओ कि कचरा उठाने पर जाकर जो है एक बहुत बड़ी कंपनी का जैकेट जैकेट मुझे बताया कि किस प्रकार से कांग्रेस कांग्रेस पार्टी के नेता और राहुल गांधी के पास जाकर नए कपड़े पहन के तुम मेरे साथ रहो अपनी जिंदगी बीच में इतनी महंगी जगह की उनको कहना बिल्कुल सही कपड़े पहन सकते हैं जब मन चाहे किसी के कपड़े पहन सकते हो चाहे बहुत महंगी भी क्यों ना हो जाए उस सजदे किए हैं वह भी काम है भोजपुरी को देखकर उनके कपड़ों की रकम कितनी है उसे देख कर आना मैं चर्च नहीं करना चाहिए हमें कोई भी आ जाया कर सकते हो कि सोशल के विचार से जरा बचकर मुझे खाना खाकर घर आऊंगा तो ले लूंगा जाकर भैंस के दूध की चाय हम लोगों को दिखाने के लिए नहीं पहनते होंगे उनसे ही नहीं जिस प्रकार से बीजेपी ने जो इस पर इस चीज का कांग्रेस पर निशाना चाहता है वह भी बिल्कुल सही नहीं है क्योंकि अगर आप BJP की बात कर दो कोई फालतू प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पिता का कुर्ता कहानी के लिए और हिंदी जागरण को लेकर परेशान नहीं करना चाहिए पूरा करने की इच्छा को कैसे कपड़े पहने जाते हैं और जनता के बीच में

dekhega rahul gandhi jaise logo kam se kam karne ka aur uska pati khatam hone ke baad hi bjp mahila morcha ki baithak photo dali ki jacket ke bare mein dikhaao raha hai batao ki kachra uthane par jaakar jo hai ek bahut baadi company ka jacket jacket mujhe bataya ki kis prakar se congress congress party ke neta aur rahul gandhi ke paas jaakar naye kapde pahan ke tum mere saath raho apni zindagi beech mein itni mehengi jagah ki unko kehna bilkul sahi kapde pahan sakte hai jab man chahen kisi ke kapde pahan sakte ho chahen bahut mehengi bhi kyon na ho jaaye us sajade kiye hai vaah bhi kaam hai bhojpuri ko dekhkar unke kapdo ki rakam kitni hai use dekh kar aana main church nahi karna chahiye hamein koi bhi aa jaya kar sakte ho ki social ke vichar se zara bachakar mujhe khana khakar ghar aaunga toh le lunga jaakar bhains ke doodh ki chai hum logo ko dikhane ke liye nahi pehente honge unse hi nahi jis prakar se bjp ne jo is par is cheez ka congress par nishana chahta hai vaah bhi bilkul sahi nahi hai kyonki agar aap BJP ki baat kar do koi faltu pradhanmantri narendra modi ke pita ka kurta kahani ke liye aur hindi jagran ko lekar pareshan nahi karna chahiye pura karne ki iccha ko kaise kapde pehne jaate hai aur janta ke beech mein

देखेगा राहुल गांधी जैसे लोगों कम से कम करने का और उसका पति खत्म होने के बाद ही बीजेपी महिल

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  136
WhatsApp_icon
user

Ekta

Researcher and Writer

1:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी राहुल गांधी क्या पहनते हैं किस तरह से पहनते हैं यह बातें बिल्कुल धीरे करनी चाहिए कि जनता के सामने वो कैसे कपड़े पहन के आते हैं लेकिन अगर उन्होंने कभी गलती से भी या फिर अपनी इच्छा अनुसार जनता में ऐसे कपड़े पहन के आया तो मुझे नहीं तो कोई गलत बात है क्योंकि इंसान के कपड़ों से ही इंसान के काम की पहचान होने लगी तो किसी भी चार को काम करने की जरूरत ही नहीं है वह कपड़े पहन कर ही सारे काम कर सकता है तो ऐसा कहना गलत है कि उन्होंने ग जनता के बीच में आएंगे जैकेट पहन के तो गलत किया कि किस सेलिब्रिटी भी पहन कर जाते तुम उसकी तारीफ करते हैं लेकिन अगर एक Politics पॉलिटिकल मैप अगर पहन के जा रहा तुम उसके बारे में बुराई कर रहे हो उसके ऊपर डिबेट करें कि राहुल गांधी को ऐसा नहीं करना चाहिए जनता पर बुरा प्रभाव पड़ेगा तू है विचार बनाना बहुत गलत है इससे हमारी सोच बहुत चीनी पता चलती है तो किसी भी पब्लिक फिगर दिया सेलिब्रिटी के 1 मैसेज आए बनाना है कि वह इस तरह से कपड़े पहनकर आएं हैं जो बहुत ज्यादा बुरे भी नहीं है पर डिबेट बनाकर बहस करना अच्छी बात नहीं है

ji rahul gandhi kya pehente hain kis tarah se pehente hain yah batein bilkul dhire karni chahiye ki janta ke saamne vo kaise kapde pahan ke aate hain lekin agar unhone kabhi galti se bhi ya phir apni iccha anusaar janta mein aise kapde pahan ke aaya toh mujhe nahi toh koi galat baat hai kyonki insaan ke kapdo se hi insaan ke kaam ki pehchaan hone lagi toh kisi bhi char ko kaam karne ki zarurat hi nahi hai vaah kapde pahan kar hi saare kaam kar sakta hai toh aisa kehna galat hai ki unhone ga janta ke beech mein aayenge jacket pahan ke toh galat kiya ki kis celebrity bhi pahan kar jaate tum uski tareef karte hain lekin agar ek Politics political map agar pahan ke ja raha tum uske bare mein burayi kar rahe ho uske upar debate kare ki rahul gandhi ko aisa nahi karna chahiye janta par bura prabhav padega tu hai vichar banana bahut galat hai isse hamari soch bahut chini pata chalti hai toh kisi bhi public figure diya celebrity ke 1 massage aaye banana hai ki vaah is tarah se kapde pehankar aaen hain jo bahut zyada bure bhi nahi hai par debate banakar bahas karna achi baat nahi hai

जी राहुल गांधी क्या पहनते हैं किस तरह से पहनते हैं यह बातें बिल्कुल धीरे करनी चाहिए कि जनत

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  111
WhatsApp_icon
user

Apurva D

Optimistic Coder

1:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रिक्शावाला सेवर राहुल गांधी जी के बारे में बात है कि वह जनता के बीच में इतनी महंगी जैकेट पहनना उनका सही है या नहीं तो मेरी इस पर यही रहा है कि जब जिसकी वजह से तो हम इंसान की पहचान नहीं कर सकते ना हालांकि यह बात जरूर है कि वह कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष है और आम जनता के बारे में सोच कर उनका उल्लेख होना सामने जरूरी है फिर भी मतलब यह उन पर डिपेंड करता है कि वह मतलब कितनी महंगी है कितने पैसों की जैकेट पहने देखा जाए तो सबसे पहले वह आदमी कितना कपड़ा बल है वह नेता हो या अध्यक्षों उसका प्रवृत्ति पर हम पहले देखते हैं हम भुला आम जनता के लिए उसने कितने अच्छे डिफरेंस हुए हैं और कितने अच्छे दिन के काबिल है इस पर हम गौर कर सकते हैं बट महंगी से कितना यह कोई मुद्दा नहीं है हालांकि विरोधी पक्ष पार्टी या किसी भी लोग मुद्दे को लेकर खड़ा कर देती है और उसका बवंडर खड़ा कल मुझे तो यह लगता है कि रब जो चाहे वह पहन सकते हैं बट फिर भी एक सेंड जरूर होना चाहिए कि हम कहां जा रहे हैं मतलबी लोग मतलबी बाहर जाए तो पागल है वह पोस्ट पर है तू वैसे ही राहुल गांधी जी का भाई कितने का है तो 11 को कहा पर कैसा जाना चाहिए यह मालूम होना चाहिए बट फिर भी इस क्वेश्चन के बारे में मैं यही कहना चाहूंगी कि यह मतलब उन पर डिपेंड करता है अगर वह उन्हें बहुत अच्छे डिफरेंस भारत के लिए आम जनता के लिए लिया और वह सफल हुए तो चैट कर दो कुछ लोगों कम से कम किया ही नहीं जाएगा तो उसके महंगाई से कोई मतलब ही नहीं है

rikshavala sevar rahul gandhi ji ke bare mein baat hai ki vaah janta ke beech mein itni mehengi jacket pahanna unka sahi hai ya nahi toh meri is par yahi raha hai ki jab jiski wajah se toh hum insaan ki pehchaan nahi kar sakte na halaki yah baat zaroor hai ki vaah congress party ke adhyaksh hai aur aam janta ke bare mein soch kar unka ullekh hona saamne zaroori hai phir bhi matlab yah un par depend karta hai ki vaah matlab kitni mehengi hai kitne paison ki jacket pehne dekha jaaye toh sabse pehle vaah aadmi kitna kapda bal hai vaah neta ho ya adhyakshon uska pravritti par hum pehle dekhte hai hum bhula aam janta ke liye usne kitne acche difference hue hai aur kitne acche din ke kaabil hai is par hum gaur kar sakte hai but mehengi se kitna yah koi mudda nahi hai halaki virodhi paksh party ya kisi bhi log mudde ko lekar khada kar deti hai aur uska bavandar khada kal mujhe toh yah lagta hai ki rab jo chahen vaah pahan sakte hai but phir bhi ek send zaroor hona chahiye ki hum kahaan ja rahe hai matlabi log matlabi bahar jaaye toh Pagal hai vaah post par hai tu waise hi rahul gandhi ji ka bhai kitne ka hai toh 11 ko kaha par kaisa jana chahiye yah maloom hona chahiye but phir bhi is question ke bare mein main yahi kehna chahungi ki yah matlab un par depend karta hai agar vaah unhe bahut acche difference bharat ke liye aam janta ke liye liya aur vaah safal hue toh chat kar do kuch logo kam se kam kiya hi nahi jaega toh uske mahangai se koi matlab hi nahi hai

रिक्शावाला सेवर राहुल गांधी जी के बारे में बात है कि वह जनता के बीच में इतनी महंगी जैकेट प

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  184
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!