प्रथम विश्व युद्ध का तत्कालीन कारण क्या था?...


user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्रथम विश्व युद्ध का तत्कालीन कारण भारतीय विद्या कांड फिरोजाबाद या कांड था

pratham vishwa yudh ka tatkalin karan bharatiya vidya kaand firozabad ya kaand tha

प्रथम विश्व युद्ध का तत्कालीन कारण भारतीय विद्या कांड फिरोजाबाद या कांड था

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  236
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

विकास सिंह

दिल से भारतीय

1:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अरे बात करें प्रथम विश्व युद्ध कीरत के प्रथम विश्व युद्ध का जो है बहुत बड़ा कारण था बहुत सारे कारण देश के भविष्य के बारे में जानकारी दें युद्ध कब से कब हुई दिखा दो प्रथम विश्वयुद्ध जो है इस ए ग्रेट ग्लोबल 12वीं कहा जाता है यह जो बताइए 28 जुलाई 1914 से लेकर 21 नवंबर 1968 तक चली थी और हम तुमसे आर संख्या की बात करी तो 17022017 के आसपास जो है लोग इस में मरी थी विश्वयुद्ध में जो जख्मी लोग पास हुए थे आमीन मुख्य कारण था कि जो मुख्य कारण बताए थे एक का नहीं था पता करने के लिए प्रयास किया इस प्रयास के अंतर्गत सभी देशों ने अपने-अपने देश में इस समय आविष्कार होने वाली मशीन के टैंक बंदूक जोगी जहाज आदमी कौन से हैं अपने भविष्य का युद्ध के लिए तैयार हैं बड़े बड़े आदमी तैयार कर दी इन सब चीजों से ब्रिटेन और जर्मनी दोनों काफी आगे थे और इनके आगे होने की वजह से इन देशों में जो है सनी क्षमता को बढ़ाया और इन देशों के बीच में आज पहली बार हुआ आज का दुशासन गठबंधन प्रणाली यूरोप में 19वीं शताब्दी के दौरान सकती में संतुलन स्थापित करने के लिए विभिन्न देशों ने या अनन्या सट्टा संध्या बनाने सुई किस समय सही तरह से संध्या गुप्त रूप से हो रही थी इसलिए अभी हुआ 30 मार्च में जो है उसका सत्य सन 1966 चैपलिन सेंड करो हमारे देश को नुकसान होता है इससे बचो जितना

arre BA at kare pratham vishwa yudh kirat ke pratham vishwa yudh ka jo hai BA hut BA da karan tha BA hut saare karan desh ke bhavishya ke BA re mein jaankari de yudh kab se kab hui dikha do pratham vishwayudh jo hai is a great global vi kaha jata hai yah jo BA taiye 28 july 1914 se lekar 21 november 1968 tak chali thi aur hum tumse R sankhya ki BA at kari toh 17022017 ke aaspass jo hai log is mein mari thi vishwayudh mein jo jakhmi log paas hue the amin mukhya karan tha ki jo mukhya karan BA taye the ek ka nahi tha pata karne ke liye prayas kiya is prayas ke antargat sabhi deshon ne apne apne desh mein is samay avishkar hone wali machine ke tank BA ndook jogi jahaj aadmi kaunsi hai apne bhavishya ka yudh ke liye taiyar hai BA de BA de aadmi taiyar kar di in sab chijon se britain aur germany dono kaafi aage the aur inke aage hone ki wajah se in deshon mein jo hai sunny kshamta ko BA dhaya aur in deshon ke beech mein aaj pehli BA ar hua aaj ka dushasan gathbandhan pranali europe mein vi shatabdi ke dauran sakti mein santulan sthapit karne ke liye vibhinn deshon ne ya ananya satta sandhya BA naane sui kis samay sahi tarah se sandhya gupt roop se ho rahi thi isliye abhi hua 30 march mein jo hai uska satya san 1966 Chaplin send karo hamare desh ko nuksan hota hai isse BA cho jitna

अरे बात करें प्रथम विश्व युद्ध कीरत के प्रथम विश्व युद्ध का जो है बहुत बड़ा कारण था बहुत स

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  158
WhatsApp_icon
user
0:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दोस्तों आपका प्रश्न है कि प्रथम विश्व युद्ध का तत्कालीन कारण क्या है तो इसका उत्तर यह है कि प्रथम विश्व युद्ध का तत्कालीन कारण ऑस्ट्रिया के सिंहासन के उत्तराधिकारी और चुनरी नेट और उनकी पत्नी का वध इस युद्ध के तत्कालीन कारण था यह घटना 28 जून 1914 को 13 जवान हुई थी

doston aapka prashna hai ki pratham vishwa yudh ka tatkalin karan kya hai toh iska uttar yah hai ki pratham vishwa yudh ka tatkalin karan Austria ke sinhaasan ke uttradhikari aur chunari net aur unki patni ka vadh is yudh ke tatkalin karan tha yah ghatna 28 june 1914 ko 13 jawaan hui thi

दोस्तों आपका प्रश्न है कि प्रथम विश्व युद्ध का तत्कालीन कारण क्या है तो इसका उत्तर यह है क

Romanized Version
Likes  25  Dislikes    views  1030
WhatsApp_icon
play
user

Farha Hussain

Community Developer at Vokal

0:13

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्रथम विश्वयुद्ध का प्रत्यक्ष कारण है कि जब सर्वर जेब में हाथ ट्रांसफर दिनांक को मारा गया था इस कारण युद्ध को शुरू किया गया था

pratham vishwayudh ka pratyaksh karan hai ki jab server jeb mein hath transfer dinank ko mara gaya tha is karan yudh ko shuru kiya gaya tha

प्रथम विश्वयुद्ध का प्रत्यक्ष कारण है कि जब सर्वर जेब में हाथ ट्रांसफर दिनांक को मारा गया

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  274
WhatsApp_icon
user

Kriti

Volunteer

0:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

चित्र का गाना ऑस्ट्रिया के राजकुमार आर के डी फ्रांस की हत्या की राजकुमार की हत्या बोस्निया की राजधानी सा राज्य में हुई थी और श्रेया की सरकार ने राजकुमार की हत्या के लिए सर्दियों को उत्तरदाई ठहराया और उसके समक्ष 12 कड़ी शर्तें रखी है कि सरकार ने सभी शर्तों को मानने में अपनी असमर्थता प्रकट की सर्बिया की सरकार समस्या का समाधान महा शक्तियों के सम्मेलन द्वारा करना चाहती थी किंतु ऑस्ट्रेलिया के राजनीतिज्ञों और सैनिकों पदाधिकारियों ने सर्दियों की प्रार्थना पर ध्यान नहीं दिया ऑस्ट्रेलिया की सरकार ने 28 जुलाई 1914 ईस्वी के कोई युद्ध की घोषणा कर अपनी सेना को सर्बिया का आक्रमण करने का आदेश दिया इस घटना से ही प्रथम विश्वयुद्ध की शुरुआत हुई युद्ध की समाप्ति 11 नवंबर 1918 में हुई

chitra ka gaana Austria ke rajkumar R ke d france ki hatya ki rajkumar ki hatya bosnia ki rajdhani sa rajya mein hui thi aur shreya ki sarkar ne rajkumar ki hatya ke liye sardiyo ko uttardai thehraya aur uske samaksh 12 kadi sharten rakhi hai ki sarkar ne sabhi sharton ko manne mein apni asamarthata prakat ki serbia ki sarkar samasya ka samadhan maha shaktiyon ke sammelan dwara karna chahti thi kintu austrailia ke rajaneetigyon aur sainikon padadhikariyon ne sardiyo ki prarthna par dhyan nahi diya austrailia ki sarkar ne 28 july 1914 isvi ke koi yudh ki ghoshana kar apni sena ko serbia ka aakraman karne ka aadesh diya is ghatna se hi pratham vishwayudh ki shuruat hui yudh ki samapti 11 november 1918 mein hui

चित्र का गाना ऑस्ट्रिया के राजकुमार आर के डी फ्रांस की हत्या की राजकुमार की हत्या बोस्निया

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  330
WhatsApp_icon
user

Preetisingh

Junior Volunteer

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्रथम विश्व युद्ध के कारण कई कारण थे से कैंसिल हॉस्टल 19वीं शताब्दी में देशभक्ति की भावना ने पूरे लोग को अपने कब्जे में कर लिया जर्मनी इटली अवधेश आदि जगह पर आशिका पूरी तरह से फैल चुका था इस वजह से लड़ाई है कि इस लड़ाई के रूप में भी सामने आई और यह लड़ाई ग्लोरी ऑफ और कलाई इन देशों को लगने लगा कि कोई भी देश लड़ाई लड़के अजीत की महान बनता इस तरह से देश की महानता को उसके क्षेत्रफल से जोड़ कर देखने जाना प्रथम विश्व युद्ध के पहले क्वेश्चन बना था जिसमें कई दृश्य दूसरे के पीछे से प्यार करते हुए नजर आए

pratham vishwa yudh ke karan kai karan the se cancel hostel vi shatabdi mein deshbhakti ki bhavna ne poore log ko apne kabje mein kar liya germany italy awdhesh aadi jagah par ashika puri tarah se fail chuka tha is wajah se ladai hai ki is ladai ke roop mein bhi saamne I aur yah ladai GLORY of aur kalaai in deshon ko lagne laga ki koi bhi desh ladai ladke ajit ki mahaan BA nta is tarah se desh ki mahanata ko uske kshetrafal se jod kar dekhne jana pratham vishwa yudh ke pehle question BA na tha jisme kai drishya dusre ke peeche se pyar karte hue nazar aaye

प्रथम विश्व युद्ध के कारण कई कारण थे से कैंसिल हॉस्टल 19वीं शताब्दी में देशभक्ति की भावना

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  412
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
pratham vishwa yudh ka tatkalin karan kya tha ; pratham vishwa yudh ka tatkalik karan kya tha ; प्रथम विश्व युद्ध का तत्कालीन कारण क्या था ; pratham vishwa yudh ka tatkalin karan ; pratham vishwa yudh ke uttardayi karan kya the ; pratham vishwa yudh ka tatkalik karan ; ditya vishwa yudh ka tatkalin karan kya tha ; pratham vishwa yudh ke karan kya tha ; pratham vishwa yudh ke karan kya the ; pratham vishwa yudh ke uttardayi karan ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!