UPSC में वैकल्पिक विषय के तौर पर सोशियोलॉजी और एंथ्रोपोलॉजी में से किसका सिलेबस कम होता है?...


user

Nikhil Ranjan

HoD - NIELIT

1:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसा क्या करने यूपीएससी में वैकल्पिक विषय के तौर पर सोशलॉजी और एंथ्रोपोलॉजी में से किस का सिलेबस कम होता है तो सिलेबस कि यहां पर आप कंटेंट बाय जगन्नाथ जाकर डीप नॉलेज भाई देखे तो आपको किसी में भी बहुत ज्यादा अंतर दिखाई नहीं देगा फिर और ऊपर से कंटेंट कई बार देखकर हम किसी को कह सकता है कि हां इसके आगे 40 को पका रहे हैं तो इसके 50 टॉपिक ऑफ हर किसी में 20 टॉपिक ही रह गए तो वह आपको हो सकता है कि ऊपर से देखने में टॉपिक वाइज सिलेबस कम ज्यादा लग सकता है लेकिन जवाब दीप नोटिस करते हैं जवाब गहराई तक विश्व की शिकार करते हैं पढ़ते हैं समझते हैं उसको तो वहां पर आकर फिर बहुत ज्यादा फर्क नहीं रह जाता है तो यहां पर मेरा सर ऐसे नहीं रहेगा आपके लिए कि आप जिसके विषय में आप महारत हासिल रखते हैं जिस विषय को आपको ज्यादा पसंद है ज्यादा लाइक करते हैं उस विषय को लेकर आगे बढ़िया ज्यादा अच्छा रहेगा आसिफा का टॉपिक भाई लग रहा है चेक करेंगे तो आप का सोशलॉजी का सिलेबस ज्यादा मिलेगा इनकम वेदर एंथ्रोपोलॉजी के धन्यवाद

aisa kya karne upsc mein vaikalpik vishay ke taur par sociology aur anthropology mein se kis ka syllabus kam hota hai toh syllabus ki yahan par aap content bye jagannath jaakar deep knowledge bhai dekhe toh aapko kisi mein bhi bahut zyada antar dikhai nahi dega phir aur upar se content kai baar dekhkar hum kisi ko keh sakta hai ki haan iske aage 40 ko paka rahe hain toh iske 50 topic of har kisi mein 20 topic hi reh gaye toh vaah aapko ho sakta hai ki upar se dekhne mein topic wise syllabus kam zyada lag sakta hai lekin jawab deep notice karte hain jawab gehrai tak vishwa ki shikaar karte hain padhte hain samajhte hain usko toh wahan par aakar phir bahut zyada fark nahi reh jata hai toh yahan par mera sir aise nahi rahega aapke liye ki aap jiske vishay mein aap maharat hasil rakhte hain jis vishay ko aapko zyada pasand hai zyada like karte hain us vishay ko lekar aage badhiya zyada accha rahega asifa ka topic bhai lag raha hai check karenge toh aap ka sociology ka syllabus zyada milega income Weather anthropology ke dhanyavad

ऐसा क्या करने यूपीएससी में वैकल्पिक विषय के तौर पर सोशलॉजी और एंथ्रोपोलॉजी में से किस का स

Romanized Version
Likes  445  Dislikes    views  6361
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

1:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह कहना कि पेशी में वैकल्पिक विषय के रूप में सोशियोलॉजी एंटरोलॉजी में से किस का सिलेबस कम होते हैं जो मैंने पढ़ी नहीं सोशलॉजी जरूर मैंने पढ़ी और पढ़ने के साथ-साथ बच्चों को मैंने सहयोग बिजी हैं तो मैं तो नहीं मानता कि सोशलॉजी में बहुत ज्यादा स्लीव छोटा अरे तुम्हारी जिंदगी का एक हिस्सा है हम समाज के कभी नंगे और समाज हमारा हिस्सा है हम शमा हर तरह से समाज से जुड़े हुए तुम्हारा जीवनी जब स्मार्ट गुर्जर समाज की एक्टिविटी के बीच में सामाजिक प्राणी के रूप में चुना जाता होना कम होना कोई मायने नहीं रखता जो विषय में चुने हुए इंटरेस्टिंग हो और उसमें आप समाए हुए हैं तो आपकी सफलता निश्चित है लेकिन इतना भी मत समा जाना कि विचार चमारी ना निकले क्वेश्चन कुछ और पूछ रहा हूं जवाब कुछ और दे रहे हैं इसलिए उस विषय की गंभीरता को समझने की जरूरत है लगभग सिलेबस जून विषय में बराबर होता मैं नहीं मानता कि यूपी की किसी भी तबीयत का कोई ज्यादा होगा या कोई कम होगा एवरेज होता है

yah kehna ki pepsi mein vaikalpik vishay ke roop mein sociology entarolaji mein se kis ka syllabus kam hote hain jo maine padhi nahi sociology zaroor maine padhi aur padhne ke saath saath baccho ko maine sahyog busy hain toh main toh nahi manata ki sociology mein bahut zyada sleeve chota are tumhari zindagi ka ek hissa hai hum samaj ke kabhi nange aur samaj hamara hissa hai hum shama har tarah se samaj se jude hue tumhara jeevni jab smart gurjar samaj ki activity ke beech mein samajik prani ke roop mein chuna jata hona kam hona koi maayne nahi rakhta jo vishay mein chune hue interesting ho aur usme aap samaaye hue hain toh aapki safalta nishchit hai lekin itna bhi mat sama jana ki vichar chamari na nikle question kuch aur puch raha hoon jawab kuch aur de rahe hain isliye us vishay ki gambhirta ko samjhne ki zarurat hai lagbhag syllabus june vishay mein barabar hota main nahi manata ki up ki kisi bhi tabiyat ka koi zyada hoga ya koi kam hoga average hota hai

यह कहना कि पेशी में वैकल्पिक विषय के रूप में सोशियोलॉजी एंटरोलॉजी में से किस का सिलेबस कम

Romanized Version
Likes  66  Dislikes    views  1324
WhatsApp_icon
play
user

Mausam Babbar and, Dr. Rishu Singh

Managing Directors - Risham IAS Academy

0:59

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हम आपके दिल की बात करें तो देखिए वैसे तो अगर हम आप सुनील की पढ़ाई करते हैं चाहे वह से ज्वालाजी है या एंथ्रोपॉलजी है या पॉलिटिकल साइंस है यही फ्री है या पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन है तो यूपीएससी में देखी ऑप्शंस काफी वर्ल्ड लेवल तक जाते हैं चले जाते हैं हम दोनों को कंपेयर करने की बात करें तो एंड सिलेबस जो है वह इन कंपैरेटिव टू सोशियोलॉजी थोड़ा सा काम है क्योंकि जो हमारा यूपीएससी का पूरा एड्रेस है जनरल स्टडीज की तैयारी है तो जिसमें आप तो सोसाइटी के बारे में बहुत ज्यादा पढ़ते हैं तो साले जी आपके साथ जो मेंस के सब्जेक्ट है आपके gs1 है या gs2 है तो यहां पर भी आपको बहुत हेल्प करता है इस बीच काफी लिंक रहता है इसका और हमारे जो दुनिया में वर्ल्ड ज्योग्राफी हिस्ट्री है तो काफी आसानी होती है सोशियोलॉजी को पढ़ने में सिलेबस अगर हम काम की बात करें तो एंथ्रोपोलॉजी में इन कंपैरेटिव टू ज्वालाजी कम रहता है

hum aapke dil ki baat kare toh dekhiye waise toh agar hum aap sunil ki padhai karte hain chahen vaah se jwalaji hai ya enthropology hai ya political science hai yahi free hai ya public administration hai toh upsc mein dekhi options kaafi world level tak jaate hain chale jaate hain hum dono ko compare karne ki baat kare toh and syllabus jo hai vaah in comparative to sociology thoda sa kaam hai kyonki jo hamara upsc ka pura address hai general studies ki taiyari hai toh jisme aap toh society ke bare mein bahut zyada padhte hain toh saale ji aapke saath jo mens ke subject hai aapke gs1 hai ya gs2 hai toh yahan par bhi aapko bahut help karta hai is beech kaafi link rehta hai iska aur hamare jo duniya mein world geography history hai toh kaafi aasani hoti hai sociology ko padhne mein syllabus agar hum kaam ki baat kare toh anthropology mein in comparative to jwalaji kam rehta hai

हम आपके दिल की बात करें तो देखिए वैसे तो अगर हम आप सुनील की पढ़ाई करते हैं चाहे वह से ज्वा

Romanized Version
Likes  210  Dislikes    views  2297
WhatsApp_icon
user

Rohit Singh

Junior Volunteer

0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यूपीएससी में जो है आपका वैसे तो रोज का और मत बराबरी होता है लेकिन अगर आप देखे तो एंथ्रोपोलॉजी का जो आप का कोर्स है वह हल्का सा थोड़ा कम होता है और अगर आप पढ़ेंगे तो ऐसा नहीं है क्या आपको मेहनत करनी को कम करनी पड़ेगी मैंने तो नहीं लगेगी लेकिन मैं थोड़ा सा काम होता है

upsc mein jo hai aapka waise toh roj ka aur mat barabari hota hai lekin agar aap dekhe toh anthropology ka jo aap ka course hai vaah halka sa thoda kam hota hai aur agar aap padhenge toh aisa nahi hai kya aapko mehnat karni ko kam karni padegi maine toh nahi lagegi lekin main thoda sa kaam hota hai

यूपीएससी में जो है आपका वैसे तो रोज का और मत बराबरी होता है लेकिन अगर आप देखे तो एंथ्रोपोल

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  4
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!