जैव विविधता का महत्व और कारक क्या है?...


play
user

munmun

Volunteer

2:28

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जय विविधता का जो महत्व है वह मानव जीव जीवन में महत्वपूर्ण स्थान है और जैव विविधता के बिना जो पृथ्वी पर मानव जीवन असंभव है और इसके विभिन्न लाभ है जैसे कि जब विविधता भोजन कपड़ा लड़की लकड़ी इंधन और चारा की आवश्यकताओं की पूर्ति करता है विभिन्न प्रकार की फसलें जैसे गेहूं धान जो मक्का ज्वार बाजरा रागी अरहर चना मसूर आदि से हमारे भोजन की आवश्यकता की पूर्ति होती है और जैव विविधता कृषि पैदावार बढ़ाने के साथ-साथ रोग रोधी आर्किड रबी फसलों की किस्मों के विकास में सहायक होती हैं हरित क्रांति के लिए यह उत्तरदाई गेहूं की बोनी किस मोकाज है विकास जापान में पाए जाने वाले नरेंद्र नामक यह गेहूं की प्रजाति की मदद से किया गया था और वानस्पतिक जैव विविधता औषधीय आवश्यकता की पूर्ति भी करती है पर्यावरण प्रदूषण के निस्तारण में भी सहायक होती है जैव विविधता में संपन्न वन परितंत्र कार्बन डाइऑक्साइड के प्रमुख आवश्यक होते हैं जो है मृदा निर्माण के साथ-साथ है उसके संरक्षण में भी सहायक होती है जय विविधता पोषक क्षेत्र को गतिमान रखने में भी सहायक होती जय विविधता परितंत्र को स्थिरता प्रदान कर पारिस्थितिक संतुलन को बरकरार रखती हैं और पौधे जानवरों के भोजन के स्रोत होते हैं जबकि जानवरों का मांस मनुष्य के लिए क्या प्रोटीन का महत्वपूर्ण स्रोत होता है वीरता विभिन्न सामाजिक लाभ भी देती है ऐसी की प्रकृति

jai vividhata ka jo mahatva hai vaah manav jeev jeevan mein mahatvapurna sthan hai aur jaiv vividhata ke bina jo prithvi par manav jeevan asambhav hai aur iske vibhinn labh hai jaise ki jab vividhata bhojan kapda ladki lakdi indhan aur chara ki avashayaktaon ki purti karta hai vibhinn prakar ki faslen jaise gehun dhaan jo makka jwar BA jra ragi arahar chana masur aadi se hamare bhojan ki avashyakta ki purti hoti hai aur jaiv vividhata krishi paidavar BA dhane ke saath saath rog rodhi arkid rabi fasalon ki kismo ke vikas mein sahayak hoti hai harit kranti ke liye yah uttardai gehun ki bony kis mokaj hai vikas japan mein paye jaane waale narendra namak yah gehun ki prajati ki madad se kiya gaya tha aur vanaspatik jaiv vividhata aushadhiye avashyakta ki purti bhi karti hai paryavaran pradushan ke nistaaran mein bhi sahayak hoti hai jaiv vividhata mein sampann van paritantra carbon dioxide ke pramukh aavashyak hote hai jo hai mrida nirmaan ke saath saath hai uske sanrakshan mein bhi sahayak hoti hai jai vividhata poshak kshetra ko gatiman rakhne mein bhi sahayak hoti jai vividhata paritantra ko sthirta pradan kar paristhitik santulan ko BA rkaraar rakhti hai aur paudhe jaanvaro ke bhojan ke srot hote hai jabki jaanvaro ka maas manushya ke liye kya protein ka mahatvapurna srot hota hai veerta vibhinn samajik labh bhi deti hai aisi ki prakriti

जय विविधता का जो महत्व है वह मानव जीव जीवन में महत्वपूर्ण स्थान है और जैव विविधता के बिना

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  20
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
जैव विविधता का महत्व ; jaiv vividhta ka mahatva ; jaiv vividhata ka mahatva ; जैव विविधता के महत्व ; jaiv vividhta ke mahatva ; जय विविधता का महत्व ; जैव विविधता का महत्व बताइए ; जैव विविधता का क्या महत्व है ; जैव विविधता क्या है यह मानव जीवन के लिए क्यों महत्वपूर्ण है ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!