पेट्रोल का दाम क्यों बढ़ रहा है? क्या सरकार इसे कम करने के लिए कुछ नहीं कर रही?...


user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

1:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पेट्रोल का दाम क्यों बढ़ रहा है क्या सरकार इसे कम करने के लिए कुछ भी कर सकते हैं इसके अलावा सरकार उसको सरकार ने जीएसटी में से सम्मिलित नहीं किया जाने की पेट्रोल डीजल पर जीएसटी ना होने की वजह से केंद्र सरकार और राज्य सरकार का टैक्स बहुत ज्यादा होता है इसलिए क्रूड ऑयल के दाम जब पढ़ते हैं तब हमारे पेट्रोल डीजल की कीमतें बढ़ती सरकार चाहे तो जब पुरोहित के दाम बढ़ते हैं तब सेल टैक्स और केंद्रीय से टैक्स हटाकर दामों का नियमन कर सकती है लेकिन सरकार अपनी इनकम किस कीमत पर कम होने देना नहीं चाहते इसलिए पेट्रोलियम के पेट्रोल डीजल के दाम बढ़ते सरकार भविष्य में इस पर ध्यान दें तो ज्यादा अच्छा है वैसे अपमान समय में कोरोना वायरस की वजह से पेट्रोल डीजल के दाम कम होने की बहुत गुंजाइश है क्योंकि कोई के दाम दिन पर दिन कम होते जा रहे हैं बहुत-बहुत शुभकामनाएं धन्यवाद

petrol ka daam kyon badh raha hai kya sarkar ise kam karne ke liye kuch bhi kar sakte hain iske alava sarkar usko sarkar ne gst mein se sammilit nahi kiya jaane ki petrol diesel par gst na hone ki wajah se kendra sarkar aur rajya sarkar ka tax bahut zyada hota hai isliye crude oil ke daam jab padhte hain tab hamare petrol diesel ki keematein badhti sarkar chahen toh jab purohit ke daam badhte hain tab cell tax aur kendriya se tax hatakar daamo ka niyaman kar sakti hai lekin sarkar apni income kis kimat par kam hone dena nahi chahte isliye petroleum ke petrol diesel ke daam badhte sarkar bhavishya mein is par dhyan de toh zyada accha hai waise apman samay mein corona virus ki wajah se petrol diesel ke daam kam hone ki bahut gunjaiesh hai kyonki koi ke daam din par din kam hote ja rahe hain bahut bahut subhkamnaayain dhanyavad

पेट्रोल का दाम क्यों बढ़ रहा है क्या सरकार इसे कम करने के लिए कुछ भी कर सकते हैं इसके अलाव

Romanized Version
Likes  249  Dislikes    views  2950
WhatsApp_icon
10 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पेट्रोल का दाम सरकार बना रही है यहां बढ़ा रहे हैं क्योंकि यह निश्चित हमें करना है सरकार हम बनाते हैं हां यही कारण है कि हम लोग हद से ज्यादा प्रकार फूंक रहे हैं तो फिर कौन हमें इसको पानी के समान देगा पानी की इतनी कमी हो रही है बोतल में भर भरकर बेचा जा रहा है जीवन जीने के लिए पटल नहीं पानी की आवश्यकता है हमें इस प्रकार के प्रश्नों पर अंगुली बाजी नहीं करनी चाहिए जो बेतुके हो हमें अपना पानी बचाना चाहिए कितना बेकार हो रहा है गंगा यमुना गोदावरी कावेरी ते अनंत अनंत नदियों में अनेक प्रकार का कीचड़ घटते जा रहे हैं वहां पर प्रतिबंध लगाने की वजह पूछ रहे हैं कि पेट्रोल का दाम बढ़ रहा है कि वो सरकार कब करेगी कब करेगी नहीं दिया जाता किया जाएगा पानी से पानी बचाओ रुख लगाओ

petrol ka daam sarkar bana rahi hai yahan badha rahe hain kyonki yah nishchit hamein karna hai sarkar hum banate hain haan yahi karan hai ki hum log had se zyada prakar phoonk rahe hain toh phir kaun hamein isko paani ke saman dega paani ki itni kami ho rahi hai bottle mein bhar bharkar becha ja raha hai jeevan jeene ke liye patal nahi paani ki avashyakta hai hamein is prakar ke prashnon par anguli baazi nahi karni chahiye jo betuke ho hamein apna paani bachaana chahiye kitna bekar ho raha hai ganga yamuna godavari kaveri te anant anant nadiyon mein anek prakar ka kichad ghatate ja rahe hain wahan par pratibandh lagane ki wajah puch rahe hain ki petrol ka daam badh raha hai ki vo sarkar kab karegi kab karegi nahi diya jata kiya jaega paani se paani bachao rukh lagao

पेट्रोल का दाम सरकार बना रही है यहां बढ़ा रहे हैं क्योंकि यह निश्चित हमें करना है सरकार हम

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  116
WhatsApp_icon
user

Ranjeet Singh Uppal

Retired GM ONGC

1:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारे देश में कच्चे तेल के पर्याप्त भंडार में ही है जिसने हमारी खपत है उसका 80% हम आयात करते हैं और आयात करने के लिए हमारे पास पर्याप्त विदेशी मुद्रा भी नहीं है जो इसलिए पेट्रोल की कीमत बढ़ने के दो कारण हैं पहला तो अब हमारे यहां इसका उत्पादन कम है दूसरा सरकारों ने इसके ऊपर टैक्स बहुत ज्यादा लगा के रखे हुए हैं जैसे जीएसटी आने के बाद में भी क्या हुआ है जीएसटी का अधिकतम ग्रेट 18 परसेंट है लेकिन पेट्रोल डीजल जीएसटी के दायरे से बाहर रखा है राज्य सरकारें नहीं चाहती कि पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के अंदर लाया जाए और उनकी इनकम कम ज्यादातर सरकार और राज्य सरकारों ने इसके ऊपर टैक्स 26 परसेंट 28 परसेंट 30 परसेंट कितना सेल टैक्स लगा के रखा हुआ है इसके अलावा सेंट्रल गवर्नमेंट भी इसके ऊपर टैक्स लगाती है काफी तो जो इसकी कीमत होती है 100% से ज्यादा टैक्स हमको भरना पड़ता है आज भी अगर हम चाहे तो ₹35 से ₹40 लीटर के बीच में पेट्रोल भेज सकते हैं अगर राज्य सरकार एवं केंद्र सरकार इंटेक्स कम कर दें पर उनके लिए यह संभव ही नहीं है इस कारण से पेट्रोल की कीमत बढ़ती रहती है भविष्य में कभी बहुत बड़े भंडार देश में मिले या हम सौर ऊर्जा की तरफ बड़े-बड़े तो हो सकता है पेट्रोल की कीमतें कम हो धन्यवाद

hamare desh mein kacche tel ke paryapt bhandar mein hi hai jisne hamari khapat hai uska 80 hum ayat karte hain aur ayat karne ke liye hamare paas paryapt videshi mudra bhi nahi hai jo isliye petrol ki kimat badhne ke do karan hain pehla toh ab hamare yahan iska utpadan kam hai doosra sarkaro ne iske upar tax bahut zyada laga ke rakhe hue hain jaise gst aane ke baad mein bhi kya hua hai gst ka adhiktam great 18 percent hai lekin petrol diesel gst ke daayre se bahar rakha hai rajya sarkaren nahi chahti ki petrol diesel ko gst ke andar laya jaaye aur unki income kam jyadatar sarkar aur rajya sarkaro ne iske upar tax 26 percent 28 percent 30 percent kitna cell tax laga ke rakha hua hai iske alava central government bhi iske upar tax lagati hai kaafi toh jo iski kimat hoti hai 100 se zyada tax hamko bharna padta hai aaj bhi agar hum chahen toh Rs se Rs litre ke beech mein petrol bhej sakte hain agar rajya sarkar evam kendra sarkar intex kam kar de par unke liye yah sambhav hi nahi hai is karan se petrol ki kimat badhti rehti hai bhavishya mein kabhi bahut bade bhandar desh mein mile ya hum sour urja ki taraf bade bade toh ho sakta hai petrol ki keematein kam ho dhanyavad

हमारे देश में कच्चे तेल के पर्याप्त भंडार में ही है जिसने हमारी खपत है उसका 80% हम आयात कर

Romanized Version
Likes  21  Dislikes    views  170
WhatsApp_icon
user

Om Hari

Stock Market

1:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल गलत है पेट्रोल का दाम क्यों बढ़ रहा है अरे वह तो बढ़ेगा ही बढ़ेगा क्यों ना बड़े $2 की तुलना में हमारा रुपया है हमारी देश की जो करंसी है और डॉलर की तुलना में कमजोर है और कमजोर कैसे होती है जब वोट ज्यादा होता है स्पॉट काम होता है हमको इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट भी चाहिए गोल्ड पर चाहिए पेट्रोल भी चाहिए कोयला भी चाहिए तुझे जितना भी ज्यादा देश में हो जाएगा हमारा रुपया कमजोर आएगा अमूमन डीजल पेट्रोल जो कच्चा तेल आता है वह तो डॉलर के हिसाब से आता है पर हमारा रुपए इतना कमजोर होता वह हमको ज्यादा लगता है इसलिए सरकार दोषी नहीं इसके लिए दोषी है हमारी इंडस्ट्रियल जितना हमारे देश में स्क्रीन और अच्छा होगा जितना हम सपोर्ट करेंगे इतना सस्ता एक्सपोर्ट करें ज्यादा होगा तो हमारा रुपया मजबूत होगा डॉलर की तुलना में उदाहरण के तौर पर 100 अरब डालर का एक्सपोर्ट है और 200 अरब डॉलर का इंपोर्ट है अगर इसी को उल्टा करते हैं 200 अरब डालर एक्सपोर्ट करें और 100 अरब डालर इंपोर्ट करने पड़ते हैं लेकिन जो हमारे वोट ज्यादा कर $1 के सामने 50 या ₹60 रखने पड़ेंगे हमें पता लगेगा इसमें सरकार का कोई लेना देना नहीं लेना देना है हम बाहरी चीज कितनी उपयोग करते हैं और स्वदेशी कितनी उपयोग करते हैं स्वदेशी उपयोग करेंगे बाहरी बाजार गिरेगा हमारा रुपया मजबूत होगा धन्यवाद

bilkul galat hai petrol ka daam kyon badh raha hai are vaah toh badhega hi badhega kyon na bade 2 ki tulna me hamara rupya hai hamari desh ki jo currency hai aur dollar ki tulna me kamjor hai aur kamjor kaise hoti hai jab vote zyada hota hai spot kaam hota hai hamko electronic product bhi chahiye gold par chahiye petrol bhi chahiye koyla bhi chahiye tujhe jitna bhi zyada desh me ho jaega hamara rupya kamjor aayega amuman diesel petrol jo kaccha tel aata hai vaah toh dollar ke hisab se aata hai par hamara rupaye itna kamjor hota vaah hamko zyada lagta hai isliye sarkar doshi nahi iske liye doshi hai hamari Industrial jitna hamare desh me screen aur accha hoga jitna hum support karenge itna sasta export kare zyada hoga toh hamara rupya majboot hoga dollar ki tulna me udaharan ke taur par 100 arab dollar ka export hai aur 200 arab dollar ka import hai agar isi ko ulta karte hain 200 arab dollar export kare aur 100 arab dollar import karne padate hain lekin jo hamare vote zyada kar 1 ke saamne 50 ya Rs rakhne padenge hamein pata lagega isme sarkar ka koi lena dena nahi lena dena hai hum bahri cheez kitni upyog karte hain aur swadeshi kitni upyog karte hain swadeshi upyog karenge bahri bazaar girega hamara rupya majboot hoga dhanyavad

बिल्कुल गलत है पेट्रोल का दाम क्यों बढ़ रहा है अरे वह तो बढ़ेगा ही बढ़ेगा क्यों ना बड़े $2

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  118
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नहीं पेट्रोल काम करने के लिए सरकार कुछ नहीं कर रही है

nahi petrol kaam karne ke liye sarkar kuch nahi kar rahi hai

नहीं पेट्रोल काम करने के लिए सरकार कुछ नहीं कर रही है

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  105
WhatsApp_icon
play
user

Amber Rai

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

0:32

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

के पेट्रोल के दाम पर जो है अभी सरकार का कोई नियंत्रण नहीं रहा है अभी सरकार ने अपना नियंत्रण हटा लिया है और तेल कंपनियों के ऊपर ही छोड़ दिया है कि इंटरनेशनल मार्केट में जो है जितना पर बारे में सबसे पेट्रोल का दाम चल रहा होगा वह उस हिसाब से डिसाइड करेंगे अगर ज्यादा होता है तो पहले लिए चाहिए इंडिया में उसका प्राइस जो है वह क्या और अगर इंटरनेशनल मार्केट में कम होता है तो उसके पहले इंडिया का जो प्राइस है वह कम होगा तो सरकार का इसमें कोई भी कंट्रोल नहीं है और तेल कंपनियां जो है अभी प्राइस घटा

ke petrol ke daam par jo hai abhi sarkar ka koi niyantran nahi raha hai abhi sarkar ne apna niyantran hata liya hai aur tel companion ke upar hi chod diya hai ki international market mein jo hai jitna par bare mein sabse petrol ka daam chal raha hoga vaah us hisab se decide karenge agar zyada hota hai toh pehle liye chahiye india mein uska price jo hai vaah kya aur agar international market mein kam hota hai toh uske pehle india ka jo price hai vaah kam hoga toh sarkar ka isme koi bhi control nahi hai aur tel companiya jo hai abhi price ghata

के पेट्रोल के दाम पर जो है अभी सरकार का कोई नियंत्रण नहीं रहा है अभी सरकार ने अपना नियंत्र

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  261
WhatsApp_icon
user

Geet Awadhiya

Aspiring Software Developer

1:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जो पेट्रोल के दाम है वह किस तरह बढ़ते हैं मैं यह आपको बताऊंगा पेट्रोल के दाम बढ़ते हैं जैसे ही अंतरराष्ट्रीय बाजार में जो अरब कंट्री धाम जहां से तेल लेते हैं वह जो देश में व पेट्रोल के बैरल के रेट बढ़ा देते हैं जैसे कि पेट्रोल के बारे रेल का रेट बढ़ा तो उसी से होता है कि पेट्रोल का प्राइस भी बढ़ता है क्योंकि पेट्रोल का प्राइस बढ़ चुका है तो हमें उसे थोड़े ज्यादा पैसों में खरीदा है खरीदना पड़ता है जिसमें जो भारतीय रुपया है भारतीय रुपया डॉलर के मुकाबले बहुत कमजोर है और जो पेट्रोल मिलता है वह डॉलर में मिलता है इसलिए हमें और ज्यादा पैसे देने पड़ते हैं और जो तीसरी चीज यहां पर आती है वह जो सा एंजल गवर्नमेंट एक्साइज ड्यूटी बोल के जो हमारे ऊपर टैक्स लगाती है वह टैक्स काफी ज्यादा होता है इसीलिए हमें पेट्रोल के प्राइस केडी इंटरनेशनल मार्केट में थोड़ा भी बढ़ता है तो भारत में पहुंचकर वह काफी ज्यादा बढ़ चुका होता है और अभी के हालात ऐसे थे कि काफी बार इंटरनेशनल मार्केट में पेट्रोल के दाम बढ़े हैं

jo petrol ke daam hai vaah kis tarah badhte hain main yah aapko bataunga petrol ke daam badhte hain jaise hi antararashtriya bazaar mein jo arab country dhaam jaha se tel lete hain vaah jo desh mein va petrol ke barrel ke rate badha dete hain jaise ki petrol ke bare rail ka rate badha toh usi se hota hai ki petrol ka price bhi badhta hai kyonki petrol ka price badh chuka hai toh hamein use thode zyada paison mein kharida hai kharidna padta hai jisme jo bharatiya rupya hai bharatiya rupya dollar ke muqable bahut kamjor hai aur jo petrol milta hai vaah dollar mein milta hai isliye hamein aur zyada paise dene padte hain aur jo teesri cheez yahan par aati hai vaah jo sa angle government excise duty bol ke jo hamare upar tax lagati hai vaah tax kaafi zyada hota hai isliye hamein petrol ke price kaidi international market mein thoda bhi badhta hai toh bharat mein pahuchkar vaah kaafi zyada badh chuka hota hai aur abhi ke haalaat aise the ki kaafi baar international market mein petrol ke daam badhe hain

जो पेट्रोल के दाम है वह किस तरह बढ़ते हैं मैं यह आपको बताऊंगा पेट्रोल के दाम बढ़ते हैं जैस

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  9
WhatsApp_icon
user

Manish Singh

VOLUNTEER

0:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लिखे पेट्रोल इतना महंगा है इसलिए इसके पीछे दो कारण है कि जो ऊपर कनेक्शन जहां पर है जो परमिशन सब मेंबर है जो कंट्री जहां पर पेट्रोल होता है वह कंट्री पेट्रोल वहां से महंगा बेचारे प्रति बैरल पेट्रोल का दाम है वहां पर एक्स्ट्रा है ऊपर से जो हमारी गवर्नमेंट है वह अलग से यहां पर आकर बहुत सारे चार्जिंग लगा देती है जैसे कि जीएसटी और अलग-अलग तरह के चार्जेस लगाती है जिसके कारण जब पेट्रोल हमारे पास पहुंचता है तू बहुत महंगा हो जाता है इस में पेट्रोल पंप के मालिक रिज्यूम बहुत भारी मात्रा में पेट्रोल आयात करते हैं उनसे कोई प्रॉपर टाइट होता है इसमें जिसके कारण जो पेट्रोल यहां पहुंचते-पहुंचते कस्टमर तक पहुंचता है तो उसका जूस प्राइस होता है वह बहुत ज्यादा महंगा हो जाता है

likhe petrol itna mehnga hai isliye iske peeche do karan hai ki jo upar connection jaha par hai jo permission sab member hai jo country jaha par petrol hota hai vaah country petrol wahan se mehnga bechaare prati barrel petrol ka daam hai wahan par extra hai upar se jo hamari government hai vaah alag se yahan par aakar bahut saare charging laga deti hai jaise ki gst aur alag alag tarah ke Charges lagati hai jiske karan jab petrol hamare paas pahuchta hai tu bahut mehnga ho jata hai is mein petrol pump ke malik resume bahut bhari matra mein petrol ayat karte hai unse koi proper tight hota hai isme jiske karan jo petrol yahan pahunchate pahunchate customer tak pahuchta hai toh uska juice price hota hai vaah bahut zyada mehnga ho jata hai

लिखे पेट्रोल इतना महंगा है इसलिए इसके पीछे दो कारण है कि जो ऊपर कनेक्शन जहां पर है जो परमि

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  218
WhatsApp_icon
user

विकास सिंह

दिल से भारतीय

1:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारे देश में एक बहुत ही बड़ी समस्या है पेट्रोल के दाम और पेट्रोल के दाम आए दिन बढ़ते जा रहे हैं लोगों लोगों में काफी गुस्सा बोल सकते हैं सरकार के प्रति की महंगाई हमारे आवाज में पहले से ही और पेट्रोल के दाम बढ़ने से जहां आदमी की जगह आसानी से जिंदगी में काफी प्रभाव पड़ता है कोलकाता इस कम हुआ था पेट्रोल का दाम कम हुआ है कि हमारी सरकार को सोचना चाहिए कच्चे तेल के बाद उसमें जो है उसके बाद लाने के बाद बंद करने के बाद अब बोल सकते हैं किस में टेक्स्ट लगते हैं स्टरलाइट लगते हैं अब बहुत ज्यादा हो जाता है जनता की पसंद आया तो पेट्रोल का प्राइस कम हो जाएगा और कोलकाता की तरक्की हो

hamare desh mein ek bahut hi badi samasya hai petrol ke daam aur petrol ke daam aaye din badhte ja rahe hain logo logon mein kaafi gussa bol sakte hain sarkar ke prati ki mahangai hamare awaaz mein pehle se hi aur petrol ke daam badhne se jaha aadmi ki jagah aasani se zindagi mein kaafi prabhav padta hai kolkata is kam hua tha petrol ka daam kam hua hai ki hamari sarkar ko sochna chahiye kacche tel ke baad usme jo hai uske baad lane ke baad band karne ke baad ab bol sakte hain kis mein text lagte hain staralait lagte hain ab bahut zyada ho jata hai janta ki pasand aaya toh petrol ka price kam ho jaega aur kolkata ki tarakki ho

हमारे देश में एक बहुत ही बड़ी समस्या है पेट्रोल के दाम और पेट्रोल के दाम आए दिन बढ़ते जा र

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  272
WhatsApp_icon
user

Kunjansinh Rajput

Aspiring Journalist

1:57
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए जब से 2018 शुरू हुआ है तब से वह है पेट्रोल डीजल के भाव में जरुर बदलती देखी जा चुकी जागरण टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट की बात करें तो बहुत दूर पर तक बढ़ चुके हो और डीजल के दाम + 3 घंटे तक पढ़ चुके हैं और यही मानना है कि आज के समय में जो है पेट्रोल के दाम बढ़ रहा है वहां अवश्य ही नहीं को दिखाओ यूनियन मिनिस्ट्री ऑफ पेट्रोलियम एंड नेचुरल गैस धर्मेंद्र प्रधान है और मैं इस चीज पर विचार कर रही हो प्रयत्न कर रही है कि वह पेट्रोल डीजल केरोसिन को चाहे वह जीएसटी में लाया जाए विश्व भर में अगर हम देखें तो विश्वभर में ऑयल की प्राइस जो है वह बढ़ रही है क्या करे जब से 2018 से हुआ था से बात करें तो इंटरनेशनल प्राइज जो है वो का नाका पर बड़ी है और इसमें जो है भारत की ओर मिनिस्ट्री जो है उन्होंने फाइनेंस मिनिस्ट्री को यह कहा है कि वह यूनियन बजट में जो है एक्साइज ड्यूटी पर थोड़ा सा आराम से को कम कर दे एक्साइज ड्यूटी को काट कर दें और जो कि उनके विचार लगता है ज्यादा पड़ रही है और उस पर इंटरनेशनल ऑयल प्राइस बीबर ड्रेस दो जिसके लिए जो है पेट्रोल के दाम बढ़ रहा है तो इस पर सरकार कितना कुछ नहीं कर सकती यहां सरकार जो है वह अस्थाई ड्यूटी को कम कर सकती है जोकि और केरोसिन या फिर पेट्रोल पर लगता है तो इसलिए है यही कारण है कि पेट्रोल के दाम जो वह पढ़ रहे हैं

dekhiye jab se 2018 shuru hua hai tab se vaah hai petrol diesel ke bhav mein zaroor badalti dekhi ja chuki jagran times of india ki report ki baat kare toh bahut dur par tak badh chuke ho aur diesel ke daam 3 ghante tak padh chuke hain aur yahi manana hai ki aaj ke samay mein jo hai petrol ke daam badh raha hai wahan avashya hi nahi ko dikhaao union ministry of petroleum and natural gas dharmendra pradhan hai aur main is cheez par vichar kar rahi ho prayatn kar rahi hai ki vaah petrol diesel kerosene ko chahen vaah gst mein laya jaaye vishwa bhar mein agar hum dekhen toh vishwabhar mein oil ki price jo hai vaah badh rahi hai kya kare jab se 2018 se hua tha se baat kare toh international prize jo hai vo ka naka par badi hai aur isme jo hai bharat ki aur ministry jo hai unhone finance ministry ko yah kaha hai ki vaah union budget mein jo hai excise duty par thoda sa aaram se ko kam kar de excise duty ko kaat kar de aur jo ki unke vichar lagta hai zyada pad rahi hai aur us par international oil price biber dress do jiske liye jo hai petrol ke daam badh raha hai toh is par sarkar kitna kuch nahi kar sakti yahan sarkar jo hai vaah asthai duty ko kam kar sakti hai joki aur kerosene ya phir petrol par lagta hai toh isliye hai yahi karan hai ki petrol ke daam jo vaah padh rahe hain

देखिए जब से 2018 शुरू हुआ है तब से वह है पेट्रोल डीजल के भाव में जरुर बदलती देखी जा चुकी ज

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  210
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!