भगवत गीता का दैनिक जीवन में क्या महत्व है?...


play
user

Dr. KRISHNA CHANDRA

Rehabilitation Psychologist

0:23

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भगवत गीता एक ऐसा ग्रंथ है जिसमें 18 अध्याय हैं यह आपको अपने को जानने का मौका देगा अपने के पचाने का मौका देगा अपने को निशा करने का मौका देगा और सही रास्ते पर चलने में आपको मदद करेगा

bhagwat geeta ek aisa granth hai jisme 18 adhyay hain yah aapko apne ko jaanne ka mauka dega apne ke pachane ka mauka dega apne ko nisha karne ka mauka dega aur sahi raste par chalne mein aapko madad karega

भगवत गीता एक ऐसा ग्रंथ है जिसमें 18 अध्याय हैं यह आपको अपने को जानने का मौका देगा अपने के

Romanized Version
Likes  161  Dislikes    views  7240
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Jyoti Arya

Www.soulsymphony.in

1:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भगवत गीता का दैनिक जीवन में महत्व तभी है जब जो भी आपने गीता में पड़ा है या सुना है उसे आप अपने जीवन में उतार सके उस पर अमल कर सके गीता का ज्ञान गीता का सार तो बहुत लोग पढ़ते हैं या जानते हैं लेकिन अगर उसे जीवन में हमने उतारा नहीं अगर उसे डेली लाइफ में हमने प्रेक्टिस नहीं किया तो फिर उसका कोई महत्व नहीं रह जाता है उसका महत्व तभी हमारे जीवन में कायम रहेगा जब जो हमने सुना है या पढ़ा है गीता में उसे हम करके दिखाएं अपने जीवन में जैसे गीता में यही कहा गया है कि जो हो रहा है बच्चे के लिए हो रहा है और जो हुआ था वह भी अच्छे के लिए ही हुआ था जो होगा वह भी फ्यूचर में अच्छे के लिए होगा तो इस बात को सिर्फ पढ़ने या बोलने से फर्क नहीं पड़ता है क्या जीवन में सच में आप इसको समझ पाए हैं क्या पास सिर्फ अपने आप को रिलीज कर पाए हैं क्या प्रेजेंट में रहते हैं और क्या फ्यूचर के बारे में चिंता नहीं करते और फ्यूचर को आपने फोन पर ईश्वर पर छोड़ दिया है और एक जानवर की तरह अपनी जिंदगी बिता रहे हैं जैसे हम एक मूवी देखने जाते हैं तो सिर्फ बैठकर मूवी देखते हैं कभी भी उन कैरेक्टर्स की लाइफ में जाने की कोशिश नहीं करते तो जिंदगी भी अगर इसी तरह से हम ऑब्जर्वर की तरह बताते चलें जो हो रहा है उसे अच्छे अच्छा ही समझे और जो होने वाला है उसकी भी व्यर्थ चिंता ना करें क्योंकि गीता के अनुसार तू जो यहां है यही रह जाएगा और साथ में कुछ नहीं जाएगा सब कुछ जानते बुझते हुए भी जीवन में उसको उतार पाना इंपॉसिबल तो नहीं है लेकिन कठिन जरूर है तो महत्व तभी रहेगा गीता का जब उसके सार को जीवन में उतार लिया जाए अपना जीवन उसी के हिसाब से उसी के अनुसार चलाया जाए

bhagwat geeta ka dainik jeevan mein mahatva tabhi hai jab jo bhi aapne geeta mein pada hai ya suna hai use aap apne jeevan mein utar sake us par amal kar sake geeta ka gyaan geeta ka saar toh bahut log padhte hain ya jante hain lekin agar use jeevan mein humne utara nahi agar use daily life mein humne practice nahi kiya toh phir uska koi mahatva nahi reh jata hai uska mahatva tabhi hamare jeevan mein kayam rahega jab jo humne suna hai ya padha hai geeta mein use hum karke dikhaen apne jeevan mein jaise geeta mein yahi kaha gaya hai ki jo ho raha hai bacche ke liye ho raha hai aur jo hua tha vaah bhi acche ke liye hi hua tha jo hoga vaah bhi future mein acche ke liye hoga toh is baat ko sirf padhne ya bolne se fark nahi padta hai kya jeevan mein sach mein aap isko samajh paye kya paas sirf apne aap ko release kar paye kya present mein rehte hain aur kya future ke bare mein chinta nahi karte aur future ko aapne phone par ishwar par chod diya hai aur ek janwar ki tarah apni zindagi bita rahe hain jaise hum ek movie dekhne jaate hain toh sirf baithkar movie dekhte hain kabhi bhi un characters ki life mein jaane ki koshish nahi karte toh zindagi bhi agar isi tarah se hum abjarvar ki tarah batatey chalen jo ho raha hai use acche accha hi samjhe aur jo hone vala hai uski bhi vyarth chinta na kare kyonki geeta ke anusaar tu jo yahan hai yahi reh jaega aur saath mein kuch nahi jaega sab kuch jante bujhte hue bhi jeevan mein usko utar paana Impossible toh nahi hai lekin kathin zaroor hai toh mahatva tabhi rahega geeta ka jab uske saar ko jeevan mein utar liya jaaye apna jeevan usi ke hisab se usi ke anusaar chalaya jaaye

भगवत गीता का दैनिक जीवन में महत्व तभी है जब जो भी आपने गीता में पड़ा है या सुना है उसे आप

Romanized Version
Likes  1101  Dislikes    views  28223
WhatsApp_icon
user
0:60
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भगवत गीता का हमारे दैनिक जीवन में बहुत महत्व है आप भगवत गीता का अध्ययन करिए और उसमें जानिए कि भगवान श्री कृष्ण ने महाभारत के युद्ध के समय में अर्जुन को गीता का उपदेश देते हुए क्या क्या बात है समय थी उस समय उन्होंने सारी चीजों को समझाया था कि अपना पराया कोई नहीं होता है और धर्म क्या होता है अधर्म क्या होता है आधी बातें उन्होंने उस समय में अर्जुन को गीता ज्ञान के रूप में दी थी हमें कर्म करना चाहिए फल की चिंता नहीं करना चाहिए यह है गीता का ज्ञान गीता का ज्ञान का हमारे दैनिक जीवन में चंद्रप्रभा वे मनुष्य को अपने कर्तव्य पथ पर हमेशा आगे बढ़ते रहना चाहिए और जीवन में कभी किसी फल की चाय की इच्छा नहीं रखना चाहिए तभी स्वयंवर प्रसन्न होता है और गीता का ज्ञान हमारे जीवन में सटीक बैठता है

bhagwat geeta ka hamare dainik jeevan mein bahut mahatva hai aap bhagwat geeta ka adhyayan kariye aur usme janiye ki bhagwan shri krishna ne mahabharat ke yudh ke samay mein arjun ko geeta ka updesh dete hue kya kya baat hai samay thi us samay unhone saree chijon ko samjhaya tha ki apna paraaya koi nahi hota hai aur dharm kya hota hai adharma kya hota hai aadhi batein unhone us samay mein arjun ko geeta gyaan ke roop mein di thi hamein karm karna chahiye fal ki chinta nahi karna chahiye yah hai geeta ka gyaan geeta ka gyaan ka hamare dainik jeevan mein chandraprabha ve manushya ko apne kartavya path par hamesha aage badhte rehna chahiye aur jeevan mein kabhi kisi fal ki chai ki iccha nahi rakhna chahiye tabhi sawamber prasann hota hai aur geeta ka gyaan hamare jeevan mein sateek baithta hai

भगवत गीता का हमारे दैनिक जीवन में बहुत महत्व है आप भगवत गीता का अध्ययन करिए और उसमें जानिए

Romanized Version
Likes  50  Dislikes    views  1965
WhatsApp_icon
user

Piyush Goel

Mech Engg, Motivator.

4:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

स्वाति आज मंगा को 2003 में दुनिया की पहली भागवत गीता मिरर इमेज में 700 श्लोक हिंदी और इंग्लिश में लिखने का सौभाग्य प्राप्त हुआ दोस्तों दुनिया की पहली किताब है जो दर्पण में लिखी गई है और दुनिया के बड़े-बड़े तो मैं समझ नहीं भजन करके आपको बता रहा हूं कृष्णा वीडियो में जाने का मौका मिला उन्होंने कहा कि दुनिया की सारी भागवत गीता मेरे पास है लेकिन उल्टी की भागवत गीता मेरे पास नहीं है वह भी भगवान कृष्ण ने आपसे करवा दिया आप के साथ 2000 में बहुत बड़ी दुर्घटना दुर्घटना दुर्घटना में क्या है पता था क्योंकि है जिसको उल्टा लिखना आता है और यह कंपलीमेंट्स है और उसने आपसे लिखवा दिया आप कहां मैं कहां मैं उड़ीसा का हूं आपको ठीक है ना आपको मेरी जान तुमसे मुलाकात होगी और आज भी लड़के की बातें मेरे को 2003 में डिप्रेशन हो गए दोस्तों में के क्वेश्चन के माध्यम से कुछ बताया ऑपरेशन करके बोल दिया तो मना कर ले बात करके पूरी कंपनी दो चक्कर लगाया कह रहे हो बच्चे नहीं तुम्हारे घर में माता-पिता भाई-बहन जिंदा हूं तो उनकी बहुत बड़ा सहयोग दिया गया 2003 में डिप्रेशन और बहुत ही जल्दी पढ़ने के लिए प्रकाश के लिए कितनी बार करोगे अपना ज्ञान मिला 245 गुरुजी गुरुजी है जिंदगी में और भैया भैया रहेगा कि आप चले जाएंगे

swati aaj Manga ko 2003 mein duniya ki pehli bhagwat geeta mirror image mein 700 shlok hindi aur english mein likhne ka saubhagya prapt hua doston duniya ki pehli kitab hai jo darpan mein likhi gayi hai aur duniya ke bade bade toh main samajh nahi bhajan karke aapko bata raha hoon krishna video mein jaane ka mauka mila unhone kaha ki duniya ki saree bhagwat geeta mere paas hai lekin ulti ki bhagwat geeta mere paas nahi hai vaah bhi bhagwan krishna ne aapse karva diya aap ke saath 2000 mein bahut badi durghatna durghatna durghatna mein kya hai pata tha kyonki hai jisko ulta likhna aata hai aur yah kampaliments hai aur usne aapse likhva diya aap kahaan main kahaan main odisha ka hoon aapko theek hai na aapko meri jaan tumse mulakat hogi aur aaj bhi ladke ki batein mere ko 2003 mein depression ho gaye doston mein ke question ke madhyam se kuch bataya operation karke bol diya toh mana kar le baat karke puri company do chakkar lagaya keh rahe ho bacche nahi tumhare ghar mein mata pita bhai behen zinda hoon toh unki bahut bada sahyog diya gaya 2003 mein depression aur bahut hi jaldi padhne ke liye prakash ke liye kitni baar karoge apna gyaan mila 245 guruji guruji hai zindagi mein aur bhaiya bhaiya rahega ki aap chale jaenge

स्वाति आज मंगा को 2003 में दुनिया की पहली भागवत गीता मिरर इमेज में 700 श्लोक हिंदी और इंग्

Romanized Version
Likes  112  Dislikes    views  1510
WhatsApp_icon
user
0:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भगवत गीता एक पुस्तक ही नहीं बल्कि एक लाइफ़स्टाइल है जिसके अनुसार जो हमें सिखाती है कि लाइफ को कैसे संगीता जीवन का एक साबित करती है कि हमें किस तरह जीना है और किस तरह से अपना जीवन यापन करना है कैसे कर्म करने के नहीं करनी हमें कैसे रहना हर दिन कौन से कर्म करने हैं और कौन से बहुत ज्यादा महत्व है हमारे जीवन

bhagwat geeta ek pustak hi nahi balki ek lifestyle hai jiske anusaar jo hamein sikhati hai ki life ko kaise sangeeta jeevan ka ek saabit karti hai ki hamein kis tarah jeena hai aur kis tarah se apna jeevan yaapan karna hai kaise karm karne ke nahi karni hamein kaise rehna har din kaun se karm karne hain aur kaun se bahut zyada mahatva hai hamare jeevan

भगवत गीता एक पुस्तक ही नहीं बल्कि एक लाइफ़स्टाइल है जिसके अनुसार जो हमें सिखाती है कि लाइ

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  3
WhatsApp_icon
user

munmun

Volunteer

0:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे यह महत्व है कि हमें जो है साधारण जीवन के अनुसार व्यवहार से वह घृणा नहीं करने के अभी तू जो है इच्छाओं का दमन करना चाहिए

mujhe yah mahatva hai ki hamein jo hai sadhaaran jeevan ke anusaar vyavhar se vaah ghrina nahi karne ke abhi tu jo hai ikchao ka daman karna chahiye

मुझे यह महत्व है कि हमें जो है साधारण जीवन के अनुसार व्यवहार से वह घृणा नहीं करने के अभी त

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  2
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!