सुब्रमनियन स्वामी ने भारत रत्न पुरस्कृत और अर्थशास्त्री अमर्त्य सेन को गद्दार कहा! स्वामी किस आधार पर यह कह र है हैं? इस पर आपकी राय क्या है?...


play
user

Awdhesh Singh

Former IRS, Top Quora Writer, IAS Educator

0:56

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सुब्रमण्यम स्वामी इस तरीके की बातें करने के लिए बहुत फेमस रहे हैं और वह अक्सर इस तरीके की बातें करके न्यूज़ में रहते हैं l और जिस तरीके से उन्होंने अर्थशास्त्री अमर्त्य सेन जो कि नोबल लौरेएट है उनको जो है गद्दार कहा है l मेरे ख्याल से यह बहुत ही शर्म की बात है और स्वामी जी को जो है बीजेपी के अंदर रखना अपने में एक बहुत ही बड़ा घातक काम है क्योंकि स्वामी जी की जबान पर कोई कंट्रोल नहीं है l और वह एक तरीके से जो भी कहते हैं उससे केवल उनकी नहीं बल्कि बीजेपी की जो एक विचारधारा है, बीजेपी की जो पार्टी की जो सोच है उससे भी काफी गहरी चोट पहुंचती है l तो मैं समझता हूं कि इस को कंडेम किया जाना चाहिए और सुब्रमण्यम स्वामी जो है वह उनके इस तरीके के बयान जो है वह बहुत ही शर्मनाक है l

subramanyam swami is tarike ki batein karne ke liye bahut famous rahe hain aur wah aksar is tarike ki batein karke news mein rehte hain l aur jis tarike se unhone arthshastri amartya sen jo ki noble laureet hai unko jo hai gaddar kaha hai l mere khayal se yeh bahut hi sharm ki baat hai aur swami ji ko jo hai bjp ke andar rakhna apne mein ek bahut hi bada ghatak kaam hai kyonki swami ji ki jaban par koi control nahi hai l aur wah ek tarike se jo bhi kehte hain usse kewal unki nahi balki bjp ki jo ek vichardhara hai bjp ki jo party ki jo soch hai usse bhi kaafi gehri chot pohchti hai l to main samajhata hoon ki is ko kondam kiya jana chahiye aur subramanyam swami jo hai wah unke is tarike ke bayan jo hai wah bahut hi sharmnaak hai l

सुब्रमण्यम स्वामी इस तरीके की बातें करने के लिए बहुत फेमस रहे हैं और वह अक्सर इस तरीके की

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  416
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Abhishek Sharma

Forest Range Officer, MP

0:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अभी अभी भारत सरकार ने पदम श्री पुरस्कार की घोषणा की यह पदम भूषण पद्म विभूषण पद्म पुरस्कारों में RSS के कार्यकर्ताओं को भी अवार्ड दिया जा रहा है इसके बारे में कांग्रेस ने कुछ ऑब्जेक्शन सफाई तू इसके जवाब में सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा था कि RSS के कार्यकर्ता हमेशा से ही भारत के विकास का काम करते आ रहे हैं और उन्होंने बिना कुछ एक्सपेक्ट किए काम किया है और जहां तक लेफ्ट विंग की बात की है कांग्रेस की बात की जाए उन्होंने हमेशा देश को लूट आई है और उनका एग्जांपल देते हुए उन्होंने कहा कि अमृता सैनी ने केवल नालंदा यूनिवर्सिटी को लूटने के अलावा कुछ नहीं किया क्योंकि वह लेफ्ट बैंक से इनको भी उनको ज्यादा सम्मान दिया गया RSS के नेताओं को बिल्कुल सम्मान नहीं दिया कि उनके कार्यकर्ताओं को सम्मानित किया तो यह एक पॉलिटिकल स्टेटमेंट है और इस से ज्यादा कुछ नहीं है धन्यवाद

abhi abhi bharat sarkar ne padam shri puraskar ki ghoshana ki yeh padam bhushan padma vibhushan padma puraskaro mein RSS ke karyakartao ko bhi award diya ja raha hai iske baare mein congress ne kuch objection safaai tu iske jawab mein subramanyam swami ne kaha tha ki RSS ke karyakarta hamesha se hi bharat ke vikash ka kaam karte aa rahe hain aur unhone bina kuch expect kiye kaam kiya hai aur jaha tak left wing ki baat ki hai congress ki baat ki jaye unhone hamesha desh ko loot eye hai aur unka example dete hue unhone kaha ki amrita saini ne kewal nalanda university ko lutane ke alava kuch nahi kiya kyonki wah left bank se inko bhi unko jyada samman diya gaya RSS ke netaon ko bilkul samman nahi diya ki unke karyakartao ko sammanit kiya to yeh ek political statement hai aur is se jyada kuch nahi hai dhanyavad

अभी अभी भारत सरकार ने पदम श्री पुरस्कार की घोषणा की यह पदम भूषण पद्म विभूषण पद्म पुरस्कारो

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  222
WhatsApp_icon
user

Sameer Tripathy

Political Critic

1:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी हाउस में हम लोग यह तो मुझे तो लगता है कि थोड़ा राजनीतिक वाला चीज है यह सब बा कंट्रोवर्सी हुआ क्योंकि जो कांग्रेस का लीडर है रणदीप सिंह सुरजेवाला उसे सरकार को उन्होंने सरकार जी की सरकार के ऊपर रेखा गंभीर आरोप लगाया कि जो बीजेपी ने जो पद्मावती तो जरूर डिस्ट्रीब्यूट क्या हाल है जो प्लान किया जिसमें है कि नहीं है उसमें जो RSS लीडर है वेद प्रकाश नंदा और केरला का जो RSS प्रचारक जो चीज है कि परमेश्वर इन लोगों इसलिए दे रहा है कि वह RSS से जुड़े जुड़े थे तो इसलिए कांग्रेस बोल रहा है कि जो लोग RSS से जड़ी थी बीजेपी उन लोगों पदों के पेपर 2013 पद्म भूषण अवार्ड तो इसके लिए जब वह भी स्वामी जी को पूछा गया तो स्वामी जी बोले कि इंडिया को मैंने जो अमृतसर को भी दिया था बाद में भीषण क्यों दिया मगर वह तो एक गद्दार थे ट्रैक्टर से तो जो कीड़ा नालंदा यूनिवर्सिटी को लूटे हुए थे चुना लंदन सिटी ऑफ़ अमृतसर नालंदा यूनिवर्सिटी पर थे वाईस चांसलर तो यह बना ले वह उनका आरोप है कि नालंदा यूनिवर्सिटी को मुझे कुछ काम कुछ किया होंगे तो उन्होंने बोला लूटमार लूट मचाई थे नालंदा यूनिवर्सिटी में तो इसके लिए उनको लगता है कि वह गद्दार है

vikee house mein hum log yeh to mujhe to lagta hai ki thoda rajnitik wala cheez hai yeh sab ba controversy hua kyonki jo congress ka leader hai randeep singh surjewala use sarkar ko unhone sarkar ji ki sarkar ke upar rekha gambhir aarop lagaya ki jo bjp ne jo padmavati to jarur distribyut kya haal hai jo plan kiya jisme hai ki nahi hai usamen chahiye jo RSS leader hai ved prakash nanda aur kerala ka jo RSS prachar jo cheez hai ki parmeshwar in logo chahiye isliye de raha hai ki wah RSS se jude jude the to isliye congress bol raha hai ki jo log RSS se jadi thi bjp un logo chahiye padon ke paper 2013 padma bhushan award to iske liye jab wah bhi swami ji ko poocha gaya to swami ji bole ki india ko maine jo amritsar ko bhi diya tha baad mein bhishan kyu diya magar wah to ek gaddar the traktor se to jo kida nalanda university ko lute hue the chuna london city of amritsar nalanda university par the vice chancellor to yeh bana le wah unka aarop hai ki nalanda university ko mujhe kuch kaam kuch kiya honge to unhone bola lutmar loot machai the nalanda university mein to iske liye unko lagta hai ki wah gaddar hai

विकी हाउस में हम लोग यह तो मुझे तो लगता है कि थोड़ा राजनीतिक वाला चीज है यह सब बा कंट्रोवर

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  176
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!