न्यूटन से पहले गुरुत्वाकर्षण के बारे में किसने बताया था?...


play
user

Aditya Kumar Tiwari

Director, Eduvento Classes

2:32

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जहां तक ग्रेविटी को ऑब्जर्व करने की बातें गुरुत्वाकर्षण को समझने की बात उसके स्तनों में ना कि बात है इसको तो प्रिय स्टोरी के मैंने प्रागैतिहासिक जो गुफा में रहने वाले मनुष्य थे उन्होंने ही डिस्कवर कर लिया था गैलीलियो कि अगर हम बात करें तो गैलीलियो ने भी कुछ प्रॉपर्टी उसको डिस्कवर किया था जैसे कि ग्रेविटी के उस पर पड़ी उसने खबर क्या कि जब किसी भी यह मटेरियल में किसी के बॉडी में किसी भी पदार्थ को जब हम ग्रेविटी फिल्में रखते हैं ग्रेविटी की गुरुत्वाकर्षण उस पर लगता है तो गुरुत्वाकर्षण स्कोरसीम तोरण देता है चाहे उसका कंपोजीशन कैसा भी क्यों ना हो इससे फर्क नहीं पड़ता है अभी अपने आप में बहुत बड़ा स्टेप था लेकिन न्यूटन ने जो किया वह ज्यादा बड़ी चीज से ज्यादा मॉन्यूमेंट अंदर ज्यादा इंपॉर्टेंट थे यूनिवर्स जिसने कि ग्रहण किया दोनों ही मैटर्स को चाहे वह मैटर अर्थ पर गिर रहा हो या प्लानेट के ताज एक्ट्रीस में जा रहा होगा इससे कोई फर्क नहीं पड़ता तो उसने सारे खेसारी लाल को जो कैविटी कितने चाहू आर्थिक रिस्पेक्ट में हो या किसी और बॉडी के रिस्पेक्ट में हो वह यूनिफाई किया उसने और कि उसका बहुत बड़ा योगदान था तो वैसे के लिए अगर हम कहें कि न्यूटन से पहले बहुत सारे लोगों ने सोचा जरूर कैविटी के बारे में कुछ कुछ लोगों ने कुछ कुछ में प्रिंसिपल भी दिए लेकिन न्यूटन का पहला ऐसा बंदा था जिसने क्यों यूनिफाइड छोरी दिन ग्रेविटी की कंप्लेन 1687 और मैथमेटिक्स का इस्तेमाल करके जो अपने समय से काफी आगे तक की बातें की नौटंकी छोरी को के कई सौ साल बाद आइंस्टीन ने उस छोरी को रिवाइज किया बटर किया यह रिमार्क्स मामले में और महत्वपूर्ण है कि अभी कुछ दिन पहले ही क्योंकि शायद आपने सवाल भी वहीं से उठाया होगा कुछ दिन पहले यह भी है भारत के मिनिस्टर ने क्लेम किया कि न्यूटन से काफी पहले भी लैविटी के बारे में क्या-क्या खोज हो चुकी उसके बारे में डिस्कशन हो चुका है और उन्होंने यह जो बात कही थी यह बात उन्होंने कही थे ब्रह्मपुत्र द्वितीय के बारे में क्योंकि गुप्ता में थे कि उन्होंने ग्रेविटी को लूटा जा साल पहले ही खोज लिया था अब मैं नहीं जाकर उनको पढ़ा तो नहीं है पर पंगु धोती एक मैथमेटिशियन थे सुनो मरते तो हो सकता है कि उन्होंने कुछ प्रिंसिपल्स के बारे में बात जरूर किया होगा पर जो एक प्रॉपर यूनिफाइड छोरी है वह न्यूटन ही सबसे पहले इंसान होने के लिए शुभकामनाएं

jahan tak gravity ko abjarv karne ki batein gurutvaakarshan ko samjhne ki baat uske stanon mein na ki baat hai isko toh priya story ke maine pragetihasik jo gufa mein rehne waale manushya the unhone hi discover kar liya tha galileo ki agar hum baat kare toh galileo ne bhi kuch property usko discover kiya tha jaise ki gravity ke us par padi usne khabar kya ki jab kisi bhi yah material mein kisi ke body mein kisi bhi padarth ko jab hum gravity filme rakhte hai gravity ki gurutvaakarshan us par lagta hai toh gurutvaakarshan skorasim toran deta hai chahen uska composition kaisa bhi kyon na ho isse fark nahi padta hai abhi apne aap mein bahut bada step tha lekin newton ne jo kiya vaah zyada baadi cheez se zyada monument andar zyada important the Universe jisne ki grahan kiya dono hi matters ko chahen vaah matter arth par gir raha ho ya planet ke taj ektris mein ja raha hoga isse koi fark nahi padta toh usne saare khesari laal ko jo Cavity kitne chahu aarthik respect mein ho ya kisi aur body ke respect mein ho vaah yunifai kiya usne aur ki uska bahut bada yogdan tha toh waise ke liye agar hum kahein ki newton se pehle bahut saare logo ne socha zaroor Cavity ke bare mein kuch kuch logo ne kuch kuch mein principal bhi diye lekin newton ka pehla aisa banda tha jisne kyon yunifaid chhori din gravity ki complain 1687 aur mathematics ka istemal karke jo apne samay se kaafi aage tak ki batein ki nautanki chhori ko ke kai sau saal baad einstein ne us chhori ko revise kiya butter kiya yah remarks mamle mein aur mahatvapurna hai ki abhi kuch din pehle hi kyonki shayad aapne sawaal bhi wahi se uthaya hoga kuch din pehle yah bhi hai bharat ke minister ne claim kiya ki newton se kaafi pehle bhi laiviti ke bare mein kya kya khoj ho chuki uske bare mein discussion ho chuka hai aur unhone yah jo baat kahi thi yah baat unhone kahi the brahmaputra dwitiya ke bare mein kyonki gupta mein the ki unhone gravity ko loota ja saal pehle hi khoj liya tha ab main nahi jaakar unko padha toh nahi hai par pangu dhoti ek maithmetishiyan the suno marte toh ho sakta hai ki unhone kuch principles ke bare mein baat zaroor kiya hoga par jo ek proper yunifaid chhori hai vaah newton hi sabse pehle insaan hone ke liye subhkamnaayain

जहां तक ग्रेविटी को ऑब्जर्व करने की बातें गुरुत्वाकर्षण को समझने की बात उसके स्तनों में ना

Romanized Version
Likes  526  Dislikes    views  4935
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!