टमाटर का रंग लाल क्यों होता है और किसके कारण होता है?...


user

Abhishek Sharma

Forest Range Officer, MP

1:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

टमाटर में क्लोरोफिल तथा लाइकोपीन दोनों चीजें पाई जाती हैं क्लोरोफिल का आपको पता होगा क्लोरोफिल की वजह से पत्तियों का आया पेड़ पौधों का रंग ग्रीन होता है और लाइकोपीन की वजह से इनका कलर लाल हो जाता है तो जब टमाटर शुरुआत में जब छोटा सा होता है जब वह कच्चा होता है तब उसका हरा रंग होता है क्योंकि क्लोरोफिल उस समय उसकी आवश्यकता होती है लेकिन जब उसकी कटाई का सीजन आता है तब धूप कम होती है या और सीजन जो होता है वह छोटा होता दिन छोटे होते हैं ठंडो के टाइम पर तो क्लोरोफिल कम हो जाता है एसिडिटी कम हो जाती है शुगर का लेवल जो होता है वह बढ़ जाता है साइको पंकज लीगल ओ बढ़ जाता है और क्लोरोफिल कुट्टी को-वर्कर कर लाइकोपीन की मात्रा अधिक हो जाती है टमाटर के अंदर तो उसका रंग जो है वह हरे से धीरे-धीरे लाल हो जाता है इसलिए आप देखेंगे कि कभी-कभी जो टमाटर हम सर्दियों में लगाते हैं तो छोटे टमाटर भी लाल रंग क्या लगते हैं अरे नहीं आते हैं तो इसके कारण यही है और विदेश में मत जो आप देखते होंगे मुझे छोटे से ही लाल रंग का लगना शुरू हो जाते हैं क्योंकि वहां पर जैसे यू बिग कंट्री जो होती हैं जो 9 टन साइड की जरूरत यूरोपियन कंट्री से वहां पर धूप भी नहीं पड़ती है तो लाइकोपिन वहां पर हमेशा से ही एक एडवांटेज में रहता है और लाल रंग का रहता है तो यही कारण है जिसकी वजह टमाटर का रंग लाल रहता है थैंक यू

tamatar mein chlorophyll tatha laikopin dono cheezen payi jaati hai chlorophyll ka aapko pata hoga chlorophyll ki wajah se pattiyo ka aaya ped paudho ka rang green hota hai aur laikopin ki wajah se inka color laal ho jata hai toh jab tamatar shuruat mein jab chota sa hota hai jab vaah kaccha hota hai tab uska hara rang hota hai kyonki chlorophyll us samay uski avashyakta hoti hai lekin jab uski katai ka season aata hai tab dhoop kam hoti hai ya aur season jo hota hai vaah chota hota din chote hote hai thando ke time par toh chlorophyll kam ho jata hai acidity kam ho jaati hai sugar ka level jo hota hai vaah BA dh jata hai psycho pankaj legal o BA dh jata hai aur chlorophyll kutty ko worker kar laikopin ki matra adhik ho jaati hai tamatar ke andar toh uska rang jo hai vaah hare se dhire dhire laal ho jata hai isliye aap dekhenge ki kabhi kabhi jo tamatar hum sardiyo mein lagate hai toh chote tamatar bhi laal rang kya lagte hai are nahi aate hai toh iske karan yahi hai aur videsh mein mat jo aap dekhte honge mujhe chote se hi laal rang ka lagna shuru ho jaate hai kyonki wahan par jaise you big country jo hoti hai jo 9 ton side ki zarurat european country se wahan par dhoop bhi nahi padti hai toh laikopin wahan par hamesha se hi ek advantage mein rehta hai aur laal rang ka rehta hai toh yahi karan hai jiski wajah tamatar ka rang laal rehta hai thank you

टमाटर में क्लोरोफिल तथा लाइकोपीन दोनों चीजें पाई जाती हैं क्लोरोफिल का आपको पता होगा क्लोर

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  544
KooApp_icon
WhatsApp_icon
6 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
tamatar pakne par lal kyu ho jata hai ; tamatar ka rang lal kyon hota hai ; tamatar pakne ke bad lal kyon ho jata hai ; tamatar ka rang lal kis karan hota hai ; tamatar lal kyon hota hai ; tamatar lal kis karan hota hai ; tamatar ka lal rang kiske karan hota hai ; tamatar kiske karan lal hota hai ; टमाटर का रंग लाल क्यों होता है ; टमाटर क्यों लाल होता है ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!