अगर भारत की जनसँख्या चीन से अधिक हो जाए तो क्या होगा?...


play
user
0:13

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

तुम्हारे बहुत मारामारी हो जाएगी पैर रखने की स्थिति नहीं होगी टाइम पर बहुत ज्यादा बढ़ जाएगा और

tumhare bahut maramari ho jayegi pair rakhne ki sthiti nahi hogi time par bahut zyada badh jayega aur

तुम्हारे बहुत मारामारी हो जाएगी पैर रखने की स्थिति नहीं होगी टाइम पर बहुत ज्यादा बढ़ जाएगा

Romanized Version
Likes  41  Dislikes    views  480
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पोलूशन चाइना से बच्चा भी कर सकता है जैसे कि दिल्ली में जो हो रहा है वह पप्पू जी के कारण बहुत अच्छी तरीके से पोपट करेगी

pollution china se baccha bhi kar sakta hai jaise ki delhi mein jo ho raha hai vaah pappu ji ke karan bahut achi tarike se popat karegi

पोलूशन चाइना से बच्चा भी कर सकता है जैसे कि दिल्ली में जो हो रहा है वह पप्पू जी के कारण बह

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  182
WhatsApp_icon
user

Abhishek Sharma

Forest Range Officer, MP

1:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत की जनसंख्या इस समय सिंह से थोड़ी कम रह गई है और मुझे लगता है कि काम से कुछ समय बाद जरूर हम चीन को पीछे छोड़ देंगे एक आया वर्ल्ड बैंक की रिपोर्ट के अनुसार हम अगर देखें तो अगले दशक में यकीन को इस बारे में मुझे छोड़ सकते हैं क्योंकि चीन ने काफी समय तक एवं वन चाइल्ड पॉलिसी अपनाई थी भारत की जनसंख्या अगर चीन से ज्यादा पुरुष भी कुछ कौन सी है पर वह यह के मार्केट बड़ा बन जाएगा बड़ा मार्केट होने पर इन्वेस्टमेंट काफी ज्यादा में लगे आप विकास जल्दी होगा जाकर लोगों में अगर कौशल जरूर होगा कौशल वाले युवा कि जब वह बात करते हैं जब कौशल बढ़ जाएगा तो सारी की सारी दुनिया हमारी तरफ देखेगी कर एक विश्व गुरु के रुप में हम स्थापित हो जाएंगे लेकिन हानियां भी बहुत सारी है संसाधन लिमिटेड है जमीन हमारे पास MLA बाहुबली कंडीशन मेरे पास लिमिटेड है जनसंख्या बढ़ जाएगी तू चीज की लड़ाई होंगी उस चीज के लिए विवाद होगा जैसा कि वाद अभी चल रहा है काफी सारा यह विवाद और ज्यादा बढ़ जाएगा और एक्सट्रीम कंडीशन कंडीशन आ जाएंगी युद्ध के लिए कंडिशंस और ज्यादा केवल बन जाएंगे तुम मुझे लगता जनसंख्या को कंट्रोल करना है क्या यह सबसे सही टाइम आ गया है हालांकि पिछले दशक की तुलना में देखा जाए तो वह इस बार 2001 से 2011 के बीच में जो जनसंख्या वृद्धि हुई है 17 परसेंट हुई है 17.7 प्रतिशत ली जबकि उससे पहले उसे पहले के दशक में जनसंख्या वृद्धि होती है 20% तो कुछ गिरावट आई और हमें सेट कर दे किस पर कुछ गिरावट आई होगी जरूर आई होगी 2021 में पता चल पाएगा ग्रेट आंकड़े क्या है जब जनगणना शुरू होगी अगले वर्ष अगली बार की लेकिन ज्यादा जनसंख्या होना हितकारिणी जनसंख्या का क्वेश्चन होना बहुत आवश्यक है तो उसके लिए थोड़ा भी का भी चढ़ा चढ़ा जा रहे हैं कौन कुशल भारत अभियान हमारे प्रधानमंत्री द्वारा मुझे लगता है कि हम उसको देखे तो अच्छा है कौन सी को दिखे तो बुरा है दोनों ही मीन से थैंक यू

bharat ki jansankhya is samay Singh se thodi kam reh gayi hai aur mujhe lagta hai ki kaam se kuch samay baad zaroor hum china ko peeche chod denge ek aaya world bank ki report ke anusaar hum agar dekhen toh agle dashak mein yakin ko is bare mein mujhe chod sakte hain kyonki china ne kaafi samay tak evam van child policy apnai thi bharat ki jansankhya agar china se zyada purush bhi kuch kaun si hai par vaah yah ke market bada ban jaega bada market hone par investment kaafi zyada mein lage aap vikas jaldi hoga jaakar logo mein agar kaushal zaroor hoga kaushal waale yuva ki jab vaah baat karte hain jab kaushal badh jaega toh saree ki saree duniya hamari taraf dekhenge kar ek vishwa guru ke roop mein hum sthapit ho jaenge lekin haniyan bhi bahut saree hai sansadhan limited hai jameen hamare paas MLA bahubali condition mere paas limited hai jansankhya badh jayegi tu cheez ki ladai hongi us cheez ke liye vivaad hoga jaisa ki vad abhi chal raha hai kaafi saara yah vivaad aur zyada badh jaega aur extreme condition condition aa jayegi yudh ke liye kandishans aur zyada keval ban jaenge tum mujhe lagta jansankhya ko control karna hai kya yah sabse sahi time aa gaya hai halaki pichle dashak ki tulna mein dekha jaaye toh vaah is baar 2001 se 2011 ke beech mein jo jansankhya vriddhi hui hai 17 percent hui hai 17 7 pratishat li jabki usse pehle use pehle ke dashak mein jansankhya vriddhi hoti hai 20 toh kuch giraavat I aur hamein set kar de kis par kuch giraavat I hogi zaroor I hogi 2021 mein pata chal payega great aankade kya hai jab janganana shuru hogi agle varsh agli baar ki lekin zyada jansankhya hona hitkarini jansankhya ka question hona bahut aavashyak hai toh uske liye thoda bhi ka bhi chadha chadha ja rahe hain kaun kushal bharat abhiyan hamare pradhanmantri dwara mujhe lagta hai ki hum usko dekhe toh accha hai kaun si ko dikhe toh bura hai dono hi meen se thank you

भारत की जनसंख्या इस समय सिंह से थोड़ी कम रह गई है और मुझे लगता है कि काम से कुछ समय बाद जर

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  154
WhatsApp_icon
user

Rajput Paras

Traveler

0:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अबे भारत की जनसंख्या 3 से अधिक हो जाए तो भारत का जो स्थान है जनसंख्या के हिसाब से पूरे वर्ल्ड में नंबर टॉप पर हो जाएगा यह यह बात बहुत दुख दुख भरा हो सकता है

abe bharat ki jansankhya 3 se adhik ho jaaye toh bharat ka jo sthan hai jansankhya ke hisab se poore world mein number top par ho jaega yah yah baat bahut dukh dukh bhara ho sakta hai

अबे भारत की जनसंख्या 3 से अधिक हो जाए तो भारत का जो स्थान है जनसंख्या के हिसाब से पूरे वर्

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  88
WhatsApp_icon
user

Bhaskar Saurabh

Politics Follower | Engineer

1:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अभी वर्तमान स्थिति में भारत की जनसंख्या विश्व में दूसरे नंबर पर आती है और अगर इसी प्रकार भारत की जनसंख्या निरंतर बढ़ती गई तो वह दिन दूर नहीं कि जब भारत चीन की जनसंख्या को भी पीछे छोड़ देगा और विश्व में सबसे जनसंख्या सबसे ज्यादा जनसंख्या वाला देश बन जाएगा और अगर सबसे ज्यादा जनसंख्या भारत की हो जाती है तो बेरोजगारी की समस्या बहुत ज्यादा बढ़ जाएगी जो अभी भी है क्योंकि भारत जैसे देश में इतनी ज्यादा आबादी के लिए रोजगार पैदा करना काफी मुश्किल होगा अनपढ़ लोगों की संख्या हर साल बढ़ती जा रही है इसलिए बेरोजगारी दर लगातार बढ़ती ही जा रही है और भविष्य में भी बढ़ेगी ही और बुनियादी ढांचे पर भी इसका बुरा प्रभाव पड़ेगा जैसे कि हम देखेंगे कि परिवहन संचार आवास शिक्षा स्वास्थ्य सेवा आदि की कमी के तौर पर जनसंख्या अगर बढ़ रही है तो यह सारी चीजें सामने आती हैं बस्तियों भीड़ भरे घरों ट्रैफिक जाम यह सारी बहुत सारी समस्याएं हो सकती हैं और अगर जनसंख्या ज्यादा होगी तो संसाधनों का उपयोग भी बढ़ जाएगा भूमि क्षेत्र जल संसाधन और जंगल सभी का बहुत ज्यादा शोषण होने लगेगा और संसाधनों की कमी भी आ जाएगी उसके बाद और जो बढ़ती हुई आबादी है उसमें आय का वितरण भी बहुत और सामान हो जाएगा क्योंकि जो लोगों के पास ज्यादा पैसे हैं वह तो अमीर रहेंगे लेकिन गरीबी एक तरीके से बढ़ती जाएगी क्योंकि लोगों को रोजगार नहीं मिल पाएगा और वह कुछ भी ऐसा काम नहीं कर पाएंगे कि जिनसे उनकी जीविका अच्छे से चल पाए तो जनसंख्या बढ़ने के यह सारे दुष्प्रभाव हैं तो हमें यह कोशिश करनी चाहिए कि भारत की जनसंख्या बढ़ने के बजाय थोड़ी घटे तो वह हमारे देश के लिए काफी अच्छा होगा

abhi vartaman sthiti mein bharat ki jansankhya vishwa mein dusre number par aati hai aur agar isi prakar bharat ki jansankhya nirantar badhti gayi toh vaah din dur nahi ki jab bharat china ki jansankhya ko bhi peeche chod dega aur vishwa mein sabse jansankhya sabse zyada jansankhya vala desh ban jaega aur agar sabse zyada jansankhya bharat ki ho jaati hai toh berojgari ki samasya bahut zyada badh jayegi jo abhi bhi hai kyonki bharat jaise desh mein itni zyada aabadi ke liye rojgar paida karna kaafi mushkil hoga anpad logo ki sankhya har saal badhti ja rahi hai isliye berojgari dar lagatar badhti hi ja rahi hai aur bhavishya mein bhi badhegi hi aur buniyadi dhanche par bhi iska bura prabhav padega jaise ki hum dekhenge ki parivahan sanchar aawas shiksha swasthya seva aadi ki kami ke taur par jansankhya agar badh rahi hai toh yah saree cheezen saamne aati hai bastiyon bheed bhare gharon traffic jam yah saree bahut saree samasyaen ho sakti hai aur agar jansankhya zyada hogi toh sansadhano ka upyog bhi badh jaega bhoomi kshetra jal sansadhan aur jungle sabhi ka bahut zyada shoshan hone lagega aur sansadhano ki kami bhi aa jayegi uske baad aur jo badhti hui aabadi hai usme aay ka vitaran bhi bahut aur saamaan ho jaega kyonki jo logo ke paas zyada paise hai vaah toh amir rahenge lekin garibi ek tarike se badhti jayegi kyonki logo ko rojgar nahi mil payega aur vaah kuch bhi aisa kaam nahi kar payenge ki jinse unki jeevika acche se chal paye toh jansankhya badhne ke yah saare dushprabhav hai toh hamein yah koshish karni chahiye ki bharat ki jansankhya badhne ke bajay thodi ghate toh vaah hamare desh ke liye kaafi accha hoga

अभी वर्तमान स्थिति में भारत की जनसंख्या विश्व में दूसरे नंबर पर आती है और अगर इसी प्रकार भ

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  207
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
chin jansankhya ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!