भाजपा ने टीपू सुल्तान की विवादास्पद प्रकृति होने के कारण दिल्ली विधानसभा में उनके चित्रण का विरोध किया। क्या कोई मुझे टीपू सुल्तान के विवादों के बारे में और बता सकता है?...


play
user

Anukrati

Journalism Graduate

1:48

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

किसी भी दौर के शासक के लिए यह जरूरी है कि वह राजधर्म का पालन करें शासक को अपनी पूरी प्रजा को समान नजर से देखना चाहिए ऐसा नहीं करने वाला शासक कैसे हमारी मां को इतिहास के लिए प्रेरणा लेना है और महान हो सकता है वरिष्ठ पत्रकार अखिलेश शर्मा के अनुसार बीजेपी टीपू सुल्तान के मुद्दे को जिंदा रखना चाहती है दिल्ली में सिखों का समर्थन चाहिए अभी जो विधायक हैं उन्होंने टीपू सुल्तान की तस्वीर का विरोध किया है लेकिन बीजेपी बीते कई वर्षों से कर्नाटका में भी टीपू सुल्तान की जयंती मनाने का विरोध करती रही है विपक्षी पार्टी इस मुद्दे पर बीजेपी पर दोहरा रवैया अपनाने का आरोप लगाती है टीपू सुल्तान को एक महान बहादुर शासक के रूप में जाना जाता है लेकिन उनके शासनकाल में ही कई बलात्कार भी हुए कई हिंदू मंदिर भी तबाह किए गए हकीकत में प्रतियोगिता इतिहास समसामयिक इतिहास है इतिहास लेखन का बुनियादी उसूल है इसलिए इसको समझने के लिए हर युग अपना एक नजरिया बनाता है यहां तक कि एक ही वक्त में कई तरह के नजरिए से इतिहास देखा जाता है टीपू सुल्तान को एक नजर से देखें तो वह महान और बहादुर शासक था जबकि दूसरी ओर सब उसके बारे में कहा जाता है कि वह बहुत क्रूर था उस के शासन में धर्मांतरण भी बहुत हुए और विधान और और विद्वान भी तो यह दो नजरिए हैं टीपू सुल्तान के बारे में इतिहास में दोनों ही तरह से उल्लेख मिलते हैं

kisi bhi daur ke shasak ke liye yah zaroori hai ki vaah rajdharm ka palan karen shasak ko apni puri praja ko saman nazar se dekhna chahiye aisa nahi karne vala shasak kaise hamari maa ko itihas ke liye prerna lena hai aur mahaan ho sakta hai varishtha patrakar akhilesh sharma ke anusaar bjp tipu sultan ke mudde ko zinda rakhna chahti hai delhi mein Sikhon ka samarthan chahiye abhi jo vidhayak hain unhone tipu sultan ki tasveer ka virodh kiya hai lekin bjp bite kai varshon se karnataka mein bhi tipu sultan ki jayanti manane ka virodh karti rahi hai vipakshi party is mudde par bjp par dohra ravaiya apnane ka aarop lagati hai tipu sultan ko ek mahaan bahadur shasak ke roop mein jana jata hai lekin unke shasankal mein hi kai balatkar bhi hue kai hindu mandir bhi tabah kiye gaye haqiqat mein pratiyogita itihas samasamayik itihas hai itihas lekhan ka buniyaadi usul hai isliye isko samjhne ke liye har yug apna ek najariya banata hai yahan tak ki ek hi waqt mein kai tarah ke nazariye se itihas dekha jata hai tipu sultan ko ek nazar se dekhen toh vaah mahaan aur bahadur shasak tha jabki dusri aur sab uske bare mein kaha jata hai ki vaah bahut krur tha us ke shasan mein dharmanataran bhi bahut hue aur vidhan aur aur vidwaan bhi toh yah do nazariye hain tipu sultan ke bare mein itihas mein dono hi tarah se ullekh milte hain

किसी भी दौर के शासक के लिए यह जरूरी है कि वह राजधर्म का पालन करें शासक को अपनी पूरी प्रजा

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  162
WhatsApp_icon
1 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!