हम सरदार भगत सिंह जैसे महान क्रांतिकारियों को क्या भूलते जा र है हैं?...


play
user

Vijay Singh

Social Worker

0:55

Likes  81  Dislikes    views  1632
WhatsApp_icon
14 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

धर्मदेव सिंह भाटी

कुश्ती प्रशिक्षक

0:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसा नहीं है भाई जी हम सरदार भगत सिंह जैसे महान क्रांतिकारियों को नहीं खोल रहे और ऐसा हो भी नहीं सकता क्योंकि करोड़ों करोड़ लोग सरदार भगत सिंह और उनके जैसे क्रांतिकारियों को अपना आदर्श मानते हैं मैं भी उन्हीं में से एक हूं भारत माता के लालों को भी रोको हमें आजाद कराने वाले हमारे पूर्वजों का हम नहीं भूल सकते

aisa nahi hai bhai ji hum sardar bhagat Singh jaise mahaan krantikariyon ko nahi khol rahe aur aisa ho bhi nahi sakta kyonki karodo crore log sardar bhagat Singh aur unke jaise krantikariyon ko apna adarsh maante hain main bhi unhi mein se ek hoon bharat mata ke laalo ko bhi roko hamein azad karane waale hamare purvajon ka hum nahi bhool sakte

ऐसा नहीं है भाई जी हम सरदार भगत सिंह जैसे महान क्रांतिकारियों को नहीं खोल रहे और ऐसा हो भी

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  391
WhatsApp_icon
user

Abhishek Sharma

Forest Range Officer, MP

1:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल मुझे लगता है हम सरदार भगत सिंह चंद्रशेखर सुखदेव राजगुरु जैसे क्रांतिकारियों को भूलते जा रहे हैं केवल का नाम किताबों में रह गया लेकिन जब हम कोई आप देखिए कि सरकार द्वारा कोई योजना बनाई जाती है तो हमेशा आप दिखेंगी मदन मोहन मालवीय जी का नाम लिखा जाता है महात्मा गांधी जी का नाम आता भीमराव अंबेडकर जी का नाम आता है इन लोगों का नाम नहीं आता थोड़ा दुख की बात है मैं नहीं करूंगा बाकी सब कोटेशन बहुत ज्यादा रहा है या उनको कोटेशन कुछ काम है ऐसा कुछ नहीं है कौन टिम से सबका बराबर है हर उस व्यक्ति का बराबर जिसका नाम कि आप नहीं जानते हैं हर व्यक्ति ने देश की आजादी के लिए लड़ाई लड़ी है तो मुझे लगता है सरदार भगत सिंह जी और बाकी सारी उनके सुखदेव राजगुरु जो लोग थे उस वक्त फांसी पर चढ़े इतनी जवानी में इतनी कम उम्र में जो फांसी पर चढ़े जिस उम्र में आपकी ग्रेजुएशन कंप्लीट हो पाती है उनकी खास बात यह है कि जैसे महात्मा गांधीजी ने अहिंसा के रास्ते से हमें अंग्रेजों से आज मिलने की कोशिश की कि उन लोगों ने भी हिंसा का रास्ता नहीं अपनाया उन्होंने भी छोड़ प्रिंट अपनाया जिसमें जब भगत सिंह ने असेंबली में फेंका था तो उन्होंने कहा था कि मेरा उद्देश्य किसी को मारना नहीं था मेरा उद्देश्य केवल बहरों को सुनाना था और मुझे लगता है कि यह मैसेज अंग्रेजों के कान में अच्छी तरह जरूर बुझा होगा जब फांसी दी गई तो बहुत ज्यादा विरोध किया किस चीज का उन्होंने पूरे देश में क्रांति ला दी और मुझे लगता है कि हमें ऐसे लोगों को नमन करना चाहिए सरकार को थोड़ा ध्यान देना चाहिए चीज के लिए थैंक यू

bilkul mujhe lagta hai hum sardar bhagat Singh chandrashekhar sukhadeva raajguru jaise krantikariyon ko bhulte ja rahe hain keval ka naam kitabon mein reh gaya lekin jab hum koi aap dekhiye ki sarkar dwara koi yojana banai jaati hai toh hamesha aap dikhengee madan mohan malaviya ji ka naam likha jata hai mahatma gandhi ji ka naam aata bhimrao ambedkar ji ka naam aata hai in logo ka naam nahi aata thoda dukh ki baat hai nahi karunga baki sab quotation bahut zyada raha hai ya unko quotation kuch kaam hai aisa kuch nahi hai kaun tim se sabka barabar hai har us vyakti ka barabar jiska naam ki aap nahi jante hain har vyakti ne desh ki azadi ke liye ladai ladi hai toh mujhe lagta hai sardar bhagat Singh ji aur baki saree unke sukhadeva raajguru jo log the us waqt fansi par chade itni jawaani mein itni kam umr mein jo fansi par chade jis umr mein aapki graduation complete ho pati hai unki khaas baat yah hai ki jaise mahatma gandhiji ne ahinsa ke raste se hamein angrejo se aaj milne ki koshish ki ki un logo ne bhi hinsa ka rasta nahi apnaya unhone bhi chod print apnaya jisme jab bhagat Singh ne assembly mein fenkaa tha toh unhone kaha tha ki mera uddeshya kisi ko marna nahi tha mera uddeshya keval baharon ko sunana tha aur mujhe lagta hai ki yah massage angrejo ke kaan mein achi tarah zaroor bujha hoga jab fansi di gayi toh bahut zyada virodh kiya kis cheez ka unhone poore desh mein kranti la di aur mujhe lagta hai ki hamein aise logo ko naman karna chahiye sarkar ko thoda dhyan dena chahiye cheez ke liye thank you

बिल्कुल मुझे लगता है हम सरदार भगत सिंह चंद्रशेखर सुखदेव राजगुरु जैसे क्रांतिकारियों को भूल

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  264
WhatsApp_icon
user

MonuTiwari

Little Businessman And Motivational Teacher

4:10
Play

Likes  60  Dislikes    views  1207
WhatsApp_icon
user

Vivek Singh kashyap

UP Police Constable

0:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां आज की जनरेशन हमारे महान क्रांतिकारियों को बोलती जा रही है हमारे चंद्रशेखर आजाद भगत सिंह सुखदेव राजगुरु राम प्रसाद बिस्मिल अशफाक उल्ला खान सभी जिन्होंने अपना लहू दिया है वतन के वास्ते तो दो पंक्ति कहना चाहूंगा वतन वालो वतन ना बेच देना ये धरती ये चमन ना बेच देना शहीदों ने जान दी है वतन के वास्ते शहीदों के कफन ना बेच देना जय हिंद भारत माता की जय

ji haan aaj ki generation hamare mahaan krantikariyon ko bolti ja rahi hai hamare chandrashekhar azad bhagat Singh sukhadeva raajguru ram prasad bismil ashfaq ulla khan sabhi jinhone apna lahoo diya hai vatan ke vaaste toh do pankti kehna chahunga vatan waalon vatan na bech dena ye dharti ye chaman na bech dena shaheedo ne jaan di hai vatan ke vaaste shaheedo ke kafan na bech dena jai hind bharat mata ki jai

जी हां आज की जनरेशन हमारे महान क्रांतिकारियों को बोलती जा रही है हमारे चंद्रशेखर आजाद भगत

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  106
WhatsApp_icon
user
0:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल बिल्कुल हम भूलते जा रहे हैं हम सबको गांधीजी का बर्थडे याद रहता है पर बहुत कम लोग होते हैं जो जन शेखर आजाद और भगत सिंह का बर्थडे मनाते हैं हम सब को एक साथ मिलकर के ऐसा करना चाहिए कि हम लोग भगत सिंह का हमारे जो गरम दल के नेता वगैरह तेज गायक चंद शेखर आजाद इन इन सबका में पुरुष आज भी हमारे लिए जिंदा है तुम तो पूरा पूरा सपोर्ट करिए 2 अक्टूबर इतना बड़ा दिन नहीं है हमारे लिए जितना बड़ा दिन हमारे उन नेताओं के लिए जिन्होंने अपनी जान दे दी हमारे देश को आजाद कराने के लिए प्लीज सपोर्ट मी एंड सपोर्ट भगत सिंह शेखर आजाद

bilkul bilkul hum bhulte ja rahe hai hum sabko gandhiji ka birthday yaad rehta hai par bahut kam log hote hai jo jan shekhar azad aur bhagat Singh ka birthday manate hai hum sab ko ek saath milkar ke aisa karna chahiye ki hum log bhagat Singh ka hamare jo garam dal ke neta vagera tez gayak chand shekhar azad in in sabka mein purush aaj bhi hamare liye zinda hai tum toh pura pura support kariye 2 october itna bada din nahi hai hamare liye jitna bada din hamare un netaon ke liye jinhone apni jaan de di hamare desh ko azad karane ke liye please support me and support bhagat Singh shekhar azad

बिल्कुल बिल्कुल हम भूलते जा रहे हैं हम सबको गांधीजी का बर्थडे याद रहता है पर बहुत कम लोग ह

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  5
WhatsApp_icon
user

anu dube

Student

0:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है कि हम सरदार भगत जी जैसे महान क्रांतिकारी को क्यों बोलते जा रहे हैं तो देखिए ऐसा नहीं है आज भी हमारे महान क्रांतिकारी भगत सिंह का नाम लिया जाता है उनका जन्म दिवस तो नहीं मनाया जाता लेकिन उनकी जीवनी मैंने पढ़ा है उनका विचार एक गर्म खून का था उन्होंने अपने बलबूते भारत को आजाद दिलाने के लिए जाना था लेकिन कुछ कारणों की वजह से उनकी जेल हो गई और अंग्रेजों ने उन्हें फांसी पर लटका दिया था जिससे हमारे देश में प्रदर्शन बड़े और सत्य का पता चला और हमारे स्वतंत्रता आंदोलन चल रहे और तीव्र हो गई और बहुत जल्द ही आजादी मिल गई है किधर चल रहा है

aapka sawaal hai ki hum sardar bhagat ji jaise mahaan krantikari ko kyon bolte ja rahe hai toh dekhiye aisa nahi hai aaj bhi hamare mahaan krantikari bhagat Singh ka naam liya jata hai unka janam divas toh nahi manaya jata lekin unki jeevni maine padha hai unka vichar ek garam khoon ka tha unhone apne balbute bharat ko azad dilaane ke liye jana tha lekin kuch karanon ki wajah se unki jail ho gayi aur angrejo ne unhe fansi par Latka diya tha jisse hamare desh mein pradarshan bade aur satya ka pata chala aur hamare swatantrata andolan chal rahe aur tivra ho gayi aur bahut jald hi azadi mil gayi hai kidhar chal raha hai

आपका सवाल है कि हम सरदार भगत जी जैसे महान क्रांतिकारी को क्यों बोलते जा रहे हैं तो देखिए ऐ

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  206
WhatsApp_icon
user
0:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देश के सभी नेताओं को भूलते जा रहे हैं जो कि पुराने हमारे अधिकारी नेता थे अगर हम जैसों से नहीं करेंगे तो कौन करेगा और तुम लोग बिजनेस पर ज्यादा ध्यान दे रही जयपुर में देहाती मरते दम विशाल देश की रक्षा करना हमारा देश के प्रति समर्पित होना चाहिए

desh ke sabhi netaon ko bhulte ja rahe hain jo ki purane hamare adhikari neta the agar hum jaison se nahi karenge toh kaun karega aur tum log business par zyada dhyan de rahi jaipur mein dehati marte dum vishal desh ki raksha karna hamara desh ke prati samarpit hona chahiye

देश के सभी नेताओं को भूलते जा रहे हैं जो कि पुराने हमारे अधिकारी नेता थे अगर हम जैसों से न

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  119
WhatsApp_icon
user

Sanu Dutta

Student

0:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हम सरदार भगत सिंह जैसे महान क्रांतिकारियों को भूलना नहीं चाहते हैं परंतु यह हमारी राजनीति में इनको कम दर्जा दिया गया है इनके बारे में उतना विशेष कुछ बताया नहीं जा रहा है

hum sardar bhagat Singh jaise mahaan krantikariyon ko bhoolna nahi chahte hain parantu yah hamari raajneeti mein inko kam darja diya gaya hai inke bare mein utana vishesh kuch bataya nahi ja raha hai

हम सरदार भगत सिंह जैसे महान क्रांतिकारियों को भूलना नहीं चाहते हैं परंतु यह हमारी राजनीति

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  74
WhatsApp_icon
user
1:46
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हम सरदार भगत सिंह और अन्य महान क्रांतिकारियों के भूलते जा रहे हैं अधिकारियों को सभी भूलते जा रहे हैं इसका सबसे महत्वपूर्ण कारण है वह हमारा अपंगता क्योंकि हम एक छोटी सी दुनिया में सिमट तेजा रहे हैं अपने आप से मतलब रखना है और एग्जांपल अगर हमारे सामने कचरा गिरा हुआ है फोन उठाकर 10 दिन में रखने की बजाय थोड़ा और हम भी चिप्स कुरकुरे पानी के बोतल हाथी पर इधर-उधर फेंक देते हैं और दूसरी बात है कि लोग कितने सेल्सियस होते जा रहे हैं लोगों को सामाजिक संस्कृति और अन्य से कोई मतलब ही नहीं है और लोग एक छोटे से डिब्बे मोबाइल पर एक होते जा रहे हैं जिससे उनका कोई अपना माने मतलब नहीं है क्योंकि एक सामान्य व्यक्ति का फेसबुक व्हाट्सएप पर 1000 रन हो सकता है चैटिंग करेगा वीडियो देखेगा दरबार लेकिन उससे बात नहीं करता चर्चा नहीं करता तो उसको महान क्रांतिकारी और अन्य महान पुरुषों के बारे में कोई जानकारी जा रहे हैं अगर हम ही नहीं जाएंगे तो हम आ जाएंगे तो हम अपने बच्चों को क्या बताएंगे कि सरदार भगत सरदार भगत सिंह कौन थे सुभाष चंद्र बोस कौन थे महात्मा गांधी कौन थे

hum sardar bhagat Singh aur anya mahaan krantikariyon ke bhulte ja rahe hain adhikaariyo ko sabhi bhulte ja rahe hain iska sabse mahatvapurna karan hai vaah hamara apangata kyonki hum ek choti si duniya mein simat teja rahe hain apne aap se matlab rakhna hai aur example agar hamare saamne kachra gira hua hai phone uthaakar 10 din mein rakhne ki bajay thoda aur hum bhi chips kurkure paani ke bottle haathi par idhar udhar fenk dete hain aur dusri baat hai ki log kitne celsius hote ja rahe hain logo ko samajik sanskriti aur anya se koi matlab hi nahi hai aur log ek chote se dibbe mobile par ek hote ja rahe hain jisse unka koi apna maane matlab nahi hai kyonki ek samanya vyakti ka facebook whatsapp par 1000 run ho sakta hai chatting karega video dekhega darbaar lekin usse baat nahi karta charcha nahi karta toh usko mahaan krantikari aur anya mahaan purushon ke bare mein koi jaankari ja rahe hain agar hum hi nahi jaenge toh hum aa jaenge toh hum apne baccho ko kya batayenge ki sardar bhagat sardar bhagat Singh kaun the subhash chandra bose kaun the mahatma gandhi kaun the

हम सरदार भगत सिंह और अन्य महान क्रांतिकारियों के भूलते जा रहे हैं अधिकारियों को सभी भूलते

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  131
WhatsApp_icon
user
0:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नहीं

nahi

नहीं

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  74
WhatsApp_icon
user

Apurva D

Optimistic Coder

1:60
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह बात तो फिर आपने सही कही थी और भाग सरदार भगत सिंह का मतलब कुछ लोगों को

yah baat toh phir aapne sahi kahi thi aur bhag sardar bhagat Singh ka matlab kuch logo ko

यह बात तो फिर आपने सही कही थी और भाग सरदार भगत सिंह का मतलब कुछ लोगों को

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  192
WhatsApp_icon
user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखो मैं बिल्कुल सही कहा हम ऐसे महान क्रांतिकारी जैसे कि भगत सिंह और और नगर सुभाष चंद्र बोस और ऐसे सभी जो महान क्रांतिकारियों ने भूलते जा रहे हैं इसके पीछे का रीजन यह है कि जो एक क्रांतिकारी है जो इन जिन्होंने हमें आजादी दिलवाई हमारे देश को एक पहचान नहीं इनके नाम आप बस छुट्टियों के नाम पर आते हैं यानी कि किसी दिन छुट्टी है तो हमें यह बताओ कपास की किस दिन छुट्टी हुई पर उन्होंने क्या किया तब उनकी याद हमारे लिए सब छुट्टियां बनकर रह गई है और श्री कृष्ण नहीं हुई है कि आज के बच्चों को जो आज की हम जनरेशन है वह नहीं किताबों में भी अब हम ही पढ़ते हैं ज्यादा नहीं इतना हिंदी बारे में पढ़ा जाता और अगर पढ़ाया जाता है तो फिर को पढ़ाने के ऊपर सही होता है इन्होंने जो सच में हमारे देश के लिए किया जो इनकी जो इंपॉर्टेंस हमारे हिस्ट्री में वह उतनी सिग्निफिकेंट नहीं बताई जाती जो कि बहुत गलत चीज है इन लोगों की वजह से आज हम एक देश में है अच्छे देश में रह रहे हैं तो इनको याद रखना तो बहुत जरूरी है हमारे लिए

dekho main bilkul sahi kaha hum aise mahaan krantikari jaise ki bhagat Singh aur aur nagar subhash chandra bose aur aise sabhi jo mahaan krantikariyon ne bhulte ja rahe hain iske peeche ka reason yah hai ki jo ek krantikari hai jo in jinhone hamein azadi dilvai hamare desh ko ek pehchaan nahi inke naam aap bus chhuttiyon ke naam par aate hain yani ki kisi din chhutti hai toh hamein yah batao kapaas ki kis din chhutti hui par unhone kya kiya tab unki yaad hamare liye sab chhutiyan bankar reh gayi hai aur shri krishna nahi hui hai ki aaj ke baccho ko jo aaj ki hum generation hai vaah nahi kitabon mein bhi ab hum hi padhte hain zyada nahi itna hindi bare mein padha jata aur agar padhaya jata hai toh phir ko padhane ke upar sahi hota hai inhone jo sach mein hamare desh ke liye kiya jo inki jo importance hamare history mein vaah utani significant nahi batai jaati jo ki bahut galat cheez hai in logo ki wajah se aaj hum ek desh mein hai acche desh mein reh rahe hain toh inko yaad rakhna toh bahut zaroori hai hamare liye

देखो मैं बिल्कुल सही कहा हम ऐसे महान क्रांतिकारी जैसे कि भगत सिंह और और नगर सुभाष चंद्र बो

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  137
WhatsApp_icon
user

Amber Rai

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

0:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

PK कोई भी जो है सरदार भगत सिंह को बिल्कुल भी नहीं बोला है अगर कोई उनका नाम आ जाएगा नहीं लेता इसका मतलब यह नहीं है कि लोगों को भूल गए हैं वह हर भारतीय के मन में और दिल में उनके लिए जो प्यार की भावना है और आदर की भावना रिश्ता की भावना वह हमेशा रहेगी और उनकी कुर्बानियों को कभी भी नहीं बोला है कि उनका थोड़ा कम हो गया है जिस को बढ़ावा दिया जा सकता है लेकिन हां वह हर एक बम भारतीय को याद है क्योंकि उन्होंने इतना बड़ा बलिदान दिया था अपनी देश की आजादी के लिए

PK koi bhi jo hai sardar bhagat Singh ko bilkul bhi nahi bola hai agar koi unka naam aa jaega nahi leta iska matlab yah nahi hai ki logo ko bhool gaye hain vaah har bharatiya ke man mein aur dil mein unke liye jo pyar ki bhavna hai aur aadar ki bhavna rishta ki bhavna vaah hamesha rahegi aur unki kurbaniyon ko kabhi bhi nahi bola hai ki unka thoda kam ho gaya hai jis ko badhawa diya ja sakta hai lekin haan vaah har ek bomb bharatiya ko yaad hai kyonki unhone itna bada balidaan diya tha apni desh ki azadi ke liye

PK कोई भी जो है सरदार भगत सिंह को बिल्कुल भी नहीं बोला है अगर कोई उनका नाम आ जाएगा नहीं ले

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  181
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!