रिलेशनशिप कितने प्रकार की होती है?...


user

Bhim Singh Kasnia

Acupunctrist,Motivational Speaker

0:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार रिलेशनशिप कितने प्रकार की होती है यह सवाल आपने किया है देखिए रिलेशनशिप जो है वह वैसे कई प्रकार की होती है लेकिन मुख्यतः दो प्रकार हैं एक तो होती है भावनात्मक रिलेशनशिप इमोशनल जिसमें बहुत ही रुहानियत महाराज जुड़ा होता है एक दूसरे से और दूसरी होती है भौतिकता वादी नमस्कार धन्यवाद

namaskar Relationship kitne prakar ki hoti hai yah sawaal aapne kiya hai dekhiye Relationship jo hai vaah waise kai prakar ki hoti hai lekin mukhyata do prakar hain ek toh hoti hai bhavnatmak Relationship emotional jisme bahut hi ruhaniyat maharaj juda hota hai ek dusre se aur dusri hoti hai bhautikata wadi namaskar dhanyavad

नमस्कार रिलेशनशिप कितने प्रकार की होती है यह सवाल आपने किया है देखिए रिलेशनशिप जो है वह वै

Romanized Version
Likes  35  Dislikes    views  489
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

S.S_ SINDOSIYA

Psychologist

4:54

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गुड मॉर्निंग फ्रेंड्स आप का क्वेश्चन है रिलेशनशिप कितने प्रकार की होती है रिश्ते दिल से जुड़ते हैं और दिलों का कोई प्रकार नहीं होता है नहीं रिश्तो का कोई प्रकार होता है हम इस चीज को जूम कर लेते हैं मान लेते हैं कि हम इस कैंडिडेट से बात करते हैं इसकी इंपोर्टेंस हमारी लाइफ में क्या है एक सिक्स लिमिट होती है जो हम उस चीज को उसका दर्जा देते हैं तो एक करते हम खुद हम खुद इस चीज को अपने जहन में रख लेते हैं कि वह मेरा फ्रेंड है यह मेरा दुश्मन है यह मेरा दोस्त है मेरा थोड़ा सा करीबी दोस्त है मेरा बहुत अच्छा वाला दोस्त है यह सब कुछ हम पहले से ही डिसाइड कर लेते हैं तो एक लिमिटेड पीरियड में इसको फिक्स कर देते कि नहीं उसको कुछ बताना नहीं है उसको क्या बात बतानी है क्या नहीं बतानी है उतार-चढ़ाव छोटा बड़ा अच्छा बुरा इन सारी चीजों को मिक्स कर देते हैं हम अजब की रिलेशनशिप एक हमारी लाइफ का बहुत बड़ा मोटिव है जिससे हमारी लाइफ ग्रोथ होती है समझते हैं हम अच्छी चीजों को गलत चीजों को छोटी चीजों को बड़ी चीजों को और हम उसको अपनी तौर तरीके से नाम भी दे देते हैं जो पार्टी गुलाबी में जो हम चीज करते हैं जो बनाते हैं उसको हम पार्सियल पार्ट वाइज डिवाइड कर सकते हैं बांट देते हैं लेकिन जो अंदर से जो हमारी इच्छाएं करती हैं अगर उनके हिसाब से अगर देखा जाए तो रिलेशनशिप का कोई पार्ट नहीं है कोई वे नहीं है कोई पहुंच नहीं है बनाना अपने हक में होता है समझना भी अपने हक में ही कर लेते हैं लेकिन उसकी पहुंच वह अपने दायरे में नहीं होती अपने हाथ में नहीं होती क्योंकि उसका कोई प्रकार नहीं होता है जिस चीज का कोई प्रकार होगा वह आपके हाथ में होगी क्योंकि उसकी एक लिमिट है जो आप देख रहे हैं समझ रहे हैं आपकी पहुंच कहां तक पहुंचती है उसकी भी एक लिमिट है लेकिन जिस चीज को आप दिल के दायरे में रखना चाहते हैं दिल के दायरे से सोचते हैं हम इन थे मोस्ट इंर्पोटेंट पार्ट्स इन अवर लाइफ इन रिलेशनशिप कोई भी हो अगर वह आप दिल से करते हैं तो फैक्ट हर रिश्ता दिल से जुड़ा है तो प्रकार टाइप्स कोई जगह ही नहीं हर रिश्ते में एक दिल की डायरी को रखा गया है जग्गू रिश्ता दोस्ती का हो मां बाप का हो भाई बहन का हो हस्बैंड वाइफ का हो गर्लफ्रेंड बॉयफ्रेंड का हो फ्रेंड का हो किसी का भी हो कोई प्रकार नहीं होता है उसका तरीके होते हैं निभाने के अलग-अलग आई होप के मेरे इस जवाब को आप समझ गए होंगे ओके थैंक यू सो मच

good morning friends aap ka question hai Relationship kitne prakar ki hoti hai rishte dil se judte hain aur dilon ka koi prakar nahi hota hai nahi rishto ka koi prakar hota hai hum is cheez ko zoom kar lete hain maan lete hain ki hum is candidate se baat karte hain iski importance hamari life mein kya hai ek six limit hoti hai jo hum us cheez ko uska darja dete hain toh ek karte hum khud hum khud is cheez ko apne zahan mein rakh lete hain ki vaah mera friend hai yah mera dushman hai yah mera dost hai mera thoda sa karibi dost hai mera bahut accha vala dost hai yah sab kuch hum pehle se hi decide kar lete hain toh ek limited period mein isko fix kar dete ki nahi usko kuch bataana nahi hai usko kya baat batani hai kya nahi batani hai utar chadhav chota bada accha bura in saree chijon ko mix kar dete hain hum ajab ki Relationship ek hamari life ka bahut bada motive hai jisse hamari life growth hoti hai samajhte hain hum achi chijon ko galat chijon ko choti chijon ko badi chijon ko aur hum usko apni taur tarike se naam bhi de dete hain jo party gulabi mein jo hum cheez karte hain jo banate hain usko hum parsiyal part wise divide kar sakte hain baant dete hain lekin jo andar se jo hamari ichhaen karti hain agar unke hisab se agar dekha jaaye toh Relationship ka koi part nahi hai koi ve nahi hai koi pohch nahi hai banana apne haq mein hota hai samajhna bhi apne haq mein hi kar lete hain lekin uski pohch vaah apne daayre mein nahi hoti apne hath mein nahi hoti kyonki uska koi prakar nahi hota hai jis cheez ka koi prakar hoga vaah aapke hath mein hogi kyonki uski ek limit hai jo aap dekh rahe hain samajh rahe hain aapki pohch kahaan tak pohchti hai uski bhi ek limit hai lekin jis cheez ko aap dil ke daayre mein rakhna chahte hain dil ke daayre se sochte hain hum in the most important parts in avar life in Relationship koi bhi ho agar vaah aap dil se karte hain toh fact har rishta dil se juda hai toh prakar types koi jagah hi nahi har rishte mein ek dil ki diary ko rakha gaya hai jaggu rishta dosti ka ho maa baap ka ho bhai behen ka ho husband wife ka ho girlfriend boyfriend ka ho friend ka ho kisi ka bhi ho koi prakar nahi hota hai uska tarike hote hain nibhane ke alag alag I hope ke mere is jawab ko aap samajh gaye honge ok thank you so match

गुड मॉर्निंग फ्रेंड्स आप का क्वेश्चन है रिलेशनशिप कितने प्रकार की होती है रिश्ते दिल से

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  204
WhatsApp_icon
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

3:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है कि रिलेशनशिप कितने प्रकार की होती रिस्पेक्ट ओमप्रकाश की मां के कोंटेक्ट में आते हैं तो वह मां की ममता के लिए सबसे कोई पिता की मृत्यु दोस्तों के रिलेशनशिप विद गुरुओं के लिए संस्कृत गर्लफ्रेंड के लिए संसद फ्रेंड्स के लिए हम प्रोफेशन आगे बढ़े तो हर एक व्यापारियों के साथ रिलेशनशिप हमारे गॉडफादर या गॉड मदर जो हैं हमारी पत्नी के साथ एवियशन से या पत्नी के साथ विभिन्न लक्षणों और हमने जो बच्चे पैदा किए हैं देश के लिए इसके प्रकार को हम मिल नहीं सकते क्योंकि हर एक इंसान रिलेशनशिप उसके प्रकार की गिनती नहीं की जा सकती सिर्फ एक ही है उसका नाम है ह्यूमन रिलेशनशिप समझी भक्तों के 1 सबसे बड़े रिलेशनशिप ह्यूमन रिलेशनशिप इंसान की इंसान के पास इसके अलावा भी हो क्योंकि बताते हैं कि हम भी हैं और एचडी के साथ हम एक रिलेशन से बंद हो जाए अगर एक पेड़ को काटते हैं और इसलिए भगवान से भी रिलेशनशिप होती है हम आत्मा के द्वारा भगवान से जुड़े हुए थे इसलिए इतने सारे प्रकार के प्रकारों में छोटी पड़ जाएगी इसलिए हम एक बात को छोड़ देंगे कि कम से कम जो हम ह्यूमन है इंसान हैं तो कम से कम ह्यूमन उसी को हम लोग करें और उसको बचाए रखें ताकि यह संसार चलता है क्योंकि हमारे अंदर भगवान बसता है उसका नाम इसीलिए सबसे बड़ी है

aapka prashna hai ki Relationship kitne prakar ki hoti respect omprakash ki maa ke contact mein aate hain toh vaah maa ki mamata ke liye sabse koi pita ki mrityu doston ke Relationship with guruon ke liye sanskrit girlfriend ke liye sansad friends ke liye hum profession aage badhe toh har ek vyapariyon ke saath Relationship hamare godfather ya god mother jo hain hamari patni ke saath eviyashan se ya patni ke saath vibhinn lakshano aur humne jo bacche paida kiye hain desh ke liye iske prakar ko hum mil nahi sakte kyonki har ek insaan Relationship uske prakar ki ginti nahi ki ja sakti sirf ek hi hai uska naam hai human Relationship samjhi bhakton ke 1 sabse bade Relationship human Relationship insaan ki insaan ke paas iske alava bhi ho kyonki batatey hain ki hum bhi hain aur hd ke saath hum ek relation se band ho jaaye agar ek ped ko katatey hain aur isliye bhagwan se bhi Relationship hoti hai hum aatma ke dwara bhagwan se jude hue the isliye itne saare prakar ke prakaro mein choti pad jayegi isliye hum ek baat ko chod denge ki kam se kam jo hum human hai insaan hain toh kam se kam human usi ko hum log kare aur usko bachaye rakhen taki yah sansar chalta hai kyonki hamare andar bhagwan basta hai uska naam isliye sabse badi hai

आपका प्रश्न है कि रिलेशनशिप कितने प्रकार की होती रिस्पेक्ट ओमप्रकाश की मां के कोंटेक्ट में

Romanized Version
Likes  58  Dislikes    views  1167
WhatsApp_icon
user

Nayan Zee

Motivational Scientist ! Speaker And Journalist

4:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने पूछा है कि रिलेशनशिप कितने प्रकार के होते हैं हां तो यह ऐसा सवाल है जिसमें आप यह जान ले कि आप को बहुत गहराई से सोचना होगा क्योंकि रिलेशनशिप को अकाउंट आफ करेंगे अकाउंटेबल नहीं है रिलेशनशिप रिलेशनशिप यानी संबंध के सवाल में सवाल है आपके कि संबंधों के रिश्तो से जुड़े संबंधी आपने सवाल किए हैं तो संबंध कभी काउंटेबल नहीं हो सकते कि इतनी संख्या में संबंध कितने प्रकार के संबंध और नहीं हो सकती संबंध जो भी होंगे तो या तो अच्छे होंगे या बुरे होंगे रिलेशनशिप व्यवहारों पर आधारित हो इसको व्यवहार की कसौटी से ही हम इसका आकलन कर सकते हैं अपने विचारों व्यवहारों सिद्धांतों और यही एक यही कुछ ऐसे तत्व है जो जिससे रिलेशनशिप डिवेलप होते हैं और इसमें प्रकार ढूंढना यह कितने प्रकार के होते हैं मुझे लगता है कि मैं अनुचित है बिल्कुल ही अनुचित है किस में कितने प्रकार के हैं इसको प्रकार ढूंढा जाए रिलेशनशिप संबंध जो है वह उत्पन्न जहां से भी होते हैं उसके जो घर में है वह मैं बता ही रहा हूं आपको कि व्यवहारों से विचारों से आपके आपके समोसे और आपके जो या सामाजिक या जहां समूह में होते हैं जिस देश में होते हैं वहां के सिद्धांतों से 1 कानूनों से यह सारी चीजें जो है ना इनकी वजह से संबंध बनते हैं मूल जो है वह है आपका व्यवहार आपका कर्म वही रिलेशन डिवेलप करता है और अच्छे हो सकते हैं या बुरे हो सकते आपके व्यवहार अच्छे और बुरे रिलेशनशिप अच्छी और बुरी हो सकती है यही तो पैमाना हो सकता है गरीब की आंख लंका तो इस बात को बहुत ही अच्छे से समझ लेना चाहिए कि आप मुझे लगता है कि आप रिलेशनशिप के कोई और प्रकार अगर आप बोल रहे होंगे तो मुझे लगता है कि आपको मैं भी परेशानी होगी इस बार से कि ऐसा कोई और अकाउंट टेबल नहीं है रिलेशनशिप जो एक प्रकार की दो प्रकार की आशा प्रकार की आपको उसकी बताई जाए तो यह एक बिल्कुल ऐसा भाव पर आधारित व्यवहार पर आधारित चीजें होती है इसलिए यह पक्का है कि रिलेशनशिप व्यवहारों पर आधारित होती है इंसानों के बिहेवियर से आधारित होती है और फिर एक अलग अब ब्लड वाला भी रिलेशन होता है ब्लड पर आधारित होती है तो वह संबंध बनते हैं वह कहां से बनते हैं पहले तो व्यवहार और विचारों के ही जरिए संबंध बनते हैं फिर को एक रिलेशन आता है जो ब्लड का रिलेशन ख्याल आता है तो इस तरह से अगर आप जोड़कर देखें तो एक तो ब्लड का रिलेशन होता या फिर विचारों या व्यवहारों का रिलेशन होता है तो यही है अच्छे रिलेशन और बुरे रिलेशन यही होते हैं विचारों के जरिए जन्म लेते हैं और विचारों के बाद जब आदमी का संपर्क होता है और संबंध जो वैवाहिक बनते हैं फिर उससे जेनरेशन होता है तो आंख एक विलन का रिलेशन आता है तो यह यही पैमाना है रिलेशन और संबंधों का संबंध के जो आप प्रकाश ढूंढ रहे हैं यह मुझे लगता है कि आपको आंसर मिल गया होगा थैंक यू

aapne poocha hai ki Relationship kitne prakar ke hote hain haan toh yah aisa sawaal hai jisme aap yah jaan le ki aap ko bahut gehrai se sochna hoga kyonki Relationship ko account of karenge accountable nahi hai Relationship Relationship yani sambandh ke sawaal mein sawaal hai aapke ki sambandhon ke rishto se jude sambandhi aapne sawaal kiye hain toh sambandh kabhi countable nahi ho sakte ki itni sankhya mein sambandh kitne prakar ke sambandh aur nahi ho sakti sambandh jo bhi honge toh ya toh acche honge ya bure honge Relationship vyavaharon par aadharit ho isko vyavhar ki kasouti se hi hum iska aakalan kar sakte hain apne vicharon vyavaharon siddhanto aur yahi ek yahi kuch aise tatva hai jo jisse Relationship develop hote hain aur isme prakar dhundhana yah kitne prakar ke hote hain mujhe lagta hai ki main anuchit hai bilkul hi anuchit hai kis mein kitne prakar ke hain isko prakar dhundha jaaye Relationship sambandh jo hai vaah utpann jaha se bhi hote hain uske jo ghar mein hai vaah main bata hi raha hoon aapko ki vyavaharon se vicharon se aapke aapke samose aur aapke jo ya samajik ya jaha samuh mein hote hain jis desh mein hote hain wahan ke siddhanto se 1 kanuno se yah saree cheezen jo hai na inki wajah se sambandh bante hain mul jo hai vaah hai aapka vyavhar aapka karm wahi relation develop karta hai aur acche ho sakte hain ya bure ho sakte aapke vyavhar acche aur bure Relationship achi aur buri ho sakti hai yahi toh paimaana ho sakta hai garib ki aankh lanka toh is baat ko bahut hi acche se samajh lena chahiye ki aap mujhe lagta hai ki aap Relationship ke koi aur prakar agar aap bol rahe honge toh mujhe lagta hai ki aapko main bhi pareshani hogi is baar se ki aisa koi aur account table nahi hai Relationship jo ek prakar ki do prakar ki asha prakar ki aapko uski batai jaaye toh yah ek bilkul aisa bhav par aadharit vyavhar par aadharit cheezen hoti hai isliye yah pakka hai ki Relationship vyavaharon par aadharit hoti hai insano ke behaviour se aadharit hoti hai aur phir ek alag ab blood vala bhi relation hota hai blood par aadharit hoti hai toh vaah sambandh bante hain vaah kahaan se bante hain pehle toh vyavhar aur vicharon ke hi jariye sambandh bante hain phir ko ek relation aata hai jo blood ka relation khayal aata hai toh is tarah se agar aap jodkar dekhen toh ek toh blood ka relation hota ya phir vicharon ya vyavaharon ka relation hota hai toh yahi hai acche relation aur bure relation yahi hote hain vicharon ke jariye janam lete hain aur vicharon ke baad jab aadmi ka sampark hota hai aur sambandh jo vaivahik bante hain phir usse generation hota hai toh aankh ek vilen ka relation aata hai toh yah yahi paimaana hai relation aur sambandhon ka sambandh ke jo aap prakash dhundh rahe hain yah mujhe lagta hai ki aapko answer mil gaya hoga thank you

आपने पूछा है कि रिलेशनशिप कितने प्रकार के होते हैं हां तो यह ऐसा सवाल है जिसमें आप यह जान

Romanized Version
Likes  124  Dislikes    views  1903
WhatsApp_icon
user
0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रिलेशनशिप का पहला मतलब यही होता है रिश्ता रिलेशन से बहुत प्रकार के होते हैं एक निश्चित होता आपका माता-पिता के साथ दूसरा रिलेशनशिप आपका वोट अपने बहन और भाई के साथ तीसरा रिलेशनशिप जो होता है आपके आपके जो चाहने वाले हैं जिसे आप प्यार करते आपके बॉयफ्रेंड गर्लफ्रेंड का होता रिलेशनशिप और चौथा होता है आपका बिजनेस रिलेशनशिप यानी कि लोगों के साथ विदेश में कैसा रिलेशनशिप है या फिर ऑफिस में कैसा रिलेशनशिप तो इस तरीके की रिलेशनशिप्स होते हैं

Relationship ka pehla matlab yahi hota hai rishta relation se bahut prakar ke hote hain ek nishchit hota aapka mata pita ke saath doosra Relationship aapka vote apne behen aur bhai ke saath teesra Relationship jo hota hai aapke aapke jo chahne waale hain jise aap pyar karte aapke boyfriend girlfriend ka hota Relationship aur chautha hota hai aapka business Relationship yani ki logo ke saath videsh mein kaisa Relationship hai ya phir office mein kaisa Relationship toh is tarike ki relationships hote hain

रिलेशनशिप का पहला मतलब यही होता है रिश्ता रिलेशन से बहुत प्रकार के होते हैं एक निश्चित होत

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  2
WhatsApp_icon
user

Rihan Shah

I want to become An IAS Officer (Love Realationship Full Experience)

0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखे लेशन के दो प्रकार की होते मेरे डेक्कन मेरिट लिस्ट ऑफ शादी के बाद जॉब क्रिएशन से होता है वह ज्यादा गहरा बन जाते हैं के आसन की गर्लफ्रेंड बॉयफ्रेंड बनाने में दिक्कत है इसलिए मिली क्योंकि वह अपने लाइफ पार्टनर सही तरीके से नहीं समझ पाते जो कि एक विवाह के बाद जो है उसे पूरा मौका मिल जाए तो आप पहले से समझेगा उसे अपनी लाइफ है

dekhe leshan ke do prakar ki hote mere deccan merit list of shadi ke baad job creation se hota hai vaah zyada gehra ban jaate hain ke aasan ki girlfriend boyfriend banane mein dikkat hai isliye mili kyonki vaah apne life partner sahi tarike se nahi samajh paate jo ki ek vivah ke baad jo hai use pura mauka mil jaaye toh aap pehle se samjhega use apni life hai

देखे लेशन के दो प्रकार की होते मेरे डेक्कन मेरिट लिस्ट ऑफ शादी के बाद जॉब क्रिएशन से होता

Romanized Version
Likes  36  Dislikes    views  725
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
रिलेशनशिप क्या है इसके प्रकार ; relationship kitne prakar ke hote hain ; gud kitne prakar ke hote hai ; रिलेशनशिप के प्रकार ; relationship ke prakar ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!