शिवरात्रि पर की जाने वाली चीज़ ें कौन सी हैं?...


play
user

Abhishek Sharma

Forest Range Officer, MP

0:43

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

महा शिवरात्रि का त्यौहार, हिंदू धर्म एक पवित्र त्यौहार है l इस दिन भगवान शिव की तथा माता पार्वती की शादी हुई थी l इसलिए इस दिन को महाशिवरात्रि कहा जाता है l इस दिन बेलपत्र भगवान शिव पर चढ़ाए जाते हैं तथा इसके अलावा दूध, जल, शहद तथा शर्करा से उनका अभिषेक किया जाता है l इसके अलावा प्रभु को भांग चढ़ाई जाती है l मुझे लगता है इस दिन कुछ भी आप चाहे तो किसी गरीब व्यक्ति को कुछ दान कर सकते हैं, उन्हें खाना खिला सकते हैं या ठंड पड़ रही है तो कंबल दे सकते हैं l और भगवान की भक्ति के भूखे होते हैं और किसी चीज के नहीं l तो आप किसी गरीब व्यक्ति के लिए कुछ कीजिए l मुझे लगता है शायद आपका आने वाला जो समय को काफी अच्छा रहेगा, धन्यवाद l

maha shivratri ka tyohar hindu dharm ek pavitra tyohar hai l is din bhagwan shiv ki tatha mata parvati ki shadi hui thi l isliye is din ko mahashivaratri kaha jata hai l is din bailpatra bhagwan shiv par chadhae jaate hain tatha iske alava doodh jal shehed tatha sharkara se unka abhishek kiya jata hai l iske alava prabhu ko bhang chadhai jaati hai l mujhe lagta hai is din kuch bhi aap chahen toh kisi garib vyakti ko kuch daan kar sakte hain unhe khana khila sakte hain ya thand pad rahi hai toh kambal de sakte hain l aur bhagwan ki bhakti ke bhukhe hote hain aur kisi cheez ke nahi l toh aap kisi garib vyakti ke liye kuch kijiye l mujhe lagta hai shayad aapka aane vala jo samay ko kaafi accha rahega dhanyavad l

महा शिवरात्रि का त्यौहार, हिंदू धर्म एक पवित्र त्यौहार है l इस दिन भगवान शिव की तथा माता प

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  167
WhatsApp_icon
7 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Kunjansinh Rajput

Aspiring Journalist

0:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज की शिवरात्रि ज्योतिष द्वारा 13 फरवरी को होने वाली है उस दिन जो है जिसे पढ़ना सीखे पूरे दिन उपवास रखते हैं और पास में जो है वो लोग जो है बाबा यह कह सकते हैं कि लावते साबूदाना और सारी चीजें जो मैं खाता था की वह पास में रखें और शहद चरण मिल कर खाते हैं तो यह सारे चीज है जो की शिवरात्रि के दौरान जो लोग कुत्ते लोग पास में बैठते हैं और पास में जो लोग के लिए मां-बाप साबूदाना कैसे करें भेजो

aaj ki shivratri jyotish dwara 13 february ko hone wali hai us din jo hai jise padhna sikhe poore din upvaas rakhte hain aur paas mein jo hai vo log jo hai baba yah keh sakte hain ki LAVATE sabudana aur saree cheezen jo main khaata tha ki vaah paas mein rakhen aur shehed charan mil kar khate hain toh yah saare cheez hai jo ki shivratri ke dauran jo log kutte log paas mein baithate hain aur paas mein jo log ke liye maa baap sabudana kaise kare bhejo

आज की शिवरात्रि ज्योतिष द्वारा 13 फरवरी को होने वाली है उस दिन जो है जिसे पढ़ना सीखे पूरे

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  139
WhatsApp_icon
user

Sefali

Media-Ad Sales

0:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

शिवरात्रि हिंदुओं के लिए एक बहुत बड़ा त्यौहार है l इसका त्यौहार की बहुत ज्यादा मान्यता है l इस साल 13 फरवरी को यह जो त्यौहार मनाए जाने वाला है l इस अध्ययन का जो है श्रद्धालु उपवास रखते हैं, शिव जी के मंदिर जाते हैं और शिवलिंग पर दूध चढ़ाकर उनकी पूजा की जाती है l

shivratri hinduon ke liye ek bahut bada tyohar hai l iska tyohar ki bahut zyada manyata hai l is saal 13 february ko yah jo tyohar manaye jaane vala hai l is adhyayan ka jo hai shraddhalu upvaas rakhte hain shiv ji ke mandir jaate hain aur shivling par doodh chadhakar unki puja ki jaati hai l

शिवरात्रि हिंदुओं के लिए एक बहुत बड़ा त्यौहार है l इसका त्यौहार की बहुत ज्यादा मान्यता है

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  198
WhatsApp_icon
user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिये शिवरात्रि हिंदू समाज के लिए हिंदु फेस्टिवल्स में बहुत ही जोर शोर से मनाया जाने वाला एक फेस्टिवल है| इस दिन भगवान शिव की पूजा की जाती है| इसके साथ जो कहानी जुड़ी हुई है वह यह है कि एक बार एक शिकारी था और वह जंगल में गया और उसे वंहा खाने को कुछ नहीं मिला तो उसने बेल के पेड़ के ऊपर जो बेलगिरी होता है उसकी डाली पर बैठकर उसने बहुत वेट किया ताकि वहा कोई डिअर आये या कोई हिरण आये और वो उस पे अटैक कर सके और इतने में उसने जो बेल गिरी की लीव्स थी वह धरती पर फेकना शुरु कर दिया निचे शिवजी बैठे हुए थे तो उसकी इस चीज से बहुत प्रसन्न हुए और उसे फिर आशीर्वाद दिया| तो इस दिन लोग जो है व्रत रखते हैं, फ़ास्ट रखते हैं शिवजी के लिए और शिव जी को उनके मंदिर में जाते हैं वहां बेल के पत्ते पानी दूध और यह सब चीजें भगवान जी को अर्पण की जाती हैं उन्हें खुश करने के लिए और बेल खाया जाता है| बेर जो होते है येलो कलर वाले बेर वह खाते हैं फास्ट करते हैं और बहुत जोरों शोरों से यह फेस्टिवल मनाया जाता है |

dekhiye shivratri hindu samaj ke liye hindu festivals mein bahut hi jor shor se manaya jaane vala ek festival hai is din bhagwan shiv ki puja ki jaati hai iske saath jo kahani judi hui hai vaah yah hai ki ek baar ek shikaaree tha aur vaah jungle mein gaya aur use vanha khane ko kuch nahi mila toh usne bell ke ped ke upar jo belgiri hota hai uski dali par baithkar usne bahut wait kiya taki vaha koi dear aaye ya koi hiran aaye aur vo us pe attack kar sake aur itne mein usne jo bell giri ki leaves thi vaah dharti par fekna shuru kar diya neeche shivaji baithe hue the toh uski is cheez se bahut prasann hue aur use phir ashirvaad diya toh is din log jo hai vrat rakhte hain fast rakhte hain shivaji ke liye aur shiv ji ko unke mandir mein jaate hain wahan bell ke patte paani doodh aur yah sab cheezen bhagwan ji ko arpan ki jaati hain unhe khush karne ke liye aur bell khaya jata hai ber jo hote hai yellow color waale ber vaah khate hain fast karte hain aur bahut joron shoron se yah festival manaya jata hai

देखिये शिवरात्रि हिंदू समाज के लिए हिंदु फेस्टिवल्स में बहुत ही जोर शोर से मनाया जाने वाला

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  182
WhatsApp_icon
user

Apurva D

Optimistic Coder

1:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिये सबसे पहले शिवरात्रि जो होती है उसमें महादेव की पूजा की जाती है| यह प्राचीन काल से मनाया जाने वाला उत्सव है एक्चुअली शिवरात्रि बहुत अछे से होती है उसके लिए जो है|

dekhiye sabse pehle shivratri jo hoti hai usme mahadev ki puja ki jaati hai yah prachin kaal se manaya jaane vala utsav hai actually shivratri bahut ache se hoti hai uske liye jo hai

देखिये सबसे पहले शिवरात्रि जो होती है उसमें महादेव की पूजा की जाती है| यह प्राचीन काल से

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  175
WhatsApp_icon
user

Bhaskar Saurabh

Politics Follower | Engineer

1:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

महा शिवरात्रि का त्योहार नजदीक है और हर साल की तरह इस बार भी भगवान शिव के भक्त उन्हें प्रसन्न करने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ना चाहते| महाशिवरात्रि के अवसर पर भक्त भगवान शिव की पूजा करते हैं और मनोकामना मांगते हैं कि उनकी जो भी चीजें हैं वह पूरी हो जाए| महाशिवरात्रि को शिव की महा रात के रुप में मनाया जाता है| महाशिवरात्रि के पर्व का उत्सव एक दिन पहले ही शुरू हो जाता है महाशिवरात्रि की पूरी रात पूजा और कीर्तन किया जाता है इतना ही नहीं कई पुराणों के अंदर शिवरात्रि का उल्लेख मिलेगा जैसे कि स्कंद पुराण, लिंग पुराण, पद्मपुराण यह सारे पुराणों में महाशिवरात्रि के बारे में बताया गया है| जो भी व्यक्ति शिव भगवान की आराधना करता है, ऐसा माना जाता है उसे मनवांछित फल मिलता है| महाशिवरात्रि के दिन भक्त सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि के बाद अपने प्रिय देवता के दर्शन के लिए मंदिर जाते हैं| शिव भक्त इस दिन देवता का अभिषेक करते हैं, महाशिवरात्रि के दिन अभिषेक को काफी अहम माना गया है, इस दिन शिव भक्त ओम नमः शिवाय मंत्र के उच्चारण के साथ शिवलिंग का दूध, शहद, दही और चंदन से अभिषेक करते हैं| इसके अलावा बेलपत्र और फूल आदि भी भगवान को अर्पित किए जाते हैं कुछ उत्साही भक्त पूरे विधि विधान के साथ महा शिवरात्रि का उपवास करते हैं इसके अलावा कुछ शिवभक्त उपवास के दौरान एक बूंद पानी भी नहीं पीते| ज्यादातर भक्त व्रत के दौरान फल के साथ दूध और पानी का सेवन करते हैं तो अगर कोई भक्त पूरी ईमानदारी और निष्ठा के साथ इस व्रत को करता है तो भगवान शिव उसे सभी प्रकार के पापों से मुक्त कर समृद्धि और आशीर्वाद देते हैं|

maha shivratri ka tyohar nazdeek hai aur har saal ki tarah is baar bhi bhagwan shiv ke bhakt unhe prasann karne ke liye koi kesar nahi chhodna chahte mahashivaratri ke avsar par bhakt bhagwan shiv ki puja karte hain aur manokamana mangate hain ki unki jo bhi cheezen hain vaah puri ho jaaye mahashivaratri ko shiv ki maha raat ke roop mein manaya jata hai mahashivaratri ke parv ka utsav ek din pehle hi shuru ho jata hai mahashivaratri ki puri raat puja aur kirtan kiya jata hai itna hi nahi kai purano ke andar shivratri ka ullekh milega jaise ki skand puran ling puran padmapuran yah saare purano mein mahashivaratri ke bare mein bataya gaya hai jo bhi vyakti shiv bhagwan ki aradhana karta hai aisa mana jata hai use manavanchit fal milta hai mahashivaratri ke din bhakt subah jaldi uthakar snan aadi ke baad apne priya devta ke darshan ke liye mandir jaate hain shiv bhakt is din devta ka abhishek karte hain mahashivaratri ke din abhishek ko kaafi aham mana gaya hai is din shiv bhakt om namah shivay mantra ke ucharan ke saath shivling ka doodh shehed dahi aur chandan se abhishek karte hain iske alava bailpatra aur fool aadi bhi bhagwan ko arpit kiye jaate hain kuch utsaahi bhakt poore vidhi vidhan ke saath maha shivratri ka upvaas karte hain iske alava kuch shivbhakt upvaas ke dauran ek boond paani bhi nahi peete jyadatar bhakt vrat ke dauran fal ke saath doodh aur paani ka seven karte hain toh agar koi bhakt puri imaandaari aur nishtha ke saath is vrat ko karta hai toh bhagwan shiv use sabhi prakar ke paapon se mukt kar samridhi aur ashirvaad dete hain

महा शिवरात्रि का त्योहार नजदीक है और हर साल की तरह इस बार भी भगवान शिव के भक्त उन्हें प्रस

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  162
WhatsApp_icon
user

Pragati

Aspiring Lawyer

0:46
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

शिवरात्रि हिंदू लोगों के लिए बहुत ही बड़ा उत्सव का पर्व होता है और शिवरात्रि वाले दिन काफी लोग व्रत रखते हैं और शिवजी की पूजा करते हैं| इस दिन काफी लोग शिवजी के ऊपर दूध और जल का अर्पण करते हैं और उनकी उसके बाद पूजा की जाती है| कुछ लोग तो पूरे पूरे दिन व्रत रखकर और उनकी पूजा में ही लगते हैं और काफी लोग शिवरात्रि वाले दिन सांपों को और गरीबों को भी खाना खिलाना पसंद करते हैं| सांपों को दूध चढ़ाना पसंद करते हैं| और शिवरात्रि एक हिंदू माइथोलॉजी के अनुसार एक बहुत ही औस्पिशिय्स डे होता है, जिस दिन सब लोग शिवजी की आराधना करते हैं और उनकी पूजा करते हैं|

shivratri hindu logo ke liye bahut hi bada utsav ka parv hota hai aur shivratri waale din kaafi log vrat rakhte hain aur shivaji ki puja karte hain is din kaafi log shivaji ke upar doodh aur jal ka arpan karte hain aur unki uske baad puja ki jaati hai kuch log toh poore poore din vrat rakhakar aur unki puja mein hi lagte hain aur kaafi log shivratri waale din saanpon ko aur garibon ko bhi khana khilana pasand karte hain saanpon ko doodh chadhana pasand karte hain aur shivratri ek hindu mythologies ke anusaar ek bahut hi auspishiys day hota hai jis din sab log shivaji ki aradhana karte hain aur unki puja karte hain

शिवरात्रि हिंदू लोगों के लिए बहुत ही बड़ा उत्सव का पर्व होता है और शिवरात्रि वाले दिन काफी

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  188
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!