लड़कियां इतनी सुंदर क्यों होती हैं और लड़कियों को इतना महत्व क्यों दिया जाता है?...


play
user

Ashok Clinic

Sexologist

0:36

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विदेशी लड़कियां इतनी सुंदर क्यों होते हैं लक्ष्मी आए को इतना महत्व क्यों दिया जाता है यह सिर्फ आपका अपना एटीट्यूड है नजरिया है आदमी की कमजोरी आदमी की शक्ति औरतें एसएक्सएक्सएक्सयू है बॉडी अट्रैक्शन है इस सीन को आदमी अच्छे लगते हैं आदमियों की अच्छी लगती है इसमें कोई वैष्णो महत्व देने वाली बात नहीं बाद में कर देता है जब उसके पास शादी नहीं होती और वह अपना लव करना चाहता है किसी से दोस्ती करना चाहता है इसकी ऐसा होता है और कोई खास बात नहीं है

videshi ladkiyan itni sundar kyon hote hain laxmi aaye ko itna mahatva kyon diya jata hai yah sirf aapka apna attitude hai najariya hai aadmi ki kamzori aadmi ki shakti auraten SXXXU hai body attraction hai is seen ko aadmi acche lagte hain adamiyo ki achi lagti hai isme koi vaishno mahatva dene wali baat nahi baad mein kar deta hai jab uske paas shadi nahi hoti aur vaah apna love karna chahta hai kisi se dosti karna chahta hai iski aisa hota hai aur koi khaas baat nahi hai

विदेशी लड़कियां इतनी सुंदर क्यों होते हैं लक्ष्मी आए को इतना महत्व क्यों दिया जाता है यह स

Romanized Version
Likes  151  Dislikes    views  4645
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Umesh Upaadyay

Life Coach | Motivational Speaker

5:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी बात बताइए और जरा सोचिए क्या आपको फल-फूल सब्जियां यह सुंदर नहीं देते क्या आपको अब्बा गाना मैदान खेत हरियाली आसमान यह पूरा शिष्य जो आपको देखता है पार्वती अनुच्छेद ना नदी यह सब आपको सुंदर नहीं देखते आप ध्यान से देखें तो सब कुछ मैं तो हमें ब्यूटी दिखती है ना अगर हम कोई भी वॉलपेपर देखें भले ही आप उस जगह न गया हो तो देखिए कितनी प्रकृति ने आज सुंदर अच्छी से बनाई है इसी तरीके से हम भी प्रकृति के दिन हैं और अब हम जब हम बात करते हैं मानव की बात कैसे इंसान की बात करते हैं तो इसमें यह डेफिनिटी 1 मील होते 1 पी लूंगी फीमेल होता है मेल को आर यू नो अनाचल तरीके से एक ऐसा बनाया पुरुष को जो कि थोड़ा सॉन्ग होता है बेल्ट वाइस भी होता है वगैरा-वगैरा आल्सो फैमिली इंसाइड ए जो की शक्ति भी है एनर्जी लेवल पर में बात करो कि ई-मेल है उसको और सुंदरता की दया दृष्टि से बनाया गया है उसको और भी कई तरीकों से सोच कर उसको बनाया गया है अभी कोशिश जवान हु इज गोइंग टू कनसीयू एंड केबल आने से क्या क्या तू यह प्राकृतिक है यह नेचुरल है इसीलिए एक आदमी ऐसा होता है और एक औरत ऐसी होती है दिखने में क्योंकि यहां पर सवाल में फिजिकल फॉर्म की बात की गई है ना अब जगह बात करते हैं कि लड़कियों को इतना महत्व क्यों दिया जाता है तू ही देखें ऐसा है नहीं और है लेकिन अगर दिया भी जाता है ना तो उसके पीछे कारणों पर एक आध कारण जान लेते हैं एग्जांपल अगर सरकार एक प्रोग्राम चला रही है बेटी बचाओ वाला तो वह बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ वाला प्रोग्राम क्यों चला रही है वहीं कई सारे प्रदेश में इंडिया के कई सारे अभी भी बेटियों को वह दर्जा नहीं दिया के माता-पिता उनको उस तरीके से नहीं उस नजरिए से नहीं देखने हैं तो वह सही नहीं है तो उसको कॉल करने के लिए उसको उठाने के लिए यह प्रोग्राम चला गया जो सरकार बोले कि बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ और एक तू डेफिनिटी वहां पर उस वर्ग को उस समाज को वहां पर अगर अब बेटियों को ठीक से संभाला नहीं जा रहा देखभाल नहीं की जा रही है उनको पढ़ा है नहीं जा रहे हमारा फर्ज बनता है कि उनको उठाया जाए अब क्या यहां पर उनको मार तो नहीं देना चाहिए यह बिल्कुल देना चाहिए जहां पर एलिमेंट हैं वहां पर हमें करना चाहिए अगर फीमेल सेफ्टी के लिए हमें ध्यान देने की जरूरत है कि सीरिया में किसी आर यू नो ऐसे समाज में आ वगैरह वगैरह तो क्यों नहीं जरूर देने की जरूरत है आप इसको मैं तुझसे जो देखने की जरूरत है क्योंकि आप उनको नकार नहीं सकते हैं वह हमारे जीवन का संसार है सृष्टि का एक बहुत बड़ा हिस्सा है बल्कि लड़की लड़के में कोई फर्क नहीं होना चाहिए खाली जेंडर डिफरेंट होना चाहिए बाकी सब कुछ सामान होना चाहिए सब चीज का अधिकार होना चाहिए तो अगर आप बोलते हैं कि कहीं पर वहां पर अधिकार से वंचित है तो क्या उसको उठाना नहीं चाहिए या नहीं करना चाहिए सपोर्ट नहीं करना चाहिए जिससे जिस दिन आप जो भी कोई है और आपको डेफिनेटली इंडिविजुअल कैपेसिटी में भी देखना चाहिए कि भाई मैं इसको कैसे उठाऊं मैं इसको कैसे ऊपर ले जाऊं इनको और बराबरी का अधिकार क्या दूं और कैसे दूं आपको तो सब कुछ करना चाहिए जो भी संभव है किसी भी लड़की के लिए क्या लड़के के लिए भी किसी के लिए हुजूर के लिए बच्चे के लिए आना के लिए जिसके लिए करना चाहिए करना चाहिए देखने के वहां पर अगर आप बोलते तो मैं तो देनी चाहिए उनको क्यों नहीं देना चाहिए तो बड़ी सिंपल सी बात है जहां पर अगर हमें किसी इंसान को महत्व देने की जरूरत है चाहे वह लड़की हो या कोई भी हो तो जैसे नीतिदिना शिवा महत्व देने का मतलब क्या होता है मैं तो देने का मतलब यह नहीं होता है कि मैं उसको ऊपर उठा रहा हूं ऊपर चढ़ा रहा हूं अकेला मैं तो देने का मतलब यह होता है कि वही अगर मुझे उसे किसी लेवल से किसी लेवल तक पहुंचाना है तो डेफिनिटी पहुंचाने की जरूरत होती है महत्व देना यह नहीं होता है कि मैं खान का जिसे हम देख लेंगे पार्टी में मैंने किसी की बड़ाई कर दी और तारीफ कर दिया उसके तारीफों के पुल बांधे मैं उसकी बात कारी नीजा वह तो आपका नहीं चाहिए आपको जैसे करना है जो करने आप कीजिए और एड आपको मैं तो देना है दीजिए नहीं देना मत दीजिए आपका अपना है किसी की सुंदरता की तारीफ करना है एक बार तो मैं 10 तकनीकी से बात करनी थी मामले जिसको करना है करें मैं तो उसमें तो की बात कर रहा हूं जहां पर अगर हमें किसी के उत्थान की बात करनी है किसी को ऊपर ले जाना ले जाना है आप लोग रे सखी बात करनी है देवोलपमेंट की बात करनी है समान अधिकार की बात करनी है वहां पर मैच देने की बात है तो डेफिनिटी देना चाहिए और एक बार नहीं हजार बार देना चाहिए सोच के देखिएगा वह भी हमारे देश के नागरिक हैं हम एक ही सोचते हैं और एक ही सोच में चले जाएंगे आप में और हम में कोई फर्क नहीं है पर हम लोगों ने खुद बना दिया कि वह किस कंपनी में इतनी बड़ी पोजीशन पर है एक नई इतनी बेल्ट घटाकर लिए एक बड़ी गाड़ी में जाता है एक लड़की है तो एक लड़का है तो एक सुंदर है तो एक ही है तो एक हो गए हम लोगों ने मिलकर यह सारे बावरी बना दिए डिफरेंस बना दिया दवाई कुछ नहीं हम सब इंसान हैं एक आदमी ने एक ही मिले बस इतना एक मेल फीमेल में फर्क होता है जेंडर डिफेंस होता है बाकी सारे हम सब बराबर हैं व्यवस्थाएं के हिसाब से पैसे रुपए के हिसाब से सुंदरता के साथ से हमास ने लगे हैं वह सारा कुछ बकवास है उस पर ध्यान देने की जरूरत नहीं हमें तो यह देखना है कि मैं इंसानियत क्या बोलती हैं इंसान के नाते मुझे किसी के लिए अगर कुछ करने की जरूरत है तो देखने करना चाहिए बड़ी सिंपल सी बात है

ji baat bataye aur zara sochiye kya aapko fal fool sabjiyan yah sundar nahi dete kya aapko abba gaana maidan khet hariyali aasman yah pura shishya jo aapko dekhta hai parvati anuched na nadi yah sab aapko sundar nahi dekhte aap dhyan se dekhen toh sab kuch main toh hamein beauty dikhti hai na agar hum koi bhi wallpaper dekhen bhale hi aap us jagah na gaya ho toh dekhiye kitni prakriti ne aaj sundar achi se banai hai isi tarike se hum bhi prakriti ke din hai aur ab hum jab hum baat karte hai manav ki baat kaise insaan ki baat karte hai toh isme yah definiti 1 meal hote 1 p lungi female hota hai male ko R you no anachal tarike se ek aisa banaya purush ko jo ki thoda song hota hai belt voice bhi hota hai vagera vagaira aalso family inside a jo ki shakti bhi hai energy level par mein baat karo ki ee male hai usko aur sundarta ki daya drishti se banaya gaya hai usko aur bhi kai trikon se soch kar usko banaya gaya hai abhi koshish jawaan hoon is going to kansiyu and keval aane se kya kya tu yah prakirtik hai yah natural hai isliye ek aadmi aisa hota hai aur ek aurat aisi hoti hai dikhne mein kyonki yahan par sawaal mein physical form ki baat ki gayi hai na ab jagah baat karte hai ki ladkiyon ko itna mahatva kyon diya jata hai tu hi dekhen aisa hai nahi aur hai lekin agar diya bhi jata hai na toh uske peeche karanon par ek adh karan jaan lete hai example agar sarkar ek program chala rahi hai beti bachao vala toh vaah beti bachao beti padhao vala program kyon chala rahi hai wahi kai saare pradesh mein india ke kai saare abhi bhi betiyon ko vaah darja nahi diya ke mata pita unko us tarike se nahi us nazariye se nahi dekhne hai toh vaah sahi nahi hai toh usko call karne ke liye usko uthane ke liye yah program chala gaya jo sarkar bole ki beti bachao beti padhao aur ek tu definiti wahan par us varg ko us samaj ko wahan par agar ab betiyon ko theek se sambhala nahi ja raha dekhbhal nahi ki ja rahi hai unko padha hai nahi ja rahe hamara farz baata hai ki unko uthaya jaaye ab kya yahan par unko maar toh nahi dena chahiye yah bilkul dena chahiye jaha par element hai wahan par hamein karna chahiye agar female safety ke liye hamein dhyan dene ki zarurat hai ki syria mein kisi R you no aise samaj mein aa vagera vagairah toh kyon nahi zaroor dene ki zarurat hai aap isko main tujhse jo dekhne ki zarurat hai kyonki aap unko nakar nahi sakte hai vaah hamare jeevan ka sansar hai shrishti ka ek bahut bada hissa hai balki ladki ladke mein koi fark nahi hona chahiye khaali gender different hona chahiye baki sab kuch saamaan hona chahiye sab cheez ka adhikaar hona chahiye toh agar aap bolte hai ki kahin par wahan par adhikaar se vanchit hai toh kya usko uthna nahi chahiye ya nahi karna chahiye support nahi karna chahiye jisse jis din aap jo bhi koi hai aur aapko definetli individual capacity mein bhi dekhna chahiye ki bhai main isko kaise uthaun main isko kaise upar le jaaun inko aur barabari ka adhikaar kya doon aur kaise doon aapko toh sab kuch karna chahiye jo bhi sambhav hai kisi bhi ladki ke liye kya ladke ke liye bhi kisi ke liye huzur ke liye bacche ke liye aana ke liye jiske liye karna chahiye karna chahiye dekhne ke wahan par agar aap bolte toh main toh deni chahiye unko kyon nahi dena chahiye toh baadi simple si baat hai jaha par agar hamein kisi insaan ko mahatva dene ki zarurat hai chahen vaah ladki ho ya koi bhi ho toh jaise nitidina shiva mahatva dene ka matlab kya hota hai toh dene ka matlab yah nahi hota hai ki main usko upar utha raha hoon upar chadha raha hoon akela main toh dene ka matlab yah hota hai ki wahi agar mujhe use kisi level se kisi level tak pahunchana hai toh definiti pahunchane ki zarurat hoti hai mahatva dena yah nahi hota hai ki main khan ka jise hum dekh lenge party mein maine kisi ki badaai kar di aur tareef kar diya uske tarifon ke pool bandhe main uski baat kaari nija vaah toh aapka nahi chahiye aapko jaise karna hai jo karne aap kijiye aur aid aapko main toh dena hai dijiye nahi dena mat dijiye aapka apna hai kisi ki sundarta ki tareef karna hai ek baar toh main 10 takniki se baat karni thi mamle jisko karna hai kare main toh usme toh ki baat kar raha hoon jaha par agar hamein kisi ke utthan ki baat karni hai kisi ko upar le jana le jana hai aap log ray sakhi baat karni hai devolapament ki baat karni hai saman adhikaar ki baat karni hai wahan par match dene ki baat hai toh definiti dena chahiye aur ek baar nahi hazaar baar dena chahiye soch ke dekhiega vaah bhi hamare desh ke nagarik hai hum ek hi sochte hai aur ek hi soch mein chale jaenge aap mein aur hum mein koi fark nahi hai par hum logo ne khud bana diya ki vaah kis company mein itni baadi position par hai ek nayi itni belt ghatakar liye ek baadi gaadi mein jata hai ek ladki hai toh ek ladka hai toh ek sundar hai toh ek hi hai toh ek ho gaye hum logo ne milkar yah saare babri bana diye difference bana diya dawai kuch nahi hum sab insaan hai ek aadmi ne ek hi mile bus itna ek male female mein fark hota hai gender defence hota hai baki saare hum sab barabar hai vyavasthaen ke hisab se paise rupaye ke hisab se sundarta ke saath se hamas ne lage hai vaah saara kuch bakwas hai us par dhyan dene ki zarurat nahi hamein toh yah dekhna hai ki main insaniyat kya bolti hai insaan ke naate mujhe kisi ke liye agar kuch karne ki zarurat hai toh dekhne karna chahiye baadi simple si baat hai

जी बात बताइए और जरा सोचिए क्या आपको फल-फूल सब्जियां यह सुंदर नहीं देते क्या आपको अब्बा गान

Romanized Version
Likes  517  Dislikes    views  7389
WhatsApp_icon
user

Shubham Saini

Software Engineer

0:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लड़कियां सुंदर होती हैं क्योंकि उनका वह एक अनुवांशिक लक्षण है और वह सुंदर दिखती है

ladkiyan sundar hoti hain kyonki unka vaah ek anuvanshik lakshan hai aur vaah sundar dikhti hai

लड़कियां सुंदर होती हैं क्योंकि उनका वह एक अनुवांशिक लक्षण है और वह सुंदर दिखती है

Romanized Version
Likes  31  Dislikes    views  515
WhatsApp_icon
user

Mohan Kumar

Junior Volunteer

0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लड़कियां इतनी सुंदर इसलिए होती है क्योंकि वह तरह-तरह की क्रीम यूज़ करते हैं हम और है पार्लर जाते मेकअप करवाते फेशियल करते हैं और बहुत सारा क्या-क्या करवाते हमको उतना पता मालूम नहीं है तो भी जितना मालूम था उतना बता दिया आ रही है यह तो के बात किया जाए तो लड़कों को या और लड़की बराबर का दर्जा दिया जाता तो बराबर का महत्व दिया जाता और बता दिया जाएगा सभी

ladkiyan itni sundar isliye hoti hai kyonki vaah tarah tarah ki cream use karte hain hum aur hai parlour jaate makeup karwaate facial karte hain aur bahut saara kya kya karwaate hamko utana pata maloom nahi hai toh bhi jitna maloom tha utana bata diya aa rahi hai yah toh ke baat kiya jaaye toh ladko ko ya aur ladki barabar ka darja diya jata toh barabar ka mahatva diya jata aur bata diya jaega sabhi

लड़कियां इतनी सुंदर इसलिए होती है क्योंकि वह तरह-तरह की क्रीम यूज़ करते हैं हम और है पार्ल

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  8
WhatsApp_icon
user
0:11
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लड़की स्पीकर इतना महत्व दिया जाता है किन-किन लड़कियों की जनसंख्या कम है और लड़कों की ज्यादा है श्री का लड़कियों का नोट

ladki speaker itna mahatva diya jata hai kin kin ladkiyon ki jansankhya kam hai aur ladko ki zyada hai shri ka ladkiyon ka note

लड़की स्पीकर इतना महत्व दिया जाता है किन-किन लड़कियों की जनसंख्या कम है और लड़कों की ज्याद

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  7
WhatsApp_icon
user

Munmun 🌈

Volunteer

0:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लड़कियां जो इतनी सुंदर क्यों होती है तो देख कर लड़कियां मेकअप करती है हमेशा जहर अपने आप को मेंटेन करके रखती है इसलिए मैं सुंदर होती है और लड़कियों को जो है जरूरी नहीं लड़कियों को ही महत्व दिया जाता है लड़कों को भी जो है बहुत सी जगह पर महत्व दिया जाता है और एक बात क्यों कर रहे कभी भी किसी को जज नहीं करना चाहिए तो लेकिन मेरे हिसाब से जो है लड़कियों को और लड़कों को दोनों को जो है बराबर यह महत्व देना चाहिए और दिया जाता है

ladkiyan jo itni sundar kyon hoti hai toh dekh kar ladkiyan makeup karti hai hamesha zehar apne aap ko maintain karke rakhti hai isliye main sundar hoti hai aur ladkiyon ko jo hai zaroori nahi ladkiyon ko hi mahatva diya jata hai ladko ko bhi jo hai bahut si jagah par mahatva diya jata hai aur ek baat kyon kar rahe kabhi bhi kisi ko judge nahi karna chahiye toh lekin mere hisab se jo hai ladkiyon ko aur ladko ko dono ko jo hai barabar yah mahatva dena chahiye aur diya jata hai

लड़कियां जो इतनी सुंदर क्यों होती है तो देख कर लड़कियां मेकअप करती है हमेशा जहर अपने आप को

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  11
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
itni ladkiyan ; itni sundar kyon ; videshi ladkiyan ; आप इतनी सुंदर क्यों हो ; इतनी सुंदर ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!