भारत में पशु पक्षी के अधिकार क्या है?...


user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:57
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी पशु पक्षियों की हिफाजत के लिए बहुत सारे कानून है उनमें जो मेन मेन जून के अधिकार है वह कुछ इस तरह के हैं कि अगर कोई भी ऐसा कुछ अभ्यास करवाएगा जहां दो पशुओं को आपस में लड़ना होगा पार्टी फाइट करनी होगी तो वह एक ऑफेंस है वह एक जुर्म है ऐसे नहीं करवा सकते एनिमल सेक्सी फाइल जो हमारी परंपरा के अनुसार होता है पुराने जमाने में वह भारत के हर एक पाठ में इल्लीगल है वह निकल नहीं है भालू को बंदरों को टाइगर को पैंथर को लॉयन को आप ट्रेन नहीं कर सकते उन्हें सर्कस वगैरह में कहीं यूज़ नहीं किया जा सकता हूं किसी भी एनिमल को ज्यादा देर के लिए बांध के रखना उसे स पेशेंट फ़ूड ऑफ़ वाटर फ़िल्टर नहीं देना भी एक अपराध है और 3 मई तक सजा हो सकती है किसी भी चिकन को या किसी भी एनिमल को स्लॉटर हाउस के अलावा कहीं भी मारना काटना गलत है और एक और फ्रेंड से और अगर कोई बीमारी है प्रेग्नेंट एनिमल है उसको तो स्लॉटर वैसे बिल्कुल भी नहीं करना है जो स्त्री रोग होता है जो शेर एनिमल स्ट्रीट डॉग्स होते हैं उन को मारना या उनको परेशान करना एक प्रिंसिपल ऑफ फेंस है और मैं कहूंगी कि और यह इस फंडामेंटल ड्यूटी है हार्दिक सिटीजन की कि वह जो बाकी लिविंग Creature है उन सबका ध्यान रखें यह हर एक भारतीय का हरेक हरेक व्यक्ति कहां चली यह एक उनका फर्ज है किसी भी पद के अंडों को या उसके नेक्स्ट को परेशान करना उन्हें हर्ट करना यह एक पेन है इसमें ₹25000 का फाइन और 7 साल तक की सजा भी हो सकती है तो यह कुछ राइट्स है

vicky pashu pakshiyo ki hifajat ke liye bahut saare kanoon hai unmen jo main main june ke adhikaar hai vaah kuch is tarah ke hai ki agar koi bhi aisa kuch abhyas karwaega jaha do pashuo ko aapas mein ladna hoga party fight karni hogi toh vaah ek offense hai vaah ek jurm hai aise nahi karva sakte animal sexy file jo hamari parampara ke anusaar hota hai purane jamane mein vaah bharat ke har ek path mein illegal hai vaah nikal nahi hai bhaloo ko bandaron ko tiger ko panther ko layan ko aap train nahi kar sakte unhe circus vagera mein kahin use nahi kiya ja sakta hoon kisi bhi animal ko zyada der ke liye bandh ke rakhna use s patient food of water Filter nahi dena bhi ek apradh hai aur 3 may tak saza ho sakti hai kisi bhi chicken ko ya kisi bhi animal ko slaughter house ke alava kahin bhi marna kaatna galat hai aur ek aur friend se aur agar koi bimari hai pregnant animal hai usko toh slaughter waise bilkul bhi nahi karna hai jo stree rog hota hai jo sher animal street dogs hote hai un ko marna ya unko pareshan karna ek principal of fence hai aur main kahungi ki aur yah is fundamental duty hai hardik citizen ki ki vaah jo baki living Creature hai un sabka dhyan rakhen yah har ek bharatiya ka harek harek vyakti kahaan chali yah ek unka farz hai kisi bhi pad ke ando ko ya uske next ko pareshan karna unhe heart karna yah ek pen hai isme Rs ka fine aur 7 saal tak ki saza bhi ho sakti hai toh yah kuch rights hai

विकी पशु पक्षियों की हिफाजत के लिए बहुत सारे कानून है उनमें जो मेन मेन जून के अधिकार है वह

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  158
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Bhaskar Saurabh

Politics Follower | Engineer

1:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारतीय कानून में पशु पक्षियों की हिफाजत के लिए कम से कम 15 कानून है आइए जानते हैं कुछ कानून के बारे में पहला कानून है भारतीय संविधान के अनुच्छेद 51 ए के मुताबिक हर जीवित प्राणी के प्रति सहानुभूति रखना भारत के हर नागरिक का मूल कर्तव्य है दूसरा है कोई भी पशु मुर्गी समेत सिर्फ बूचड़खाने में ही काटे जा सकते हैं बीमार और गर्भधारण कर चुके पशु को मारा नहीं जाएगा तीसरा है भारतीय दंड संहिता धारा 428 और 429 के मुताबिक किसी पशु को मारना या अपंग करना चाहे वह आवारा ही क्यों ना हो यह एक दंडनीय अपराध है चौथा कानून है आप प्रिवेंशन ऑफ क्रुएल्टी ऑन एनिमल्स एक्ट 1960 इसके मुताबिक किसी पशु को आवारा छोड़ने पर 3 महीने की सजा हो सकती है जो कानून है वह बंदर पालने के संदर्भ में वाइल्ड लाइफ के तहत बंदरों को कानूनी सुरक्षा दी गई है कानून कहता है की मंदिरों की नुमाइश करवाना या उन्हें कैद में रखना गैरकानूनी है और फिर नेक्स्ट आता है एंटी बर्थ कंट्रोल डॉग्स रूल इस नियम के तहत कुत्तों को ध्रुव दो श्रेणियों में बांटा गया है फालतू और आवारा कोई भी व्यक्ति या स्थानीय प्रशासन पशु कल्याण संस्था के सहयोग से आवारा कुत्तों का बर्थ कंट्रोल ऑपरेशन कर सकती है लेकिन उन्हें मारना गैरकानूनी है और इसके बाद जो कानून है वह पशुओं की देखभाल को लेकर के जानवर को पर्याप्त भोजन पानी शरण देने से इंकार करना और लंबे समय तक मानदेय रखना दंडनीय अपराध है इसके लिए जुर्माना या फिर 3 महीने की सजा या फिर दोनों ही हो सकते हैं

bharatiya kanoon mein pashu pakshiyo ki hifajat ke liye kam se kam 15 kanoon hai aaiye jante hain kuch kanoon ke bare mein pehla kanoon hai bharatiya samvidhan ke anuched 51 a ke mutabik har jeevit prani ke prati sahanubhuti rakhna bharat ke har nagarik ka mul kartavya hai doosra hai koi bhi pashu murgi samet sirf bucharkhane mein hi kaate ja sakte hain bimar aur garbhadharan kar chuke pashu ko mara nahi jaega teesra hai bharatiya dand sanhita dhara 428 aur 429 ke mutabik kisi pashu ko marna ya apang karna chahen vaah awaara hi kyon na ho yah ek dandniya apradh hai chautha kanoon hai aap prevention of kruelti on animals act 1960 iske mutabik kisi pashu ko awaara chodne par 3 mahine ki saza ho sakti hai jo kanoon hai vaah bandar palne ke sandarbh mein wild life ke tahat bandaron ko kanooni suraksha di gayi hai kanoon kahata hai ki mandiro ki numaaish karwana ya unhe kaid mein rakhna gairkanuni hai aur phir next aata hai anti birth control dogs rule is niyam ke tahat kutto ko dhruv do shreniyon mein baata gaya hai faltu aur awaara koi bhi vyakti ya sthaniye prashasan pashu kalyan sanstha ke sahyog se awaara kutto ka birth control operation kar sakti hai lekin unhe marna gairkanuni hai aur iske baad jo kanoon hai vaah pashuo ki dekhbhal ko lekar ke janwar ko paryapt bhojan paani sharan dene se inkar karna aur lambe samay tak manday rakhna dandniya apradh hai iske liye jurmana ya phir 3 mahine ki saza ya phir dono hi ho sakte hain

भारतीय कानून में पशु पक्षियों की हिफाजत के लिए कम से कम 15 कानून है आइए जानते हैं कुछ कानू

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  185
WhatsApp_icon
play
user

Anukrati

Journalism Graduate

1:55

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारतीय कानून में पशुओं की हिफाजत के लिए कम से कम 15 कानून है कोई भी पशु पक्षी से बूचड़खाने में ही काटा जाएगा बीमार हो गर्भधारण वालों को नहीं मारा जाएगा पशुओं को मारना या अपंग करना दंडनीय अपराध है पीसीए 1960 के अनुसार किसी भी पशु को आवारा छोड़ने पर 3 महीने की सजा हो सकती है बंदर पालना व उनसे करतब कराना जुर्म है कोई भी व्यक्ति या स्थानीय प्रशासन पशु कल्याण संस्था के सहयोग से आवारा कुत्तों का बर्थ कंट्रोल करवा सकते हैं उन्हें मांगना गैरकानूनी है इन्हें पर्याप्त भोजन पानी व शरण देने से इंकार करना वह लंबे समय तक बांधे रखना दंडनीय अपराध है पशुओं और पक्षियों को लड़ने के लिए भड़काना ऐसी लड़ाई का आयोजन करना भी अपराध है जानवरों पर कॉस्मेटिक्स के परीक्षा करना वह जानवरों पर टेस्ट किए जा चुके कॉस्मेटिक्स का आयात करना प्रतिबंधित है देश के किसी भी कोने में पशुओं होली देना गैरकानूनी है चिड़ियाघर को उसके परिसर में जानवरों को परेशान करना खाना देना या तंग करना अपराध है पीसी ए के तहत ऐसा करने वालों को 25 जून का जुर्माना मैं 3 साल की सजा हो सकती है जानवरों को असुविधा में रखकर दर्द पहुंचाकर या परेशान करते हुए किसी भी गाड़ी में एक से दूसरी जगह ले जाना मोटरसाइकिल एक्ट और पीसी ए के तहत दंडनीय अपराध है पीसी एक्ट के सेक्शन 022 के मुताबिक भालू बंदर बाघ तेंदुए वह बैल को मनोरंजन के लिए तैयार करना गैरकानूनी है या सर्व सर्व सर्व के अंडों को नष्ट करना उनके घोसले वालों पेड़ों को काटना शिकार कहलाएगा और सजा हो सकती है जंगली जानवर को पकड़ना कैद करना जहर देना धनी अपराध है भारत में पशु पक्षी के लिए यह सब अधिकार हैं

bharatiya kanoon mein pashuo ki hifajat ke liye kam se kam 15 kanoon hai koi bhi pashu pakshi se bucharkhane mein hi kaata jaega bimar ho garbhadharan walon ko nahi mara jaega pashuo ko marna ya apang karna dandniya apradh hai PCA 1960 ke anusaar kisi bhi pashu ko awaara chodne par 3 mahine ki saza ho sakti hai bandar paalna va unse kartab krana jurm hai koi bhi vyakti ya sthaniye prashasan pashu kalyan sanstha ke sahyog se awaara kutto ka birth control karva sakte hai unhe maangna gairkanuni hai inhen paryapt bhojan paani va sharan dene se inkar karna vaah lambe samay tak bandhe rakhna dandniya apradh hai pashuo aur pakshiyo ko ladane ke liye bhadkaana aisi ladai ka aayojan karna bhi apradh hai jaanvaro par kasmetiks ke pariksha karna vaah jaanvaro par test kiye ja chuke kasmetiks ka ayat karna pratibandhit hai desh ke kisi bhi kone mein pashuo holi dena gairkanuni hai chidiyaghar ko uske parisar mein jaanvaro ko pareshan karna khana dena ya tang karna apradh hai pc a ke tahat aisa karne walon ko 25 june ka jurmana main 3 saal ki saza ho sakti hai jaanvaro ko asuvidha mein rakhakar dard pahunchakar ya pareshan karte hue kisi bhi gaadi mein ek se dusri jagah le jana motorcycle act aur pc a ke tahat dandniya apradh hai pc act ke section 022 ke mutabik bhaloo bandar bagh tenduen vaah bail ko manoranjan ke liye taiyar karna gairkanuni hai ya surv surv surv ke ando ko nasht karna unke ghosle walon pedon ko kaatna shikaar kehlaega aur saza ho sakti hai jungli janwar ko pakadna kaid karna zehar dena dhani apradh hai bharat mein pashu pakshi ke liye yah sab adhikaar hain

भारतीय कानून में पशुओं की हिफाजत के लिए कम से कम 15 कानून है कोई भी पशु पक्षी से बूचड़खाने

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  155
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
bharat ke pashu pakshi ; pashu pakshi sexy ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!